ओमिक्रॉन का खतरा: 12 माह, 20 बैठकें, फिर भी जीनोम सीक्वेंसिंग पर राज्यों का ध्यान नहीं

देश भर में सीक्वेंसिंग के लिए 288 जगहों की पहचान की गई, लेकिन इनमें से ज्यादातर राज्यों से पर्याप्त सैंपल सीक्वेंसिंग

Omicron, Covid 19

02-12-2021 03:23:00

ओमिक्रॉन का खतरा: 12 माह, 20 बैठकें, फिर भी जीनोम सीक्वेंसिंग पर राज्यों का ध्यान नहीं Omicron Covid19 MoHFW_INDIA

देश भर में सीक्वेंसिंग के लिए 288 जगहों की पहचान की गई, लेकिन इनमें से ज्यादातर राज्यों से पर्याप्त सैंपल सीक्वेंसिंग

जीनोम सिक्वेंसिंग- फोटो : एएनआईख़बर सुनेंख़बर सुनेंसामान्य जांच के जरिए किसी भी तरह के संक्रमण की पहचान हो सकती है लेकिन ओमिक्रॉन जैसे वायरस के किसी भी स्वरूप को जानने के लिए जीनोम सीक्वेंसिंग जरूरी है। साल भर पहले इन्हीं दिनों में कोरोना वायरस में नए-नए परिवर्तन देखने को मिले थे, जिसके बाद देश में जीनोम सीक्वेंसिंग को अनिवार्य करते हुए इन्साकॉग का गठन हुआ। यह तय हुआ कि हर महीने राज्यों को पांच फीसदी सैंपल सीक्वेंसिंग के लिए भेजना आवश्यक है, लेकिन 12 महीने में 20 से भी अधिक बैठक और निर्देश जारी होने के बाद भी राज्यों का अब तक इस पर ध्यान नहीं है।

स्थिति यह है कि इस साल जून से अगस्त के बीच ही 50 फीसदी से अधिक की गिरावट दर्ज की जा चुकी है। के लिए नहीं आ रहे हैं।सैंपल की संख्या हुई कमसरकारी आंकड़ों की मानें तो इस साल जनवरी में 2207, फरवरी में 1321, मार्च में 7806, अप्रैल में 5713, मई में 10488, जून में 12257, जुलाई में 6990 और अगस्त में 6458 सैंपल की सीक्वेंसिंग हुई। सितंबर में 2100 और अक्तूबर में करीब 450 सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए पहुंचे हैं। इसके अलावा कोरोना की दूसरी लहर के दौरान अप्रैल 2021 में सरकार ने हर राज्य में जगहों का चयन करते हुए प्रत्येक जगह से 30 सैंपल सीक्वेंसिंग के लिए भेजने का नियम भी बनाया, जिसके तहत बीते अगस्त माह के दौरान 36 राज्यों में 288 जगहों को चिन्हित करते हुए 8614 सैंपल भेजने का लक्ष्य भी रखा, लेकिन 19 राज्यों ने तय लक्ष्य के अनुसार सैंपल नहीं भेजे। इस साल एक से 31 अगस्त के बीच 8332 सैंपल ही सीक्वेंसिंग के लिए लैब तक पहुंच पाए।

नई दिल्ली स्थित आईजीआईबी के वैज्ञानिक डॉ. विनोद स्कारिया का कहना है कि आगामी लहर से बचने के लिए जीनोम सीक्वेंसिंग बढ़ाना जरूरी है। वहीं, इन्साकॉग के ही एक अधिकारी का कहना है, हाल में राज्यों के साथ बैठक में हिदायत दी जा चुकी है। नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन्साकॉग का गठन होने के बाद से जीनोम सीक्वेंसिंग पर ध्यान देने के लिए कहा जा रहा है। headtopics.com

UP Election: रामपुर की लड़ाई दो परिवारों के बीच आई, जानिए कौन दे रहा आजम परिवार को चुनौती

