कोरोना वायरस: संकट में फंसा एयर इंडिया कैसे बना संकटमोचक

कोरोना वायरस: संकट में फंसा एयर इंडिया कैसे बना संकटमोचक

3/26/2020

कोरोना वायरस: संकट में फंसा एयर इंडिया कैसे बना संकटमोचक

एयर इंडिया के सदस्य अपनी जान जोखिम में डालकर दूसरे देशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने में लगे हुए हैं.

24 मार्च 2020 पोस्ट ट्विटर समाप्त @shukla_tarun कुछ का आरोप था कि जिस सोसायटी में वो रहते हैं, वहां उन्हें घुसने नहीं दिया जा रहा. उनके परिवार के साथ ख़राब सुलूक किया जा रहा है. इन सारी घटनाओं के सामने आने के बाद नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट करके खेद जाहिर किया. उन्होंने लोगों से अपील की कि लोग ऐसा न करें. छोड़िए ट्विटर पोस्ट 2 @HardeepSPuri Deeply distressed to know that some aviation professionals who have been at the forefront of India's efforts to prevent & contain the spread of Coronavirus & even rescue fellow citizens from COVID19 around the world are being harassed by their neighbours, RWAs & others. — Hardeep Singh Puri (@HardeepSPuri) 24 मार्च 2020 पोस्ट ट्विटर समाप्त 2 @HardeepSPuri वुहान और ईरान से लोगों को वापस लाने वाले दल के एक मेडिकल सदस्य डॉ. नितिन सेठ ने बीबीसी से कहा कि कम से कम हमारे देश में तो हमारे साथ ऐसा नहीं किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा,"आप ख़ुद सोचें, ऐसे वक़्त में जब लोग घर से बाहर निकलने तक से डर रहे हैं, अपनों के साथ खाने-पीने से डर रहे हैं. हम उन लोगों के लिए अपनी जान जोख़िम में डाल रहे हैं जिन्हें हम जानते तक नहीं हैं." वो कहते हैं,"हमे पता है कि इस काम को करने का जोखिम क्या है, बावजूद इसके हम ये कर रहे हैं क्योंकि ये हमारे देश के लोगों के लिए है." इमेज कॉपीरइट Image caption डॉक्टर नितिन सेठ नितिन कहते हैं,"ये किसी बॉर्डर पर खड़े सैनिक की तरह युद्ध लड़ने जैसा ही है. फ़र्क ये है कि वहां जो दुश्मन खड़ा होता है कम से कम वो दिखाई तो देता है. जबकि हमारा दुश्मन तो अदृश्य है." वो कहते हैं,"हमें पता होता है कि जिन लोगों को हम बचाकर ले जा रहे हैं वो संक्रमित हो सकते हैं और उनके संपर्क में सबसे पहले आने वाले हम ही लोग होते हैं, लेकिन ये ड्यूटी है और ज़िम्मेदारी भी. ऐसे में जब ख़राब व्यवहार का सामना करना पड़ता है तो तक़लीफ़ होती है." विदेश में फंसे लोगों को कैसे वापस लाया जाता है? इमेज कॉपीरइट Getty Images नितिन बताते हैं कि सबसे पहले भारतीय विदेश मंत्रालय की तरफ़ से एक आधिकारिक पत्र जारी किया जाता है. जिसमें वापस लाए जाने वाले लोगों से जुड़ी सारी जानकारी होती है. इसके बाद ये पत्र सिविल एविएशन मिनिस्ट्री को भेजा जाता है. इसके बाद सिविल एविएशन मिनिस्ट्री के डायरेक्टर जनरल के माध्यम से आदेश जारी किया जाता है. नितिन कहते हैं कि फ़िलहाल देश के बाहर फंसे लोगों को वापस लाने का काम सिर्फ़ एयर इंडिया ही कर रही है. डायरेक्टर जनरल की तरफ़ से जारी किए गए पत्र में निर्देश दिए जाते हैं कि कैसे और कब वापस लाने का काम करना है. इस काम में उस दूसरे देश में मौजूद भारतीय दूतावास से भी मदद ली जाती है. जो भारत और उस दूसरे देश के बीच माध्यम का काम करता है. वो बताते हैं कि चालक दल के सदस्यों के चुनाव को लेकर कोई विशेष प्रावधान नहीं है लेकिन अनुभव को वरीयता दी जाती है. साथ ही बहुत से सदस्य ऐसे होते हैं जो ख़ुद आगे आकर इस काम में सहयोग करना चाहते है, तो उन्हें शामिल किया जाता है. लोगों को