Ravish Kumar Blog, Ravish Kumar, Ravish Kumar On Gujarat, Coronavirus Crisis, Coronavirus, Lockdown, Ravish Kumar Show, Ravish Kumar Articles, Coronavirus Crisis İn Gujarat, Hospitals İn Gujarat

Ravish Kumar Blog, Ravish Kumar

कोई सरेआम तो कोई गुमनाम मगर बोल रहा है, गुजरात बोल रहा है

रवीश कुमार का ब्लॉग: कोई सरेआम तो कोई गुमनाम मगर बोल रहा है, गुजरात बोल रहा है

29-05-2020 07:44:00

रवीश कुमार का ब्लॉग: कोई सरेआम तो कोई गुमनाम मगर बोल रहा है, गुजरात बोल रहा है

गुजरात हाईकोर्ट में कोविड-19 से जुड़ी याचिकों की सुनवाई करने वाली बेंच में बदलाव किया गया है. जस्टिस जे बी पारदीवाला और आई जे वोरा की बेंच ने गुजरात की जनता को आश्वस्त किया था कि अगर सरकार कोविड-19 की लड़ाई में लापरवाह है तो आम लोगों की ज़िंदगी का रखवाला अदालत है.

यह भी पढ़ें जस्टिस आई जे वोरा अब इस बेंच का हिस्सा नहीं हैं. इस बेंच में सीनियर जज जस्टिस जे बी पारदीवाला थे. अब जस्टिस वोरा की जगह चीफ जस्टिस की बेंच कोविड-19 की मामलों को सुनेगी. जस्टिस जे बी पारदीवाला अब सीनियर नहीं होंगे.जस्टिस जे बी पारदीवाला और जस्टिस आई जे वोरा की बेंच ने 15 जनहित याचिकाओं को सुना. निर्देश पारित किए. राज्य सरकार ने एक नीति बनाई कि प्राइवेट अस्पतालों के बिस्तर भी कोविड-19 के बिस्तर लिए जाएंगे. इसके लिए नोटिफिकेशन जारी किया गया. हाईकोर्ट की इस बेंच ने पकड लिया कि इसमें शहर के 8 बड़े प्राइवेट अस्पताल तो है ही नहीं. ज़ाहिर है सरकार अपोलो औऱ केडी हास्पिटल जैसे बड़े अस्पतालों के हित का ज़्यादा ध्यान रख रही थी. कोर्ट ने आदश दिया गा कि इनसे बातचीत कर नोटिफिकेशन जारी किया जाए.

नेपाल के प्रधानमंत्री ओली का बेतुका बयान, बोले- भारत ने बनाई नकली अयोध्या समर्थकों के साथ सचिन पायलट, सामने आया वीडियो राजस्थान: सुलह के मूड में नहीं सचिन पायलट, बोले- समझौते की कोई शर्त नहीं रखी

कोविड-19 के मामले में यह अकेली बेंच होगी जिसने जनता का हित सर्वोपरि माना. कोविड-19 को लेकर जारी अपने 11 आदेशों में कोर्ट ने सरकार की कई चालाकियों को पकड़ लिया. आदेश दिया कि प्राइवेट अस्पताल मरीज़ों से अडवांस पैसे नहीं लेंगे. यह कितना बड़ा और ज़रूरी फैसला था. हर क्वारिंटिन सेंटर के बाहर एंबुलेंस तैनात करने को कहा. मरीज़ों को इस अस्पताल से उस अस्पताल तक भटकना न पड़े, इसके लिए सरकार को सेंट्रल कमांड सिस्टम बनाने को कहा जहां सारी जानकारी हो कि किस अस्पताल में कहां बेड ख़ाली हैं.

