कांग्रेस के सचिन अब क्या बीजेपी के लिए 'बल्लेबाज़ी' करेंगे?

राजस्थान में सचिन पायलट हुए बाग़ी, संकट में अशोक गहलोत की सरकार

13-07-2020 05:08:00

राजस्थान में सचिन पायलट हुए बाग़ी, संकट में अशोक गहलोत की सरकार

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार सचिन पायलट सोमवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होंगे. सचिन ने कहा है कि उनके साथ कांग्रेस के 30 विधायक हैं और अशोक गहलोत की सरकार अल्पमत में है.

इमेज कॉपीरइटकांग्रेस छोड़ेंगे सचिन पायलट?क्या वाक़ई सचिन पायलट ज्योतिरादित्य सिंधिया की राह पर चलने वाले हैं?वरिष्ठ पत्रकार नीरजा चौधरी इससे इत्तेफ़ाक नहीं रखती हैं. वो कहती हैं,"नहीं लगता कि सचिन पायलट पार्टी छोड़ेंगे. हालांकि वो पार्टी में घुटन होने की बात कहते रहे हैं और साथ में पार्टी के पुनरुत्थान की भी बात करते रहे हैं."

इसराइल और यूएई की दोस्ती के मायने क्या हैं? ईरान की राह मुश्किल BJP के अविश्वास प्रस्ताव पर कांग्रेस का 'नहले पे दहला', CM अशोक गहलोत खुद लाएंगे विश्वास प्रस्ताव, 10 बड़ी बातें 'मोसाद और KGB को भी ले आओ': सुशांत केस में CBI जांच पर शिवसेना नेता संजय राउत का विवादित बयान

उन्होंने कहा,"अभी यह साफ़ नहीं है कि क्या होने वाला है. सचिन पायलट दिल्ली में हैं और हाईकमान से मुलाक़ात होने की बात हो रही है. लेकिन राजस्थान पुलिस ने जिस तरह से अपने उपमुख्यमंत्री के ख़िलाफ़ नोटिस दिया गया है, उससे साफ़ संकेत गया है कि ये हद हो गई है और पानी सिर से गुजर गया है. यह तनाव तो काफ़ी लंबे समय से चल रहा है."

वरिष्ठ पत्रकार विवेक कुमार इस पर कहते हैं,"सचिन पायलट पार्टी में रहेंगे या नहीं यह विधायक दल की बैठक में उनकी मौजूदगी पर निर्भर करता है. अगर वो बैठक में पहुँचते हैं तो यह माना जाएगा कि वो पार्टी में रहने वाले हैं और समझौता करने की स्थिति में है लेकिन अगर वो बैठक में नहीं आते हैं तब यह कहा जा सकता है कि वो उस स्थिति तक पहुँच गए हैं जहाँ से अब उनकी वापसी नहीं होने वाली है."

इमेज कॉपीरइटGetty Imagesनीरजा चौधरी कहती हैं, ''सचिन पायलट चाहते थे कि उन्हें मुख्यमंत्री बनाया जाए. राहुल गांधी ने सचिन पायलट को यही कह कर भेजा था कि राजस्थान जीत कर आओ फिर मुख्यमंत्री बनाऊंगा लेकिन जब मौक़ा आया तो अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री बनाया गया.''

''गहलोत की अच्छी छवि है और अनुभवी भी हैं लेकिन इस बार सचिन पायलट ने काफ़ी मेहनत की थी. कहीं न कहीं सचिन पायलट को एक कोने में तो धकेला ही जा रहा है. ऐसे हालात में मुख्यमंत्री को बड़प्पन दिखाने की ज़रूरत है.''विवेक कुमार कहते हैं कि जैसी राजनीति करते हुए सचिन पायलट ने राजस्थान में अपनी ज़मीन बनाई है, उसे देखते हुए नहीं लगता कि वापस समझौता करेंगे. वो कांग्रेस में रहेंगे तो फिर मुख्यमंत्री पद से नीचे नहीं मानेंगे नहीं तो फिर बीजेपी या थर्ड फ्रंट के बारे में सोचेंगे.

थर्ड फ्रंट से उनका मतलब जाट-गुर्जर गठबंधन से हैं. वो कहते हैं कि सचिन को ज़्यादातर जाट नेता समर्थन कर रहे हैं. हालांकि ये समीकरण अभी थोड़ी दूर की कौड़ी है और थोड़ा मुश्किल है लेकिन जाट-गुर्जर गठबंधन की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है.वो सचिन पायलट की तुलना वसुंधरा राजे से करते हुए कहते हैं कि जैसे वसुंधरा ने अपनी जगह बनाई है, वैसे ही सचिन पायलट ने भी अपनी जगह बनाई है.

