Biharelection 2020, Sushant Singh Rajput, Social Media, Youth, Bihar Assembly Election

Biharelection 2020, Sushant Singh Rajput

ऐसे समझें, बिहार चुनाव में सोशल मीडिया, सुशांत और यूथ का बनता 'SMSY' समीकरण

कोरोना काल में बिहार चुनाव से पहले सोशल मीडिया, सुशांत और यूथ का SMSY समीकरण #BiharElection2020

10-08-2020 06:23:00

कोरोना काल में बिहार चुनाव से पहले सोशल मीडिया, सुशांत और यूथ का SMSY समीकरण BiharElection2020

कोरोना काल में बिहार चुनाव से पहले एक ऐसा समीकरण बनता हुआ नजर आ रहा है जिसमें कोई एक दल नहीं बल्कि अधिकांश दल दिलचस्पी लेते दिख रहे हैं. यह है सोशल मीडिया, सुशांत और यूथ का SMSY समीकरण.

ये भी पढ़ें- सुशांत मामले में कंगना ने आयुष्मान खुराना पर साधा निशाना, कहा चापलूस आउटसाइडरकोरोना काल में बहुत खास है सोशल मीडिया (SM) कोरोना के इस दौर में जहां घरों से बाहर निकलने पर खतरा नजर आता है, उस वक्त यदि चुनाव होंगे तो यकीनन नजारा अलग होगा. वोटरों तक सीधे पहुंचना किसी भी नेता के लिए मुश्किल होगा. वर्चुअल रैलियों की शुरुआत बिहार में हुई. हालांकि बाढ़ की वजह से इस पर ब्रेक लगा हुआ है. चुनाव में वक्त कम है ऐसे में अब राजनीतिक दलों और नेताओं की निर्भरता बहुत हद तक SM यानी सोशल मीडिया पर बढ़ गई है. ऐसा नहीं कि पहले के चुनावों में सोशल मीडिया का इस्तेमाल न हुआ हो लेकिन इस बार के बिहार चुनाव में सोशल मीडिया पर राजनीतिक दलों की निर्भरता काफी बढ़ गई है.

किसान बिल के विरोध में इंडिया गेट पर ट्रैक्टर को लगाई गई आग IPL 2020: ओ तेवतिया.. अहा तेवतिया.. वाह तेवतिया - BBC News हिंदी कृषि बिल पर मत विभाजन की मांग के वक्त क्या वाक़ई सीट पर नहीं थे विपक्षी सांसद - BBC News हिंदी

बिहार के वैसे दल भी जो अब तक इसका सीमित इस्तेमाल करते थे वो भी इस बार इसको लेकर आक्रामक रणनीति बना रहे हैं. सोशल मीडिया के जरिए राजनीतिक दल और नेता अपनी बात पहुंचाने में जुट गए हैं. अपनी बात कहने के साथ ही साथ राजनीतिक दलों की नजर सोशल मीडिया पर चलने वाले मुद्दे पर भी है. इस वक्त सोशल मीडिया का जो सबसे बड़ा मुद्दा है वह है सुशांत सिंह राजपूत. सुशांत के दुनिया छोड़कर जाने से सीबीआई जांच तक यह मामला सोशल मीडिया पर छाया है.

सोशल मीडिया पर सुशांत ही सुशांत ( S)सुशांत सिंह राजपूत को दुनिया छोड़कर गए दो महीने होने वाले हैं. सुशांत सिंह राजपूत ने सुसाइड किया है ऐसा कई लोगों को नहीं लगता और किया भी है तो इसके पीछे की वजह क्या. यही वो बात है कि सुशांत को इंसाफ दिलाने की मांग जोर पकड़ने लगी. सबसे अधिक यह मांग बिहार से उठने लगी. सीबीआई जांच की मांग होने लगी. अब इस मामले की जांच सीबीआई करेगी लेकिन इसके बाद भी यह मामला शांत होता नहीं दिख रहा. सुशांत से जुड़ी खबरों को लोग खूब देख और पढ़ रहे हैं साथ ही वो क्या सोच रहे हैं उसे भी व्यक्त कर रहे हैं. सुशांत को इंसाफ दिलाने वाले पोस्ट अधिक से अधिक शेयर किए जा रहे हैं.

