Bihar, Doctor, Medimax Hospital, Local News, Patna News, Bihar News, Local News, 3 Major Operations, He

Bihar, Doctor

ऑपरेशन के लिए पेट खोला तो डर गए डॉक्टर: 10 साल के मासूम को चोट लगने से लीवर और पैंक्रियाज हो गया था डैमेज, एक साथ तीन मेजर ऑपरेशन कर बचाई गई जान

ऑपरेशन के लिए पेट खोला तो डर गए डॉक्टर: 10 साल के मासूम को चोट लगने से लीवर और पैंक्रियाज हो गया था डैमेज, एक साथ तीन मेजर ऑपरेशन कर बचाई गई जान #Bihar #doctor

29-07-2021 16:03:00

ऑपरेशन के लिए पेट खोला तो डर गए डॉक्टर: 10 साल के मासूम को चोट लगने से लीवर और पैंक्रियाज हो गया था डैमेज, एक साथ तीन मेजर ऑपरेशन कर बचाई गई जान Bihar doctor

पटना में 10 साल के एक मासूम का ऑपरेशन के लिए जब पेट खोला गया तो डॉक्टर भी हैरान रह गए। पेट में ढाई लीटर से अधिक खून भरा था। चोट के कारण छोटी आंत फट गई थी और लीवर के साथ पैंक्रियाज भी डैमेज हो गया था। डॉक्टरों 3 मेजर ऑपरेशन कर मासूम की जान बचाई है। गोपालगंज का रहने वाला 10 साल का मासूम अब खतरे से बाहर है। वह जामुन के पेड़ से गिरकर गंभीर हो गया था। | Bihar News; Medimax Hospital doctor s saved life by doing 3 major operations of 10 years

ऑपरेशन के लिए पेट खोला तो डर गए डॉक्टर:10 साल के मासूम को चोट लगने से लीवर और पैंक्रियाज हो गया था डैमेज, एक साथ तीन मेजर ऑपरेशन कर बचाई गई जानपटनाकॉपी लिंकबच्चों में ऐसा गंभीर मामला कम मिलता है।पटना में 10 साल के एक मासूम का ऑपरेशन के लिए जब पेट खोला गया तो डॉक्टर भी हैरान रह गए। पेट में ढाई लीटर से अधिक खून भरा था। चोट के कारण छोटी आंत फट गई थी और लीवर के साथ पैंक्रियाज भी डैमेज हो गया था। डॉक्टरों 3 मेजर ऑपरेशन कर मासूम की जान बचाई है। गोपालगंज का रहने वाला 10 साल का मासूम अब खतरे से बाहर है। वह जामुन के पेड़ से गिरकर गंभीर हो गया था।

सोनू सूद से हर्ष मंदर तक- इन कार्रवाइयों का क्या मतलब है? Ayodhya Ram Mandir: बुनियाद भरने का काम खत्म, पहली बार सामने आईं मंदिर निर्माण की तस्वीरें विराट ने कप्तानी छोड़ी या छीनी गयी?

मुश्किल था मासूम की जान बचानापटना के मेडीमैक्स हॉस्पिटल के सीनियर गैस्ट्रो सर्जन डॉ संजीव कुमार का कहना है कि गोपालगंज का रहने वाला 10 साल का सोनू दोस्तों के गांव में जामुन तोड़ रहा था। जामुन के पेड़ से वह गिरा और फिर अमरुद के पेड़ से भी चोट खा गया। उंचाई से पेट के बल गिरने और चोट लगने से मासूम काफी गंभीर हो गया था। गोपालगंज में डॉक्टरों ने मासूम की हालत देख जवाब दे दिया। घर वाले डॉ ए के गुप्ता के नर्सिंग होम ले गए लेकिन गंभीर हालत देख उसे पटना रेफर कर दिया गया। परिजन उसे काफी गंभीर हालत में मेडिमैक्स हॉस्पिटल लेकर आए और इमरजेंसी में ऑपरेशन की तैयारी की गई।