सुरक्षित ले आने वाली इस टीम में चालक दल के सदस्यों के अलावा एक मेडिकल टीम होती है. जो वापस लाए जाने वाले लोगों की जांच करने से लेकर स्वास्थ्य से जुड़ी हर छोटी-बड़ी बात के लिए ज़िम्मेदारी लेती है. एयर इंडिया का कौन सा विमान लोगों को लेने के लिए जाएगा ये पैसेंजर्स की संख्या पर निर्भर करता है. जो विमान इस काम में लगाए जाते हैं उन्हें पूरी तरह से संक्रमण मुक्त और सैनिटाइज़ किया जाता है. किस तरह की जाती है मेडिकल जांच? इमेज कॉपीरइट Getty Images नितिन बताते हैं कि जिस तरह के अभी हालात हैं उसे देखते हुए हर स्तर पर सावधानी बरती जा रही है. जब कोई फ़्लाइट इस काम के लिए जाने वाली होती है तो उस पर जाने वाले हर सदस्य की जांच की जाती है. इसके साथ ही ग्राउंड स्टाफ़ की भी जांच होती है. जब विमान में यात्री सवार हो रहे होते हैं तो सबसे पहले उनकी जांच की जाती है. इसके बाद एक जांच उस वक़्त होती है जब विमान भारत लैंड कर जाता है. नितिन बताते हैं कि यूं तो विदेश से आने वाले हर पैसेंजर को क्वारंटीन किया जा रहा है लेकिन यह जांच इसलिए महत्वपूर्ण हो जाती है कि इससे ये पता चल जाता है कि कौन संक्रमित है और कौन नहीं. नितिन के मुाबिक़, लोगों को निकालने का पहला काम वुहान से किया गया था. तब विमान में सवार होते वक़्त यात्रियों की जांच नहीं की गई थी. उनकी जांच फ़्लाइट के इंडिया लैंड करने पर की गई थी लेकिन अब यात्रियों के सवार होने से पहले भी टेस्ट किया जा रहा है. नितिन उस मेडिकल टीम में शामिल थे जो वुहान से छात्रों को लेकर आया था. इमेज कॉपीरइट Getty Images लेकिन मुश्किलें भी कम नहीं हैं नितिन बताते हैं कि क्रू सदस्यों और मेडिकल स्टाफ़ के लिए सुरक्षा के उपकरण तो हैं लेकिन ख़तरा फिर भी रहता है. वो कहते हैं, "हम फ्रंट पर हैं और हमें ख़तरे का पूरा अंदाज़ा भी है, बावजूद इसके हम काम कर रहे हैं. लेकिन जिस तरह का भेदभाव सोसायटी कर रही है, वो दुखी करता है." नितिन बताते हैं कि वो लगभग दो महीने से लगातार काम कर रहे हैं और बाहर के देशों से नहीं, बल्कि देश के भीतर एक राज्य से दूसरे राज्य से भी लोगों को निकाला जा रहा है. लेकिन मुश्किल ये है कि कई बार लोगों का सहयोग नहीं मिलता. वो कहते हैं,"जब ईरान, चीन या इटली गए तो डर था, क्योंकि संक्रमण से सीधे मुक़ाबला था लेकिन डर को छोड़कर काम करना होता है." नितिन के मुताबिक़, इसका अंदाज़ा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि एयर इंडिया के दो क्रू सदस्य फिलहाल राम मनोहर लोहिया अस्पताल में आइसोलेशन में हैं. मुश्किल वक़्त से जूझ रहा है एयर इंडिया इमेज कॉपीरइट Getty Images बीते कुछ दिनों से एयर इंडिया भले ही अपने रेस्क्यू ऑपरेशन की वजह से चर्चा में हो लेकिन कुछ महीने पहले तक जब भी एयर इंडिया का ज़िक्र हुआ तो उसकी नीलामी को लेकर ही हुआ. इस बात को लेकर भी आशंकाएं ज़ाहिर की गईं कि एयर इंडिया के कर्मचारियों का क्या होगा. बावजूद इसके एयर इंडिया कोरोना वायरस संक्रमण के इस दौर में विदेश में फंसे भारतीयों के लिए उम्मीद बनकर आगे आया है. इसे इस तरह भी समझा जा सकता है कि जिसके ख़ुद के भविष्य पर संकट छाया हुआ है वो दूसरों की जान बचाने का काम कर रहा है. लेकिन यह संकट काल पहला नहीं है जब एयर इंडिया सेवियर बनकर उभरा है. एयर इंडिया ने अब तक सबसे ज़्यादा लोगों को सुरक्षित एयरलिफ़्ट कराया है. 1990 में इराक़ ने जब क़ुवैत पर हमला किया तब 59 दिनों के भीतर 10 लाख से ज़्यादा भारतीयों को एयर इंडिया के 488 विमानों से सुरक्षित भारत पहुंचाया गया था. और पढो: BBC News Hindi