बिहार की आम जनता ही नहीं राजनीतिक दलों की ओर से भी सुशांत को इंसाफ दिलाने की मांग उठने लगी. सुशांत केस की सीबीआई जांच होगी इस फैसले के बाद बिहार के राजनीतिक दलों के जो बयान आए उससे इसको आसानी से समझा जा सकता है. आरजेडी नेता तेजस्वी यादव का सुशांत मामले पर कहना है कि आरजेडी पहली पार्टी थी जो लगातार इस मामले में CBI जांच की मांग करती रही.

लोक जनशक्ति पार्टी के सांसद चिराग पासवान भी लगातार इस मसले को उठा रहे थे. बिहार सरकार ने जब इस मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश की उस वक्त चिराग पासवान ने कहा देर आए दुरूस्त आए. केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने भी सीबीआई जांच की मांग को जायज ठहराया था.ये भी पढ़ें- सुशांत-अंकिता क्यों हुए अलग? इसकी भी होनी चाहिए जांच: संजय राउत

बिहार कांग्रेस की ओर से भी सीबीआई जांच की सिफारिश के फैसले का स्वागत किया था. जीतन राम मांझी ने भी फैसले का स्वागत किया. जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के प्रमुख और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर पहले ही सीबीआई जांच की मांग की थी.

इस पूरे मामले में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि सुशांत सिंह राजपूत के पिता यदि सीबीआई जांच की मांग करते हैं तो केस CBI को दिया जा सकता है. पिता की मांग के बाद बिहार सरकार ने भी सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी. इसके पहले बिहार पुलिस की टीम भी मुंबई पहुंची जिसको लेकर काफी हंगामा भी मचा.

आर्मीनिया-अज़रबैजान के बीच छिड़ी लड़ाई, दशकों पुराना है नागोर्नो-काराबाख का विवाद - BBC News हिंदी रणबीर कपूर को बहन ऋद्धिमा ने दी जन्मदिन की बधाई, शेयर की थ्रोबैक फोटो UP Crime: फिर पलटी मुंबई से आ रही यूपी पुलिस की गाड़ी, गैंगस्टर की मौत

इस पूरे मामले की जांच सीबीआई करेगी बावजूद इसके यह मामला अब भी सोशल मीडिया पर छाया हुआ है. सोशल मीडिया पर सबसे अधिक एक्टिव युवा हैं. और आने वाले बिहार चुनाव में युवा वोटर्स निर्णायक भूमिका में हैं. ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा सोशल मीडिया और सुशांत के जरिए राजनीतिक दलों की नजर युवाओं पर भी है.

दोनों के जरिए यूथ (Y) को साधने की कोशिशकोरोना काल में वोटरों का रुझान क्या होगा यह कह पाना मुश्किल है. हालांकि चुनाव से पहले सुशांत का मुद्दा बिहार में भावनात्मक लगाव का मुद्दा बन गया है. सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा एक्टिव युवा ही हैं. आगामी विधानसभा चुनाव में युवा वोटर निर्णायक भूमिका अदा करने वाले हैं. बिहार में वोटरों की कुल संख्या 7 करोड़ 18 लाख के आस पास है जिसमें 20 से 39 वर्ष के वोटरों की संख्या को देखा जाए तो यह तकरीबन यह तकरीब 3 करोड़ 59 लाख के आसपास है.

और पढो: आज तक »

अटल सरकार में विदेश, रक्षा और वित्त तीनों पोर्टफोलियो संभाले, 1999 में हाईजैक प्लेन छुड़ाने में अहम रोल निभाया था

1998 में परमाणु परीक्षण के बाद अमेरिका ने भारत पर सख्त प्रतिबंध लगाए थे, तब जसवंत ने ही अमेरिका से बातचीत की थी,2014 में उन्हें भाजपा ने लोकसभा चुनाव का टिकट नहीं दिया, इसके बाद उन्होंने भाजपा छोड़ दी, निर्दलीय लड़े लेकिन चुनाव हार गए | Jaswant Singh, who was a minister in the Atal government, died at the age of 82, Modi said - he will be known for different kinds of politics

जिस इंसान ने बिहार को छोड़कर महाराष्ट्र मुंबई में जाकर बस गए थे ऐसे इंसान के लिए बिहार सरकार जितना हमदर्दी दिखा रहे हैं उतना हमदर्दी शेल्टर होम कांड मैं दिखाएं क्यों नहीं है किसी भी मुद्दे को राजनीतिक और चुनाव से जोड़ना ठीक नही है। Ek vote nahi mile ga bjp aur nitish ko 15 sal se hai logo ko koi nukari nahi de pa rahe hai log bahar nahi jate to kyo marte .. Logo bhule nahi hai jo delhi aur mumabi se pedal aaye hai.