मृत्युदर में लगातार इजाफाकोरोना के नए मामलों में भले ही उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा हो लेकिन मृत्युदर लगातार बढ़ती दिखाई दे रही है। रोजाना तीन फीसदी तक मौतें दर्ज की जा रही हैं। पिछले एक दिन की स्थिति देखें तो 2.98 फीसदी मरीजों की मौत दर्ज की गई है। एक से 30 नवंबर के बीच देश में 10,777 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हुई है। वह भी तब जब कोरोना की संक्रमण दर पिछले 58 दिन से दो फीसदी से भी कम दर्ज की जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि पिछले एक दिन में कोरोना वायरस के 8,954 नए मामले सामने आए हैं और 267 लोगों की मौत हो गई है। इस दौरान 10,207 संक्रमित मरीज ठीक हुए हैं और सक्रिय मामलों की संख्या 99,023 है। अकेले केरल में 4,723 नए मामले आए हैं और इस दौरान 19 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है। एजेंसी

दूसरी डोज लगवाने पर मिलेगा स्मार्ट फोनकोविड-19 से बचाव के लिए नागरिकों के पूर्ण टीकाकरण का लक्ष्य पाने के लिए अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) ने एक लकी ड्रॉ निकालने की घोषणा की है। वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाने वालों के नाम इस ड्रॉ में शामिल होंगे और विजेता को 60 हजार रुपये कीमत का स्मार्टफोन दिया जाएगा। अहमदाबाद नगर निगम ने बताया कि 1 से 7 दिसंबर के बीच कोविड-19 वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने वाले लोग योजना के पात्र होंगे। विजेता के नाम की घोषणा लकी ड्रॉ के बाद होगी। एजेंसी

विस्तारसामान्य जांच के जरिए किसी भी तरह के संक्रमण की पहचान हो सकती है लेकिन ओमिक्रॉन जैसे वायरस के किसी भी स्वरूप को जानने के लिए जीनोम सीक्वेंसिंग जरूरी है। साल भर पहले इन्हीं दिनों में कोरोना वायरस में नए-नए परिवर्तन देखने को मिले थे, जिसके बाद देश में जीनोम सीक्वेंसिंग को अनिवार्य करते हुए इन्साकॉग का गठन हुआ। यह तय हुआ कि हर महीने राज्यों को पांच फीसदी सैंपल सीक्वेंसिंग के लिए भेजना आवश्यक है, लेकिन 12 महीने में 20 से भी अधिक बैठक और निर्देश जारी होने के बाद भी राज्यों का अब तक इस पर ध्यान नहीं है।

मौसम : 26 जनवरी के बाद और बढ़ेगी ठिठुरन, यूपी समेत आठ राज्यों में पांच डिग्री तक गिरेगा पारा

विज्ञापनस्थिति यह है कि इस साल जून से अगस्त के बीच ही 50 फीसदी से अधिक की गिरावट दर्ज की जा चुकी है। के लिए नहीं आ रहे हैं।सैंपल की संख्या हुई कमसरकारी आंकड़ों की मानें तो इस साल जनवरी में 2207, फरवरी में 1321, मार्च में 7806, अप्रैल में 5713, मई में 10488, जून में 12257, जुलाई में 6990 और अगस्त में 6458 सैंपल की सीक्वेंसिंग हुई। सितंबर में 2100 और अक्तूबर में करीब 450 सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए पहुंचे हैं। इसके अलावा कोरोना की दूसरी लहर के दौरान अप्रैल 2021 में सरकार ने हर राज्य में जगहों का चयन करते हुए प्रत्येक जगह से 30 सैंपल सीक्वेंसिंग के लिए भेजने का नियम भी बनाया, जिसके तहत बीते अगस्त माह के दौरान 36 राज्यों में 288 जगहों को चिन्हित करते हुए 8614 सैंपल भेजने का लक्ष्य भी रखा, लेकिन 19 राज्यों ने तय लक्ष्य के अनुसार सैंपल नहीं भेजे। इस साल एक से 31 अगस्त के बीच 8332 सैंपल ही सीक्वेंसिंग के लिए लैब तक पहुंच पाए। headtopics.com

