Columnist

Columnist

एन. रघुरामन का कॉलम: जब लोग बाहरी किसी बदलाव के कारण उलझन में हो तब ग्राहकों को सहूलियतें देने के बारे में सोचें, मैं भरोसा दिलाता हूं कि वे इसे खरीदेंगे

एन. रघुरामन का कॉलम: जब लोग बाहरी किसी बदलाव के कारण उलझन में हो तब ग्राहकों को सहूलियतें देने के बारे में सोचें, मैं भरोसा दिलाता हूं कि वे इसे खरीदेंगे @nraghuraman #columnist

25-07-2021 08:14:00

एन. रघुरामन का कॉलम: जब लोग बाहरी किसी बदलाव के कारण उलझन में हो तब ग्राहकों को सहूलियतें देने के बारे में सोचें, मैं भरोसा दिलाता हूं कि वे इसे खरीदेंगे nraghuraman columnist

हममें से हर कोई आंख बंद करके भी ये मानेगा कि लोग समय बचाने के लिए सहूलियत भरे उत्पादों जैसे रेडी टू कुक-ईट पर ज्यादा खर्च करते हैं। ये उत्पाद उपलब्ध कराने वालों को महामारी के बाद लगा कि घूमने-फिरने की पाबंदियों व वर्क फ्रॉम होम के कारण लोगों के पास ज्यादा समय होगा। | When people are confused due to some external change, think about giving convenience to the customers, I assure they will buy it

एन. रघुरामन का कॉलम:जब लोग बाहरी किसी बदलाव के कारण उलझन में हो तब ग्राहकों को सहूलियतें देने के बारे में सोचें, मैं भरोसा दिलाता हूं कि वे इसे खरीदेंगे3 घंटे पहलेकॉपी लिंकएन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरुहममें से हर कोई आंख बंद करके भी ये मानेगा कि लोग समय बचाने के लिए सहूलियत भरे उत्पादों जैसे रेडी टू कुक-ईट पर ज्यादा खर्च करते हैं। ये उत्पाद उपलब्ध कराने वालों को महामारी के बाद लगा कि घूमने-फिरने की पाबंदियों व वर्क फ्रॉम होम के कारण लोगों के पास ज्यादा समय होगा।

सिद्धू पर 'देशद्रोह' के आरोप, बीजेपी ने पूछा- सोनिया, राहुल और प्रियंका चुप क्यों हैं? - BBC Hindi उत्तराखंड: केजरीवाल ने की वादों की बौछार, 6 महीने में 1 लाख नौकरी और 5 हजार का भत्ता गुजरात: कोई 10वीं पास तो कोई सिर्फ़ चौथी, भूपेंद्र पटेल के नए मंत्रियों की शिक्षा पर चर्चा - BBC News हिंदी

तब उनमें से कुछ ने दायरा कम कर लिया, जिससे उनका व्यवसाय भी सिमट गया। पर वे ये समझने में विफल रहे कि महामारी ने असल में लोगों को उलझा दिया है और बेचैनी में लोग अपना समय विवेक से खर्च नहीं कर पा रहे। इसलिए कुछ अन्य लोग सोच रहे हैं कि महामारी के बाद वे और ज्यादा सहूलियत उत्पाद खरीदेंगे और ये धीरे-धीरे उनकी जीवनशैली का हिस्सा बन जाएंगे।

अगर ऐसा नहीं है तो फिर पकाने के लिए तैयार पहले से कटी सब्जियों की बिक्री में तेजी से बढोतरी को कैसे सही ठहराएंगे? सदियों से गरीबों का भोजन रहे बाजरा जैसे अनाज से बनने वाली भाकरी रोटी व तली हुई मिर्ची के साथ लहसुन की चटनी जैसे साधारण से खाने की और ज्यादा रेसिपी ऑनलाइन सर्च करने वालों को कैसे सही ठहराएंगे? कटी व पकाने के लिए तैयार सब्जियां बेचना केरल में तिरुवनंतपुरम स्थित वेजिटेबल व फ्रूट प्रमोशन काउंसिल का पुराना व्यवसाय है। headtopics.com