बिहार चुनाव में नए समीकरण के आसार, जीतनराम मांझी और ओवैसी आ सकते हैं साथसीटों के बंटवारे को लेकर अभी दोनों दलों के बीच में कोई बात नहीं हुई है. बता दें, 2019 में सीएए और एनआरसी के खिलाफ असदुद्दीन ओवैसी और जीतन राम मांझी किशनगंज में एक साथ मंच साझा कर एक रैली करने वाले थे मगर आखिरी मौके पर जीतन राम मांझी ने अपने कदम वापस खींच लिए. rohit_manas Worst for worst rohit_manas This is unfair to take exam in this pandemic situation. Really exam is more important than our health. Is true so why you postponed when only 500 cases in all india. Now 20 lacs that is good situation for exam ,wow that's great. postponegujcet HRDPostponeJEE_NEET DrRPNishank rohit_manas बोलो भक्तो बोलो तुमरी मा की ............ बेरोजगारी पर बोलो अर्थव्यवस्था पर बोलो जीडीपी पर बोलो शिक्षा पर बोलो लगावो नारा तुमारी मा की कसम

चुनाव आते ही बिहार में उछलने लगे घोटाले | DW | 07.08.2020एक ओर निर्वाचन आयोग बिहार में समय पर चुनाव कराने की बात कर रहा है तो दूसरी ओर कोरोना महामारी अपने पैर पसार रही है. सत्ताधारी गठबंधन सहित सभी राजनीतिक दल महामारी की चिंता छोड़ चुनाव की चिंता में फंसे हैं.

बिहार: BJP आलाकमान को कार्यकर्ताओं की राय, कोरोना काल में टाल दें चुनावबिहार बीजेपी के कुछ नेताओं कार्यकर्ताओं का यह भी मानना है कि कोविड-19 महामारी और बाढ़ के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का काम ठीक नहीं रहा है और ऐसे में अगर इस वक्त चुनाव कराए गए तो इसका खामियाजा बीजेपी को भुगतना पड़ सकता है. Election commission to BJP ke under hi work ker Raha hai jab chaho tab election Kara lo kya farak padta hai EVM bhi to set kerne me tym lagega कब तक टालोगे 2022 में उत्तर प्रदेश में भी चमत्कार होगा टी वी विज्ञापन के पीछे से असली नायक अब फटी इनकी...

बिहार के मुजफ्फरपुर में बाढ़ से 240 पंचायतें प्रभावित, बागमति के जलस्तर में लगातार वृद्धिबिहार के मुजफ्फरपुर में बाढ़ से 240 पंचायतें प्रभावित, बागमति के जलस्तर में लगातार वृद्धि BiharFlood Bihar Flood Rain coronavirus PMOIndia WHO MoHFW_INDIA PMOIndia WHO MoHFW_INDIA बिहार की जमीन ने लालू राबड़ी और नीतीश एक जैसे ही पापी भ्रष्टाचारी और आतंकवादी पैदा किए हैं तो ईश्वर भी क्या करें। राजेंद्र प्रसाद और जगजीवन राम ने बिहार में पैदा होकर लाइन ही खराब कर दी। सुशील मोदी अकेले-अकेले मस्त मजा ले रहे हैं।

बिहार में बेलगाम हुआ कोरोना, देश में मरीजों का आंकड़ा 21 लाख के पारमहाराष्ट्र में शनिवार शाम तक की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटे में कोरोना के 12,822 नए केस सामने आए हैं. इसके अलावा 275 कोरोना मरीजों की मौत भी हुई है. वहीं बिहार में पहली बार एक दिन में करीब चार हजार केस रिपोर्ट हुए हैं. Because bihar me bahar hai. सरकार की तरह हो गयी है कोरोना! विपक्ष क्या कर रहा है- सुशील मोदी

Weather Forecast Today: बाढ़ से बेहाल बिहार, उत्तराखंड में बारिश का अलर्ट, जानें मौसम का हालWeather Forecast Today 9 August 2020, IMD Weather Alert: मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली, मेरठ, मोदीनगर, अमरोहा, चांदपुर, हस्तिनापुर, हापुड़, गाजियाबाद, विराटनगर, सोनीपत, बागपत, झज्जर, रोहतक और आस-पास के इलाकों में अगले कुछ घंटों में बारिश की संभावना है. Ajj tak please take a debate on students issuse of jee an neet and state borad exam like kcet gujcet बिहार सरकार ?