Coronavaccinationınındia, Covid-19 Vaccination İn India, Vaccination İn India, देश में टीकाकरण का आंकड़ा, Covid Vaccination Drive İn India, Covıd-19 Vaccination Drive, Union Health Ministry On Vaccination, Covıd-19 Vaccination Data Of India, Covid-19 Vaccine İn India, Coronavirus Vaccine İn India, Vaccines Against Covıd-19, İmmunisation Drive İn India, देश में टीकाकरण की रफ्तार

Coronavaccinationınındia, Covid-19 Vaccination İn India

एक दिन में ढाई करोड़ से ज्‍यादा वैक्सीन लगाने से बढ़ा हौसला, सरकार अब इस योजना पर कर रही काम

एक दिन में ढाई करोड़ से ज्‍यादा वैक्सीन लगाने से बढ़ा हौसला, सरकार अब इस योजना पर कर रही काम #CoronaVaccinationInIndia

19-09-2021 05:15:00

एक दिन में ढाई करोड़ से ज्‍यादा वैक्सीन लगाने से बढ़ा हौसला, सरकार अब इस योजना पर कर रही काम CoronaVaccinationInIndia

शुक्रवार को 2.50 करोड़ से ज्‍यादा डोज लगाकर सरकार ने टीकाकरण में नया कीर्तिमान स्‍थापित किया। एक दिन में टीकाकरण के नए रिकार्ड से देश का अत्‍मविश्‍वास और बढ़ गया है। सरकार अब नई रणनीति पर काम कर रही है...

प्रधानमंत्री मोदी के जन्‍मदिन के मौके पर शुक्रवार को 2.50 करोड़ से ज्‍यादा डोज लगाकर सरकार ने टीकाकरण में नया कीर्तिमान स्‍थापित किया। एक दिन में टीकाकरण के नए रिकार्ड से देश का अत्‍मविश्‍वास और बढ़ गया है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक सरकार अब नई रणनीति पर काम कर रही है और उसका लक्ष्य प्रति माह 25 करोड़ से अधिक वैक्‍सीन की डोज खरीदने का है। इससे साफ है कि आने वाले वक्‍त में कोरोना महामारी के खिलाफ जंग और तेज होने वाली है।  

Jaipur में महिला के पैर काटकर पायल की लूट, मामले पर क्यों घिर गई गहलोत सरकार? गुड़गाँव में नमाज़ को लेकर अब दूसरी जगह पर हंगामा, पुलिस को मिली चिट्ठी - BBC News हिंदी 'हिन्दू होने पर हम शर्मिंदा हैं', नमाज पढ़ रहे लोगों के सामने 'जयश्री राम' के नारे पर भड़कीं स्वरा भास्कर

हर माह 25 करोड़ से अधिक डोज खरीदने की तैयारीसूत्रों ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि देश को इस महीने कोविशील्ड की लगभग 20 करोड़ खुराक और कोवैक्‍सीन की 3.5 करोड़ खुराक मिलेगी। अब सरकार का लक्ष्य प्रति माह 25 करोड़ से अधिक कोविड-19 रोधी वैक्‍सीन की डोज खरीदने का है। सरकारी सूत्र ने बताया कि ज़ायडस कैडिला से भी इस महीने के अंत तक एक करोड़ खुराक मिलने की उम्मीद है। इससे टीकाकरण अभियान को और तेज करने में मदद करेगी। सूत्रों ने दावा किया कि देश में अब वैक्सीन की कोई कमी नहीं है।

यह भी पढ़ेंजल्‍द शुरू हो सकती है बायोलॉजिकल-ई की वैक्सीन की आपूर्तिसूत्रों ने बताया कि सरकार की प्राथमिकता दूसरे देशों को टीके का निर्यात करने से पहले सभी देशवासियों के टीकाकरण का है। सरकार पहले अपने नागरिकों के टीकाकरण को प्राथमिकता दे रही है। देश में वैक्‍सीन की जरूरत खत्‍म होने के बाद ही वैक्‍सीन के निर्यात पर विचार किया जाएगा। सूत्रों ने बताया कि बायोलॉजिकल-ई की कोविड-19 रोधी वैक्सीन की आपूर्ति भी जल्‍द शुरू होने के आसार हैं। इससे अगले महीने से भारत में वैक्सीन की अधिक डोज का उत्पादन होने लगेगा।   headtopics.com

यह भी पढ़ेंचुनावी राज्‍यों पर भी रहेगा फोकस चूंकि कोविड रोधी वैक्‍सीन की बूस्टर डोज लगाने को लेकर दुनियाभर में चर्चा चल रही है लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि सरकार को सबसे पहली प्राथमिकता अधिकांश नागरिकों को टीके की कम से कम एक खुराक दिए जाने पर होनी चाहिए। सूत्रों का कहना है कि सरकार भी इसी रणनीति पर काम कर रही है। उसका जोर उत्‍तर प्रदेश और पंजाब जैसे चुनावी राज्‍यों में सबको सबसे पहले वैक्‍सीन की एक डोज देने पर होगा।

यह भी पढ़ेंसात अक्टूबर तक 100 करोड़ डोज लगाने की तैयारीसूत्रों ने बताया कि सरकार सात अक्टूबर तक कोविड-19 रोधी वैक्सीन की 100 करोड़ डोज लगाने की तैयारी में जुट गई है। हालांकि 100 करोड़ डोज लगाने के लिए अक्टूबर के मध्य तक का लक्ष्य रखा गया है लेकिन सूत्रों का कहना है कि चूंकि नरेंद्र मोदी ने सात अक्टूबर 2001 को पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी इसलिए 100 करोड़ डोज लगाने के लक्ष्य को इसी दिन तक हासिल करने की तैयारी की जा रही है। सूत्रों ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्रालय 100 करोड़ डोज लगाने के वाले दिन को कई कार्यक्रमों का आयोजन करेगा।