जस्टिस जे बी पारदीवाला और जस्टिस वोरा की बेंच ने डाक्टरों के हितों का भी ख्याल रखा. सरकार को निर्देश दिया कि उच्च गुणवत्ता वाले मास्क, ग्लव्स, पी पी ई किट दिए जाएं. उनके काम करने की जगह बेहतर हो. माहौल बेहतर हो. स्वास्थ्य मंत्री और स्वास्थ्य सचिव कितनी बार सिविल अस्पताल गए हैं, बताएं. सभी स्वास्थ्यकर्मियों को नियमित टेस्ट किया जाए. वीडियो कांफ्रेंसिंग के ज़रिए सिविल अस्पतालों के डाक्टरों से सीधे बात करने से लेकर अस्तपाल का दौरा करने तक की चेतावनी दे डाली. कह दिया कि यह अस्पताल काल कोठरी हो गई है.

अहमदाबाद सिविल अस्पताल की हालत खराब है. राज्य में जितनी मौतें हुई हैं उसकी आधी इस अस्तपाल में हुई हैं. एक रेजिडेंट डाक्टर ने बेंच को गुमनाम पत्र लिख दिया और बेंच ने उसका संज्ञान लेकर सरकार को आदेश जारी कर दिया. यह बताता है कि आम जनता का इस बेंच में कितना भरोसा हो गया था. दोनों जज अहमदाबाद के लिए नगर-प्रहरी बन गए थे. रेज़िडेंट डॉक्टर के पत्र के आधार पर जांच का आदेश दे दिया. कोर्ट ने कहा कि यह बात बहुत बेचैन करने वाली है कि सिविल अस्पताल में भर्ती ज्यादातर मरीज़ चार दिनों के ईलाज के बाद मर जातते हैं इससे पता चलता है कि क्रिटिकल केयर की कितनी खराब हालत है.

अहमदाबाद ज़िले में संक्रमित मरीज़ों की संख्या 12000 हो गई है. 780 लोगों की मौत हुई है. लोगों को एक बात समझ आ गई है. उनकी चुप्पी भारी पड़ेगी. उन्हीं की जान ले लेगी. पहले पत्रकारों ने सच्चाई को सामने लाने का साहस दिखाया. उसके बाद लोग भीतर भीतर बोलने लगे. तभी एक रेज़िडेंट डॉक्टर ने कोर्ट को गुमनाम पत्र लिख दिया और कोर्ट ने उसका संज्ञान ले लिया. राजकोट के दीनदयाल उपाध्याय मेडिकल कालेज के मेडिसिन विभाग के प्रमुख का तबादला कर दिया तो दस डाक्टरों ने विरोध में इस्तीफा दे दिया. अहमदाबाद के म्यूनिसिपल कमिश्नर विजय नेहरा ने सबसे पहले चुप्पी तोड़ी. सरेआम कह दिया कि अहमदबाद में स्थिति भयंकर हो सकती है. जनता नेहरा को सुनने लगी. सरकार ने नेहरा का तबादला कर दिया. नेहरा ने अपने ट्विटर पर शिवमंगल सिंह सुमन की कविता पोस्ट कर दी.

यह हार एक विराम हैजीवन महासंग्राम हैतिल-तिल मिटूंगा पर दया की भीख मैं लूंगा नहींवरदान मांगूगा नहीस्मृति सुखद प्रहरों के लिएअपने खण्डहरों के लिएयह जान लो मैं विश्व की संपत्ति चाहूंगा नहींवरदान मांगूंगा नहींक्या हार में क्या जीत मेंकिंचित नहीं भयभीत मैं

संघर्ष पथ जो मिले यह भी सही वह भी सहीवरदान मांगूंगा नहीं.लघुता न अब मेरी छुओतुम हो महान बने रहोअपने ह्रदय की वेदना मैं व्यर्थ त्यागूंगा नहींवरदान मांगूंगा नहींचाहे ह्रदय को ताप दोचाहे मुझे अभिशाप दोकुछ भी करो कर्तव्य पथ से किन्तु भागूंगा नहींवरदान मांगूंगा नहीं

किताबों के साथ समय बिता रही सोनम कपूर की पूरी फैमिली, शेयर की बुक लिस्ट - Entertainment AajTak राजस्थान में राजनीतिक संकट के बीच समझिए क्या है दलबदल कानून, जानिए सबकुछ बीजेपी में नहीं जाएंगे सचिन पायलट! सुनिए क्या बोले समर्थक विधायक