इमेज कॉपीरइटसचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधियाकीसियतमें बुनियादी फर्कसचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया को एक वक़्त कांग्रेस में नई पीढ़ी के उभरते हुए नेताओं के तौर पर देखा जाता था. दोनों के पिता राजेश पायलट और माधवराव सिंधिया भी राजनीति में समकालीन थे और अपने-अपने राज्यों में कांग्रेस के प्रमुख चेहरे थे.

अगले 2 घंटे में दिल्ली और आसपास के कई इलाकों में बारिश की संभावना: मौसम विभाग सुशांत राजपूत मामले में SC से बोली महाराष्ट्र सरकार- बिहार पुलिस नहीं दर्ज कर सकती FIR वाराणसी: रेशमी तिरंगा बनारसी साड़ियों पर भारत का नक्शा, बॉयकॉट चाइना का दे रहीं संदेश

लेकिन मध्य प्रदेश में पार्टी में हुई खींचतान के बाद आख़िरकार कभी राहुल गांधी के क़रीबी माने जाने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बीजेपी का रुख़ कर लिया.नीरजा चौधरी इन दोनों ही युवा नेताओं की तुलना पर कहती हैं,"ज्योतिरादित्य सिंधिया राजघराने से आते हैं लेकिन सचिन पायलट को उनकी पिता की मौत के बाद ज़रूर पार्टी में एंट्री मिली थी लेकिन उसके बाद जो भी उन्होंने हासिल किया है, वो अपने दम पर किया है.''

''दोनों की शख्सियत में यह अंतर है कि सचिन पायलट की छवि एक ज़मीनी काम करने वाले नेता की है जो गाँव में जाकर किसी खाट पर भी सो जाएगा. सिंधिया काफ़ी होशियार और क़ाबिल हैं लेकिन उनकी पृष्ठभूमि राजघाने की है और साथ में बीजेपी की भी पृष्ठभूमि उनके परिवार की रही है. उनके परिवार का जुड़ाव बीजेपी से ज़्यादा है लेकिन फिर भी वो राहुल गांधी के काफ़ी क़रीबी रहे हैं. हालांकि उन्होंने अपने क्षेत्र में पिछले कुछ सालों में काफ़ी घूमा है."

मौजूदा समय में राजस्थान और मध्य प्रदेश की राजनीतिक परिस्थितियों में क्या असमानता और समानता है? क्या राजस्थान में मध्य प्रदेश जैसे हालात बन सकते हैं?नीरजा चौधरी कहती हैं,"राजस्थान में कांग्रेस के पास स्पष्ट बहुमत है. कांग्रेस के लिए राजस्थान में गुडविल भी है. दूसरी तरफ़ मध्य प्रदेश में सीटों का अंतर काफ़ी कम था और शिवराज सिंह चौहान के लिए गुडविल था. सबसे अहम बात यह कि वहाँ कांग्रेस के अंदर में कमलनाथ, दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच सालों से घमासान था. वहाँ पार्टी के अंदर में गुटबाजी पुरानी थी. लेकिन राजस्थान में ऐसा सालों से नहीं है बल्कि अभी 2018 से ही यह टकराव शुरू हुआ है."

इमेज कॉपीरइटकांग्रेस में असंतोष क्यों?कांग्रेस के अंदर युवा नेतृत्व और पुराने क्षेत्रिय नेताओं के बीच तालमेल नहीं होने के सवाल पर वो कहती हैं,"ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि हाई कमान अब हाई कमान नहीं रहा. मध्य प्रदेश में लंबे समय से यह दिख रहा था कि क्या होने जा रहा है और राजस्थान में भी दिख रहा है कि क्या हो रहा है लेकिन हाई कमान इसमें अपनी भूमिका नहीं निभा पाया है.''

''सोनिया गांधी ने पिछले साल से फिर से कमान संभाला है और उन्होंने अपनी पुरानी टीम पर भरोसा जताया हुआ है. उनकी पुरानी टीम नए लोगों के साथ तालमेल नहीं बिठा पा रही है. उन्हें साथ लेकर नहीं चल पा रही है और जो नए लोग हैं वो पुरानी किस्म की राजनीति नहीं चाहते हैं."