PM मोदी की अपील पर कांग्रेस का हमला, कोरोना से जंग पर उठाए कई सवाल



कोरोना वायरस: ऑस्ट्रेलियाई पीएम का चीन के मांस बाज़ार पर हमला

मौलाना साद का आलीशान फार्म हाउस: स्वीमिंग पूल और गाड़ियों का काफिला - trending clicks AajTak



कोरोना वायरस: किम जोंग-उन ने ऐसा क्या किया कि संक्रमण नहीं फैला

'रामायण' ने खड़ा कि‍या सवाल, क्या सास-बहू के नाटक देखना चाहते हैं इंडियन टेलीविजन दर्शक?



दिल्ली में कोरोना के 384 केस, 24 घंटे में 91 बढ़े, हालात चिंताजनक: अरविंद केजरीवाल

कोरोना वायरस: पिछले दो दिनों में तबलीग़ी जमात से जुड़े 647 नए मामले- ICMR - BBC Hindi



Naman_BKN airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI लाओ और लाओ ये कोरोना वायरस का भंडार airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI We are self suffering and they are taking them to India.. airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI अच्छे दिनों में ये विदेश में मस्ती मारने जाते हैं और अब कोरोना लेकर आ रहे हैं। विदेश में सुविधा भी उपलब्ध है तो क्यों अब इन्हें भारत की याद आ रही है। जो जहां है 21दिनों तक वहीं रहें।

airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI गरीब लोगों को भी ले जाने मे भी मदद कर दो भाई airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI हज़ारो किलोमीटर दूर विदेशो से भारतीय लोगो को लाया जा सकता है, लेकिन देश के अंदर ग़रीब मजदूरों सड़को पर पैदल चलकर अपने घर जाने को मजबूर क्यो ...? उनका क़सूर क्या था वो तो विदेश भी नही गये थे कोरोना को लेने... HansrajMeena ravishndtv

airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI Kuwait bhi bhur indian h. Kab tak lane ka plan h unkon airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI इसी 'लायक' एयर इंडिया को बेचने के लिए भारत सरकार एक पांव पर खड़ी है airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI ये कोरोना वायरस विदेश से आया है अमीर लोगो के द्वारा, उन अमीरों को ही उन के घर पहुंचाया जा रहा है , और अपने देश म जो गरीब इंसान मज़दूरी करने घर से बाहर गया था दूसरे प्रदेश, वो अपने घर आना चाहता है उसे मारा जा रहा है पुलिस से पिटवाया जा रहा है,

airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI भाई मगर ऐसे लोगों से देश को खतरा है कृपया ध्यान दें। airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI जबकि उनकी गलती कोरोना को फैलाने म या विदेश से लाने म नहीं है , मज़दूर लोगो को भी उनके घर पहुंचने का इंतज़ाम किया जाये फिर चाहे lockdown 3 महीना चले airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI सराहनीय काम💪💪 सोचो अगर एयर इंडिया का निजीकरण हो गया होता तो क्या मदद के लिए बाध्य होते

कोरोना ने तोड़ी एविएशन सेक्टर की कमर, कर्मचारियों के वेतन में कटौती करेगी गो एयरगो एयर के सीईओ विनय दुबे ने बताया कि एयरलाइन के सभी कर्मचारियों के मार्च माह के वेतन में कटौती की जाएगी. बीते कुछ हफ्तों में एयरलाइन्स ने खर्चों में कटौती को लेकर कई कदम उठाए हैं. Ye kya natak suru kiya hii

airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI कोइ विमान तो आ नी रहा फिर कैसे ये लोग आएंगे airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI ये कोरोना वायरस विदेश से आया है अमीर लोगो के द्वारा, उन अमीरों को ही उन के घर पहुंचाया जा रहा है , और अपने देश म जो गरीब इंसान मज़दूरी करने घर से बाहर गया था दूसरे प्रदेश, वो अपने घर आना चाहता है उसे मारा जा रहा है पुलिस से पिटवाया जा रहा है,

airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI Why only rich In India so many poor are traveling 1000 km by foot,, hope govt take care them also airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI मंत्रिजी क्या ऐसेकह सकते हैं कि अपनी जान जोखिम में डालकर दूसरों की जान जोखिम में डाल रहे हैं? In country you restrict move from one house to others and bringing high risk people from Middle East Iran and even Pak. Nation wants to know which pilgrimage exist in Iran ?

airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI धन्यबाद airindiain HardeepSPuri MoCA_GoI गरीबों को उनके घर तक नहीं पहुंचाया जा रहा है बिहार यूपी के बाहर के देश के बराबर लाए जा रहे हैं वाह रे वाह गरीबी और अमीरी No private airline or hospital come forward to fight with corona इन लोगोंके लिए एअर इंडिया कितना भी संकट मोचक बने फिर भी जैसे ही कोरोनका संकट खत्म हो जाएगा ये सभी देश मे आये हुए लोग इसी देश को और एअर इंडिया के सर्विस को गालिया देते हुए बहार की एअरवेज कंपनी की फ्लाईट बुक करके दुसरे देश मे चले जायेंगे..

Sankat khatm ho Jane k bad bech do,fir aese time koi private plane lane nahi jaega. Jb air India rhega hi Nhi to keya ghnta Madad krega age se

नागपुर में डोर टू डोर कोरोना सर्वे होगा, महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 122 मरीजनागपुर में डोर टू डोर कोरोना सर्वे होगा, महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 122 मरीज 21daylockdown coronavirus coronavirusinIndia LadengeCoronaSe IndiaFightsCorona Bahut hi badiya Now this is real.good news, test has to be done now, to filter the positive cases.. बहुत अच्छी बात है, अब पता चलेगा कि कितने रोगी है असल में

Thanks to air india snd its pilot snd whole flight teams and great PM of india.

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले, महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मरीजभारत में कोरोना का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है जो इस वक्त 600 के पार पहुंच चुका है. अकेले महाराष्ट्र में 122 लोग कोरोना से पीड़ित हो चुके हैं. आज मध्य प्रदेश में कोरोना से पहली मौत की खबर आई है जो इंदौर में हुई है. दुनिया की बात करें तो कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 19 हजार 246 तक जा पहुंचा है. पिछले 24 घंटे में स्पेन में करीब साढ़े 7 सौ लोगों की मौत हो चुकी है. देशतक में देखें कोरोना पर हर अपडेट. chitraaum Love you so much chitraaum Be careful to Corona virus all of u everyone chitraaum मेरा देश रो रहा है

कोरोना से तमिलनाडु में पहली मौत, देशभर में मरने वालों की संख्या हुई 11shalinilobo93 rip COVIDIDIOTS shalinilobo93 ☹️ shalinilobo93 Country is facing critical situation.

LIVE: महाराष्ट्र में एक परिवार के 5 लोग कोरोना पॉजिटिव, देशभर में 581 संक्रमितमहाराष्ट्र में एक परिवार के 5 लोग कोरोना पॉज़िटिव, देशभर में 581 संक्रमित Coronavirus Live Update: So sorry जब होदी जी पूरी दुनिया घूम घूम कर आत्म सन्तुष्टि ले रहे थे तो....आत्मग्लानि कौन लेगा JantaCurfew

मध्यप्रदेश: इंदौर में कोरोना वायरस के 5 नए केस, राज्य में अब तक 14इनमें से किसी भी मरीज ने पिछले दिनों विदेश यात्रा नहीं की थी। यानी वे देश के भीतर ही इस घातक बीमारी की जद में आए हैं। coronavirusindia MadhyaPradesh यहाँ पर दोनो पार्टी अभी राजनीति के खेल में व्यस्त है जब इस सब से फुर्सत मिल जाएगी तब जनता और कोरोना वायरस को देखेंगे। हाँ तो क्या हुआ , हो सकता है वो किसी कोरोना वायरस से पीड़ित के पास गए हो,इसलिए संक्रमण फैला हो इनमे भी....ये कौन कह रहा है कि जो इस बीमारी से पीड़ित है वो सब चीन से आये है देश मे....