गुजरात की नौकरशाही चुप रहने वाली नौकरशाही हो गई थी. जिसने आवाज़ उठाई उसे कुचल दिया गया. एक अफसर फिर से उस आवाज़ को ज़िंदा कर रहा है. यह कविता अटल बिहारी वाजपेयी की प्रिय कविता थी. कोई है जो फिर से कविता का पाठ कर रहा है. गुजरात बदल रहा है. कोई सरेआम तो कोई गुमनाम बोल रहा है. गुजरात बोल रहा है.h

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) :इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं। इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति एनडीटीवी उत्तरदायी नहीं है। इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं। इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार एनडीटीवी के नहीं हैं, तथा एनडीटीवी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है।Ravish KumarCoronavirusGujaratटिप्पणियां भारत में कोरोनावायरस महामारी के फैलाव पर नज़र रखें, और NDTV.in पर पाएं दुनियाभर से COVID-19 से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें.

लाइव खबर देखें:फॉलो करे: और पढो: NDTVIndia »

गुजरात में आदिवासियों पर सरकार के द्वारा स्टेच्यु ओफ युनिटी के पास प्रवासन विकास हेतु पुलिस के द्वारा अत्याचार हो रहे हैं तो सर ईस बात का तुरंत न्यूज मे लाये, ईस अत्याचार को दुनिया के सामने लाया जाय, तकरीबन सात गांवो को जबरदस्ति खालि करवाएं जा रहे हैं।। Good sir 👍👍👌 ravishNDTV0 Bahat badhia ravish Bihari...lalach he us mitti ki Jo aap jaisi fake person ko dia

तुम्हरे मुंह पर महाराष्ट्र व दिल्ली का नाम नही आना ही गुजरात मॉडल को बेहतर बनाता है चोरी और सीना जोरी बीती बात हुई रवीश जनता को सब दिख रहा है रवीश कुमार जी कोरोना के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में है उस पर भी कुछ बोल लिया करो आप तो यूपी के पीछे हाथ धोकर पड़े हैं महाराष्ट्र पर क्यों नहीं बोलते NDTV पर पैसों की हेरा-फेरी का केस दर्ज है। राविश कुमार टुकड़े टुकड़े गैंग का मेम्बर है

❤️NDTV 💞💞💞💞💞Ravish kumar sir G 💞💞💞 What about other states pandey 🤪❓ We boycut ndtv.who chief of ndtv..isko Gujrat hi dikhta he maharasthra nai dikhraha...ravishkumar chasma nikal...ashutosh ki tarah app ya congress me Chala ja Best Patarkar ❤️ Gujarat ke liye to bas yahi duaa hai ke agle 50 saal tak unhe BJP hi mile... They deserve it..!

गुजरात सक्षम हैं रंडीटिवी वालें तेरे भोकने से फर्क नहीं पडता हैं इसका मानसिक संतुलन कांग्रेस की सरकार गुम होने से ख़राब हो गया है । Maharastra bhi toh bol rha hai usko bhi kabhi dikha do सर आप कितना भी कह लो पर सरकार कोई भी फर्क नही होने वाला SpeakUpIndia Please help faculty of private engineering colleges in Punjab. They have not been given salaries for last 10 months. How would their families survive?

Delhi Jaise chote state me ab Roj ke 1000 CORONA PATENT mil rhe h to Mera anurodh h central government se 🙏🙏🙏 PM modi ji DELHI ko ek bar fir se pura lock down kiya jaye nhi to wo Din dur nhi ki Delhi bhi mubai ban jayega Kya hal banaa liye ho ravishndtv ji Kuchh lete Kyon Nahin Chalo Koi Nahin Kuch Din Gujarat Hi Ho aao

