किसानों की एक और मांग के सामने झुकी सरकार, अब पराली जलाना क्राइम नहीं, मंत्री बोले- 'घर लौटें किसान'

किसानों की एक और मांग के सामने झुकी सरकार, अब पराली जलाना क्राइम नहीं, मंत्री बोले- 'घर लौटें किसान'

Narendra Singh Tomar, Stubble Burning Not Cime

27-11-2021 11:10:00

किसानों की एक और मांग के सामने झुकी सरकार, अब पराली जलाना क्राइम नहीं, मंत्री बोले- 'घर लौटें किसान'

तोमर ने किसान आंदोलन के दौरान किसानों के खिलाफ दर्ज मामलों को वापस लेने पर कहा कि यह राज्यों का विषय है, इसलिए इन मामलों पर संबंधित राज्य सरकारें फैसला करेंगी. उन्होंने यह भी कहा कि किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) देने के लिए प्रधानमंत्री ने कमेटी की गठन की घोषणा की है, उनकी रिपोर्ट आते ही उस पर भी कार्रवाई की जाएगी.

नई दिल्ली: केंद्र सरकार किसानों की एक और मांग के सामने झुक गई है. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Union Agriculture Minister Narendra Singh Tomar) ने तीनों कृषि कानूनों की वापसी (Farm Laws Repealing) का बिल संसद में पेश करने से पहले आज (शनिवार, 27 नवंबर) कहा कि सरकार ने किसानों द्वारा पराली जलाने (Stubble Burning) को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया है. उन्होंने किसानों की इस मांग को केंद्र सरकार द्वारा मान लेने का ऐलान किया.

यह भी पढ़ेंइसके साथ उन्होंने कहा कि किसानों की लगभग सभी मांगें पूरी हो चुकी हैं. ऐसे में उन्हें अब अपने-अपने घरों को वापस लौट जाना चाहिए. तोमर ने कहा कि जब तीनों कृषि कानून वापसी का ऐलान प्रधानमंत्री कर चुके और संसद में बिल लाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है तो ऐसे में किसानों के आंदोलन का अब कोई औचित्य नहीं रह गया है. उन्होंने कहा कि किसान अब बड़े मन का परिचय दें.

'सोमवार को संसद में ही रहें', BJP ने सांसदों को जारी किया व्हिप, कृषि कानून वापसी बिल होगा पेशतोमर ने किसान आंदोलन के दौरान किसानों के खिलाफ दर्ज मामलों को वापस लेने पर कहा कि यह राज्यों का विषय है, इसलिए इन मामलों पर संबंधित राज्य सरकारें फैसला करेंगी. उन्होंने यह भी कहा कि किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) देने के लिए प्रधानमंत्री ने कमेटी के गठन की घोषणा की है, उनकी रिपोर्ट आते ही उस पर भी कार्रवाई की जाएगी. headtopics.com

Mithun Chakraborty on OTT: प्राइम वीडियो की इस सीरीज से होगा मिथुन का ओटीटी डेब्यू, सोनाली, श्रुति और गौहर का मिला साथ

#WATCH | As far as cases registered during the protest are concerned, it comes under the jurisdiction of state govts & they will take a decision. State govts will decide on the issue of compensation too, as per their state policy: Union Agriculture Minister NS Tomar pic.twitter.com/gQyWbUvx2F

— ANI (@ANI) November 27, 2021सोमवार (29 नवंबर) से शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र के पहले ही दिन सरकार कृषि कानून वापसी बिल पेश करने जा रही है. सोमवार को कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर बिल पेश करेंगे. उसी दिन सदन में कृषि कानूनों की वापसी विषय पर चर्चा होगी और इसे पास कराया जाएगा. बीजेपी ने अपने सभी सांसदों को तीन लाइन का व्हिप जारी कर उस दिन सदन में मौजूद रहने को कहा है. राज्यसभा सांसदों को पहले ही व्हिप जारी किया जा चुका है. 

बता दें कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) ने दिसंबर 2015 में फसल अवशेषों को जलाने पर रोक लगाते हुए इसका उल्लंघन करने वाले किसानों पर दंड लगाने का प्रावधान किया था. NGT के आदेशानुसार पराली जलाते पकड़े जाने पर 2 एकड़ भूमि तक 2,500 रुपये, दो से पांच एकड़ भूमि तक 5,000 रुपये और पांच एकड़ से ज्यादा की भूमि पर 15,000 रुपये का तक का जुर्माना लगाया जा सकता था. 