नई दिल्ली स्थित आईजीआईबी के वैज्ञानिक डॉ. विनोद स्कारिया का कहना है कि आगामी लहर से बचने के लिए जीनोम सीक्वेंसिंग बढ़ाना जरूरी है। वहीं, इन्साकॉग के ही एक अधिकारी का कहना है, हाल में राज्यों के साथ बैठक में हिदायत दी जा चुकी है। नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन्साकॉग का गठन होने के बाद से जीनोम सीक्वेंसिंग पर ध्यान देने के लिए कहा जा रहा है।

मृत्युदर में लगातार इजाफाकोरोना के नए मामलों में भले ही उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा हो लेकिन मृत्युदर लगातार बढ़ती दिखाई दे रही है। रोजाना तीन फीसदी तक मौतें दर्ज की जा रही हैं। पिछले एक दिन की स्थिति देखें तो 2.98 फीसदी मरीजों की मौत दर्ज की गई है। एक से 30 नवंबर के बीच देश में 10,777 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हुई है। वह भी तब जब कोरोना की संक्रमण दर पिछले 58 दिन से दो फीसदी से भी कम दर्ज की जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि पिछले एक दिन में कोरोना वायरस के 8,954 नए मामले सामने आए हैं और 267 लोगों की मौत हो गई है। इस दौरान 10,207 संक्रमित मरीज ठीक हुए हैं और सक्रिय मामलों की संख्या 99,023 है। अकेले केरल में 4,723 नए मामले आए हैं और इस दौरान 19 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है। एजेंसी

फिलस्तीनी संगठन हमास को भेजी गई दिल्ली के व्यवसायी से चोरी की गई क्रिप्टोकरेंसी, पुलिस ने दी जानकारी

दूसरी डोज लगवाने पर मिलेगा स्मार्ट फोनकोविड-19 से बचाव के लिए नागरिकों के पूर्ण टीकाकरण का लक्ष्य पाने के लिए अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) ने एक लकी ड्रॉ निकालने की घोषणा की है। वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाने वालों के नाम इस ड्रॉ में शामिल होंगे और विजेता को 60 हजार रुपये कीमत का स्मार्टफोन दिया जाएगा। अहमदाबाद नगर निगम ने बताया कि 1 से 7 दिसंबर के बीच कोविड-19 वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने वाले लोग योजना के पात्र होंगे। विजेता के नाम की घोषणा लकी ड्रॉ के बाद होगी। एजेंसी

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है?

और पढो: Amar Ujala »

इंडिया गेट से 'जय हिंद'... देखें बोस की मूर्ति पर सियासत का जोर!

आज बात होगी देश के पराक्रम की, उस महान क्रांतिकारी नेता की, जिनसे अंग्रेज सबसे ज्यादा डरते थे. आज उसी योद्धा की 125 वीं जयंती है. नेताजी सुभाष चंद्र की जन्म जंयती पर देश श्रद्धांजलि दे रहा है. इस मौके पर थोड़ी देर में इंडिया गेट पर पीएम मोदी नेताजी के होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण करने जा रहे हैं. इसी होलोग्राम प्रतिमा की जगह बाद में ग्रेनाइट से बनी भव्य प्रतिमा स्थापित की जाएगी. बता दें कि पहले 24 जनवरी से गणतंत्र दिवस समारोह की शुरुआत होती थी. लेकिन नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन को गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल करने के लिए पीएम मोदी ने ये फैसला लिया. हालांकि ऐसे मौके पर भी देश की सियासी पार्टियों की सियासत कम नहीं हुई है. आज बात सियासत पर तो होगी ही लेकिन उससे एक कदम आगे हम इतिहास के उन पन्नों को भी पलटेंगे और जानेंगे कि आखिर सुभाषचंद्र बोस के इतिहास में क्या मायने हैं. और पढो >>

