केंद्र जारी करे लॉकडाउन की गाइडलाइंस, राज्यों पर छोड़े फैसला लेने की आजादी: सचिन पायलट

सचिन पायलट ने कहा, राज्यों को फैसले लेने की होनी चाहिए स्वतंत्रता

29-05-2020 20:49:00

सचिन पायलट ने कहा, राज्यों को फैसले लेने की होनी चाहिए स्वतंत्रता

राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि हमें कोरोना के साथ अब जीना होगा. लॉकडाउन कोई समाधान नहीं. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार लॉकडाउन की गाइडलाइंस जारी, लेकिन फैसला लेने की स्वतंत्रता राज्यों पर छोड़ दे.

इंडिया टुडे टीवी के शो न्यूज टुडे में शिरकत करते हुए सचिन पायलट ने कहा कि हमें मालूम पड़ चुका है कि कौन से कंटेनमेंट जोन हैं, जहां हमें फोकस करना होगा. हमारी दो तरह की रणनीति होगी. जहां पर कर्फ्यू है वहां के लिए हमें कड़ा SOP तैयार करना होगा. लेकिन जहां पर कोरोना के केस कम हैं वहां पर हमें अब जिंदगी को फिर से रफ्तार देने की जरूरत है.

गलवान घाटी से गायब हुए चीनी सेना के ठिकाने, देखें ताजा सैटेलाइट तस्वीरें कैसे करोड़ों का मालिक बन गया विकास दुबे? जवानों का हौसला बढ़ाने 1962 में नेहरू LAC गए थे, PM मोदी ने भी यही किया: पवार

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करेंउन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को अब राज्यों के ऊपर छोड़ देना चाहिए कि कौन सा सेक्टर खोलना है, कौन सी इंडस्ट्री खोलनी है, लेकिन अगर हम सभी चीजें खोल देंगे तो इससे हम दिक्कतों को बुला रहे हैं. जो सेक्टर अर्थव्यवस्था के लिए जरूरी हैं उन्हें फिर से ट्रैक पर लाने के लिए खोल देना चाहिए.

उन्होंने कहा कि भारत अभी कोरोना के पीक से दूर है. देश में कोरोना के आंकड़े तो बढ़ रहे हैं, लेकिन अगर संक्रमण ग्रामीण इलाकों में फैल गया तो हमें और दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा, लेकिन पूरी तरह से लॉकडाउन लागू करना सही नहीं होगा.कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

'हवाई सेवा शुरू कर सकते तो रेस्टोरेंट क्यों नहीं खोल सकते'सचिन पायलट का मानना है कि सरकार अगर हवाई सेवा शुरू कर सकती है तो रेस्टोरेंट को क्यों नहीं खोलने की इजाजत दे सकती है. उन्होंने कहा कि अगर एयरलाइंस की सेवा शुरू कर सकते हैं, जहां 100 से ज्यादा लोग यात्रा कर सकते हैं तो क्यों नहीं रेस्टोरेंट जहां 30 लोग बैठते हैं उसे खोला जाए. हमें अब अपने जीने के तरीके में बदलाव करना होगा.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखेंउन्होंने कहा कि राज्य और जिला प्रशासन को पता है कि उन्हें क्या करना है और क्या नहीं करना है. केंद्र सरकार की ओर से गाइडलाइंस आनी चाहिए, लेकिन राज्यों के पास उतनी आजादी होनी चाहिए कि वे यै फैसला ले सकें कि क्या जरूरी है और क्या नहीं.

कर्नाटक सरकार का क्या है विचार और पढो: आज तक »

ताकि मनमानी करके महामारी बढ़ाई जासके फिर कोन्ग्रेस जैसे राज्यो लोकडाऊन क्यो करे? लाशो पर राजनीती करंगे और केन्द्र से करोडो रुपिये लेते रहेंगे। What he need! Majority of decisions are in the hands of the state. Why to use fogging communication to cover your failure. Abhi kon sha central government ki guide line man te ho ap log..🧐