गुजरात तो खैर बोल रहा है पर पर. बंगाल, महाराष्ट्र, राजस्थान तो अभीतक बोलने कि हिम्मत नही जुटा पा रहा ! चलो आशा करते है कभी तो जमीर जगेगा कभी तो जुबान खोलोगे!! बोलना जरूरी है, लेकिन उसको आंखे और कान खुले रख कर अमल मे भी लाना जरूरी है, अगले चुनाव में ❗ देश में डर का माहौल है । Rubbish शर्म कर ले । प्रवचन देना आसान है

बोलना ही है Tumhara G*nd dol raha hai aur pura Gujarat bol rha hai, Bhakk sutiye कोरोना सिफँ गूजरात मे है क्या बाकी जगह यह लोग जाते नहि हिहिहिहिहि.....कुछ दिनो में गायब होंगे सारे ब्लॉग....क्योकि चमचो का कोई वजूद नही होता Koi saryam To Koi Gumnaam bol raha hai Maharashtra Congress ne gujrat pe bolne ka theka diya he.gujrat me cases kam hogaye he ab.sirf 3 state maharastra-Delhi- tamil nadu pe dhyan de jaha 60% cases aarahe he

संबित पात्रा को अहमदाबाद सिविल अस्पताल में शिफ्ट करो।फिर देखना दिल्ली की गोदी मीडिया कवर करने 24 घंटे अस्पताल के बाहर ही पड़ी रहेगी। ।साथ में पात्रा को इलाज के दौरान दिन में तारे ना दिख जाए तो बोलना। Good work रवीश कुमार जी Mentally disturbed hai yeah aadmi subah saam sirf Modi Modi he karta hai, 15-15 हजार दिल्ली और गुजरात में19 हजार के करीब तमिलनाडु में और 50 हजार से उपर महाराष्ट्र में करोना संक्रमित हैं.अर्थात कुल 1.50 लाख में 1 लाख के करीब सिर्फ ये चार स्टेटों में है.सरकार को इन चार स्टेट में हेल्थ इमरजेंसी लागू कर राष्ट्रपति शासन लागू करना चाहिए. PMOIndia

WeSupport_Tejashwi पर इसको तो लोगो ने दिखा दिए की रामायण सब देखना चाहते थे और ये पूछता रह गया कि कोन जनता रामायण देखना चाहती है 🤣🤣🤣 1शिक्षा 2 स्वास्थ्य3न्याय ये फ्री में मिले बाकी फ्री में कुछ मत दो मुफ्तखोरी लोगोंको मक्कार देश को कमजोर बनाते हैं ।

फेसबुक से मुकाबले की तैयारी में गूगल, खरीद सकती है Voda-Idea की 5% हिस्सेदारीराजस्थान_इंटर्न_स्टाइपेंड_बढ़ाओ ashokgehlot51 SachinPilot RaghusharmaINC इंटर्न डॉक्टर काली पट्टी बांधकर काम कर रहे हैं।कितने दुख की बात है कोरोना संकट में काम करने वाले इन डॉक्टरों को गहलोत सरकार से ₹233 मिलते हैं , न्यूनतम मजदूरी से भी कम वेतन

कश्मीर में पुलवामा में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता, नाकाम की कार बम विस्फोट की साजिशपुलवामा पुलिस, सीआरपीएफ और आर्मी ने एक साथ एक्शन लेते हुए इस गाड़ी की पहचान की और इसमें IED के होने का पता लगाया।Pulwama

MP में मंत्रिमंडल विस्तार की तैयारियां अंतिम दौर में, दावेदारों की धड़कनें तेजMP में मंत्रिमंडल विस्तार की तैयारियां अंतिम दौर में, दावेदारों की धड़कनें तेज MadhyaPradesh CabinetExpansion ShivrajSinghChouhan इस कोरोनाग्रस्त माहौल में मन्त्रिमण्डल विस्तार.. वाह 😡 Ohk .... Ek lockdown me sarkar giri . Agle lockdown me nayi sarkar bani to aane wale lockdown me mantri mandal ka vistar hoga ....MP alag hi itihas rach raha मतलब शिवराज सिंह जी और भाजपा को लोगो से ज्यादा सरकार की चिंता है