काशी विश्वनाथ धाम प्रोजेक्ट का उद्घाटन करेंगे PM मोदी, जानें कैसा होगा इसका ब्लूप्रिंटPM Narendra Modi Unveil Kashi Vishwanath Dham Project: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी में काशी विश्वनाथ धाम प्रोजेक्ट का 13 दिसंबर को उद्घाटन करेंगे. 30 हजार स्क्वेयर फीट में फैले इस विशाल प्रोजेक्ट को श्रद्धालुओं की सुविधाओं में बढ़ोतरी के उद्देश्य से तैयार किया गया है. इसमें ललिता घाट से काशी विश्वनाथ मंदिर तक यात्री सुविधा केंद्र समेत कई सुविधाओं की व्यवस्था की गई है. इस कार्यक्रम में देशभर के विख्यात संतों, ज्योतिर्लिंग के महंत, पीठाधीश्वर और महामंडलेश्वर को आमंत्रित किया गया है. \r\n AmanKayamHai_ बेचेंगे कब AmanKayamHai_ बे सीधा बक़ ना की उद्घाटन के बहने सरकारी खर्च पर अपने पार्टी के लिए रैली-भाषण देने जा रहा है .. 😝 AmanKayamHai_ I know we all probably must have heard about Bitcoin but don't know how it works I tried it a week ago by a fellow tweeter who recommended me to JULIE_FX_TRADER she guided me through and i made a return of $25,000 after a week of trading, connect with her. JULIE_FX_TRADER

फारूक अब्दुल्ला J&K का पुराना झंडा लगाकर पहुंचे संसद, लोगों ने पूछा- तिरंगा क्यों स्वीकार नहीं?जम्मू कश्मीर के जिस झंडे की मान्यता खत्म हो गई है, वो फारूक अब्दुल्ला की गाड़ी पर लगा हुआ था। इसे लेकर लोग उनकी आलोचना कर रहे हैं।

Omicron का खौफ : 15 दिसंबर से नहीं शुरू होंगी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें, भारत सरकार ने टाला फैसलानई दिल्ली। कोरोना के दक्षिण अफ्रीकी वैरिएंट ओमिक्रोन से पूरी दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है। इस बीच, भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को लेकर पिछले दिनों लिया गया फैसला टाल दिया है। अब 15 दिसंबर से उड़ानें बहाल नहीं होंगी।

कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पर मुफ्त मिलेगा 60,000 रुपए का स्मार्टफोन, जानिए क्या है स्कीमअहमदाबाद। अहमदाबाद नगर निगम लोगों को कोविड-19 के खिलाफ पूर्ण टीकाकरण के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए एक लकी ड्रॉ योजना लेकर आया है। इसमें घोषणा की गई है कि दूसरी खुराक ले चुके लोग इस योजना के पात्र होंगे और विजेता को 60,000 रुपए का स्मार्टफोन दिया जाएगा।

बोलेरो नियो ने अपनी जड़ों का अहसास कराया: गुरमीत चौधरीबोलेरो नियो,महिंद्रा के दूसरे मॉडल्स की तरह दमदार है और कठिन व खराब सड़कों पर भी यात्रा को आसान बना देती है। महिंद्रा बोलेरो नियो को नदी की ओर घुमाते गुरमीत चौधरी की आंखें चमक उठीं। यह पल एक्टर गुरमीत चौधरी के लिए घर वापसी जैसा रहा, क्योंकि उन्हें इस यात्रा के जरिए एक बार फिर अपनी जड़ों से जुड़ने का मौका मिला।

हिमाचल: चीन बॉर्डर के लिए बनेगा देश का सबसे ऊंचा तीसरा डबल लेन मार्गसामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण ग्रांफू-काजा-समदो मार्ग जल्द ही देश का तीसरा सबसे अधिक ऊंचाई पर बनने वाला डबललेन मार्ग