Entertainment, Tmok, Entertainment, Tv, Aarak Mehta Ka Ooltah Chashmah, Munmun Dutta, Fır, मुनमुन दत्ता, तारक मेहता का उल्टा चश्मा, Entertainment

Entertainment, Tmok

एक्ट्रेस मुनमुन दत्ता के खिलाफ SC/ST एक्ट के तहत FIR दर्ज, जाति सूचक शब्द का किया था इस्तेमाल

बबिता जी को जाति सूचक शब्द का इस्तेमाल करना पड़ा भारी SC/ST एक्ट के तहत दर्ज हुई FIR, जानिए क्या है पूरा मामला ! #Entertainment #TMOK

14-05-2021 08:00:00

बबिता जी को जाति सूचक शब्द का इस्तेमाल करना पड़ा भारी SC/ST एक्ट के तहत दर्ज हुई FIR , जानिए क्या है पूरा मामला ! Entertainment TMOK

टीवी शो तारक मेहता का उल्टा चश्मा की बबीता जी यानि मुनमुन दत्ता की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। मुनमुन के खिलाफ हरियाणा के हांसी में FIR दर्ज हुई है। ये FIR मुनमुन द्वारा एक वीडियो में जाति विशेष के बारे में टिप्पणी करने के चलते दर्ज हुई है।

जाति विशेष के बारे में की थी टिप्पणीनेशनल अलायंस फॉर दलित ह्यूमन राइट्स के संयोजक रजत कलसन की शिकायत के बाद एफआईआर दर्ज की गई है। कलसन ने 11 मई को दत्ता के खिलाफ हांसी पुलिस को एक शिकायत दी थी और वीडियो के साथ एक कॉम्पैक्ट डिस्क भी बनाई थी जिसमें उन्होंने अनुसूचित जाति के खिलाफ कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। दत्ता ने एक मेकअप वीडियो में कहा कि वह अच्छी दिखना चाहती थीं और एक विशेष अनुसूचित जाति का उल्लेख करते हुए कहा कि वह उनकी तरह नहीं दिखना चाहती थीं।

ज्ञानवापी मस्जिद ने काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरडोर के लिए दी ज़मीन - BBC News हिंदी टोक्यो ओलंपिक: भारत को पहला पदक दिलान के करीब मीरा बाई चानू, वेटलिफ़्टिंग में सिल्वर पक्का- आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi भारत-पाकिस्तान की 1971 की लड़ाई में भारतीय मेजर ने जब अपने हाथों से काटी थी अपनी टाँग - BBC News हिंदी

ये है पूरा मामलादरअसल, कुछ वक्त पहले मुनमुन ने एक वीडियो में जाति विशेष के बारे में टिप्पणी की थी। जिसके बाद सोशल मीडिया पर उनका वो वीडियो वायरल हो गया और कई सोशल मीडिया यूजर्स ने एक्ट्रेस के खिलाफ गुस्सा जाहिर किया और उनकी गिरफ्तारी की मांग की।मुनमुन ने मांगी माफी

मामले के तूल पकड़े ही मुनमुन ने सोशल मीडिया पर माफी मांगी थी। मुनमुन ने एक नोट में लिखा था, 'यह एक वीडियो के संदर्भ में है जिसे मैंने कल पोस्ट किया था। जहां मेरे द्वारा इस्तेमाल किए गए एक शब्द का गलत अर्थ लगाया गया है। यह अपमान, धमकी, या किसी की भावनाओं को चोट पहुंचाने के इरादे से कभी नहीं कहा गया था। भाषा की सीमित जानकारी के कारण, मुझे उस शब्द के अर्थ के बारे में गलत जानकारी थी।'  headtopics.com

यह भी पढ़ेंहर एक व्यक्ति से माफी मांगना चाहती हूं और पढो: Dainik jagran »

Coronavirus Curfew Live Updates: कोरोना कर्फ्यू के बीच आज निकलेगी जगन्नाथ रथ यात्रा, गृह मंत्री अमित शाह ने की आरती

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। 5 दिनों के बाद एक बार फिर कोरोना के नए मामलों की संख्या 40 हजार से नीचे रही। इस दौरान मौतों की संख्या में भी थोड़ी कमी देखी गई। https://www.covid19india.org/ के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में कोरोना के चलते 720 लोगों की जान गई है। अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की वार्षिक रथयात्रा, इस बार कोरोना वायरस महामारी के कारण आज कर्फ्यू के बीच निकाली जाएगी ताकि लोग इसमें शामिल न हो सकें। इससे पहले गृह मंत्री अमित शाह ने जगन्नाथ मंदिर में आरती की। दूसरी तरफ कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट ने रूस में कहर मचाया हुआ है। रूस में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 25 हजार से अधिक नये मामले सामने आए हैं। पल-पल के अपडेट के लिए बने रहिए हमारे साथ...

