किसानों की मदद के लिए आगे आए रविशंकर प्रसाद, फसल ऑनलाइन बेचने की ट्रेनिंग दिलाई

देश में किसानों के बढ़ते प्रदर्शन के बीच केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद किसानों की सहायता के लिए आगे आ रहे हैं।

Farmersbill, Farmersprotests

18-12-2020 20:25:00

किसानों की मदद के लिए आगे आए रविशंकर प्रसाद, फसल ऑनलाइन बेचने की ट्रेनिंग दिलाई FarmersBill FarmersProtests Crops Digital Training rsprasad Sale Farmer

देश में किसानों के बढ़ते प्रदर्शन के बीच केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद किसानों की सहायता के लिए आगे आ रहे हैं।

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि मुझे मीडिया के द्वारा एक किसान रमेश की जानकारी मिली जिसने मंडी में मिल रहे मूल्य से दुखी हो कर अपनी पूरी गोभी की फसल पर ट्रैक्टर चला कर नष्ट कर दिया और उसके पास अब बेचने के लिए कोई फसल नहीं है। टीम भेजकर इन्हें भविष्य में डिजिटल तरीके से फसल बेचने की जानकारी दी गई है।

उन्होंने दूसरा ट्वीट करते हुए लिखा कि मंडियों के इसी शोषण से किसानों को मुक्ति दिलाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने नए कृषि कानून बनाए हैं। मैंने @CSCegov की टीम को कहा कि मायापुरी गांव के अन्य किसानों से भी संपर्क कर उन्हें डिजिटल तरीके से अपनी फसल देश के किसी भी खरीददार को बेचने की सुविधा की जानकारी दी जाए।

जानकारी मिलते ही मायापुरी गांव के कई किसान जो मंडी के शोषण से परेशान थे अपनी फसल को बेहतर मूल्य पर बेचने के लिए आगे आये। उन्होंने आज 400 किलो गोभी की पहली खेप किसान तनवीर ने दिल्ली के खरीददार को डिजिटल प्लेटफॉर्म के द्वारा 10 रुपये प्रति किलो के भाव पर बेच दी। headtopics.com

UP Election 2022: जिसने जीतीं ये सीटें, यूपी में सत्ता उसकी! क्या इस बार भी ऐसा ही होगा, जानें क्या कहते हैं जानकार

उन्होंने कहा कि किसान को ट्रांसपोर्ट की सुविधा उसके खेत पर ही उपलब्ध हो गई जिसका खर्च भी खरीददार ने वहन किया। किसान के खाते में पूरा पेमेंट हो गया है। आज शाम शामली की गोभी दिल्ली के लिए रवाना हो गई है। आने वाले दिनों में अन्य किसानों की गोभी की फसल भी देश के खरीददार खरीदने को तैयार हैं।

समस्तीपुर के किसान की भी की थी सहायताबता दें कि इससे पहले केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की पहल से समस्तीपुर के किसान की भी समस्या हल हो गई थी। दरअसल यहां के एक किसान ने उचित भाव नहीं मिलने पर खेत में तैयार गोभी की अपनी फसल को ट्रैक्टर चलाकर जमींदोज कर दिया था। लेकिन केंद्रीय मंत्री की मदद से उसकी फसल को 10 गुना दाम मिल गए हैं। इससे खुश किसान ने कहा है कि कृषि कानूनों के फायदे के बारे में सबको बताऊंगा।

प्रसाद अपनी टीम को भेजकर किसानों को डिजिटल बिक्री देने की ट्रेनिंग दिलवा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार को सिलसिलेवार तरीके से ट्वीट करते हुए शामली के किसानों की आपबीती सुनाई।विज्ञापनउन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि मुझे मीडिया के द्वारा एक किसान रमेश की जानकारी मिली जिसने मंडी में मिल रहे मूल्य से दुखी हो कर अपनी पूरी गोभी की फसल पर ट्रैक्टर चला कर नष्ट कर दिया और उसके पास अब बेचने के लिए कोई फसल नहीं है। टीम भेजकर इन्हें भविष्य में डिजिटल तरीके से फसल बेचने की जानकारी दी गई है।

'बाहुबली' पिता जेल में... इंग्लैंड रिटर्न बेटी को सपा ने दिया टिकट, फतेहाबाद सीट से चुनाव लड़ेंगी रुपाली

उन्होंने दूसरा ट्वीट करते हुए लिखा कि मंडियों के इसी शोषण से किसानों को मुक्ति दिलाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने नए कृषि कानून बनाए हैं। मैंने @CSCegov की टीम को कहा कि मायापुरी गांव के अन्य किसानों से भी संपर्क कर उन्हें डिजिटल तरीके से अपनी फसल देश के किसी भी खरीददार को बेचने की सुविधा की जानकारी दी जाए। headtopics.com

जानकारी मिलते ही मायापुरी गांव के कई किसान जो मंडी के शोषण से परेशान थे अपनी फसल को बेहतर मूल्य पर बेचने के लिए आगे आये। उन्होंने आज 400 किलो गोभी की पहली खेप किसान तनवीर ने दिल्ली के खरीददार को डिजिटल प्लेटफॉर्म के द्वारा 10 रुपये प्रति किलो के भाव पर बेच दी।

मंडियों के इसी शोषण से किसानों को मुक्ति दिलाने के लिएजी ने नए कृषि कानून बनाये हैं।मैंने@CSCegov_

और पढो: Amar Ujala »

खुद्दार कहानी: गिरीश का बचपन गरीबी में बीता, मजदूरी भी की; अब कबाड़ से मॉडल बनाकर बच्चों को पढ़ाते हैं साइंस