जब शादी से पहले ही पिता बन गए ये क्रिकेटर

वीडियो: रवीश कुमार का प्राइम टाइमः कहीं चुनाव राजनीति या वर्चस्व की लड़ाई में न बिखर जाए किसान आंदोलनListen to the latest songs, only on JioSaavn.comNarendra Singh TomarStubble burning not cimeNarendra Singh Tomar On Farmers ProtestFarm Laws Repealटिप्पणियां पढ़ें देश-विदेश की ख़बरें अब हिन्दी में (Hindi News) | कोरोनावायरस के लाइव अपडेट के लिए हमें फॉलो करें | headtopics.com

लाइव खबर देखें:

और पढो: NDTV India »

खबरदार: क्या है यूपी में बीजेपी की जाटलैंड पॉलिटिक्स, समझिए

बीजेपी के स्टार प्रचारक केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने चुनाव की कमान पर प्रचार के तीर चढ़ा दिए हैं. अमित शाह गुरुवार को मथुरा-वृंदावन में थे, जहां बांके-बिहारी के दर्शन करने के बाद वो लोगों से मिलने के लिए डोर-टू-डोर गए. प्रचार के पर्चे बांटने के साथ-साथ गृहमंत्री शाह ने जनता को पिछली सरकारों के गुंडाराज की याद भी दिलाई. इसके अलावा यूपी में जाट पॉलिटिक्स भी रूठे को मनाने की मुद्रा में आ गई है. बीजेपी ने जयंत के लिए दरवाजे खुले छोड़े हैं, लेकिन जयंत के तेवर बदले हुए हैं. आज खबरदार में हम बीजेपी की जाटलैंड पॉलिटिक्स को भी डिकोड करेंगे. देखें खबरदार. और पढो >>

Election, Election, Election Drama 💩 किसान घर जाइए और बीजेपी को हर आइए Jb tk MSP nhi Ghr wapsi nhi MSP_का_वादा_पूरा_करो किसानों से हर वार्ता के बाद यह मंत्री बड़ी कुटिल मुस्कान के साथ प्रेस को वक्तव्य देता था। अपनी मांगों में किसानों को एक मांग इसको पद से हटाने की रखनी चाहिए.. हालांकि यह सजा भी इस धूर्त और मक्कार के लिए कम रहेगी....

अभी UP चुनाव से पहले सब मानेगा, चुनाव बाद असली रंग मे आ जायेगा। ArvindKejriwal Burning of Parali in Punjab/Haryana/UP. Now, you are with Punjab & others or Delhi ! ये ऐसे क़ृषि मंत्री हैं जिन्हें कुछ पता नहीं रहता जो ऊपर से प्रचा दिया था है वाचन करके चल देते हैं । जलाओ पराली, खूब जलाओ!? अपनों के ही फेफड़ों में खूब धुआं भरो!

लोटेगे चिन्ता मत करो पहले पूरा इलाज तानाशाह का दिमागी बुखार उतर जाऐ। खैर MSP कानून कब तक बनेगा? निजीकरण के नाम पर देश बैचो अभियान कब बंद होगा? महंगाई के नाम पर लूट कब बंद होगी? ये जो बेतुके कानून बना-2 कर जनता पर थोपे जा रहे है ये सब वापिस कब होगे? राफेल PM केयर फड का हिसाब?

किसान आंदोलन की पहली बरसी पर बोले राकेश टिकैत- बिना बातचीत के आंदोलन खत्म नहीं होगाकिसान नेता राककेश टिकैत ने कहा, जब तक एमएसपी की गारंटी देने वाला कानून सरकार नहीं लाती और आंदोलन में मारे गए किसानों के परिजनों को मुआवजा नहीं मिलता, तबतक पीछे नहीं हटेंगे।

शेर दो कदम तो छोड़िए लगता है शेर बिल में घुस गया है😂😂 किसान जानते हैं कि वोट के लिए भाजपा कुछ भी करेगी इसलिए इससे अच्छा मौका अब न मिलेगा MSP वाली मांग मनवाने का। किसानो को अनेक तरह से प्रताणित व अपमानित किया‌, सर शरीर तौड फोड़े, बेरहमी से कुचले व हजारों मुकदमे दर्ज हुए। खेती लागत कई गुना बढ़ी, समस्याएं भी बढ़ी व घाटे की खेती पहिले से भी ज्यादा। समय है किसानों के साथ मिल बैठकर हल निकाले का यही लोकतंत्र का भी तकाजा है। जय किसान व जय संविधान