शिवपाल सिंह यादव की सदस्यता रद्द करने की याचिका वापस, सपा में वापसी की तैयारीसियासी गलियारों में एक बार फिर मुलायम परिवार में एका के कयास लगाए जा रहे हैं। ShivpalSinghYadav SamajwadiParty yadavakhilesh ShivpalSYadav yadavakhilesh ShivpalSYadav देखिए, कितने भोले लग रहे हैं सिबपाल जी।

तेजस्वी ने की गोपालगंज में हुई हत्याओं की सीबीआई जांच की मांग, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापनगोपालगंज की घटनाओं का जिक्र करते हुए तेजस्वी ने लिखा है कि विगत एक पखवाड़े में गोपालगंज में ही अनिल तिवारी, शम्भु मिश्रा, मुन्ना तिवारी समेत अनेक व्यक्तियों की हत्याएं हुई हैं. गोपालगंज में हुई इन सब घटनाओं में एक ही ढंग से हत्याओं को अंजाम दिया गया है. हम गोपालगंज में हुई इन सब हत्याओं की सीबीआई जांच की मांग करते हैं. नीतीश कुमार अमरेन्द्र पाण्डेय जो हत्यारोपित है उसे बचाने का काम कर रहे हैं अगर नहीं तो अभी तक गिरफ्तारी क्यों नहीं हुई। आरोपी कह रहा हैdgp और sp मेरे जात का है तो क्या बाकी जातियों को न्याय नहीं मिलेगा? Failure talking 😂😂 विपक्ष हमला तो बोल ही रहा है सरकार में शामिल भाजपा का छात्र संगठन भी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रहा है ,कहीं भाजपा अंदर ही अंदर नीतीश कुमार को किनारे लगाने का खेल तो नहीं खेल रही हैं

LIVE: गुजरात में कोरोना के केस 15 हजार के पार, 938 लोगों की मौतगुजरात में कोरोना के केस 15 हजार के पार, 938 लोगों की मौत पढ़ें ताज़ा अपडेट्स: Gujarat लेकिन एक बार भी नहीं कहना कि... नमस्ते ट्रम्प 'क्रियाकर्म' जिम्मेदार है किसके कारण ये भी बता देते अच्छा प्रोटोकॉल से बाहर की बात है टीआरपी और सरकारी सहायता के कारण मौन है हां और राज्य की जरा खास तौर पे हम लोगो को ब्रेकिंग न्यूज देते रहिए ताकि हम सतर्क रहे जी, क्योंकि गुजरात भारत का सबसे बड़ा मॉडल राज्य है और यहां इतना तो हमे भी अति सतर्क रहना होगा

राहुल गांधी का हमला, कहा- PM मोदी के रहते भारत की जमीन को चीन ने कैसे छीन लिया सचिन पायलट BJP के संपर्क में, 30 MLA भी छोड़ सकते हैं कांग्रेस का दामन सचिन पायलट बोले- 25 MLA मेरे साथ बैठे हैं, 102 का गलत दावा कर रहे हैं अशोक गहलोत LIVE: खतरे में गहलोत सरकार, पायलट खेमे के विधायक आज देर रात दे सकते हैं इस्तीफा कर्फ्यू के दौरान बिना मास्क घूम रहे थे मंत्री के समर्थक, रोकने वाली पुलिसकर्मी ने दिया इस्तीफा सचिन पायलट थाम सकते हैं BJP का हाथ, 30 विधायकों के भी कांग्रेस छोड़ने के कयास पायलट की बगावत पर संजय निरूपम बोले- सभी चले जाएंगे तो बचेगा कौन? ज्योतिरादित्य सिंधिया की राह पर पायलट! 40 मिनट की मुलाकात पर लगीं अटकलें सचिन के पिता राजेश पायलट ने भी की थी बगावत, लेकिन नहीं छोड़ी थी कांग्रेस अनुपम खेर के परिवार को भी कोरोना, मां और भाई समेत 4 लोग पॉजिटिव सच‍िन पायलट का दावा- अल्पमत में गहलोत सरकार, मेरे साथ 30 से ज्यादा MLA