Tokyoolympics, Kamalpreetkaur, Tokyo Olympics 2021, Tokyo Olympics 2020, Tokyo Olympics, Kamalpreet Kaur, टोक्यो ओलंपिक, टोक्यो ओलंपिक 2021, टोक्यो ओलंपिक 2020, कमलप्रीत कौर, Sports News İn Hindi, Other Sports News İn Hindi, Other Sports Hindi News

Tokyoolympics, Kamalpreetkaur

कमलप्रीत कौर: पनीर की सब्जी, आलू के पराठे, चावल के दम पर ओलंपिक के फाइनल में पहुंचीं

कमलप्रीत कौर: पनीर की सब्जी, आलू के पराठे, चावल के दम पर ओलंपिक के फाइनल में पहुंचीं #TokyoOlympics #KamalpreetKaur

01-08-2021 06:26:00

कमलप्रीत कौर : पनीर की सब्जी, आलू के पराठे, चावल के दम पर ओलंपिक के फाइनल में पहुंचीं TokyoOlympics KamalpreetKaur

कमलप्रीत ने अपने फेवरेट पनीर की सब्जी, आलू के पराठे और मटर के चावल के दम पर टोक्यो में फाइनल में जगह बनाकर पदक की उम्मीदों

ख़बर सुनेंशाकाहार के दम पर सुशील कुमार जैसे पहलवानों के ताल ठोकनें के उदाहरण मौजूद हैं, लेकिन एथलेटिक्स की थ्रो इवेंट में शाकाहारी एथलीटों की कल्पना मुश्किल है। थ्रोअरों को भुजाओं और शरीर में ताकत लाने के लिए देर-सवेर नॉनवेज शुरू ही करना पड़ता है, लेकिन हाल ही में 66.59 मीटर के राष्ट्रीय कीर्तिमान के साथ डिस्कस फेंक कर पूरी दुनिया की नजरों में छाने वाली कमलप्रीत कौर के साथ ऐसा नहीं है। उनके सामने जब नॉन वेज शुरू करने की बात रखी गई तो उन्होंने साफ कर दिया कि वह डिस्कस थ्रो छोड़ सकती हैं, लेकिन नॉन वेज को हाथ नहीं लगाएंगी। इसी शाकाहार के दम पर उन्होंने ओलंपिक के फाइनल में जगह बना डाली।

राजस्व में कमी की भरपाई के लिए दूसरी छमाही में 5.03 लाख करोड़ रुपये का कर्ज लेगी सरकार पाकिस्‍तान में बेरोजगारी दर सबसे उच्‍चतम स्‍तर पर, चपरासी के 1 पद के लिए 15 लाख लोगों ने किया आवेदन यूपी : CM योगी ने नवनियुक्त मंत्रियों को बांटे विभाग, जानें- किसको क्या मिला?

पनीर, मटर के चावल हैं बेहद पसंदराष्ट्रीय शिविर में कुछ लोगों ने सोचा यह लड़की बिना नॉन वेज के डिस्कस थ्रो में नहीं टिक पाएगी। कमलप्रीत ने उनकी इन आशंकाओं को झुठलाते हुए अपने फेवरेट पनीर की सब्जी, आलू के पराठे और मटर के चावल के दम पर टोक्यो में फाइनल में जगह बनाकर पदक की उम्मीदों को जगाया है। कमलप्रीत खुलासा करती हैं कि उन्हें शाकाहारी खाने में ही मजा आता है। थ्रोअर होने के बावजूद उनकी अंदर से ही कभी नॉन वेज खाने की इच्छा नहीं हुई। कमलप्रीत की कोच राखी यहां तक कहती हैं कि उसने यह दिखा दिया है कि शाकाहारी भी थ्रोअर हो सकते हैं। इसके लिए नॉन वेज जरूरी नहीं है।

शॉटपुटर से बन गईं डिस्कस थ्रोअरपंजाब के बादल की साई अकादमी में कोच राखी के साथ पिछले सात सालों से तैयारी कर रहीं कमलप्रीत अपनी योजना स्पष्ट करती हैं कि वह पदक की नहीं सोच रही हैं, लेकिन उनकी कोशिश टोक्यो में एक और राष्ट्रीय कीर्तिमान बनाने की होगी। अगर नया कीर्तिमान बना तो हो सकता है पदक अपने आप आ जाए। शुरू में शॉटपुटर थीं लेकिन स्कूल के कोच ने कहा कि उनकी लंबाई अच्छी है उन्हें डिस्कस शुरू करना चाहिए। इसके बाद उन्होंने डिस्कस अपना लिया। headtopics.com

