Amrindersingh, Punjab, Punjab Congress, Punjab News, Punjab Latest News, Navjot Singh Sidhu, Rahul Gandhi, Priyanka Gandhi, Sonia Gandhi, Charanjit Singh Channi, Chandigarh News İn Hindi, Latest Chandigarh News İn Hindi, Chandigarh Hindi Samachar

Amrindersingh, Punjab

कांग्रेस नेताओं पर बरसे कैप्टन अमरिंदर सिंह: कहा- सिद्धू को नहीं बनने देंगे सीएम, उतारूंगा मजबूत प्रत्याशी

पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को एलान किया कि वह नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब का मुख्यमंत्री बनाए

22-09-2021 17:37:00

कांग्रेस नेताओं पर बरसे अमरिंदर: सिद्धू को नहीं बनने दूंगा सीएम, राहुल-प्रियंका को गुमराह कर रहे सलाहकार AmrinderSingh Punjab INCIndia capt_amarinder sherryontopp

पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को एलान किया कि वह नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब का मुख्यमंत्री बनाए

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं जीत के बाद जाने के लिए तैयार था लेकिन हार के बाद कभी नहीं। उन्होंने खुलासा किया कि तीन हफ्ते पहले सोनिया गांधी को इस्तीफे की पेशकश की थी लेकिन उन्होंने उन्हें पद पर बने रहने के लिए कहा था। उन्होंने कहा कि अगर उन्होंने (सोनिया) मुझे फोन किया होता और मुझे पद छोड़ने के लिए कहा होता तो मैं तुरंत पद छोड़ देता। कैप्टन ने कहा कि एक सैनिक के रूप में, मुझे पता है कि मुझे अपना काम कैसे करना है और मुझे वापस बुलाए जाने पर तुरंत काम छोड़ देना है।

अरविंद केजरीवाल राम के नाम से क्या हासिल करना चाहते हैं - BBC News हिंदी पीएम मोदी ने क्या अधूरे फ़तेहपुर मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण कर दिया? - BBC News हिंदी वक़ार यूनुस ने 'हिन्दुओं के बीच नमाज़ पढ़ने' वाली टिप्पणी पर मांगी माफ़ी - BBC News हिंदी

उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी से यहां तक कह दिया था कि वह कांग्रेस को पंजाब में एक और व्यापक जीत दिलाने के बाद इस्तीफा देने को तैयार हैं और किसी अन्य को मुख्यमंत्री पद सौंपने के लिए तैयार हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि लेकिन ऐसा नहीं हुआ, इसलिए मैं लड़ूंगा। उन्होंने आगे कहा कि जिस तरह उन्हें विश्वास में लिए बिना गुप्त तरीके से सीएलपी बुलाई गई, उससे उन्हें अपमान का सामना करना पड़ा है।

कैप्टन ने कहा कि अब पंजाब को दिल्ली से चलाया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि सीएम के रूप में उन्होंने अपने स्वयं के मंत्रियों को नियुक्त किया था, क्योंकि वे उनमें से प्रत्येक की क्षमता को जानते थे। उन्होंने सवाल किया कि वेणुगोपाल या अजय माकन या रणदीप सुरजेवाला जैसे कांग्रेस नेता कैसे तय कर सकते हैं कि कौन किस मंत्रालय के लिए अच्छा है। उन्होंने राज्य में नए नेतृत्व की पसंद को निर्धारित करने वाले जातिगत विचारों के स्पष्ट संदर्भ में कहा कि हमारे धर्म हमें सिखाते हैं कि सभी समान हैं। मैं लोगों को उनकी जाति के आधार पर नहीं देखता, उनकी दक्षता देखी जाती है। headtopics.com

गांधी भाई-बहन को गुमराह कर रहे सलाहकारकैप्टन ने कहा कि मैं विधायकों को गोवा या किसी जगह की फ्लाइट में नहीं ले जाता। ऐसा नहीं है कि मैं ऐसे काम करता हूं। मैं नौटंकी नहीं करता और गांधी भाई-बहन जानते हैं कि यह मेरा तरीका नहीं है। उन्होंने आगे कहा, कि प्रियंका और राहुल (गांधी भाई-बहन) मेरे बच्चों की तरह हैं... यह इस तरह खत्म नहीं होना चाहिए था। मैं आहत हूं। उन्होंने कहा कि गांधी के बच्चे काफी अनुभवहीन हैं और उनके सलाहकार स्पष्ट रूप से उन्हें गुमराह कर रहे हैं।