विवेक कुमार भी मानते हैं कि ऐसा केंद्रिय नेतृत्व के प्रभावी नहीं होने की वजह से हो रहा है. क्षेत्रीय नेताओं को लगता है कि राज्यों में उनके नाम पर वोट आ रहा है. अब जैसे राजस्थान में सचिन पायलट को लगता है कि यहाँ की जीत उनकी पाँच साल की मेहनत का नतीजा है और उनके साथ न्याय नहीं हो रहा. वैसे ही मध्य प्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया को लगता रहा. मुख्य कारण कांग्रेस में अंसतोष का यही है. वहीं दूसरी तरफ़ बीजेपी में किसी भी क्षेत्रीय नेता को इस बात की ग़लतफ़हमी नहीं है कि उनके नाम पर वोट आ रहे हैं."

जिया की मां ने की CBI जांच की मांग, कहा- मेरी बेटी की तरह सुशांत को भी मारा गया राफेल के अभ्यास से घबराया चीन, होतान एयरबेस पर उतारे 36 बमवर्षक विमान - trending clicks AajTak नेपाल अब भारतीय विजिटर्स से मांगेगा आईकार्ड, फैसले के लिए कोरोना का बनाया बहाना और पढो: BBC News Hindi »

अब चिकन में भी कोरोना: चीन ने कहा- ब्राजील से आए चिकन में कोरोनावायरस मिला, कुछ दिन पहले इक्वाडोर के झींगा ...

बीजिंग के फूड मार्केट में जून में संक्रमण के मामले सामने आए थे, तब से देश में फूड प्रोडक्ट्स में भी कोरोना की जांच शुरू कर दी गई,जून में चीन की राजधानी बीजिंग के शिनफैडी सीफूड मार्केट में संक्रमण के मामले सामने आए थे China Coronavirus Xinfadi Seafood Market Latest News Updates: Brazilian Chicken Found Infected For COVID-19 In Beijing Shanghai

LMAO सारे नेता पैसा के भूखे हैं जनता से कोई मतलम नहीं जिसकी पार्टी मजबूत हैं उसके साथ मिल जाएगे राहुल गांधी युवा की बात करतें है तो युवा को मुख्यमंत्री क्यों नहीं बनाया SachinPilot जी के कृत्य से आज स्वर्गीय राजेश पायलट जी के आत्मा को काफी दुख पहुंचा होगा, जो कभी अपने जीवन काल मे कभी ऊंचे पद की लालच नही की मगर देश की राजनीति में हमेशा ही उनका कद ऊंचा ही रहा,

करना चाहते लेकिन कर नहीं पायंगे Dirty stuff. Jane do khatak jaye ga SachinPilot He will not only bat for BJP but hurl sixes as well. Satta Kharid Farokth Horse Trading Malaidaar Mantralaya and Paisa in short Politics today. Greed has no end. Cong getting back what it gave. Nation continue to suffer corruption crimes poverty under all parties. Who cares for nation when chamchas of different parties are happy.

Samay ki maang h इनके पिछवाड़े में RSS आतंकवादी बनने का कीड़ा बुदबुदा रहा है, yes सचिन पायलट जी अच्छे नेता है जमीनी पकड़ रखते है युवा भी है उनके सामने पूरा भविष्य है अभी अगर उनके साथ अन्याय हो रहा है तो चुप नहीं रहना चाहिए आत्मसम्मान से बड़ी कोई चीज नहीं ऐसे भी कांग्रेस में पगलवा के आगे कोई नहीं जा सकता..!!☺️

इसका मतलब .....🙄 पीएम केयर फंड का इस्तेमाल बखूबी हो रा है ..! 😉 देश कांग्रेस मुक्त न हुआ, पर बीजेपी कांग्रेसी युक्त होते जा रहे हैं । कांग्रेस के करप्ट लोग धीरे से बीजेपी में खिसक लेते है । बिकने वालो कि इज़्ज़त नही होती एक सिंधिया बिका ओर खेल खत्म हो गया उसका गायब हो गया कही दिख नही रहा😂 बिछड़ेंगे सब बारी-बारी

पायलट के साथ 8-10 से जयदा MLA नहीं है बीजेपी को सरकार बनाने के लिए कांग्रेस के 50 MLA को अयोग्य घोषित करना होगा जो बहुत मुश्किल है ये राजस्थान है यंहा एक बार इस्तीफा दे देगा तो जीतने की कोई गारंटी नहीं है सचिन पायलट की खुद की दोबारा जीतने की कोई गारंटी नहीं है Yes the only way out of money laughing charges is to join BJP BJPdestroysDemocracy

सवाल ये पूछना था, क्या पायलट अब बीजेपी का प्लेन उड़ाएंगे 😁😁😁 पर मुझे नही लगता बीजेपी का उड़ाए । पायलट अपना खुद का प्लेन उड़ा सकते है । इसका फायदा जरूर बीजेपी को होगा । Never बीजेपी में सचिन शतक मार सकते हैं विचार घारा की राजनीति नहीं रही| कांग्रेस का उप मुख्यमंत्री बिक सकता है लेकिन जुम्मन को क्या वो तो दरि ही बिछाएगे