गुजरात के राजकोट के रहने वाले गिरीश बावलिया का बचपन गरीबी में बीता। परिवार की आर्थिक हालत ठीक नहीं थी। कम उम्र में ही उन्हें मजदूरी करनी पड़ी, किराने की दुकानों पर काम किया, लेकिन कभी हौसला नहीं खोया। वे लगातार कोशिश करते रहे और सरकारी स्कूल से पढ़कर प्रिंसिपल बने। इसके बाद उन्होंने तय किया कि जिन मुश्किलों का सामना उन्हें करना पड़ा है, दूसरे बच्चों को नहीं करना पड़े। | Girishbhai of Gujarat teaches science to children by making models out of scrap; Do not take leave, do the cleaning of school toilets on their own और पढो >>

किसानों की आय दोगुना करने के प्रधानमंत्री के संकल्प को साकार करने के लिए बढ़ते कदमकृषि निवेशों पर किसानों को देय अनुदान को डीबीटी के माध्यम से भुगतान करने वाला उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य है। किसानों के लिए बाजार को व्यापक बनाने के दृष्टिकोण से मंडी अधिनियम में संशोधन करने वाला भी उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य है। UPGovt up_agriculture CMOfficeUP navneetsehgal3 ShishirGoUP MrityunjayUP dchaturvedi2013 spshahibjp ये फिर चूतियों को चूतिया बनायेगा। 😂😂😂 UPGovt up_agriculture CMOfficeUP navneetsehgal3 ShishirGoUP MrityunjayUP dchaturvedi2013 spshahibjp सब जुमले है आधा सीजन समाप्त हो गया है अभी तक गन्ने का मूल्य घोषित किया है,पिछले साल पेमेंट अभी तक बाकी है,खेती के लिए ट्यूबल कनेक्शन की सामान्य योजना दो साल से बन्द कर रखी है, खेती के कनेक्शन नाम पर 1 लाख तक किसानों लूटे जा रहे है, 2 साल से इस्टीमेट जमा करके इंतजार कर रहे हैं UPGovt up_agriculture CMOfficeUP navneetsehgal3 ShishirGoUP MrityunjayUP dchaturvedi2013 spshahibjp मीडिया की और नेताओ की कितनी बढत!

Reliance Foundation की बड़ी पहल, कोविड मरीजों के लिए की 875 बेड के संचालन की घोषणाReliance Foundation ने देश की औद्योगिक राजधानी मुंबई में कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए मरीजों को बेहतर चिकित्सा सेवाएं मुहैया कराने की अपनी मुहिम तेज कर दी है। फाउंडेशन मुंबई में 875 कोविड बेड्स का संचालन अपने हाथों में ले लिया है। ril_foundation Kidhar. Inka sirf ghoshna hi sunta hoon. Dekha nahi kabhi kichh kaam. reliancegroup ril_foundation अब समस्या ये है कि वे लोग यहाँ भर्ती होने आएँगे या नहीं जो इस ग्रुप का विरोध कर रहे हैं ? ril_foundation अब कहाँ मर गए वो लोग जो कल इस अम्बानी के टावर उखाड़ रहे थे।डूब मरो चुल्लू भर पानी मे

किसानों के लिए आमरण अनशन करेंगे अन्ना, मनाने के लिए रालेगण सिद्धि जा रहे केंद्रीय मंत्रीकिसानों के लिए आमरण अनशन करेंगे अन्ना, मनाने के लिए रालेगण सिद्धि जा रहे केंद्रीय मंत्री AnnaHazare Farmer sProtest RakeshTikait crying RakeshTiket Inki kami the aajao Aap bhi...ab pata chala India me kitne saap paale hai कोई रोया संसद में अपने केस हटवाने को.. टिकैत रोया बॉर्डर पर किसान को बचाने को.. जय जवान.. जय किसान.. RakeshTiket ghazipurborder Lokpal kaha gaya . Anna ko Lokpal nahi dikhai deta kya? Ik aur nai party banne wali hai.

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर बोले राष्ट्रपति- किसानों के कल्याण के लिए देश प्रतिबद्धराष्ट्रपति ने कहा कि विपरीत प्राकृतिक परिस्थितियों, अनेक चुनौतियों और कोरोना की आपदा के बावजूद हमारे किसान भाई-बहनों ने कृषि उत्पादन में कोई कमी नहीं आने दी. यह कृतज्ञ देश हमारे अन्नदाता किसानों के कल्याण के लिए पूर्णतया प्रतिबद्ध है. Oh oh hamare desh m president b rahta h 😄😄 👃

Kisan Andolan: किसानों की मदद के लिए भारतीय अमेरिकी चिकित्सकों के दल ने अपनी वापसी टालीभारत न्यूज़: Kisan Andolan News: टिकरी सीमा पर हजारों किसान नए कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं और तीन हफ्ते से भी ज्यादा वक्त से यहां डटे हुए हैं। उनकी मदद के लिए अमेरिका के भारतीय चिकित्सकों ने अपनी वापसी टाल दी है।

पीएम की गरिमा का सम्मान करेंगे, लेकिन किसानों के आत्मसम्मान के लिए प्रतिबद्ध: नरेश टिकैतभारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार से कहा कि वह किसानों को बताए कि कृषि क़ानूनों को वापस क्यों नहीं लेना चाहती और हम वादा करते हैं कि सरकार का सिर दुनिया के सामने झुकने नहीं देंगे. उन्होंने सवाल उठाया कि सरकार की ऐसी क्या मजबूरी है कि वह इन क़ानूनों को निरस्त नहीं करने पर अड़ी हुई है.