काबिले तारीफ कदम: असम के साथ सीमा विवाद का सौहार्दपूर्ण समाधान चाहता है नगालैंड

असम के साथ लंबे समय से चले आ रहे अंतर-राज्यीय सीमा विवाद का नगालैंड सौहार्दपूर्ण समाधान चाहता है।

Assam, Nagaland

14-09-2021 23:40:00

काबिले तारीफ कदम: असम के साथ सीमा विवाद का सौहार्दपूर्ण समाधान चाहता है नगालैंड Assam Nagaland Border Dispute

असम के साथ लंबे समय से चले आ रहे अंतर-राज्यीय सीमा विवाद का नगालैंड सौहार्दपूर्ण समाधान चाहता है।

यह फैसला नगालैंड विधानसभा की चयन समिति की बैठक में किया गया, यह समिति अगस्त में सीमा विवाद मामले के परीक्षण के लिए बनाई गई थी। नगालैंड सरकार के सीमा मामलात के सलाहकार म्हाथुंग यंथन ने कहा कि कहा कि भले ही मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है, लेकिन हम अदालत से बाहर आपस में बातचीत के जरिये सौहार्दपूर्ण तरीके से इस विवाद का हल चाहते हैं। हमने समस्या की उत्पति सहित मामले के हर पक्ष पर विस्तार से बात की है। इस दौरान सदस्यों की तरफ से कई सुझाव भी मिले, जिसमें असम सरकार के साथ बातचीत करने के लिए लगातार बैठक करने पर सहमति बनी है।

उन्होंने कहा कि इसके लिए सीमा मामलों के विभाग को अदालत के बाहर असम सरकार के साथ उचित चर्चा करके सीमा मुद्दे को सुलझाने का काम सौंपा गया है। समिति के सह-समन्वयक व नगा पीपल्स फ्रंट (एनआरएफ) के नेता टीआर जेलियांग ने कहा कि बैठक में दोनों राज्यों के बीच सौहार्दपूर्ण समाधान के संबंध में हुई बातचीत की विफलताओं पर विचार-विमर्श किया गया।

अबतक असम सरकार अदालत पर निर्भर थी, जो दोनों राज्यों के बीच सीमा रेखा का सीमांकन नहीं कर सकती। जेलियांग ने कहा कि नगालैंड सरकार 2014-15 से ही गृह मंत्रालय की मध्यस्थता से सीमा विवाद को सौहार्दपूर्ण ढंग से सुलझाने का प्रयास कर रही है, लेकिन असम के तत्कालीन मुख्यमंत्री नगाओं के साथ मित्रवत नहीं थे, लेकिन मौजूदा मुख्यमंत्री दोनों राज्यों की मित्रता में भरोसा रखते हैं, ऐसे में अब इस विवाद को अदालत से बाहर आपस में बातचीत से सुलझाया जा सकता है। headtopics.com

पंजाब विधानसभा चुनाव में उलझे अजय माकन, राजस्थान में संगठनात्मक गतिविधियों पर लगा ब्रेक | Break on organizational activities in Rajasthan Congress | Patrika News

विस्तार मंगलवार को नगालैंड के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य सरकार ने अधिकारियों को असम के साथ चर्चा करने की तैयारी करने का आदेश दिया गया है।विज्ञापनयह फैसला नगालैंड विधानसभा की चयन समिति की बैठक में किया गया, यह समिति अगस्त में सीमा विवाद मामले के परीक्षण के लिए बनाई गई थी। नगालैंड सरकार के सीमा मामलात के सलाहकार म्हाथुंग यंथन ने कहा कि कहा कि भले ही मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है, लेकिन हम अदालत से बाहर आपस में बातचीत के जरिये सौहार्दपूर्ण तरीके से इस विवाद का हल चाहते हैं। हमने समस्या की उत्पति सहित मामले के हर पक्ष पर विस्तार से बात की है। इस दौरान सदस्यों की तरफ से कई सुझाव भी मिले, जिसमें असम सरकार के साथ बातचीत करने के लिए लगातार बैठक करने पर सहमति बनी है।