Akla hai faisle leneki aur ye bata tu faisla lega ke C.M.teri aukat hai gehlot ke samne Le to rahi hey delhi sarkaar............bus ab dher lagney baaki hain क्या करते हो तुम? तुम्हारे राज्य मे तुम्हे फैसले लेने के लिये कौन रोक रहा है? केंद्र सरकार गाईडलाईन देती है पर वो सारी जनहित के लिए होती है और मिनिमम आवश्यकता को ध्यान मे रख कर दी जाती है तुम्हे और कड़क कदम उठाने है तो उठाओ, छूट मत दो, कर्फ्यू लगा दो, मात्र बयान बाजी ना करे ।

भैया आपके यहां तो यह अधिकार खाली राहुल विंची, एंटोनियो माइनो और प्रियंका वाड्रा को है। सो रहे हो क्या बबुआ फिर आप क्या करोगे ,बिजली ,पानी ,और किसानों का संपूर्ण कर्ज माफ क्या? बिल्कुल सही है लेकिन जहां तक आर्थिक विषय है वो केंद्र के ऊपर ही और जनता को किसी भी प्रकार की रियायत यह पूरे देश में एक ही होनी चाहिए,कारण वोट की राजनीति देश की अर्थव्यवस्था को चौपट कर सकती है।

State like Maharastra, Delhi & WB are not implementing the centre guide line. Failed to manage lockdown, migrant issue, Hide the fact & number of death & +ve case. Center must impose president rule in these 3 state. Army should take over Mumbai City. BJP4India INCIndia esako vote dene Vale bhi modi bhakt or esko gali dene Vale bhi modibhakt

पहले यह तो पता चले कि सचिन पायलट को यह बयान देने की स्वतंत्रता, राजवंश परिवार के तीन सदस्यों में से किसने दी? क्योंकि बाकी बचे दोनों ने भी अपने-अपने बयान जारी करवाने हैं । कांग्रेस में आजकल यही सब चल रहा है । जैसे ही कोंग्रेस याँ उनके सहयोग से चलने वाले राज्यो मे, कोरोना की परीस्थीती काबु से बहार हो जाती है ? तुरंत बयान आने शुरू हो जाते है ' राज्यो को फैसले लेने की होनी चाहिए स्वतंत्रता ' फीर मोदी मोदी चिल्ला ना शुरु .....

To kaun rok raha hai inko bijli bill maaf karne se ya 10000 rs har parivaar ko dene se... de de aur dikha de congress ne apne sabhi rajyo mein kar diya ab bjp ki baari... lockdown mein to waise bhi rajyo ka hi chal raha hai naam ke liye center raha gaya hai... हां... कल राज्य बोलेंगे की राज्य की पूरी मिलकीयत राज्य को ही मिलनी चाहिए... और हर राज्य की खुद की लश्कर होनी चाहिए।

PM se jab sambad hua usmey, Rajasthan ko kya swatantrataa chaahiye, uskaa bhi baat hua hogaa Kaun saa swatantrataa, joh central govt. sey, milnaa chaahiye, lekin milaa nahi ? Migrant Labourers kaa dekh-bhal karne ka toh purna swatantrataa thaa ! Kyaa woh thik see hoh payaa? Isse koi puche lockdown 4 mein sabhi sarkaro. ne khud faisla liya aur halat sabke samne hain. Kabhi kabhi lagta hai inpe bhi Youth leader of 50years age ka asar aagaya hai jo bina soche samjhe kuch bhi bolte hain..

Abhi tak jo faisle liye rajasthan sarkar ne vo kya kaam hanikarak the jo vispot karne bol rahe ho..no testing..no strictness..tabhi itne case aae..screening hue to kya hoga vo socho..kuch bhi mat feke...papu ka asar hai puri party me..logo ki jaan lolypop nahi कृपया मीडिया के सदस्य आप कृपया बताएं कि 12 के exam देने हम student जाहेगै यदि हम स्टूडेंट हो मैं से कोई संक्रमित पाया गया तो वह student तो पेपर नहीं दे सकता क्या उसे जनरल प्रमोशन दिया जाएगा कृपया मीडिया के सदस्य आप कृपया बताएं

केंद्र ने तो पहले ही कह दिया। अब क्या राज्य सरकार को शक्तिमान की ड्रेस पहनाई जाये। Chalbe apana kaam kar Aisa nahi hona chahiye Kendra serkar karegi अब कितनी स्वतंत्रता चाहिए रोड पर खड़े होकर नाचोगे क्या यार और कितना हक चाहिए...... राजस्थान में कोरोना के केस रोज़ बढ रहे हैं..... अब तो बस गोली मारना ही बाकी रह गया है..... वो भी कर ही दो....

