Opinion, Columnist

एन. रघुरामन का कॉलम: किसी को प्रेरित करने के लिए परफेक्ट होना जरूरी नहीं, लोगों को इससे प्रेरित होने दें कि आप अपनी खामियां कैसे संभालते हैं

एन. रघुरामन का कॉलम: किसी को प्रेरित करने के लिए परफेक्ट होना जरूरी नहीं, लोगों को इससे प्रेरित होने दें कि आप अपनी खामियां कैसे संभालते हैं #Opinion #Columnist @nraghuraman

14-05-2021 07:22:00
Opinion, Columnist

एन. रघुरामन का कॉलम: किसी को प्रेरित करने के लिए परफेक्ट होना जरूरी नहीं, लोगों को इससे प्रेरित होने दें कि आप अपनी खामियां कैसे संभालते हैं Opinion Columnist nraghuraman

प्रेरक वक्ता एलेक्जेंडर डेन हीजर ने कहा है कि लोगों को प्रेरित करने के लिए उन्हें अपने सुपरपॉवर न दिखाएं, बल्कि उन्हें उनके सुपरपॉवर बताएं। इस बात से मुझे ऑटो ड्राइवर जैसे लोग याद आए, जो महामारी की दूसरी लहर में उम्मीद से बेहतर काम कर रहे हैं। ऑटो ड्राइवर किसे पसंद हैं? मुझे तो नहीं हैं, खासतौर पर चेन्नई, इंदौर, कोलकाता या इलाहाबाद के, जहां मैंने उन्हें एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर सवारियों को लूटत... | It is not necessary to be perfect to inspire someone, let people be inspired by how you handle your flaws.

It Is Not Necessary To Be Perfect To Inspire Someone, Let People Be Inspired By How You Handle Your Flaws.Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपएन. रघुरामन का कॉलम:किसी को प्रेरित करने के लिए परफेक्ट होना जरूरी नहीं, लोगों को इससे प्रेरित होने दें कि आप अपनी खामियां कैसे संभालते हैं

International Yoga Day 2021: 18,000 फीट की ऊंचाई पर जवानों का योग, PHOTOS देख करेंगे जज्बे को सलाम 'सरकार का इलाज करेंगे, इनको मर्ज की दवा देंगे', Rakesh Tikait ने दी चेतावनी दिल्ली: उद्योग नगर के गोदाम में लगी आग, 24 फायर टेंडर मौके पर, अंदर फंसे हैं 6 मजदूर

7 घंटे पहलेकॉपी लिंकएन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरुप्रेरक वक्ता एलेक्जेंडर डेन हीजर ने कहा है कि लोगों को प्रेरित करने के लिए उन्हें अपने सुपरपॉवर न दिखाएं, बल्कि उन्हें उनके सुपरपॉवर बताएं। इस बात से मुझे ऑटो ड्राइवर जैसे लोग याद आए, जो महामारी की दूसरी लहर में उम्मीद से बेहतर काम कर रहे हैं। ऑटो ड्राइवर किसे पसंद हैं? मुझे तो नहीं हैं, खासतौर पर चेन्नई, इंदौर, कोलकाता या इलाहाबाद के, जहां मैंने उन्हें एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर सवारियों को लूटते देखा है। लेकिन इस मुश्किल वक्त में उनकी उदारता देख मेरा दृष्टिकोण धीरे-धीरे बदल रहा है।

गुरुराज (35) का उदाहरण देखें जिसकी हालिया कहानी ने मेरे असंतोष को कम किया। स्कूल बीच में छोड़ने वाला गुरुराज पिछले 10 साल से ऑटो चला रहा है। समाज सेवा उसका स्वभाव है क्योंकि वह 20 साल की उम्र से रक्तदान कर रहा है और लॉकडाउन के दौरान उसने खाने के पैकेट बांटने में मदद की। उसने सामाजिक रूप से जागरूक युवाओं की टीम बनाई है। headtopics.com

पिछले 15 दिनों में जबसे उसके शहर मदुरै (तमिलनाडु) में सबसे ज्यादा संक्रमित आ रहे हैं, उसने मरीजों को मुफ्त में अस्पताल ले जाना शुरू किया है। उसे रोजाना करीब 10 फोन आते हैं। चार और दो वर्षीय, दो बच्चों का पिता गुरुराज मुफ्त सवारी कराने के बावजूद ईंधन का खर्चा निकालने के बाद बाकी सवारियों से कुछ सौ रुपए बचा लेता है। खासतौर पर एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन की सवारियों से!