कैप्टन ने साफ कर दिया कि वह अपनी उम्र को बाधा के रूप में नहीं देख रहे। लोगों को उपलब्ध नहीं होने के आरोपों पर, कैप्टन ने कहा कि वह सात बार विधानसभा के लिए और दो बार संसद के लिए चुने जा चुके हैं। उन्होंने टिप्पणी की कि मेरे साथ कुछ सही होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व ने स्पष्ट रूप से (पंजाब में) बदलाव करने का फैसला कर लिया था और इस तरह एक मामला बनाने की कोशिश की गई है।

शिकायत करने वाले बादलों को सलाखों के पीछे फेंकेंबेअदबी और नशीली दवाओं के मामलों में बादल और मजीठिया के खिलाफ मनमानी कार्रवाई नहीं करने की शिकायतों का जिक्र करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वह कानून को अपना काम करने देने में विश्वास करते हैं। उन्होंने आगे कहा, लेकिन अब ये लोग जो मेरे खिलाफ शिकायत कर रहे थे, सत्ता में हैं, अगर वे कर सकते हैं तो अकाली नेताओं को सलाखों के पीछे फेंक दें! खनन माफिया में शामिल मंत्रियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने के आरोप पर सिद्धू एंड कंपनी पर तंज कसते हुए कैप्टन ने चुटकी लेते हुए कहा, अब वही मंत्री इन नेताओं के साथ हैं!

सिद्धू के नेतृत्व में दोहरे अंक में भी जीत न सकेगी कांग्रेसचरणजीत सिंह चन्नी के कार्यक्षेत्र में सिद्धू के स्पष्ट हस्तक्षेप पर कटाक्ष करते हुए, पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पीपीसीसी को सिर्फ पार्टी मामलों पर फैसला करना चाहिए। कैप्टन ने कहा कि मेरे पास एक बहुत अच्छा पीपीसीसी अध्यक्ष था। मैंने उनकी सलाह ली लेकिन उन्होंने मुझे यह कभी नहीं बताया कि सरकार कैसे चलाई जाती है। headtopics.com

आर्यन ख़ान के पक्ष में उनके वकीलों ने क्या दलील दी, ब्लड टेस्ट पर सवाल - BBC News हिंदी बिहार का बदलता मौसम कैसे मक्के की खेती को तबाह कर रहा है - BBC News हिंदी DA Hike पर गुड न्यूज! दीवाली से पहले मिला डबल गिफ्ट, बढ़े हुए 31% डीए के साथ-साथ हुआ ये फायदा

उन्होंने कहा कि सिद्धू जिस तरह से शर्तों को तय कर रहे है, उस पर चन्नी तो बस सिर हिला रहे हैं। उन्होंने इसे पंजाब के लिए एक दुखद स्थिति करार दिया औ कहा कि सिद्धू, जो अपना मंत्रालय नहीं संभाल सकते, वह कैबिनेट का प्रबंधन कर रहे हैं। उन्होंने कहा, अगर सिद्धू सुपर सीएम के रूप में व्यवहार करते हैं तो पार्टी काम नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि इस ड्रामा मास्टर के नेतृत्व के तहत, यह एक बड़ी बात होगी अगर कांग्रेस पंजाब चुनाव में दोहरे अंकों को छूने में कामयाब रही।

चन्नी बुद्धिमान लेकिन अनुभवहीन: कैप्टनकैप्टन ने कहा कि चन्नी बुद्धिमान और शिक्षित हैं लेकिन दुर्भाग्यवश उन्हें गृह मामलों के प्रबंधन का कोई अनुभव नहीं है, जो पंजाब के लिए महत्वपूर्ण है। पंजाब पाकिस्तान के साथ 600 किमी की सीमा साझा करता है और हालात अधिक से अधिक गंभीर होते जा रहे हैं। पाकिस्तान से पंजाब में आने वाले हथियारों और गोला-बारूद की मात्रा खतरनाक है।

उन्होंने एक बार फिर सिद्धू को पाक नेतृत्व के साथ घनिष्ठ व्यक्तिगत संबंधों के लिए आड़े हाथों लिया। नए सीएम द्वारा बिजली बिल माफ करने की घोषणा पर कैप्टन ने कहा कि चन्नी ने पूर्व वित्त मंत्री के साथ इस पर चर्चा की होगी और उन्होंने कुछ सोचा होगा। मुझे आशा है कि वे राज्य को दिवालिया नहीं करेंगे।