वहां स्टाफ सब्जियां साफ करता है फिर काटकर पैक करके लेबल लगा देता है। महामारी से पहले उनका अन्य सेवाओं के बीच अधिकतम टर्नओवर 25 लाख रुपए सालाना हुआ करता था। पर 2020-21 में यह 63 लाख रुपए पहुंच गया। पिछले तीन महीनों में ही यह पहले ही 21 लाख रुपए पार कर चुका है, चूंकि मॉल्स में रेडी टू ईट सब्जियों की बिक्री तेजी से बढ़ी है, ऐसे में पिछले साल की बिक्री पार होने का अनुुमान है।

ऐसा सिर्फ संस्थाओं के साथ नहीं, अकेले काम कर रहे दिव्या जैसे लोगों के साथ भी हुआ है, वाट्सएप की मदद से उसका व्यापार कई गुना बढ़ गया है। पहले उसके पास सिर्फ 50 ग्राहक थे, जहां वह शाम के बाजार में उपलब्ध सब्जियों की सूची पोस्ट करती थी। उसे झटपट ऑर्डर मिलते। फिर सब्जियां लेकर घर पहुंचती।

जहां वह रात में ही लहसुन-प्याज छीलकर रख लेती, लेकिन फ्रिज में सब्जियां नहीं रखने के कारण सुबह 10 बजे से पहली डिलीवरी देने के लिए सुबह ही सब्जी काटती। आज उसके 400 से ज्यादा ग्राहक हैं और बढ़ते व्यवसाय को चलाने के लिए सहायक भी हैं। सिर्फ सब्जियां ही नहीं, इस सुविधा के कारण कटहल जैसे छीलने में बोझिल फल भी लोकप्रिय हो रहे हैं।

भोपल्याचा कीस (कद्दू से तैयार) से लेकर काकडीचे घारगे (ककड़ी की पूरियां), भुने कटहल बीज, जवारी भाकरी जैसे व्यंजन लें। ये सब खाने से संबंधित कलात्मक इंस्टाग्राम पोस्ट का हिस्सा हैं। पहले गरीब लोग नचनी में थोड़ा चावल या रागी के साथ नमक, हरी मिर्च डालकर ज्यादा पकाते थे। चूंकि ये रसेदार हुआ करती थी ऐसे में बड़े परिवारों में सबका पेट भरने के लिए काफी होती थी। आज कम्प्यूटर के सामने घंटों बैठे जंक फूड से पेट खराब करने वाले युवा इसकी तैयारी को दो कारणों से तवज्जो दे रहे हैं। headtopics.com

उत्तराखंड में केजरीवाल का बड़ा चुनावी वादा : 6 महीने में 1 लाख जॉब्स, नौकरी न मिलने तक 5000 रुपये भत्ता अंबिका सोनी ने ठुकराया CM पद का ऑफर, कहा-पंजाब का मुख्यमंत्री एक सिख ही हो अफगानिस्तान में इन्फ्रास्ट्रक्चर पर अब भी भारत करेगा निवेश? नितिन गडकरी ने दिया ये जवाब

मेडिकली ये पेट के लिए अच्छी है, दूसरा गर्म-गर्म खिचड़ी की एक चम्मच खाने के लिए वह लैपटॉप का कैमरा 5 सेकंड के लिए बंद कर सकते हैं! दिलचस्प है कि बाजरा जैसा अनाज कभी गरीबों का मुख्य भोजन हुआ करता था, गेहूं के इस सेहतमंद विकल्प को आज ‘सुपरफूड’ कहा जाता है। यही कारण है कि इनका प्रचार करके कई वेबसाइट्स भी मशरूम की तरह पनप रही हैं व लोकप्रिय भी हो रही हैं।

और पढो: Dainik Bhaskar »