यह भी पढ़ेंअब तक 80 करोड़ खुराक दी गईइस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि देश में अब तक कोविड-19 रोधी वैक्‍सीन की 80 करोड़ खुराक दी जा चुकी है। सरकार का कहना है कि अंतिम 10 करोड़ खुराक महज 11 दिनों में दी गई है। मंत्रालय की ओर से जारी की गई शाम सात बजे तक की रिपोर्ट के मुताबिक अब तक 60,03,94,452 पहली जबकि 20,29,80,695 दूसरी डोज दी गई है। सरकार का कहना है कि राज्‍यों को अब तक 78 करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध कराई गई हैं।

और पढो: Dainik jagran »

वारदात: अब जेल में ही कटेगी Ram Rahim की सारी जिंदगी, तीसरी बार उम्र कैद

25 अगस्त 2017, दो साध्वियों से यौन शोषण में राम रहीम को पहली उम्र क़ैद. 17 जनवरी 2019, पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के क़त्ल में राम रहीम को दूसरी उम्र क़ैद. और अब 18 अक्टूबर 2021, मैनेजर रंजीत सिंह के मर्डर में राम रहीम को तीसरी उम्र क़ैद. बीस साल वाली पहली उम्र क़ैद को छोड़ दें, तो बाक़ी उम्र क़ैद उम्र भर की है. 60 से ऊपर के हो चुके गुरमीत राम रहीम की बची कुची उम्र क़ायदे से अब जेल की चारदिवारी के अंदर ही गुज़रेगी. राम रहीम की सज़ाओं की फेहरिसत में नई फेहरिस्त सोमवार को जुड़ी, पंचकूला सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा के पूर्व मैनेजर रंजीत सिंह के क़त्ल के इल्ज़ाम में राम रहीम को उम्र कैद की सज़ा दी है. देखिए वारदात का ये एपिसोड.

It's a progressfully time of our health. Logo ko dra kr lagya gaya hai somabar ke bad 1500 ka lage tika is liye gariv admi marta kia na krta Dekhna to ye hai k aaj kitna lagega

डीयू में कैपिंग की तैयारी : एक कटऑफ में एक बार ही दाखिला रद्द करा सकेंगेडीयू में कैपिंग की तैयारी : एक कटऑफ में एक बार ही दाखिला रद्द करा सकेंगे Delhi DU CutOff DelhiUniversity Admission Student

RS उपचुनाव: मोदी सरकार में मंत्री सोनोवाल असम से उम्मीदवार, MP में इन्हें दिया मौकाRS उपचुनाव: मोदी सरकार में मंत्री सोनोवाल असम से उम्मीदवार, MP में इन्हें दिया मौका; कांग्रेस नहीं उतारेगी कैंडिडेट

अपनी सैलरी से निजी जरूरतें पूरी करते हैं मोदी, PMO से नहीं लेते एक रुपयाप्रधानमंत्री मोदी 71 साल के हो गए हैं। प्रधानमंत्री होने के बावजूद वह अपने निजी खर्च खुद की सैलरी से ही करते हैं। हालांकि किसी प्रधानमंत्री को कुछ खर्च के लिए पीएमओ से फंड भी दिया जाता है। लेकिन पीएम मोदी इस फंड से एक रुपया नहीं लेते।

Crime News: बेंगलुरु में एक परिवार के 5 लोगों के शव मिलने से मचा हड़कंप | Bengaluruबेंगलुरु। बेंगलुरु से एक दिल दहला देने वाला समाचार सामने आया है। यहां एक घर में एक ही परिवार के 5 सदस्यों की डेडबॉडी बरामद होने से हड़कंप मच गया है। इन मृतकों में 9 साल की एक बच्ची भी है। इस खुलासे के बाद इलाके में दहशत का माहौल है। यह खौफनाक घटना बेंगलुरु के बयादरहल्ली में हुई। यहां के एक ही परिवार के 4 लोग फांसी के फंदे पर लटके हुए मिले और 9 साल की बच्ची का शव भी बेड पर पड़ा हुआ मिला। इसे लेकर पुलिस ने रेस्क्यू किया।

महामारी जनित कारणों से प्रभावित भारतीय अर्थव्यवस्था में आई तेजी की वजह से जगी उम्मीदबेहतर कीमत निर्धारण शक्ति और बढ़ती मांग के कारण कारपोरेट क्षेत्र की आय में सुधार होना शुरू हो गया है। बाजार में कमाई बढ़ने के संकेत भी नजर आ रहे हैं। ऐसे में निवेशक लंबी अवधि के लिए व्यवस्थित तरीके से इक्विटी में निवेश जारी रखा जा सकता है। Grt thing.. congratulations India.

ऑस्ट्रेलियाई युवा ने 100 से अधिक लोगों से क्रिप्टोकरेंसी में किया 660 करोड़ का घोटाला!24 साल के किन ने अदालत में खुलासा किया कि वह कॉलेज के दिनों में जल्दी और आसानी से पैसा बनाने के इरादे से क्रिप्टो-स्पेस में आया था। जन्मदिन मुबारक हो मोदी जी सुशासन कहां है 👉शेड्यूल कास्ट की फाइनेंशियल अधिकारों की हत्या, आरक्षण ,लक्ष्य की खानापूर्ति के लिए Equifax Report NUMBER (ERN) 201371405 कमेंट SUIT_ FIELD _WILFUl_DEFAULT_WRITTN_OFF_SATLD दिखाया गया दस हजार चुकता ऋण पर बैंकिंग लोकपाल जयपुर शर्म करो