ताकि राज्य राजनीति करें महाराष्ट्र दिल्ली और तमिलनाडु लॉकडॉउन पर स्वतंत्रता लेे रखी है🤪🤣 नतीजा सामने है🤔 ओह । तो अब ये होगा । अपनी-अपनी ढफली अपना-अपना राग । साला गरीबो को बस तो दिलवा नही पाया,भूखा प्यासा छोड़ दिया मरने के लिए और बाते बड़ी बड़ी , ज्ञान पेल रहा है sachin ji pagla gaye hai sabkuch rajyo ko hi na de de agar aisa hota toh mumbai abhi tak khol diya hota apna agenda shadne mai so jada boliyeh mat sachin ji rojgar paida karne mai jada dhyan de toh aacha hoga

Ye fisla lenge fir kuch glt huwa to modi sarkar pe thop denge.. Kitni chalti hai Rajasthan Sarkar me aapki? Ek taraf CM Gehlot ji aur dusri taraf aapki party ki Mata Shree? Aapki daud bhi Raj. Congress me aapko pata hi hoga. Aur, Congress party aur unke netaon ki (incl. Bhai - Behen - damaad) humara pura desh jaanta hai.

The only Real Leader/Politician...You are an amazing Man पप्पू की गुलामी से आजादी लेले राज्य सरकारों से कंट्रोल नहीं होगा यह कोरोना सर देश सिर्फ मोदी काका जी बात मानते है पुरे देश ने दिये जलाये थे उनके कहने पे जब सब कुछ राज्य पर ही चाहिए तो मोदी सरकार को कोसता कयु है तुम्हारा पप्पू इसलिए तो कोरोना इतना फ़ैल रहा है

इसका मतलब राजस्थान में लॉकडाउन नहीं लगाएगी कांग्रेस सरकार! अब तक राज्य क्या कर रहे थे,, लॉकडाउन 4 में समस्त राज्यो को अपनी करने की छूट दी गई थी SachinPilot जी पूरे देश मे क्या से क्या हो गया ,,कई राज्य तो बुरी तरह कोरोना से ग्रस्त हो गए हैं ,, राजस्थान भी Ye harami swatantrata kay nam par manmani karne kee yojana bana rahe hain

To abhitak kya chal raha tha SachinPilot sir aapko aur kitni freedom chaiye.. already aapne sab kuch to khol diya h Rajasthan me.. jo aap chahte the ki cases bade.. vo b bad rahe h to congratulations to you.. aap Italian family k iraado ko pura krne ke bahut kareeb h😡😡 Lockdown 4 bhi to rajya pe nirbhar tha....

केन्द्र की सुनता कौन है 😝

तलाकशुदा बेटी भी पेंशन की हकदार- सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की केंद्र सरकार की अपीलकोर्ट ने पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती देने वाली केंद्र सरकार की अपील को खारिज करते हुए ये फैसला दिया है।

कोविड-19 का नकारात्मक आर्थिक प्रभाव, देशव्यापी लॉकडाउन ने सिकोड़ दी देश की मजबूत अर्थव्यवस्थाAnalysis - कोविड-19 का नकारात्मक आर्थिक प्रभाव, देशव्यापी लॉकडाउन ने सिकोड़ दी देश की मजबूत अर्थव्यवस्था coronavirus COVID19 IndianEconomy Lockdown CORONA-READY? Next is EASY-RULEwithCARE 1 For FAST-Track+Trace ALL onHIGHWAY MUST have WEEKLY paid-MEDICAL📝NOTE eg.Oxygen+Temp.ADHAREtc Like VEHICLEPUC 2 NOTIFIED-work Can't START as OWNER/OTHERS can't DRIVEDestination Due-to DISTRICTcloseDOWN So GROWTH Needs OPENDISTRICT