प्रधानमंत्री से लेकर रक्षा मंत्री तक...देखें तालिबान की सरकार में कौन-कौन शामिल

तालिबान ने अंतरिम सरकार की घोषणा कर दी है. इस अंतरिम सरकार में प्रधानमंत्री यानी सरकार के प्रमुख की भूमिका में मुल्ला हसन अखुंद होंगे. मुल्ला हसन अखुंद तालिबान की रहबरी शूरा यानी लीडरशिप काउंसिल का चीफ है और तालिबान प्रमुख मुल्ला हिब्तुल्लाह अखुंदजादा के बेहद करीबियों में शामिल हैं. मुल्ला बरादर को तालिबान सरकार में डिप्टी पीएम बनाया गया है. डिप्टी पीएम की भूमिका में मुल्ला हन्नाफी की भी भूमिका रहेगी. इसके अलावा मुल्ला याकूब तालिबान सरकार में रक्षा मंत्री होगा और सिराजुद्दीन हक्कानी तालिबान सरकार में आंतरिक मामलों का मंत्री होगा. शेर मोहम्मद अब्बास स्तनकजई तालिबान सरकार में उपविदेश मंत्री होगा. खैरुल्लाह खैरख्वा तालिबान सरकार में सूचना मंत्री होगा. जबकि तालिबान प्रवक्ता जैबुल्लाह मुजाहिद को उप सूचना मंत्री की जिम्मेदारी मिल रही है. अब्दुल हकीम को तालिबान सरकार का न्याय मंत्री बनाया गया है. ज्यादा जानकारी के लिए देखें खबरदार.

nraghuraman Raid mein kya hua? nraghuraman पूर्व कंप्यूटर शिक्षक लगा रहे गुहार कंप्यूटर अनुदेशक भर्ती में अनुभव का लाभ देते देते हुए समायोजित करें। उद्योग_मैदान_के_वादे_निभाओ कंप्यूटर_शिक्षकों_की_सेवाबहाली_करो बहाना_नहीं_बहाली_चाहिए ashokgehlot51 GovindDotasra BSBhatiInc DrArchanaINC DRathore_INC RajCMO

Taliban की दहशत के बीच Afghanistan में Sikh Community के लोग कर रहे पलायनरिपोर्टिंग करने के लिहाज से इस वक्त दुनिया का सबसे खतरनाक मुल्क अगर कोई है. तो वो है अफगानिस्तान. और आजतक ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को दुनिया के सामने लाने का बीड़ा उठाया है. आजतक की टीम लगातार अफगानिस्तान के अलग-अलग इलाकों की ग्राउंड रियलिटी को कवर कर रही है. अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) के बढ़ते दबदबे के चलते वहां रह रहीं सिख परिवार (Sikh Families) खौफ में है और इसी डर के चलते 53 परिवार जलालाबाद (Jalalabad) को छोड़कर इंडिया (India) आ गए हैं. और वहां सिर्फ 6 से 7 सिख परिवार ही बची हैं. Aajtak ने जाना उनका दर्द. देखें वीडियो. भारत में मुस्लिम समुदाय और सिख समुदाय एक हैं तो जलन हो रही है- आज तक जहाँ देश के ऊपर धर्म का कब्ज़ा हो फिर देश का कोई मतलब नहीं रह जाता, क्यों जलालत झेल रहें है ये लोग, क्यों नहीं मिल जाते पानी में नमक की तरह... INCIndia AITCofficial was not just against CAA but these helpless sikhs

देश के कई हिस्सों में बाढ़ से तबाही: महाराष्ट्र में बाढ़ से जुड़े हादसों में 136 मौतें, कर्नाटक के 7 जिलों में रेड अलर्ट; गोवा के कई शहर पानी में डूबेमहाराष्ट्र में शनिवार को भी बारिश का कहर जारी है। गुरुवार शाम से लेकर अब तक बारिश से जुड़ी अलग-अलग घटनाओं में 136 लोगों की मौत हो चुकी है। बुरी तरह प्रभावित ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरी, सतारा, सांगली और कोल्हापुर जिलों से 8 हजार से ज्यादा लोगों को NDRF, नेवी और आर्मी ने रेस्क्यू किया है। 200 से ज्यादा गांवों का प्रमुख इलाकों से संपर्क टूट गया है। | heavy rain in maharashtra: NDRF, Army and Navy have rescued more than 8 thousand people so far, 129 people died in the state; Red alert of rain for the next two days in many districts नर्सेज भर्ती 2018 को अस्थायी पदस्थान को 1 साल से ऊपर हो गया फ़ाइल मंत्री RaghusharmaINC के पास पड़ी है वो ध्यान नही दे रहे है मंत्री जी आम नर्सेज को कार्य बहिष्कार के लिए मजबूर नही करें 12000 नर्सेज में बहुत आक्रोश है ajaymaken RahulGandhi SachinPilot ashokgehlot51