क्रिकेट और सहवाग की दीवानी हैं कमलप्रीतकमलप्रीत क्रिकेट की दीवानी हैं। कोच राखी खुलासा करती हैं कि वह हॉस्टल में हमेशा क्रिकेट खेलने के लिए आगे रहती हैं। उन्हें वीरेंद्र सहवाग बेहद पसंद हैं। अगर वह डिस्कस थ्रो में नहीं होती तो हो सकता है क्रिकेटर बन गई होतीं।

विस्तारशाकाहार के दम पर सुशील कुमार जैसे पहलवानों के ताल ठोकनें के उदाहरण मौजूद हैं, लेकिन एथलेटिक्स की थ्रो इवेंट में शाकाहारी एथलीटों की कल्पना मुश्किल है। थ्रोअरों को भुजाओं और शरीर में ताकत लाने के लिए देर-सवेर नॉनवेज शुरू ही करना पड़ता है, लेकिन हाल ही में 66.59 मीटर के राष्ट्रीय कीर्तिमान के साथ डिस्कस फेंक कर पूरी दुनिया की नजरों में छाने वाली कमलप्रीत कौर के साथ ऐसा नहीं है। उनके सामने जब नॉन वेज शुरू करने की बात रखी गई तो उन्होंने साफ कर दिया कि वह डिस्कस थ्रो छोड़ सकती हैं, लेकिन नॉन वेज को हाथ नहीं लगाएंगी। इसी शाकाहार के दम पर उन्होंने ओलंपिक के फाइनल में जगह बना डाली।

विज्ञापनपनीर, मटर के चावल हैं बेहद पसंदराष्ट्रीय शिविर में कुछ लोगों ने सोचा यह लड़की बिना नॉन वेज के डिस्कस थ्रो में नहीं टिक पाएगी। कमलप्रीत ने उनकी इन आशंकाओं को झुठलाते हुए अपने फेवरेट पनीर की सब्जी, आलू के पराठे और मटर के चावल के दम पर टोक्यो में फाइनल में जगह बनाकर पदक की उम्मीदों को जगाया है। कमलप्रीत खुलासा करती हैं कि उन्हें शाकाहारी खाने में ही मजा आता है। थ्रोअर होने के बावजूद उनकी अंदर से ही कभी नॉन वेज खाने की इच्छा नहीं हुई। कमलप्रीत की कोच राखी यहां तक कहती हैं कि उसने यह दिखा दिया है कि शाकाहारी भी थ्रोअर हो सकते हैं। इसके लिए नॉन वेज जरूरी नहीं है।

शॉटपुटर से बन गईं डिस्कस थ्रोअरपंजाब के बादल की साई अकादमी में कोच राखी के साथ पिछले सात सालों से तैयारी कर रहीं कमलप्रीत अपनी योजना स्पष्ट करती हैं कि वह पदक की नहीं सोच रही हैं, लेकिन उनकी कोशिश टोक्यो में एक और राष्ट्रीय कीर्तिमान बनाने की होगी। अगर नया कीर्तिमान बना तो हो सकता है पदक अपने आप आ जाए। शुरू में शॉटपुटर थीं लेकिन स्कूल के कोच ने कहा कि उनकी लंबाई अच्छी है उन्हें डिस्कस शुरू करना चाहिए। इसके बाद उन्होंने डिस्कस अपना लिया। headtopics.com

अलवर में समुदाय विशेष के दो लोगों ने की दलित युवक की हत्या, भाजपा ने कानून-व्यवस्था पर उठाए सवाल नए राजपथ पर होगी अगले साल गंणतंत्र दिवस की परेड, तैयारियां जोरों पर भारत बंद की वजह से 50 ट्रेनों की सर्विस पर असर पड़ा: रेलवे - BBC Hindi

क्रिकेट और सहवाग की दीवानी हैं कमलप्रीतकमलप्रीत क्रिकेट की दीवानी हैं। कोच राखी खुलासा करती हैं कि वह हॉस्टल में हमेशा क्रिकेट खेलने के लिए आगे रहती हैं। उन्हें वीरेंद्र सहवाग बेहद पसंद हैं। अगर वह डिस्कस थ्रो में नहीं होती तो हो सकता है क्रिकेटर बन गई होतीं।

विज्ञापनआगे पढ़ेंविज्ञापनआपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है?

और पढो: Amar Ujala »

Mahant Narendra Giri की रहस्यमयी मौत- सुसाइड या मर्डर? देखें दस्तक

जब राष्ट्रीय अखाड़ा परिषद के प्रमुख महंत नरेंद्र गिरि की मृत्यु की खबर आई और इस खबर के साथ ही सवाल ने जन्म लिया कि सुसाइड किया या हत्या हुई? क्योंकि यूपी पुलिस जब महंत नरेंद्र गिरि की मौत को शुरुआती जांच में सुसाइड कह रही है. तब सुसाइड नोट में जिस शिष्य का नाम है वो साजिश के तहत हत्या बता रहा है. अलग-अलग आरोप लगाए जा रहे हैं. जो नाम चल रहे हैं वो हैं आनंद गिरि, अजय सिंह, मनीष शुक्ला, अभिषेक मिश्रा और इसके अलावा दो और नाम जोड़े जा रहे हैं. सबसे बड़ा नाम आरोपी के तौर पर शिष्य आनंद गिरि का है जिसे उत्तराखंड में हिरासत में ले लिया गया है. देखें 10 तक का ये एपिसोड.