विस्तार जाने के खिलाफ डटकर विरोध करेंगे। उन्होंने कहा कि देश को ऐसे खतरनाक आदमी से बचाने के लिए वह कोई भी कुर्बानी देने को तैयार हैं। कैप्टन ने कहा कि वह 2022 के विधानसभा चुनावों में पीपीसीसी अध्यक्ष की हार सुनिश्चित करने के लिए उनके खिलाफ एक मजबूत उम्मीदवार खड़ा करेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री ने मीडिया साक्षात्कारों की श्रंखला में कहा कि वह (सिद्धू) राज्य के लिए खतरनाक हैं। headtopics.com

विज्ञापनपूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं जीत के बाद जाने के लिए तैयार था लेकिन हार के बाद कभी नहीं। उन्होंने खुलासा किया कि तीन हफ्ते पहले सोनिया गांधी को इस्तीफे की पेशकश की थी लेकिन उन्होंने उन्हें पद पर बने रहने के लिए कहा था। उन्होंने कहा कि अगर उन्होंने (सोनिया) मुझे फोन किया होता और मुझे पद छोड़ने के लिए कहा होता तो मैं तुरंत पद छोड़ देता। कैप्टन ने कहा कि एक सैनिक के रूप में, मुझे पता है कि मुझे अपना काम कैसे करना है और मुझे वापस बुलाए जाने पर तुरंत काम छोड़ देना है।

उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी से यहां तक कह दिया था कि वह कांग्रेस को पंजाब में एक और व्यापक जीत दिलाने के बाद इस्तीफा देने को तैयार हैं और किसी अन्य को मुख्यमंत्री पद सौंपने के लिए तैयार हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि लेकिन ऐसा नहीं हुआ, इसलिए मैं लड़ूंगा। उन्होंने आगे कहा कि जिस तरह उन्हें विश्वास में लिए बिना गुप्त तरीके से सीएलपी बुलाई गई, उससे उन्हें अपमान का सामना करना पड़ा है।

कंगाल पाकिस्तान को सऊदी का सहारा: इमरान खान ने प्रिंस के आगे फैलाए हाथ, तीन अरब डॉलर की मिली भीख पाकिस्तान के लिए सऊदी अरब ने उठाया फिर बड़ा क़दम - BBC News हिंदी भाईजी नहीं रहे: चंबल को डकैतों से मुक्त कराने वाले गांधीवादी विचारक डॉ. एसएन सुब्बाराव का निधन

कैप्टन ने कहा कि अब पंजाब को दिल्ली से चलाया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि सीएम के रूप में उन्होंने अपने स्वयं के मंत्रियों को नियुक्त किया था, क्योंकि वे उनमें से प्रत्येक की क्षमता को जानते थे। उन्होंने सवाल किया कि वेणुगोपाल या अजय माकन या रणदीप सुरजेवाला जैसे कांग्रेस नेता कैसे तय कर सकते हैं कि कौन किस मंत्रालय के लिए अच्छा है। उन्होंने राज्य में नए नेतृत्व की पसंद को निर्धारित करने वाले जातिगत विचारों के स्पष्ट संदर्भ में कहा कि हमारे धर्म हमें सिखाते हैं कि सभी समान हैं। मैं लोगों को उनकी जाति के आधार पर नहीं देखता, उनकी दक्षता देखी जाती है।

गांधी भाई-बहन को गुमराह कर रहे सलाहकारकैप्टन ने कहा कि मैं विधायकों को गोवा या किसी जगह की फ्लाइट में नहीं ले जाता। ऐसा नहीं है कि मैं ऐसे काम करता हूं। मैं नौटंकी नहीं करता और गांधी भाई-बहन जानते हैं कि यह मेरा तरीका नहीं है। उन्होंने आगे कहा, कि प्रियंका और राहुल (गांधी भाई-बहन) मेरे बच्चों की तरह हैं... यह इस तरह खत्म नहीं होना चाहिए था। मैं आहत हूं। उन्होंने कहा कि गांधी के बच्चे काफी अनुभवहीन हैं और उनके सलाहकार स्पष्ट रूप से उन्हें गुमराह कर रहे हैं।