जो व्यक्ति अपनी जाति को ही बुरा मानता हो वह कैसे तरक्की कर सकता है जाति केवल आरक्षण पाने के लिए है वहां कोई नही शर्माता । वहां तो बढ़ चढ़ कर अपनी जाति बताते है और अगर कोई और कह दे तो बुरा हो जाता है बनिये को बनिया ही कहा जायेगा ।इसमे बुरा क्या है 😎😎 She don't express any wrong thing, this is the Constitution given by copy paste ambedker, 😡😡😡

This is the live example of how to misuse of ' The constitution of India' LAW. हमारे देश मे इतनी भाषाए हे कंई बार समझ हि नही पाते हे कि किस शब्द का किस क्षेत्र मे क्या अर्थ हे ArrestMunmunDutta Sir Humne 8/05/21 ko Vaccine ki 1st dose lagwai at Village Mandi PHC (Panipat-Haryana) Par abhi tak hume uska Cirtificate nhi mila .Vaccine Center par gye wo Kehte Apka Data delete ho Gya hai to Cirtificate Nhi milyga .plz help us..kya ho humy 2nd dose na mile.

WeSupportMunmunDutta

'अपने विचार मुझे मेल के जरिए बताएं', पार्टी कार्यकर्ताओं के इस्तीफे के बाद बोले कमल हासनएक्टर और राजनीतिज्ञ कमल हासन की पार्टी मक्कल नीधि मय्यम (MNM) को तमिलनाडु विधानसभा चुनावों में करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा, उनकी पार्टी चुनावों में एक भी सीट नहीं जीत पाई थी. जिसके बाद अब पार्टी में बिखराव की स्थिति पैदा हो गई है, कई बड़े नेताओं ने खुले मंच से पार्टी में लोकतंत्र की कमी का हवाला देते हुए कमल हसन को पार्टी चलाने की समझ नहीं होने की बात कही थी. जिसके बाद मंगलवार को कमल हासन ने पार्टी कार्यकर्ताओं से मेल के जरिए अपने असंतोष और विचार व्यक्त करने की अपील की. 😜😜😂😂 झंडू Hahahaha...jis thali khata usi me chhed ...kisi bhi dharm ki burai karoge to yahi Hal hoyenga U have got ur results of HINDU HATE STATEMENTS...continuously..same happen in ASANSOL WEST BENGAL sayyani ghosh condom on god image

Delhi: कमी के एलान के बाद भी इस वैक्सीनेशन सेंटर पर म‍िल रही Covaxin की डोजदिल्ली सहित देश के कई हिस्सों में कोरोना वैक्सीनेशन में रुकावट आ रही है. वैक्सीन की किल्लत के बीच कल ही दिल्ली सरकार ने कहा कि उसके पास कोवैक्सिन का स्टॉक खत्म हो गया है. लेकिन दिल्ली के एक सेंटर पर गुरुवार को कोवैक्सिन लगाई जा रही हैं. देखिए संवाददाता कुमार कुणाल की रिपोर्ट.

इसराइल के विरोध में पाकिस्तान के पीएम इमरान ख़ान ने की ये ग़लती - BBC News हिंदीपाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान इसराइल के ख़िलाफ़ मुस्लिम देशों से एकजुट होने की अपील कर रहे हैं. इसी सिलसिले में उन्होंने एक ट्वीट किया है. बौद्धिक आतंकवादियो को हर किसी की गलती दिख जाती है सिवाय अपनी गलती की Ye jisne bhi kaha hai sach hai.shakespear ne kaha hai what is in the name

बिहार: मुजफ्फरपुर के किसानों ने नष्ट किए टमाटर, लॉकडाउन के कारण नहीं मिल रहे दामबिहार: मुजफ्फरपुर के किसानों ने नष्ट किए टमाटर, लॉकडाउन के कारण नहीं मिल रहे दाम Bihar Tomato Muzaffarpur Lockdown NitishKumar NitishKumar unko price nhi mile raha hum 40 rs ka kahredh rahe hai NitishKumar NitishKumar Ann data hai n lockdown me bhe khub kamayega Jaise baki note chhap rahe hain abhe khane wale naukri aur salary kay liye paresan hain tere tamatar ko adhik dam me kiase khariden

पंचांग से जानिए अक्षय तृतीया के सभी शुभ मुहूर्त अपने शहर के अनुसारAaj Ka Panchang 14 May 2021: हिंदू धर्म में आज का दिन बेहद ही शुभ माना जाता है। क्योंकि इस दिन कोई भी शुभ कार्य करने के लिए मुहूर्त तलाशने की जरूरत नहीं पड़ती।

शवों के अंतिम संस्कार के लिए आगे आए सामाजिक संगठनएक परिवार तो कोरोना संक्रमण से इतना घबराया हुआ था कि उसने अपने परिजन का शव ही लेने से इंकार कर दिया था। बाद में इन शवों का संस्कार इस टीम के माध्यम से किया गया।