सुब्रह्मण्यम जयशंकर, लोकसभा चुनाव, मोदी कैबिनेट, एस जयशंकर, Subrahmanyam Jaishankar, S Jaishankar, Modi Cabinet

सुब्रह्मण्यम जयशंकर, लोकसभा चुनाव

कैबिनेट में एस जयशंकर, मोदी के करीबी और क्राइसिस मैनेजर के रूप में पहचान-Navbharat Times

मोदी कैबिनेट में एस जयशंकर, मोदी के करीबी और क्राइसिस मैनेजर के रूप में पहचान via @NavbharatTimes

30.5.2019

मोदी कैबिनेट में एस जयशंकर , मोदी के करीबी और क्राइसिस मैनेजर के रूप में पहचान via NavbharatTimes

India News: पूर्व विदेश सचिव एस. जयशंकर को मोदी सरकार की कैबिनेट में जगह मिली। मोदी और जयशंकर की जान-पहचान उनके पीएम बनने से पहले से है। डोकलाम विवाद निपटाने में रहा है अहम रोल।

और पढो: NBT Hindi News
ताज़ा खबर
अभी नवीनतम समाचार

गुजरात मे मोदी ने गोदरा हत्याकांड कीया था तो अमेरिका ने मोदी के अमेरिका जाने पर मोदी को वीजा ओर अमेरिका जाने पर अमेरिका ने मोदी पर रोख लगाई थी अमेरिका को मालुम हुआ था की मोदी हत्यारा है लेकीन देश मे रहकर भी देश की जनता को अभी मालुम नही है की मोदी हत्यारा है

देशतक: दीदी दिल्ली आएंगी...बंगाल से जाएंगी! Deshtak: Narendra Modi's open challenge to Mamata in Bengal! - Desh Tak AajTak30 मई को नरेंद्र मोदी के शपथग्रहण समारोह में ममता बनर्जी शामिल होंगी.चुनाव के दौरान मोदी और ममता के बीच बयानों के तीर चले थे जिसके बाद ये खबर अपने आप में बिल्कुल ही चौंकानेवाली है. एक तरफ ममता पीएम मोदी की दूसरी ताजपोशी में शिरकत करने को तैयार हैं. दूसरी तरफ मोदी और शाह की जोड़ी उनके पैरों के नीचे से जमीन खिसकाने की तैयारी में हैं. आज टीएमसी के 2 विधायक और 50 से ज्यादा वॉर्ड पार्षद बीजेपी में शामिल हो गए. देखें वीडियो. chitraaum PoulomiMSaha manogyaloiwal kailash V aur vajpa leaders ko sayed yeah malum nehi Ki Bangal ka vote Mamtaji k naam se hota hain aur janta vote TMC k naam pe Mamtaji kohi dete hain 😀 chitraaum PoulomiMSaha manogyaloiwal chitraaum PoulomiMSaha manogyaloiwal Count down begins for journey of transformation of Bengal from gundaraaj to vikasraaj...

पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर ने ली मोदी कैबिनेट में मंत्री पद की शपथ एस जयशंकर यानी सुब्रह्मण्यम जयशंकर ने देश के 31वें विदेश सचिव के तौर पर अपनी सेवाएं दी हैं. उन्हें पद्मश्री से भी सम्मानित किया जा चुका है.

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

PM मोदी के मंत्रिमंडल में सबसे चौंकाने वाला नाम एस जयशंकर, किसी को नहीं थी उम्मीदPM narendramodi के मंत्रिमंडल में सबसे चौकाने वाला नाम SJaishankar, किसी को नहीं थी उम्मीद PhirModiSarkar narendramodi देश को मिला सेनापति नया अब हमारा देश का शिर उचा हुआ। narendramodi **आज प्रफुल्लित भारत माता, फिर राजतिलक है गोदी में l जगदगुरु भारत को बना दे, वो ताकत है मोदी में ll** 'Kavi Gambhir' narendramodi Suregain Solutions

स्मृति ईरानी के करीबी नेता के हत्या के मामले में 7 लोग हिरासत में छापेमारी जारी– News18 हिंदीपूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की हत्या के मामले में डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि इस मामले में 7 संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. इस मामले में डीजीपी ऑफिस से सघन मॉनिटरिंग की जा रही है. बहुत_दुखद_घटना Justice_for_Payal डॉ. पायल सलमा तडवी की क्या अकादमिक हत्या नहीं की गई? उसका गुनाह क्या था , कि वह आदिवासी भील होकर भी एमडी की शिक्षा ले रही थी? लेकिन उसके सीनियर्स को एक आदिवासी भील लड़की का... दोषी को फांसी की सजा होने चाहिए Bhut dukhad ghtna h