कैप्टन ने साफ कर दिया कि वह अपनी उम्र को बाधा के रूप में नहीं देख रहे। लोगों को उपलब्ध नहीं होने के आरोपों पर, कैप्टन ने कहा कि वह सात बार विधानसभा के लिए और दो बार संसद के लिए चुने जा चुके हैं। उन्होंने टिप्पणी की कि मेरे साथ कुछ सही होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व ने स्पष्ट रूप से (पंजाब में) बदलाव करने का फैसला कर लिया था और इस तरह एक मामला बनाने की कोशिश की गई है।

शिकायत करने वाले बादलों को सलाखों के पीछे फेंकेंबेअदबी और नशीली दवाओं के मामलों में बादल और मजीठिया के खिलाफ मनमानी कार्रवाई नहीं करने की शिकायतों का जिक्र करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वह कानून को अपना काम करने देने में विश्वास करते हैं। उन्होंने आगे कहा, लेकिन अब ये लोग जो मेरे खिलाफ शिकायत कर रहे थे, सत्ता में हैं, अगर वे कर सकते हैं तो अकाली नेताओं को सलाखों के पीछे फेंक दें! खनन माफिया में शामिल मंत्रियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने के आरोप पर सिद्धू एंड कंपनी पर तंज कसते हुए कैप्टन ने चुटकी लेते हुए कहा, अब वही मंत्री इन नेताओं के साथ हैं!

सिद्धू के नेतृत्व में दोहरे अंक में भी जीत न सकेगी कांग्रेसचरणजीत सिंह चन्नी के कार्यक्षेत्र में सिद्धू के स्पष्ट हस्तक्षेप पर कटाक्ष करते हुए, पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पीपीसीसी को सिर्फ पार्टी मामलों पर फैसला करना चाहिए। कैप्टन ने कहा कि मेरे पास एक बहुत अच्छा पीपीसीसी अध्यक्ष था। मैंने उनकी सलाह ली लेकिन उन्होंने मुझे यह कभी नहीं बताया कि सरकार कैसे चलाई जाती है।

उन्होंने कहा कि सिद्धू जिस तरह से शर्तों को तय कर रहे है, उस पर चन्नी तो बस सिर हिला रहे हैं। उन्होंने इसे पंजाब के लिए एक दुखद स्थिति करार दिया औ कहा कि सिद्धू, जो अपना मंत्रालय नहीं संभाल सकते, वह कैबिनेट का प्रबंधन कर रहे हैं। उन्होंने कहा, अगर सिद्धू सुपर सीएम के रूप में व्यवहार करते हैं तो पार्टी काम नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि इस ड्रामा मास्टर के नेतृत्व के तहत, यह एक बड़ी बात होगी अगर कांग्रेस पंजाब चुनाव में दोहरे अंकों को छूने में कामयाब रही।

चन्नी बुद्धिमान लेकिन अनुभवहीन: कैप्टनकैप्टन ने कहा कि चन्नी बुद्धिमान और शिक्षित हैं लेकिन दुर्भाग्यवश उन्हें गृह मामलों के प्रबंधन का कोई अनुभव नहीं है, जो पंजाब के लिए महत्वपूर्ण है। पंजाब पाकिस्तान के साथ 600 किमी की सीमा साझा करता है और हालात अधिक से अधिक गंभीर होते जा रहे हैं। पाकिस्तान से पंजाब में आने वाले हथियारों और गोला-बारूद की मात्रा खतरनाक है।

उन्होंने एक बार फिर सिद्धू को पाक नेतृत्व के साथ घनिष्ठ व्यक्तिगत संबंधों के लिए आड़े हाथों लिया। नए सीएम द्वारा बिजली बिल माफ करने की घोषणा पर कैप्टन ने कहा कि चन्नी ने पूर्व वित्त मंत्री के साथ इस पर चर्चा की होगी और उन्होंने कुछ सोचा होगा। मुझे आशा है कि वे राज्य को दिवालिया नहीं करेंगे।

और पढो: Amar Ujala »

झूठ के सहारे सावरकर का महिमामंडन क्यों? | Arfa Khanum SHerwani | Savarakar | The Wire Video LIVE

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि विनयाक दामोदर सावरकर के 'दया याचिका' दायर करने को एक ख़ास वर्ग ने ग़लत तरीक़े से फैलाया. उन्होंने दावा किया कि सावरकर न...