कितनी घटिया पत्रकारिता है अमर उजाला बंद कर दो यार एक खिलाड़ी ओलंपिक तक कैसे पहुँचता है शायद तुम्हे पता नही इस लिए तुमने कमलप्रीत कौर का पूरा संघर्ष सब्जी पराठे में पूर्ण कर दिया थू है तुम पर Uske baad phir same old story hogi bhai pkhuch karne se pehle star mat banao कड़ी मेहनत के दम पर आलू के परांठे पनीर की सब्जी और चावल तो हर कोई खाता हैं

उत्तरकाशी-किन्नौर में पहाड़ दरका, दिल्ली में यमुना खतरे के निशान के पारWeather Forecast Today, Delhi, Himachal Pradesh, Uttar Pradesh, Dharamshala, Punjab, Haryana, Lucknow, Bihar Rains Latest News: इसी बीच, दिल्ली में यमुना नदी का जल स्तर भारी बारिश के बाद 203.37 मीटर तक बढ़ गया जो खतरे के निशान 204.50 मीटर के करीब है।

तोक्यो ओलिंपिक में मेडल पक्का करने के बाद लवलीना के इलाके में जश्नअसम: लवलीना बोर्गोहेन की तोक्यो ओलिंपिक में वेल्टरवेट (64-69 किलोग्राम) के क्वॉर्टर फाइनल में जीत के बाद उनके पड़ोसियों और गांव वालों ने जश्न मनाया। अपना पहला ओलिंपिक खेल रही लवलीना बोरगोहेन (69 किलो) ने पूर्व विश्व चैंपियन चीनी ताइपे की नियेन चिन चेन को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश के साथ तोक्यो ओलिंपिक की मुक्केबाजी स्पर्धा में भारत का पदक पक्का कर दिया। असम की 23 वर्ष की मुक्केबाज ने 4-1 से जीत दर्ज की। अब उसका सामना मौजूदा विश्व चैंपियन तुर्की की बुसानेज सुरमेनेली से होगा जिसने क्वॉर्टर फाइनल में उक्रेन की अन्ना लिसेंको को मात दी। Early celebration

सिर्फ UP में चार लाख के करीब बच्चे गंभीर कुपोषण के शिकार- RS में बोलीं स्मृतिस्मृति ने बताया कि आईसीडीएस-आरआरएस पोर्टल के अनुसार, 30 नवंबर 2020 तक देश में छह माह से छह साल की उम्र के, अत्यंत कुपोषित 9,27,606 बच्चों की पहचान की गई है।

सीमा विवाद: एनआईए ने मिजोरम में बड़ी मात्रा में बरामद विस्फोटक मामले की शुरू की जांचआतंकवाद रोधी एजेंसी ने इस मामले की जांच बृहस्पतिवार को अपने हाथ में ली थी और केंद्रीय गृहमंत्रालय द्वारा इस मामले की governorswaraj kya ye aapka peace hai? 26 saal gaye paani me. BharadwajSpeaks governor saab k 26 saal ka.peace ranj laaya. Itna hasla mila maano Pakistan se POK khaali karana ho.

कपिल का शो छोड़ सलमान खान के शो में आने की तैयारी में सुनील ग्रोवर?सलमान खान का सुपरहिट शो बिग बॉस का सीजन 15 का दर्शक बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। आए दिन इस शो के नए सीजन को लेकर अटकलें लगती हैं कि इस बार कौन कौन से सेलेब्स बिग बॉस में नजर आ सकते हैं। KHAMOSH........................................Kerala aur Maharashtra ka COVID Sequler hai KHABARDAAR kisi ne us par sawal uthaya nahi to IMRAAN aur XI-PIN uska HUKKA-PAANI band kar denge

Tokyo Olympics Live: डिस्कस थ्रो में कमलप्रीत ने चौंकाया, धमाकेदार प्रदर्शन के साथ फाइनल में टोक्यो ओलंपिक का 31 जुलाई को 9वां दिन है. भारत ने ओलंपिक के पहले दिन ही सिल्वर मेडल के साथ अपना खाता खोला था. हालांकि, तब से अभी तक भारत को एक भी मेडल नहीं मिला. ऐसे में आज भारत के लिए अपने पदकों की संख्या बढ़ाने का सुनहरा मौका है. बहुत बहुत बधाई।