हमने ऑटो रिक्शा में न्यूजपेपर स्टैंड, ठंडा-गर्म पेय रखने की जगह, पसंद का एफएम रेडियो होने के बारे में पढ़ा-सुना है। लेकिन शायद ही ऑटो में इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर के बारे में सुना हो। लखनऊ के एनजीओ स्माइल फाउंडेशन ने लखनऊ ऑटो थ्री व्हीलर एसोसिएशन के सहयोग से पांच ऑटो में ऑक्सीजन सिलेंडर लगाए हैं, जिनकी शुरुआत इस मंगलवार से हुई।

हल्के लक्षण वाले ऐसे कोविड मरीज, जिन्हें ऑक्सीजन सपोर्ट की जरूरत है, वे यह सेवा मुफ्त ले सकते हैं। काम के दौरान पीपीई और डबल मास्क व ग्लव्स पहनकर इनके ड्राइवर सभी सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करेंगे और पहले ही दबाव झेल रही शहर की एम्बुलेंस की मदद करेंगे। जल्द ही ऐसे तीन ऑटो और चलाए जाएंगे।

एक अन्य मामले में, लॉकडाउन में अस्पताल जाने के अलावा कोई किसी कारण से बाहर न निकले, यह सुनिश्चित करने के लिए डोड्डाबल्लापुर उपनगर में बेंगलुरु ग्रामीण पुलिस ऑटो ड्राइवरों की मदद ले रही है। पुलिस ने हर वार्ड में प्रशिक्षण देकर ऑटो तैनात किए हैं, तो स्वेच्छा से लोगों तक 24/7 दवाएं और जरूरी सामान पहुंचा रहे हैं, ताकि किसी को बाहर न निकलना पड़े। headtopics.com

अयोध्या: मंदिर के लिए जमीन खरीद पर बवाल, सुरजेवाला बोले- श्रीराम के नाम पर चंदे की लूट ‘रामद्रोह’ ईरान के नए राष्ट्रपति को इसराइली पीएम ने बताया ‘तेहरान का जल्लाद’ - BBC Hindi International Yoga Day: पीएम मोदी बोले- योग हमें स्ट्रेस से स्ट्रेंथ और नेगेटिविटी से क्रिएटिविटी का रास्ता दिखाता है

पुलिस और ऑटो ड्राइवर कंटेनमेंट जोन में सब्जियां, खाने के पैकट, किराना भी जरूरतमंदों को बांट रहे हैं। ये ऑटो ड्राइवर हर वार्ड के 5 किमी के दायरे में घूमते रहते हैं। चूंकि मुश्किल वक्त है, इसलिए वे पैसे नहीं मांगते, लेकिन कुछ उदार लोग उन्हें न्यूनतम किराया दे दते हैं।

चूंकि बढ़ते मामलों के चलते फोकस अब बड़े मेट्रो शहरों से गांव पर आ गया है, ऑटो ड्राइवर देशभर में मसीहा की भूमिका निभा रहे हैं। डोड्डाबल्लापुर पुलिस ने ‘दया की दीवार’ भी बनाई है, जिसके सामने लोग कपड़े, फल और अन्य चीजें जरूरतमंदों के लिए रख रहे हैं। और इन चीजों को ऑटो ड्राइवर ही जरूरतमंदों तक पहुंचा रहे हैं।

और पढो: Dainik Bhaskar »

Superfast India: BRO ने 1 साल में किया 5 साल का काम, देखें Khabardar

पिछले एक साल में हमने चीन की नीयत देख ली, चीन की फितरत देख ली. लेकिन भारत की ताकत भी सबने देखी. फिर चाहे बात बॉर्डर पर आमने-सामने के टकराव की हो या फिर सेना को मजबूत बनाने की हो, या फिर चीन के खिलाफ हमेशा तैयारी करते रहने की सोच की हो, भारत ने कभी अपनी तैयारियों में कोई कमी नहीं की. भारत ने इस एक साल में सबसे ज़्यादा उन बातों पर ध्यान दिया, जो चीन के सामने हमेशा हमारी कमज़ोरी रही. जैसे बॉर्डर के इलाकों में इंफ्रास्ट्रक्चर का चीन के मुकाबले कमज़ोर होना. चीन हमेशा इस कोशिश में रहता था कि बॉर्डर पर भारत अपने इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत ना कर पाए. क्योंकि उसे डर था कि इससे भारत का रणनीतिक दबदबा बढ़ जाएगा. इसी वजह से उसने पहले डोकलाम और फिर पिछले साल गलवान से लेकर लद्दाख बॉर्डर पर टकराव किया. ये टकराव आज भी खत्म नहीं हुआ, लेकिन एक साल में बॉर्डर पर खेल पूरी तरह से पलट गया है. भारत ने सुपर फास्ट स्पीड में इंफ्रास्ट्रक्चर को तैयार किया है. सड़कें बनाई हैं, पुल बनाए हैं, रणनीतिक रास्ते तैयार किए हैं. और ये सब चीन के बड़े चैलेंज के बीच किया गया जो अपने आप में चीन के लिए करारा जवाब है. देखें खबरदार.

