Sachinvaze, Mansukhhirencase, Antiliacase, Sachin Vaze News, Sachin Vaze, Sachin Vaze Latest News, National İnvestigation Agency, Antilia Case, Antilia Case Study, Mumbai, Mansukh Hiren, Mansukh Hiren Dead Body, Mansukh Hiren Family, Mansukh Hiren Death Case, Maharashtra Ats, महाराष्ट्र, एटीएस, मुंबई, मनसुख हिरेन मुंबई, मनसुख हिरोइन कोण आहेत, सचिन वाजे, सचिन वाजे मामला, राष्ट्रीय जांच एजेंसी

Sachinvaze, Mansukhhirencase

एनआईए का दावा : मनसुख के पोस्टमार्टम के समय अस्पताल में मौजूद था वाजे, डॉक्टरों से होगी पूछताछ

मनसुख हिरेन की हत्या की जांच अब एनआईए के हाथों में है और एजेंसी हर एंगल से इसकी जांच पड़ताल कर रही है। एनआईए के अधिकारियों

26-03-2021 11:30:00

एनआईए का दावा : मनसुख के पोस्टमार्टम के समय अस्पताल में मौजूद था वाजे, डॉक्टरों से होगी पूछताछ SachinVaze MansukhHirenCase AntiliaCase

मनसुख हिरेन की हत्या की जांच अब एनआईए के हाथों में है और एजेंसी हर एंगल से इसकी जांच पड़ताल कर रही है। एनआईए के अधिकारियों

अब एनआईए हिरेन का पोस्टमार्टम करने वाले तीन डॉक्टरों से भी पूछताछ करेगी। राष्ट्रीय जांच एजेंसी पोस्टमार्टम करने वाले तीन डॉक्टरों से जो सवाल कर सकती है, वो कुछ इस तरह हैं..1. पोस्टमार्टम के दौरान क्या डॉक्टरों पर किसी तरह का कोई दबाव था, क्या पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी की गई थी?

पश्चिम बंगाल में कोरोना से बदहाल और आतंकित हैं ग्रामीण इलाक़े - BBC News हिंदी इसराइल और हमास के बीच हिंसा और बढ़ी, युद्ध की आशंका - BBC News हिंदी पीएम केयर्स फंड का सारा पैसा मेडिकल उपकरणों में लगाएँ मोदी, 12 विपक्षी नेताओं की चिट्ठी - BBC Hindi

2. डॉक्टरों से कौन-कौन मिलने आया था, क्या कोई बातचीत हुई थी या किसी का कोई फोन आया था?3. पोस्टमार्टम के लिए पूरे सैंपल पहली बार में ही क्यों फॉरेंसिंक के लिए नहीं भेजे गए?4. डॉक्टरों से अस्पताल आने वाले लोगों का रिकॉर्ड मांगा जाएगा, क्योंकि एटीएस की जांच में पाया गया था कि मुलाकात करने वालों का कोई लिखित रिकॉर्ड नहीं है।

5. सचिन वाजे पोस्टमार्टम के दौरान वहां क्या कर रहा था, क्या वह आधिकारिक तौर पर वहां आया था या उसने किसी डॉक्टर पर कोई दबाव बनाया था?मनसुख के भाई से मिले थे वाजेएनआईए की जांच में सामने आया कि वाजे पांच मार्च को शाम साढ़े छह बजे ठाणे के सरकारी अस्पताल आया था। उसने क्राइम ब्रांच के अधिकारी अलकनूर से बातचीत की थी। इसके अलावा जांच में यह भी पता चला कि वाजे ने मनसुख हिरेन के भाई विनोद हिरेन से भी मुलाकात की थी। headtopics.com

डायटम रिपोर्ट ने खड़े किए कई सवालमनसुख हिरेन की हत्या मामले में डायटम रिपोर्ट ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। सूत्रों की माने तो अब तक की जांच में सामने आया है कि मनसुख को तीन से चार लोगों ने पहले मारा और फिर बाद पानी में फेंक दिया लेकिन मनसुख की डायटम रिपोर्ट कुछ और कहानी बयां करती है। रिपोर्ट के मुताबिक, मनसुख की मौत पानी में गिरने की वजह से हुई। एटीएस के डीआईजी ने इस रिपोर्ट को हरियाणा भेज दिया है, एनआईए इसी रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