लॉकडाउन के बाद पहली बार 3 जून को होगी संसदीय समिति की बैठक, सदस्य रहेंगे मौजूदसंसद की गृह मामलों की स्थायी समिति की बैठक 3 जून को संसद भवन में बुलाई गई है. ये बैठक डिजिटल या वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए नहीं होगी (Rahulshrivstv) Rahulshrivstv DrRPNishank HRDMinistry NIMAUTTRAKHAND ugc_india PMOIndia PromoteFinalYearStudents PromoteStudentsSaveFuture PromoteStudentsSaveFuture PromoteStudentsSaveFuture PromoteFinalYearStudents PromoteStudentsSaveFuture PromoteStudentsSaveFuture We r more thn 3000

लॉकडाउन: नीदरलैंड के प्रधानमंत्री ने पेश की मिसाल, मृत शैया पर लेटी मां से नहीं मिलेलॉकडाउन: नीदरलैंड के प्रधानमंत्री ने पेश की मिसाल, मृत शैया पर लेटी मां से नहीं मिले Covid19 Netherlands MarkRutte मिशाले बस अलग अलग ही पेस होती है

लॉकडाउन-5 की तैयारी शुरू, हॉटस्पॉट में बढ़ेगी सख्ती; मिल सकती हैं ये छूटलॉकडाउन-पांच के दौरान मुख्य जोर कोरोना के बड़े हॉटस्पॉट पर होगा और देश के बाकी हिस्सों में पहले से अधिक छूट दी जा सकती है। कोरोना तो बस एक बहाना की गरीबो को किसी भी तरह से मारने की प्रधानमंत्री कोरोना योजना है। भारत मे कोरोना का जिम्मेदार तत्कालीन केंद्र सरकार ही है। और अब कोरोना इस सरकार का एक हिस्सा है। ये लोक डाउन सिर्फ गरीब मजदूर, असहाये मजदूर, रोजाना कमा कर खाने वाले, समान्य मजदूर, किसान के लिए है बाकि इन सब को छोड़ कर सब का जीवन ठीक ठाक चल रहा है। क्यू की ये सब सरकार की सोची समझी बहुत बड़ा साजिश है। झारखण्ड के दो सचिव भारत सरकार में एक छोटे से राज्य को ठीक ढंग से चला न सका देश का बागडोर क्या संभाल पाएगा?

अब 120 पहले बुक कर पाएंगे ट्रेन टिकट, लॉकडाउन से पहले की स्थिति बहालIndia News: Rail ticket booking : अब आप 120 दिन पहले रेल टिकट बुक कर सकते हैं। रेलवे ने अडवांस टिकट बुकिंग की मौजूदा मियाद बढ़ा दी है। लॉकडाउन में रेल परिचालन शुरू करने के साथ 7 दिन पहले तक टिकट बुकिंग की अनुमति दी गई थी जिसे बढ़ाकर 30 दिन कर दिया गया था। अब यह अवधि 120 दिन की हो गई है। From which date

10तक: ह‍िंदुस्तान ने LAC पर दिखाया दम तो चीन ने पीछे ल‍िए कदम कोरोना को 'मामूली फ़्लू' कहने वाले राष्ट्रपति बोलसोनारो हुए संक्रमित चीन ने दी धमकी: तिब्बत मामले को न छुए भारत, नहीं तो होगा नुकसान - trending clicks AajTak LAC से चीन का पीछे हटना पीएम मोदी की आक्रामक रणनीति का असर? देखें दंगल ओवैसी ने पूछा, ना कोई घुसा है, ना कोई घुसा हुआ है तब 'डी-एस्केलेशन' क्यों? राहुल का वार- फेलियर पर स्टडी में शामिल होंगी 3 चीज़ें, कोविड-19, GST और नोटबंदी LAC विवाद पर राहुल ने सरकार से पूछे तीन सवाल, दोनों देशों के अलग बयान का भी जिक्र प्रियंका का वार- UP में अपराधी बेलगाम, CM ने आंकड़े छिपाने के अलावा क्या किया? चीन ने कोरोना संक्रमित लाखों लोगों को विमान से विदेश भेजा: अमेरिकी अधिकारी - trending clicks AajTak लद्दाख में चीन के पीछे हटने की खबर पर ओवैसी ने पूछे सवाल, कहा- जब घुसे ही नहीं, तो पीछे कैसे हट रहे हैं? आखिरकार पीछे हटा ड्रैगन, रंग लाई 48 घंटे की कूटनीतिक और सैन्य बातचीत