HappaNarinder INCIndia capt_amarinder sherryontopp सिद्धू से अपने बैर को दल पर ना थोपो Sir , आपकी आयु से नीचे वाले सभी आपको अनुभवहीन प्रतीत होंगे बस सोचने का तरीक़ा बदलो आप उस आयु में होते चन्नी आपकी आयु में होकर यही कहते तब ? आप भी जानते है कांग्रेस ने चन्नी को बनाया है तो बस चार महीने के लिए नही जब तक वो कार्यशील तब तक रहेगा

INCIndia capt_amarinder sherryontopp Follow the twitter handles of 'All India Trinamool Congress' from all over India 👇👇👇 AITC4Assam AITC4Delhi AITC4Bihar AITC4Jharkhand AITC4Tripura AITC4UP AITC4Gujarat AITC4Goa AITCofficial AITC_Parliament BanglarGorboMB INCIndia capt_amarinder sherryontopp पंजाब पप्पू सरकार गिरा दो...कैप्टन

INCIndia capt_amarinder sherryontopp Follow me guys Follow_back confirm🙏🙏

टैरो राशिफल 22 सितंबर 2021: वृष को रोजगार में सफलता, सिंह को व्यवसाय में लाभTarot horoscope 22 सितंबर 2021: टैरो कार्ड कह रहे हैं कि आज के दिन वृष राशि वालों को रोजगार में सफलता मिलेगी. वहीं सिंह राशि वालों को आज व्यवसाय में लाभ होगा. जानें आज का टैरो राशिफल और हर एक राशि का उपाय.

कनाडा चुनाव: किंगमेकर की भूमिका में आए जगमीत सिंह, उनकी पार्टी NDP को मिली 27 सीटें2013 में जगमीत सिंह को भारत सरकार ने वीजा देने से इनकार कर दिया था. जगमीत पंजाब के बरनाला से ताल्लुक रखते हैं. उनके दादा स्वतंत्रता सेनानी सेवा सिंह थिखरिवाल के रिश्तेदार थे. जगमीत सिंह के पिता थिखरिवाल गांव से कनाडा चले गए थे. वहीं जगमीत सिंह का जन्म हुआ. Ye nahi bataya ki ye khalistani hai,visa isliye nahi mila tha,bsdk,jhanttak wale ,desh ke khalif hi propaganda chala rahe hai,modi virodh me desh virodhi ko bhi hero bata rahe.

उमा भारती ने लिखा दिग्विजय सिंह को पत्र, ब्यूरोक्रेसी वाले बयान पर जताया खेदब्यूरोक्रेसी (Bureaucracy) पर दिए गए अपने विवादित बयान (Controversial statement) पर खेद जताते हुए उमा भारती (Uma Bharti) ने दिग्विजय सिंह (Digvijay singh ) को एक पत्र लिखा है इस पत्र में उमा भारती ने लिखा है कि अपनी बोली हुई भाषा से मुझे वाकई गहरा आघात लगा है।

न्यूजीलैंड की महिला क्रिकेट टीम को मिली बम की धमकी, ECB को मिला था ईमेलन्यूजीलैंड की महिला क्रिकेट टीम को बम की धमकी मिली है। ये मामला लीसेस्टर का है। न्यूजीलैंड क्रिकेट (NZC) ने मंगलवार को पुष्टि की कि इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) को NZC से संबंधित एक धमकी भरा ईमेल मिला है। ECB to England ki h 🤔

'इन लोगों को सरकार से मिला बढ़ावा' : घर पर तोड़फोड़ को लेकर बोले असदुद्दीन ओवैसीइन लोगों को सरकार से मिला बढ़ावा : घर पर तोड़फोड़ को लेकर बोले असदुद्दीन ओवैसी Sahi kaha..... asadowaisi janaab ne MaheshA10684960 TinaRoy92936164 kaur_ravindra Ravindr14670837 SuperStockist BHARTIYFOJI anujakapurindia Haan ab UP election aane wale hain khud bhi tod sakte hain isi bahane kuch bolne ko bhi hoga rallies mein asadowaisi sympathy vote thoda mil Jaye.. Kyu nahi milna chahiye jab pehle ki sarkaro ne tum jaise gaddaro ko badhava diya he

मध्यप्रदेश : भोपाल से होकर जाने वाली 14 ट्रेनों को किया गया निरस्त, यात्रियों को होगी परेशानीमध्यप्रदेश : भोपाल से होकर जाने वाली 14 ट्रेनों को किया गया निरस्त, यात्रियों को होगी परेशानी MadhyaPradesh Bhopal Train Passengers