रायगढ़ के तालिये गांव से रिपोर्ट: पहाड़ के मलबे में अब भी 45 लोग दबे, हर पल कम हो रही है मलबे में दबे लोगों के जिंदा बचने की उम्मीद173 घर और करीब 700 लोगों की आबादी वाले महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के तालिये गांव में इस समय सन्नाटा पसरा हुआ है। दो दिन पहले तक इस गांव के लोग बेहद खुश थे। कारण था, गांव के हर व्यक्ति का वैक्सीनेट हो जाना। लंबी उम्र के लिए सभी कोरोना संक्रमण को हराने चाहते थे, लेकिन उनकी खुशी अब गम में तब्दील हो गई। | Uddhav Thackeray: Raigarh (Maharashtra) Rains Flood News | Uddhav Thackeray Reaches Mahad Taliye Village CMOMaharashtra CMOMaharashtra चुनाव 2022 के पहले होमगार्ड्स एक्ट 1962-63 में संशोधन करके जवानों को स्थाई करने का कष्ट करें होमगार्ड्स_को_नियमित_करो CMOfficeUP UPGovt ANI ChiefSecyUP yadavakhilesh priyankagandhi SanjayAzadSln BJP4UP samajwadiparty AamAadmiParty S55

Sawan 2021: सावन के महीने में किस तरह के विशेष वरदान पा सकते हैं?श्रावण मास की शुरुआत 25 जुलाई यानि रविवार से शुरू होने वाला है. इस मास भगवान शिव से आप वरदान पा सकते हैं. इस वीडियो में ज्योतिष शैलेंद्र पांडेय बात करेंगे कि सावन के महीने में किस तरह की विशेष लाभ आपको हो सकते हैं? ज्योतिष के अनुसार जिनका विवाह नहीं हो पा रहा है ऐसे लोग विशेष प्रयोग करके विवाह का वरदान पा सकते हैं. जिनकी कुंडली में आयुभाव कमजोर है उन्हें भी आयु ऱक्षा का वरदान मिल सकता है. सावन में शनि की पूजा सबसे ज्यादा फलदायी होती है. इस महीने में कुंडली के तमाम दोषों को शांत कर सकते हैं- जैसे ग्रहण दोष, राहु दोष, गुरु चांडाल दोष आदि. देखें वीडियो. Ra_Bies sir acche se vidhi samajh lo

सावन में नहीं कर सकेंगे गर्भगृह में प्रवेश, बाबा विश्वनाथ के स्पर्श दर्शन पर भी रोककोरोना महामारी के बीच तीसरी लहर की संभावना और सावन पर बाबा काशी विश्वनाथ के दरबार में उमड़ने वाली भक्तों की तादाद को देखते हुए इस बार भी पिछली बार सावन माह की ही तरह वाराणसी स्थित काशी विश्वनाथ के दरबार में दर्शन पूजन को लेकर काफी पाबंदियां रहेगी. श्री मान मुख्य मंत्री महोदय जी 2022 से पहले होमगार्ड्स_को_नियमित_करो होमगार्ड्स_को_नियमित_करो होमगार्ड्स_का_स्थाईकरण_करो PMOIndia CMOfficeUP myogiadityanath howtoshikhe🙏🙏🇮🇳8

J-K: Bandipora Encounter में 2 आतंकी ढेर, देखें सोकबाबा के जंगलों में चल रहा ऑपरेशनजम्मू कश्मीर (Terrorist) के बांदीपोरा (Bandipora) में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच जारी एनकाउंटर (Encounter) में दो आतंकी (Terrorist) मार गिराए गए हैं. जम्मू कश्मीर पुलिस ने इस बात की जानाकरी दी. हालांकि इन आतंकियों की पहचान अभी नहीं हो पाई है. सोकबाबा के जंगल में आतंकियों के छिपे होने की सूचना सुरक्षाबलों को मिली थी जिसके बाद यह एनकाउंटर शुरू हुआ. सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन चलाया इस दौरान आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार की दोपहर सर्च ऑपरेशन चलाया गया था. जैसे ही पुलिस और आर्मी के जवान संदिग्ध जगह पर पहुंचे, यहां छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी. देखें वीडियो.