SachinPilot उन गिने चुने नेताओं में से हैं जिनके लिए राजनीतिक महत्वाकांक्षा, विचारधारा और उसुलों से बड़ी नहीं। बहुत कम उम्मीद है कि वह JM_Scindia की तरह कोई कदम लेंगे। Hit wicket k jyada chance h काँग्रेस कुछ निजी लोगों के अलावा किसी को जहाज उड़ाने नहीं देती पायलट को लगा था कि उनकों जहाज उड़ाने मिलेगा लेकिन उनको सिर्फ कार्पेट मे बिठाकर रखा जिस कारण एक पायलट का मन भंग हो गया और वो अपने साथ कुछ यात्रियों को लेकर उड़ते जहाज से कूदने की तैयारी कर रहा है... बिन पायलट जहाज

This was to be happen in future when Sindhhia left congress. जिसके पास थोड़ा भी आत्मसम्मान होगा, वो कांग्रेस छोड़ ही देगा Jb ghr ke malik sunane ko tyar na ho to bahari baji marenge hi.... इंडिया में जब तक ऐसे नेता रहेंगे इंडिया कभी तरक्की ना करेगा उल्टा बर्बादी होता रहेगा No right to stay in power. बीजेपी का कर्ज है इनके सर पर, उतारने का तकाज़ा है,जाना तो पड़ेगा ही।

इन लोगों के ऊपर माननीय न्यायालय को कार्रवाई करने की जरूरत है गुर्जर चाहते भी यहीं है पायलेट साहब भाजपा से चुनाव लडें जो कांग्रेस है वही बीजेपी है😂😂 कटूवो😂😂😂😂 No right to stay in power. No right to stay in power. No right to stay in power. SachinPilotआप एमपी के सबसे युवा सांसद बने आपको बधाई दी आप सबसे युवा केंद्रीय मंत्री बने आपको बधाई दी आप सबसे युवा उप मुख्यमंत्री बने आपको बधाई अब आप यदि सबसे युवा राजनीतिक गद्दार बनते हैं तो आपको क्या दिया जाना चाहिये चुनना आपको है महत्वाकांक्षा या ज़मीर? आप हमारे रोल माडल हो।

BBC hindi try to give a desi test. But they failed. And its look very low category headlines. No right to stay in power. Breaking news बीजेपी परिवार को बढ़ाने में सहयोग करेंगे ये मिलजुल नहीं रह सकते सरकार क्या चलायेंगे ? लगता तो यही है Yesb neta kb kya kr de koi pata nhi.. मोटा ऑफर कौन ठुकराएगा क्यों SachinPilot सर वैसे भी भाजपा तोड़ने, खरीदने में माहिर है l INCIndia RahulGandhi yadavakhilesh samajwadiparty

BBC walon pilot hai vah cricketer nahi Sachinpilot mrsfunnybones जिंदगी तो यूं ही बदनाम हैं तकलीफ़ तो डिप्रेशन देता हैं चार साल से झेल रहा है, कृपया मेरी मदद करे 🙏🙏🙏 😧 CSR प्रोजेक्ट सबमिट हो रहा है जिन भाइयों एवं बहनों की एनजीओ को सीएसआर फंड लेना है वह संपर्क करें 🎬7079968888☎️ on. Women's empowerment

Bossd ka tadipaar IPL khel raha he. अब सिर्फ एक ही पार्टी बचेगी भारत में। सचिन जैसी शख्शियत भी यदि चली गई... तो... बड़ा प्रश्न.. उत्तर ढूंढने की कवायद तो हो...SachinPilot वैसे बागी तो चंबल की राह पकड़ते है अब देखो ये किस राह पे जाते है। पर राह पकड़ तू एक चला चल पा जाएगा मधु शाह अा ला कहीं ऐसा न हो कि चमक फीकी पड़ जाए ।

लगता तो एसे ही है। दो ही प्रश्न सचिन सीएम बनेंगे ? या बीजेपी में जायेंगे? जनता कांग्रेस को चुन रही है और नेता इस तरह की हरकत करके उन्हें धोखा दे रहे हैं। सचिन पायलट को रोका किसने है, कॉंग्रेस पार्टी से इस्तीफा दें और मन करे उस राजनैतिक से दोबारा चुनाव लड़ लें, लेकिन इस तरह बीच मझधार में धोखा देना सीखा किससे है ? निजी स्वार्थ ही सब कुछ है या जनता की भलाई के लिए बैचेन हुए जा रहे समझना कठिन है !