MSP चाइये चॉकलेट नही मोदी_MSP_दो MSP का भी बता दो, और जो बाकी मुद्दे हैं उनका भी पराली जलाना क्राइम नहीं होना चाहिए लेकिन पराली के निस्तारण की व्यवस्था की जानी चाहिए.. क्योंकि पराली जलाना तो हानिकारक है ही.. कितनी भी मांग पूरी करो जायँगे नही जिल्ले इलाही की तपस्या में फिर कमी रह गई और रेल यात्रियों को ₹50 के प्लेटफार्म टिकट का लाभ नहीं समझा पाए, वापस ₹10 कर दिया। 🤣 मॉरल ऑफ दि स्टोरी..... आप की तपस्या ही देश की समस्या है। हरिओम......... ✋ 😂😂😂🤦‍♂️

Still, CONGRESS EXPOSED IN 26/11 digvijaya_28 Blamed RSS in Book ManishTewari Blamed UPA for Inaction in Book Late Sushil Shinde coins 'Hindu Terror' word in Parliament Congress Tried to Save Pakistan and Blame the Hindus Shri Ram saved Kasab to Save Truth and Hindus🙏🙏

Kisan Andolan: संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक आज, कुंडली बार्डर पर जमा होंगे किसान नेतागुरनाम सिंह चढ़ूनी ने कहा कि सरकार एमएसपी पर गारंटी आंदोलन में जान गंवाने वालों को मुआवजा और 48 हजार लोगों पर दर्ज मुकदमे रद करे। पंजाब के लोगों ने यह आंदोलन शुरू किया था लेकिन हरियाणा के लोगों का योगदान भी कम नहीं है। सुव्यवस्थित ढंग से आंदोलन की पुर्ण करें_ किसानों_के_श्वयंभू__नेता ।। देश _मे_पारा अपने निम्नस्तर पर भी (dec_Ahed) जा सकता है, मजदूर & किसान अपने परिवार के साथ मौसम से सुरक्षित रहें!! Sarkar se chhattisgarh ke Ek Yuva_kisan ka vinmra anurod. Kisano ke liye best dijiye. S

इंदौर में 2000 गाय की खाल से भरा ट्रक पकड़ा गया। राम भजन उपाध्याय,उमेश मिश्रा और रवि शर्मा पकड़े गए। चड्डी धारी/भगवा धारीयों सनातन_धर्म को धंधा बना लिया है। ZeeNews, CNNnews18, TimesNow indiatvnews, ABPNews, SudarshanNewsTV aajtak इनसे कम नहीं। Maang badhti jaa rahi hai chintniye खेतों में जलाना जुर्म नहीं, कहीं मंत्री के घर के ऊपर जला दी और पता चला कि क्राइम नहीं होने की वजह से सब माफ 😂

अब तो MSP लें कर ही लौटेंगे। इनकी सब मांग मान लो तो भी नही लौटेंगे ये छुपे हुए किसान के भेष में कांग्रेसी वामपंथी खालिस्तानी का आंदोलन है । इनका सिर्फ एक मकसद है बीजेपी को हराना ना कि किसानों का फायदा सरकार जितनी जल्दी समझ जाएं तो ठीक

CBI के विशेष निदेशक प्रवीण सिन्हा इंटरपोल की समिति के लिए निर्वाचित, चीन से था मुकाबलाप्रवीण सिन्हा इंटरपोल की कार्यकारी समिति में एशिया के प्रतिनिधि चुने गये। चुनाव कठिन था जिसमें भारत का मुकाबला चीन, सिंगापुर, कोरिया गणराज्य और जॉर्डन के चार अन्य उम्मीदवारों से था।

Nokia के 4 नए स्मार्टफोन के रेंडर्स हुए ऑनलाइन लीक, डिज़ाइन की मिली झलकNokia कंपनी के चार स्मार्टफोन के रेंडर्स ऑनलाइन लीक किए हैं। टिप्सटर ने फोन की तस्वीरों के साथ फोन के मॉडल नंबर की भी जानकारी दी है, जो कि Nokia N152DL, Nokia N151DL, Nokia N150DL और Nokia N1530DL हैं।

100 करोड़ वसूली मामला: परमबीर सिंह के खिलाफ मामले की जांच के लिए एसआइटी गठित100 Crore Recovery Case मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह के खिलाफ जांच के लिए एसआइटी का गठन किया गया है। अनिल देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार और कदाचार का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री ठाकरे को पत्र लिखने के बाद सिंह के खिलाफ छह मामले दर्ज किए गए थे।

चीन: अमेरिकी सांसदों ने की ताइवान की यात्रा, राष्ट्रपति साइ इंग-वेन से भी की मुलाकातचीन के साथ तनावपूर्ण रिश्तों के बीच अमेरिका के पांच सांसद बृहस्पतिवार की रात अचानक ताइवान पहुंचे। उन्होंने ताइवान