विस्तारएंटीलिया मामले में स्कॉर्पियो के मालिक को इस बात के पुख्ता सबूत मिले हैं कि हिरेन के पोस्टमार्टम के समय सचिन वाजे सरकारी अस्पताल में ही मौजूद था।विज्ञापनअब एनआईए हिरेन का पोस्टमार्टम करने वाले तीन डॉक्टरों से भी पूछताछ करेगी। राष्ट्रीय जांच एजेंसी पोस्टमार्टम करने वाले तीन डॉक्टरों से जो सवाल कर सकती है, वो कुछ इस तरह हैं..

1. पोस्टमार्टम के दौरान क्या डॉक्टरों पर किसी तरह का कोई दबाव था, क्या पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी की गई थी?2. डॉक्टरों से कौन-कौन मिलने आया था, क्या कोई बातचीत हुई थी या किसी का कोई फोन आया था?3. पोस्टमार्टम के लिए पूरे सैंपल पहली बार में ही क्यों फॉरेंसिंक के लिए नहीं भेजे गए?

4. डॉक्टरों से अस्पताल आने वाले लोगों का रिकॉर्ड मांगा जाएगा, क्योंकि एटीएस की जांच में पाया गया था कि मुलाकात करने वालों का कोई लिखित रिकॉर्ड नहीं है।5. सचिन वाजे पोस्टमार्टम के दौरान वहां क्या कर रहा था, क्या वह आधिकारिक तौर पर वहां आया था या उसने किसी डॉक्टर पर कोई दबाव बनाया था? headtopics.com

फैन की मां की मदद के‍ लिए आगे आए Sidharth Shukla, ऑक्सीजन सिलेंडर का किया इंतजाम इसराइल-ग़ज़ा हिंसा: सहमे बच्चे और जान बचाने के लिए छिपते लोग - BBC News हिंदी ICMR किन जगहों पर डेढ़-दो महीने के लिए चाहता है लॉकडाउन - BBC Hindi

मनसुख के भाई से मिले थे वाजेएनआईए की जांच में सामने आया कि वाजे पांच मार्च को शाम साढ़े छह बजे ठाणे के सरकारी अस्पताल आया था। उसने क्राइम ब्रांच के अधिकारी अलकनूर से बातचीत की थी। इसके अलावा जांच में यह भी पता चला कि वाजे ने मनसुख हिरेन के भाई विनोद हिरेन से भी मुलाकात की थी।

डायटम रिपोर्ट ने खड़े किए कई सवालमनसुख हिरेन की हत्या मामले में डायटम रिपोर्ट ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। सूत्रों की माने तो अब तक की जांच में सामने आया है कि मनसुख को तीन से चार लोगों ने पहले मारा और फिर बाद पानी में फेंक दिया लेकिन मनसुख की डायटम रिपोर्ट कुछ और कहानी बयां करती है। रिपोर्ट के मुताबिक, मनसुख की मौत पानी में गिरने की वजह से हुई। एटीएस के डीआईजी ने इस रिपोर्ट को हरियाणा भेज दिया है, एनआईए इसी रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

Delhi में Vaccine की किल्लत पर तकरार, कौन जिम्मेदार? देखें हल्ला बोल

दिल्ली बेहाल है. कोरोना के बढ़ते केस के बीच ऑक्सीजन जंग बिस्तर के लिए लड़ाई और वैक्सीन वॉर. दिल्ली में कोरोना केंद्र और राज्य सरकार की सियासत का अखाड़ बन चुका है. पहले ऑक्सीजन को लेकर चिंता जताने वाले केजरीवाल ने अब वैक्सीन की कमी को लेकर टेंशन बढ़ा दी है. केजरीवाल का कहना है कि दिल्ली में चंद दिनों की वैक्सीन बची है, जिसे लेकर अब सियासत तेज हो गई है. आखिर क्यों महामारी के बीच हो रही है सियासी बयानबाजी, देखें हल्ला बोल, सईद अंसारी के साथ.