जांच के बाद भी नहीं था इतना गंभीर होने का अंदाजाडॉ. संजीव कुमार का कहना है कि CT स्कैन और बहुत सारी जांच के बाद भी इतना गंभीर होने आ अंदाजा नहीं था। गंभीर हालत देख ऑपरेशन का निर्णय लिया गया। डॉक्टरों ने जब ऑपरेशन के लिए बच्चे का पेट खोला तो हैरान रह गए। पेट में ढाई लीटर से अधिक खून भरा था जो छोटी आंत के फट जाने से रिस रहा था। ऑपरेशन में पहले खून निकाला गया उसके साथ छोटी आंत की सिलाई की गई फिर डॉक्टर लीवर और पैंक्रियाज देख दंग रह गए। वह भी चोट के कारण काफी डैमेज हो गया था। डॉक्टरों ने 3 घंटे से अधिक समय में मासूम के पेट में 3 मेजर सर्जरी की और फिर उसकी जान बचाई। headtopics.com

बच्चों में नहीं मिला ऐसा मामलाडॉ. संजीव का कहना है कि किसी बच्चे में ऐसा मामला नहीं मिला। छोटी आंत दो जगह से फटी हुई थी और उससे खून का काफी रिसाव हो रहा था। आंत को जोड़ने के साथ पैंक्रियास और लीवर को ऑपरेशन से रिपेयर किया गया। मासूम को ऑपरेशन के बाद 3 यूनिट खून चढ़ाया गया। ऑपरेशन के बाद मासूम पूरी तरह से स्वस्थ्य है। अब वह खाना पानी आसानी से ले रहा है। मासूम का परिवार काफी गरीब है और उसके लिए बड़े शहर में इलाज कराना मुश्किल था, लेकिन पटना में तत्काल ऑपरेशन कर मरीज की जान बचाई गई है।

और पढो: Dainik Bhaskar »

Imran Khan कर रहे तालिबान का बचाव, अमेरिका के टारगेट पर आया Pakistan

तालिबान के समर्थन में कई मौकों पर खुलकर बल्लेबाजी करने वाले पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने फिर पूरी दुनिया से उस आतंकी संगठन की मदद की अपील कर दी है. इमरान खान ने कहा है कि तालिबान सरकार को अभी विदेशी फंड्स की जरूरत है, अगर दुनिया ने मदद की तो ये संगठन सही दिशा में आगे बढ़ सकता है. अगर पाकिस्तान तालिबान का रहनुमा है तो इमरान उसके सबसे बड़े हमदर्द हैं, जिनका दिल तालिबान के लिए धड़कता है. दरअसल एक इंटरव्यू में इमरान खान से अफगानिस्तान के आतंकवादी संगठन हक्कानी नेटवर्क पर सवाल हुआ और वो उसका बचाव करने में डींगें मारने लगे. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वारदात.

At times doctors play God. 🙏🙏🙏

Kindle यूजर्स के लिए अलर्ट: दिसंबर के बाद इन लोगों के किंडल में नहीं चलेगा इंटरनेटकंपनी ने ई-मेल के जरिए अपेन पुराने Kindle यूजर्स को इसे लेकर जानकारी दी है। यदि किसी पुराने Kindle में केवल सेलुलर डाटा का सपोर्ट,

दुनिया में वैक्सीन लगवाने के लिए ऑफर्स की बरसात: रोलेक्स घड़ी, टेस्ला कार और 10 करोड़ रुपए के फ्लैट का ऑफर, इस लालच में वैक्सीन लगवाने पहुंच रहे लोगदुनिया में जब कोविड वैक्सीन रोलआउट हुई, तब फ्लाइट टिकट या मुफ्त में बीयर जैसे ऑफर रखे गए थे। पर दुनिया के कई देश लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए करोड़ों का ऑफर दे रहे हैं। अमेरिका, ब्रिटेन और रूस को पछाड़कर हॉन्गकॉन्ग दुनिया में सबसे महंगे ऑफर देने वाला देश बन गया है। यहां रोलेक्स की घड़ी, टेस्ला इलेक्ट्रिक कार, सोने की ब्रिक और 10 करोड़ रुपए का अपार्टमेंट जैसे ऑफर दिए जा रहे हैं। हालांकि, इसके लिए लॉट... | Rolex watch, Tesla car and Rs 10 crore for getting the vaccine. flat offer ये कहाँ पे हो रहा हे भाई? हमारे यहाँ तो कोई एक प्लेट छोले भटूरे की भी नही दे रहा!!!! बड़ी ना इंसाफ़ी है 👌🏽👌🏽👌🏽👌🏽 अपने देश में तो एक पानीपुरी या वड़ापाव का ओफर तक नहीं 🤦