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

बाजार में आई सीताफल के फ्लेवर वाली मोदी कुल्फी, जानिए क्या हैं इसके दाम?नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा और राजग को मिली ऐतिहासिक सफलता के बाद मोदी समर्थकों का उत्साह चरम पर है। हर कोई इस सफलता का जश्न अपने ही अंदाज में मनाना चाहता है। ऐसा ही कुछ नजारा गुजरात के सूरत में भी दिखाई दे रहा है। यहां पर एक आइसक्रीम पॉर्लर में मोदी के चेहरे वाली आइसक्रीम बाजार में पेश की गई है। यह कुल्फी फिलहाल सीताफल के स्वाद में उपलब्ध है।

speculations about modi cabinet and rahul gandhis resignation, live updates here - बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के मोदी कैबिनेट में शामिल होने पर जेपी नड्डा को बीजेपी अध्यक्ष बनाया जा सकता है। | Navbharat Times लोकसभा चुनाव ों में जीत के बाद एक तरफ बीजेपी जहां 30 मई को होने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शपथग्रहण की तैयारियों में जोर-शोर से लगी हुई है। वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस में इस्तीफों का दौर जारी है। राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश के बाद कई कांग्रेसी नेताओं ने इस्तीफ दिया। हालांकि इस बीच राहुल गांधी ने कुछ शर्तों के साथ पार्टी अध्यक्ष बने रहने के लिए सहमति दी है, लेकिन स्थिति अभी पूरी तरह स्पष्ट नहीं है। इस बीच ममता बनर्जी ने पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में शामिल होने से इनकार कर दिया है। पल-पल के अपडेट के लिए बने रहिए हमारे साथ...

सेंट्रल हॉल में मोदी के भाषण के मायनेक्या इस भाषण से उनकी बेहतर छवि बनेगी और यह कह सकते हैं कि नई सरकार को नए अंदाज़ में देखेंगे? लेकिन पीड़ितों की व्यथा का क्या? उनके प्रति अन्याय का क्या एक नागरिक को न्याय का क्या? काश ये सारी आकांक्षाएं सच हो जाये। इन के भाषण का अर्थ यही है कि अब अल्पसंख्यकों पर हमले काफी तेजी से किए जाएं और फिर उस की कड़ी निंदा कर के मामले को दबा दिया जाए , दरअसल मोदी जी के अब तक के भाषणों से विपरीत रिजल्ट में देखने मे आता रहा है इसलिए अल्पसंख्यकों के प्रति इन का भाषण उन के विनाश को इंगित करता हुआ लगता है

मोदी के शपथग्रहण समारोह में शामिल हो सकते हैं पड़ोसी देश, इमरान के नाम पर संशयमोदी ने 2014 में अपने शपथग्रहण समारोह में सार्क नेताओं को आमंत्रित किया था जिसमें पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री तो उसे शपथग्रहण पर क्यो बुलाये दुश्मन को बुला रहे या देश को फिर से मुश्किले मे लाना चाहते मोदी मोदी कभी भूलता नहीं है।

पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में शामिल होने के लिए कमल हासन को न्‍योतानई दिल्ली। पीएम नरेन्द्र मोदी 30 मई को संसद भवन के केंद्रीय कक्ष में प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। इस दौरान कई हस्तियों को न्‍योता भेजा गया है। इसी कड़ी में दक्षिण के मशहूर अभिनेता कमल हासन को भी न्‍योता भेजा गया है।

मोदी के शपथ ग्रहण में शामिल होंगे आठ देशों के नेता, पाकिस्तान को न्योता नहींप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में इस बार बिम्सटेक (BIMSTEC) देशों के राष्ट्राध्यक्षों को आमंत्रित किया पाकिस्तान ज्यादा प्यार सम्भाल नहीं पाता इसलिए हर देश न्योता देने से घबराता Wah re wah media manmohanji kaun se sapath me pakistaan ko bulaya tha Kya pata yaha Aaker tamater utha le jaye

'मोदी लहर' में कांग्रेस के 9 पूर्व मुख्यमंत्री हारे, पार्टी के भविष्य पर उठने लगे सवालदेशभर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘प्रचंड लहर’ पर सवार भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रवाद, हिंदू गौरव और 'न्यू इंडिया' के मुद्दों पर लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज करके लगातार दूसरी बार केंद्र में सरकार बनाने जा रही है. 'मोदी लहर' इतनी प्रचंड थी कि कांग्रेस के नौ पूर्व मुख्यमंत्री चुनाव हार गए. कोई लहर नहीं सारे मक्कार थे काम करते नहीं अपने छेत्र मे सिर्फ बकलोलई करते है. Congress mukt bharat me apka swagat h कुछ जंगली सुअर मिलकर शेर को घेर तो सकते हैं, लेकिन उसका शिकार नहीं कर सकते।।।

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

31 मई 2019, शुक्रवार समाचार

पिछली खबर

फिर केंद्रीय मंत्री बने नितिन गडकरी, जानें, उनके बारे में सबकुछ-Navbharat Times

अगली खबर

मोदी कैबिनेट में शामिल हुए Amit Shah, पीएम और राजनाथ सिंह के बाद तीसरे नंबर पर ली शपथ
फिर केंद्रीय मंत्री बने नितिन गडकरी, जानें, उनके बारे में सबकुछ-Navbharat Times मोदी कैबिनेट में शामिल हुए Amit Shah, पीएम और राजनाथ सिंह के बाद तीसरे नंबर पर ली शपथ