एनआइए ने कोर्ट में कहा- मनसुख हत्याकांड के साजिशकर्ता के संपर्क में था सचिन वाझे राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने दावा किया है कि मनसुख हिरेन हत्याकांड का आरोपित सचिन वाझे इसके साजिशकर्ता से लगातार संपर्क में था। एनआइए ने कोर्ट में कहा है कि वह जल्द ही इस हत्याकांड की साजिश एवं उद्देश्य का पता लगा लेगी। धार कुछ कुंद पड़ने लगी है शस्त्रों की.......?

मुंबई में मॉल में आग लगने के सिलसिले में छह लोगों के खिलाफ मामला दर्जमहानगर पुलिस ने यहां के भांडुप इलाके के एक मॉल में आग लगने की घटना के सिलसिले में छह लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 (गैर इरादतन हत्या) और 34 (साझा मंशा) के तहत मामला दर्ज किया है. भीषण आग में वहां स्थित एक अस्पताल में इलाजरत कोरोना वायरस के नौ मरीजों की मौत हो गई. जानकारी के अनुसार हाउसिंग डेवलपमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआईएल) के प्रमोटर राकेश वधावन और उनके बेटे एवं मॉल के सारंग को प्राथमिकी में नामजद किया हैं, अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार को भांडुप थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई, जिसमें ड्रीम्स मॉल और सनराइज अस्पताल के प्रबंधकों के नाम भी शामिल हैं.

बिहार के बक्सर के बाद अब यूपी के गाजीपुर में नदी में तैरते दिखे शवबिहार के बक्सर के बाद अब उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में गंगा के किनारे शव नजर आए. मंगलवार को गाजीपुर के गंगा तट पर कुछ शव दिखाए दिए. गाजीपुर और बक्सर के बीच करीब 55 किलोमीटर की दूरी है. बक्सर में सोमवार को करीब 100 शव पानी में तैरते हुए दिखाई दिए थे. इन लाशों को देखने के बाद बिहार के अधिकारियों ने तर्क दिया था कि यह उत्तर प्रदेश से आई हैं. अधिकारियों के अनुसार बिहार में शवों को पानी में डालने की परंपरा नहीं है. देश के हालात खराब कर दिए मोदी सरकार ने bycotmodgoverment मैली होती गंगा, रोती हुई जनता, मौत के सौदागर और तमाशेबाज प्रधान लाशों पर महल बनाने में व्यस्त! गंगा_मे_बहतीं_लाशें मोदी_है_तो_मातम_है मोदीजी_इस्तीफा_दो

दिल्‍ली के कोविड-19 केसों में आई तेजी के पीछे यूके स्‍ट्रेन, आंकड़ो में हुआ खुलासानेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल (NCDC) के आंकड़े बताते हैं कि दिल्‍ली में यूके स्‍ट्रेन के 400 से अधिक केस और इंडियन डबल म्‍यूटेंट के केस दिल्‍ली में पाए गए थे. पूरे भारत में करीब 11 फीसदी सैंपल्‍स चिंता का कारण बने हैं. यहा सरकार याने narendramodi

दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच बड़े अस्पतालों में आईसीयू बेड का टोटाDelhi Coronavirus Cases:दिल्ली सरकार के कोरोना ऐप (Corona app) के अनुसार, शहर के 5 बड़े अस्पतालों के आईसीयू में वेंटीलेंटर (ventilators) युक्त कोई बेड उपलब्ध नहीं है. LG को जाकर बताओ, अब केजरीवाल जी की जिम्मेदारी नही है, बहुत दिन रात दिल्ली वालो की सेवा कर ली अरविंद जी ने, अब देखते है कैसे एलजी साहब दिल्ली संभाल पाते है। LtGovDelhi ArvindKejriwal AamAadmiParty raghav_chadha Sahi ab to LG hi dekhge. Eatchickenbeatcorona

मुंबई में 24 घंटे में कोरोना के 3672 नए मामले, 45+ के वैक्सीनेशन पर संकटसिर्फ पांच वैक्सीनेशन सेंटर आज से खोले गए हैं जिसपर 18 से अधिक उम्र के लोगों के लिए वैक्सीनेशन शुरू किया गया है. यहां पर उन्हीं लोगों को वैक्सीन दिया जा रहा है जिन्होंने रजिस्ट्रेशन करवाया है और उन्हें मैसेज मिला है.