उन्होंने कहा कि इसके लिए सीमा मामलों के विभाग को अदालत के बाहर असम सरकार के साथ उचित चर्चा करके सीमा मुद्दे को सुलझाने का काम सौंपा गया है। समिति के सह-समन्वयक व नगा पीपल्स फ्रंट (एनआरएफ) के नेता टीआर जेलियांग ने कहा कि बैठक में दोनों राज्यों के बीच सौहार्दपूर्ण समाधान के संबंध में हुई बातचीत की विफलताओं पर विचार-विमर्श किया गया।

अबतक असम सरकार अदालत पर निर्भर थी, जो दोनों राज्यों के बीच सीमा रेखा का सीमांकन नहीं कर सकती। जेलियांग ने कहा कि नगालैंड सरकार 2014-15 से ही गृह मंत्रालय की मध्यस्थता से सीमा विवाद को सौहार्दपूर्ण ढंग से सुलझाने का प्रयास कर रही है, लेकिन असम के तत्कालीन मुख्यमंत्री नगाओं के साथ मित्रवत नहीं थे, लेकिन मौजूदा मुख्यमंत्री दोनों राज्यों की मित्रता में भरोसा रखते हैं, ऐसे में अब इस विवाद को अदालत से बाहर आपस में बातचीत से सुलझाया जा सकता है।

Republic Day: 25 और 26 जनवरी को दिल्ली में बंद रहेगी सभी मेट्रो स्टेशनों की पार्किंग, जानिए क्या है समय

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है?

और पढो: Amar Ujala »

ShortURL - URL Shortener

ShortURL is a url shortener to reduce a long link. Use our tool to shorten links and then share them, in addition you can monitor traffic statistics. और पढो >>

अफगानिस्तानः तालिबान ने कहा- लड़कियां पढ़ तो सकती हैं, लेकिन लड़कों के साथ नहींतालिबान के उच्च शिक्षा मंत्री अब्दुल बकी हक्कानी ने कहा कि हम अफगानिस्तान में को-एजुकेशन की अनुमति नहीं देंगे. लड़के और लड़कियों को साथ पढ़ने की इजाजत नहीं देंगे. हक्कानी ने कहा कि छात्राओं को इस्लामी पहनावा पहनना होगा.

TECNO Spark 8: बजट स्मार्टफोन भारत में लॉन्च, 64GB स्टोरेज के साथ मिलेगी बड़ी बैटरीTECNO Spark 8 में 5000mAh की बड़ी बैटरी भी दी गई है। TECNO Spark 8 का मुकाबला रियलमी सी सीरीज के स्मार्टफोन और रेडमी 9A जैसे स्मार्टफोन से होगा।

बेयर ग्रिल्स के साथ जंगल का रोमांचक सफर करेंगे अजय देवगनबेयर ग्रिल्स रोमांच और एक्शन से भरपूर कारनामों के साथ डरावने हालात में जिंदा रहने की कला के लिए मशहूर है। उनके शो 'इंटू द वाइल्ड विद बेयर ग्रिल्स' के हर एपिसोड के लिए दर्शक उत्साहित रहते हैं। इस शो में कई मशहूर सेलिब्रिटी बेयर ग्रिल्स के साथ बिना कुछ सुविधाओं के साथ जंगल में सरवाइव करते नजर आ चुके हैं।

बॉलीवुड: अर्जुन कपूर के फिटनेस फंडे, ‘नियमित व्यायाम के साथ साथ खानपान में भी बेहद सावधानी जरूरी’अभिनेता अर्जुन कपूर अपने शारीरिक परिवर्तन के कारण हाल ही में खूब चर्चा में रहे हैं। अभिनेता का कहना है कि उन्हें जो

4GB रैम, 5000mAh बैटरी के साथ आया Samsung Galaxy M22, जानें खूबियांSamsung Galaxy M22 Android 11 पर आधारित One UI स्किन पर काम करता है। इसमें 6.4-इंच का सुपर एमोलेड (Super AMOLED) डिस्प्ले मिलता है।

5MP कैमरा के साथ Xiaomi ने पेश किया अपना पहला स्मार्ट चश्मा, कर सकेंगे कॉल भी...Xiaomi Smart Glasses देखने में बिल्कुल समान्य सनग्लास जैसा लगता है, लेकिन इसमें सेंसर्स और कई स्मार्ट फीचर्स को इनेबल करने के लिए इसमें इमेजिंग सिस्टम दिया गया है जिसमें नेविगेशन और रियल-टाइम टेक्स्ट ट्रांसलेशन आदि शामिल हैं।