कोरोना वायरस: क्या इस वीडियो में दिख रहे लोग तबलीग़ी के थे?- फ़ैक्ट चेक

मोदी के दीया जलाने की अपील पर तेज प्रताप का ट्वीट- लालटेन भी जला सकते हैं!

कोरोना वायरस से ज़्यादा ख़तरनाक दरबारी मीडिया की सांप्रदायिकता

लॉकडाउन के नौवें दिन PM मोदी ने देश से मांगे 9 बजे, 9 मिनट, 5 अप्रैल को दिखेगी नई सामूहिकता

5 मिनट के वीडियो में 5 संदेश, PM मोदी के मैसेज में छिपे हैं बड़े अर्थ

कोरोना के नाम पर अल्पसंख्यकों का नाम खराब करना दुर्भाग्यपूर्ण: अमेरिका

लॉकडाउन के नौवें दिन PM मोदी ने देश से मांगे 9 बजे, 9 मिनट, 5 अप्रैल को दिखेगी नई सामूहिकता

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

26 मार्च 2020, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

केरल: जेल में रखा सैनेटाइजर पीने से कैदी की मौत, अस्पताल में तोड़ा दम

अगली खबर

इंसानियत और रहमदिली की तस्वीरें, कहीं पुलिस तो कहीं स्थानीय लोग भर रहे मजदूर और गरीबों का पेट
PM मोदी की अपील पर कांग्रेस का हमला, कोरोना से जंग पर उठाए कई सवाल कोरोना वायरस: ऑस्ट्रेलियाई पीएम का चीन के मांस बाज़ार पर हमला मौलाना साद का आलीशान फार्म हाउस: स्वीमिंग पूल और गाड़ियों का काफिला - trending clicks AajTak कोरोना वायरस: किम जोंग-उन ने ऐसा क्या किया कि संक्रमण नहीं फैला 'रामायण' ने खड़ा कि‍या सवाल, क्या सास-बहू के नाटक देखना चाहते हैं इंडियन टेलीविजन दर्शक? दिल्ली में कोरोना के 384 केस, 24 घंटे में 91 बढ़े, हालात चिंताजनक: अरविंद केजरीवाल कोरोना वायरस: पिछले दो दिनों में तबलीग़ी जमात से जुड़े 647 नए मामले- ICMR - BBC Hindi आज तक @aajtak कोरोना: यूपी में छोड़े जाएंगे 359 बाल कैदी, इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश के बाद होगी रिहाई कोरोना: पाकिस्तान ने 80 एकड़ जमीन पर क्यों बनाया नया कब्रिस्तान? - Coronavirus AajTak Coronavirus Latest Update: देशभर में कोरोना मामले बढ़कर हुए 2547, अब तक 62 की मौत, 24 घंटे में आए 478 नए मामले लॉकडाउन में फंसा तो 3 दिन में 400 km साइकिल चलाकर गांव पहुंचा ये शख्स
कोरोना वायरस: क्या इस वीडियो में दिख रहे लोग तबलीग़ी के थे?- फ़ैक्ट चेक मोदी के दीया जलाने की अपील पर तेज प्रताप का ट्वीट- लालटेन भी जला सकते हैं! कोरोना वायरस से ज़्यादा ख़तरनाक दरबारी मीडिया की सांप्रदायिकता लॉकडाउन के नौवें दिन PM मोदी ने देश से मांगे 9 बजे, 9 मिनट, 5 अप्रैल को दिखेगी नई सामूहिकता 5 मिनट के वीडियो में 5 संदेश, PM मोदी के मैसेज में छिपे हैं बड़े अर्थ कोरोना के नाम पर अल्पसंख्यकों का नाम खराब करना दुर्भाग्यपूर्ण: अमेरिका लॉकडाउन के नौवें दिन PM मोदी ने देश से मांगे 9 बजे, 9 मिनट, 5 अप्रैल को दिखेगी नई सामूहिकता प्रधानमंत्री के वीडियो मैसेज पर शशि थरूर बोले- अभी प्रधान Showman को सुना, ये बस PM का 'फील गुड' मूमेंट था दूसरी बार डोनाल्ड ट्रंप का कोरोना टेस्ट नेगेटिव, 15 मिनट में आया रिजल्ट आज तक @aajtak कोरोना पर देशवासियों से PM मोदी की अपील, 5 अप्रैल की रात 9 बजे आपके 9 मिनट चाहिए VIDEO: जमातियों की बदसलूकी, सुनिए क्या बोल रहे मुस्लिम धर्मगुरु