भास्कर एक्सप्लेनर: UK के वैज्ञानिकों का दावा- वैक्सीन लगने के 10 हफ्ते बाद आधी रह गई एंटीबॉडी; यानी लगाना पड़ सकता है बूस्टर डोजयूनाइटेड किंगडम (UK) में एक नई स्टडी के नतीजे सामने आए हैं। यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ इन्फॉर्मेटिक्स के वैज्ञानिकों ने पाया कि 10 हफ्ते बाद वैक्सीन से कोविड-19 के खिलाफ बनी एंटीबॉडी कम होने लगती है। इससे कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। आखिर वैक्सीन कोविड-19 से कितने दिन तक बचाए रखेगी? क्या ऐसा सभी वैक्सीन के साथ हो रहा है? इस स्टडी के नतीजों के बाद अब क्या बूस्टर डोज लेने की वाकई ज... | UK University College London (UCL) Virus Watch Study On AstraZeneca Vaccine Antibody Levels and Pfizer Vaccine Second Dose Antibody Levels क्या यह सभी वैक्सीन के साथ हो रहा है? इस स्टडी के नतीजों के दम पर क्या बूस्टर डोज की जरूरत को साबित किया जा सकता है?

भास्कर एक्सप्लेनर: यूके के वैज्ञानिकों का दावा- वैक्सीन लगने के 10 हफ्ते बाद आधी रह गई एंटीबॉडी; यानी लगाना पड़ सकता है बूस्टर डोजयूनाइटेड किंगडम (UK) में एक नई स्टडी के नतीजे सामने आए हैं। यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ इन्फॉर्मेटिक्स के वैज्ञानिकों ने पाया कि 10 हफ्ते बाद वैक्सीन से कोविड-19 के खिलाफ बनी एंटीबॉडी कम होने लगती है। इससे कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। आखिर वैक्सीन कोविड-19 से कितने दिन तक बचाए रखेगी? क्या ऐसा सभी वैक्सीन के साथ हो रहा है? इस स्टडी के नतीजों के बाद अब क्या बूस्टर डोज लेने की वाकई ज... | UK University College London (UCL) Virus Watch Study On AstraZeneca Vaccine Antibody Levels and Pfizer Vaccine Second Dose Antibody Levels क्या यह सभी वैक्सीन के साथ हो रहा है? इस स्टडी के नतीजों के दम पर क्या बूस्टर डोज की जरूरत को साबित किया जा सकता है? ravibhajni सुदर्शन_न्यूज जैसी मानसिकता वाले लोग _अतंतकिवादी है देश मे दंगे होने का कारण यही है ऐसे लोग हिन्दुओ को ये फालतू के वीडियो बनाकर पागल बनाते है । ओर हिन्दू मुस्लिमों को लड़ाते रहते ऐसी गंदगी को जड़ से खत्म करो वरना भविष्य में इंडियन को आतंकी समजा जाएगा। सुदर्शन_को_फाँसी_दो | ravibhajni Lag raha hai har 6 month me vaccine lete rahana hoga....

जम्मू-कश्मीर : अमरनाथ गुफा के पास फटा बादल, किसी तरह के नुकसान की सूचना नहींअमरनाथ गुफा के पास बुधवार को बादल फटने की सूचना है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक इस घटना में किसी तरह का कोई नुकसान नहीं

ओमप्रकाश चौटाला के साथ हुई घटना से मिला सबक, किसी के नहीं होते अराजक आंदोलनकारीजींद के खटकड़ा टोल पर सतबीर पहलवान का एक बयान आता है कि चौटाला ने उसके पैर में डोगा (छड़ी) मारी। इस घटनाक्रम का कोई न तो आडियो है और न ही वीडियो है। अगले दिन सतबीर की कुछ राजनीतिज्ञों के साथ मंच साझा करते हुए फोटो वायरल होती है। Aisi koe baat nhi party ke hote Apne pe gujari to pedal hue Public pe gujare to chutmut hinsa