Corona vaccine: सरकार को स्थायी समिति ने 8 मार्च को ही कहा था टीका उत्पादन बढ़ाएंCorona vaccine: सरकार को स्थायी समिति ने 8 मार्च को ही कहा था टीका उत्पादन बढ़ाएं CoronaUpdate Coronavirus Covid19 Coronavaccine drharshvardhan MoHFW_INDIA BJP4India PMOIndia ICMRDELHI drharshvardhan MoHFW_INDIA BJP4India PMOIndia ICMRDELHI Hello Everyone I will help the first 20 people from earn $10,000 within just 24hrs,But after your earning you are to pay me 10% from it immediately, if interested kindly message directly on WhatsApp +447418324832

प्रेग्नेंट महिला को नौकरी से निकाला, अब कंपनी को देने पड़ेंगे 14 लाखब्रिटेन में एक महिला को इसलिए नौकरी से निकाल दिया गया क्योंकि वो प्रेग्नेंट हो गई थी. इसके बाद ये महिला कोर्ट पहुंची तो कोर्ट ने आदेश दिया कि कंपनी महिला को 14 हजार पाउंड्स यानि लगभग साढ़े 14 लाख रुपयों का भुगतान करे. ये घटना ब्रिटेन के कैंट शहर में सामने आई है.

फलस्तीन की बहुमंजिला इमारतों को क्यों नेस्तनाबूद कर रही है इजरायल की सेना?बाकी एशिया न्यूज़: Gaza Israel Attack On Hamas Building: इजरायल की सेना ने गाजा स‍िटी में तीन बहुमंजिला इमारतों को तबाह कर द‍िया है। इजरायल के इस हमले की जहां दुनियाभर में आलोचना हो रही है, वहीं इजरायली सेना ने अब इस पर जवाब द‍िया है। Israeli have got right to defend their country ये कौन सी नस्ल के गिद्ध हैं जो अपने सामने पड़ी लाशों को छोड़कर, दूर फिलस्तीन में पड़ी लाशों को देखकर खुश हो रहे हैं...? जो कर रही सही कर रहे इजराइल वाले

International Nurses Day 2021: इन मैसेज को शेयर कर, दें अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस की शुभकामना!आज दुनियाभर के ज़्यादातर देश कोरोना वायरस महामारी से जूझ रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस इस भयंकर महामारी के बीच ख़ास महत्व रखता है। नर्स अस्पतालों और क्लीनिकों की रीढ़ की हड्डी होती हैं जो अपनी जान जोखिम में डालकर महीनों तक कोविड-19 के लाखों मरीज़ो की देखभाल करती हैं। Sir please iss vishay par dhyan dijiye nursesday2021 सभी नर्सों को शुभकामनायें

बिहार: विशेषज्ञों ने कहा- कोविड-19 संक्रमित शवों को नदी में बहाना ख़तरनाकबक्सर ज़िले में चौसा के पास गंगा नदी से मिले दर्जनों संदिग्ध कोविड-19 संक्रमित अज्ञात शवों को पोस्टमार्टम व डीएनए टेस्ट के लिए नमूने लिए जाने के बाद प्रशासन द्वारा दफना दिया गया. कोविड संक्रमण की दूसरी लहर के बढ़ते प्रकोप के चलते विशेषज्ञ शवों को ऐसे नदी में बहाए जाने को बेहद चिंताजनक बता रहे हैं. क्या हाल बना दिया हमारे देश का एक आदमी ने अपनी Global image बनाने के चक्कर मे । मैं_भी_किसान common_citizen_of_India COVID19 अख़बार ना बोले सबूत ना बोले अफ़सर ना बोले दूत ना बोले फिर यूँ हुआ ताबूत बोल पड़े , कोई षडयंत्र है देश के खिलाफ।

भारत के गुट को लेकर चीन की धमकी पर भड़का बांग्लादेशक्वाड देशों के समूह को लेकर चीन की धमकी से बांग्लादेश आश्चर्यचकित है. बांग्लादेश में चीन के राजदूत ली जिमिंग ने कहा था कि ढाका को क्वाड में शामिल नहीं होना चाहिए और यदि वह किसी भी तरह से बीजिंग विरोधी 'क्लब' में हिस्सेदारी करता है तो दोनों देशों के रिश्तों को काफी नुकसान होगा. कोई बताएगा करोना काल में भी नेताओं की सम्पति में कैसे वृद्धि हो रही है OPS_Restore 15May_BlackDay CentralVistaNotAnEssential वर्तमान मे ऐक ही लोकतंत्र अपनी क्षमता से अच्छा कर रहा!