नहीं CPI के लिए । Sarkar nahi gire gi ये देश नेताओं के कारण ही खत्म हो जाएगा, कोरोना से कुछ नही होगा। वह बल्लेबाजी करें या न करें, फिलहाल कांग्रेस में जो हैं वह भी क्या कर रहे हैं, अतिरिक्त खिलाड़ी से क्या ज्यादा हैं? नकली गांधी और गांधी कि पार्टी को छोड़ के नकली पार्टी 1969 में बनाई आज भी मूर्खों कि जमात इनको असली समझ के असली चमचागिरी कर रहे है 😀 जो गुलामी नहीं करेगा लोकतांत्रिक आवाज उठायेगा उसे bjp एजेंट बता पार्टी से बाहर कर देते है वह पार्टी का अंतिम आदेश मान bjp ज्वाइन कर लेता है 🤪🤪

Bjp जॉइन करने के लिए तो साहब ने मना कर दिया और देखते हैं आगे क्या होता है

सचिन पायलट के संपर्क में कांग्रेस के 30 विधायक, कुछ निर्दलीय भी हैं साथ !सचिन पायलट के संपर्क में कांग्रेस के 30 विधायक, कुछ निर्दलीय भी हैं साथ RajasthanPolitics Rajasthan RajasthanPoliticalCrisis SachinPilot ashokgehlot51 SachinPilot ashokgehlot51 कांग्रेस में जिन नेताओ का कद अपने दम पर बढ़ने लगता है उससे ही गांधी परिवार डरने लगता है , कही राहुल गांधी का कद छोटा न पड़ जाए । SachinPilot ashokgehlot51 मध्यप्रदेश की कहानी अब राजस्थान की जुबानी।। SachinPilot ashokgehlot51 ... Sachin jii , plz Congress mat chhodhiyegaa .. 😟 .. narendramodi

सचिन पायलट थाम सकते हैं BJP का हाथ, 30 विधायकों के भी कांग्रेस छोड़ने के कयासHimanshu_Aajtak बधाई✊ Sachinpilot Himanshu_Aajtak उन कार्यकर्ताओं के बारे मे किसी ने सोचा क्या जो दिन रात मेहनत करके तुम्हारे लिए पसीने बहाते रहे हैं SachinPilot ashokgehlot51 ? Himanshu_Aajtak Aajtak aur NDTV ke phati padi huyee hai

कांग्रेस में टूट का खतरा, सचिन पायलट के BJP नेताओं के संपर्क में होने की खबरRajasthan Government Crisis Today Latest News Live Updates: राजस्थान में कांग्रेस ने भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया, इस सिलसिले में अब पार्टी में ही फूट पड़ती दिख रही है।

बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं के संपर्क में सचिन पायलट, 19 विधायकों के समर्थन का दावा - सूत्रराजस्थान में अशोक गहलोत पर संकट और गहरा गया है. सूत्रों के हवाले से खबर मिल रही है कि सचिन पायलट दिल्ली में हैं और वह बीजेपी के नेताओं के संपर्क में है.सचिन पायलट का दावा है कि उनके पास 16 कांग्रेस और 3 निर्दलीय विधायकों का समर्थन है. पुराने लोग कांग्रेस को ले डूबेगे युवा पीढ़ी को आगे बढ़ाने की जरूरत है Only 19 what the leader he is ,Shame on leader like this! अब लोकटंट्रा की हटिया कहेंगे इसे कुछ लोग. जबकि ये उन्हीं का बनाया लोकतंत्र है

राजस्थान के सियासी उठापटक के बीच आखिर क्यों सचिन पायलट से नहीं मिला गांधी परिवार?ऐसा बताया जा रहा है कि कांग्रेस आलाकमान ने सचिन पायलट के अपने भरोसेमंद व्यक्ति के माध्यम से यह बता दिया था कि वह एक समय जरूर मुख्यमंत्री बनेंगे लेकिन उसमें अभी समय लगेगा अभी वह युवा हैं, उन्हें इंतजार करना चाहिए. matbhed khatm kariye aur ek jut kijiye We used to be DEMOCRATIC Country But Now become a Dalal REPUBLIC

सचिन पायलट बोले- कांग्रेस के 30 MLA और निर्दलियों का मुझे समर्थन, गहलोत सरकार अल्पमत मेंRajasthan Government Crisis Today Latest News Live Updates: राजस्थान में कांग्रेस ने भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया, इस सिलसिले में अब पार्टी में ही फूट पड़ती दिख रही है।