Air India, Government, Celling, Bid Closing, Companies, Buy Tata, Spicejet

Air India, Government

एअर इंडिया : बेचने की प्रक्रिया में लग गई बोली

एअर इंडिया : बेचने की प्रक्रिया में लग गई बोली in a new tab)

20-09-2021 20:34:00

एअर इंडिया : बेचने की प्रक्रिया में लग गई बोली in a new tab)

घाटे से जूझ रही एअर इंडिया को बेचने की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

एअर इंडिया के अधिग्रहण के लिए सरकार के पास कई कंपनियों ने संपर्क किया, जिसमें सबसे बड़ा नाम टाटा समूह का है। टाटा के साथ ही स्पाइसजेट के अध्यक्ष अजय सिंह ने भी बोली लगाई है। अगर टाटा समूह एअर इंडिया को खरीदता है, तो 68 साल बाद टाटा दोबारा एअर इंडिया का मालिक बनेगा।

आर्यन ख़ान मामला: नवाब मलिक के आरोपों पर समीर वानखेड़े ने दी सफ़ाई, दुबई जाने से किया इनकार - BBC Hindi एनसीपी नेता नवाब मलिक ने NCB अधिकारी समीर वानखेड़े पर लगाए गंभीर आरोप - BBC Hindi भारत को टी-20 वर्ल्ड कप में कौन मान रहे हैं ख़िताब का प्रबल दावेदार - BBC News हिंदी

सरकार एअर इंडिया को बेच क्यों रही है? वर्ष 2007 में सरकार ने एअर इंडिया और इंडियन एअरलाइंस का विलय कर दिया था। विलय के पीछे सरकार ने ईंधन की बढ़ती कीमत, निजी एअरलाइन कंपनियों से मिल रही प्रतियोगिता को वजह बताया था। हालांकि, साल वर्ष 2000 से लेकर 2006 तक एअर इंडिया मुनाफा कमा रही थी, लेकिन विलय के बाद परेशानी बढ़ गई। कंपनी की आय कम होती गई और कर्ज लगातार बढ़ता गया। कंपनी पर 31 मार्च 2019 तक 60 हजार करोड़ से भी ज्यादा का कर्ज था। वित्त वर्ष 2020-21 के लिए अनुमान लगाया गया था कि एअरलाइन को नौ हजार करोड़ का घाटा हो सकता है।

वर्ष 2018 के बाद जनवरी 2020 में नए सिरे से प्रक्रिया शुरू की गई। इस बार 76 फीसद की जगह सौ फीसद हिस्सेदारी बेचने का फैसला लिया गया। कंपनियों को 17 मार्च 2020 तक ‘एक्सप्रेशन आॅफ इंटरेस्ट’ (ईओआइ) जमा करने को कहा गया, लेकिन कोरोना की वजह से उड्डयन उद्योग पर बुरा असर पड़ा, इस वजह से कई बार तारीख को आगे बढ़ाया गया और 15 सितंबर 2021 आखिरी तारीख निर्धारित की गई। सरकार एअर इंडिया की 100 फीसद हिस्सेदारी बेच रही है। इसमें एअर इंडिया एक्सप्रेस की भी 100 फीसद हिस्सेदारी शामिल है। साथ ही माल ढुलाई और ग्राउंड हैंडलिंग कंपनी की 50 फीसद हिस्सेदारी शामिल है। headtopics.com

विमानों के अलावा एअरलाइन की संपदा, कर्मचारियों के लिए बनी हाउसिंग सोसायटी और हवाई अड्डे की पार्किंग जैसी जगहें भी सौदे का हिस्सा होंगी। नए मालिक को भारतीय हवाई अड्डों पर 4400 घरेलु और 1800 अंतरराष्ट्रीय ‘लैंडिंग’ और ‘पार्किंग स्लॉट’ मिलेंगे। साथ ही विदेशी हवाई अड्डों पर भी करीब नौ सौ स्लॉट मिलेंगे। 31 मार्च 2019 तक कंपनी पर 60,074 करोड़ रुपए का कर्ज था। जनवरी 2020 में ‘दीपम’ द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, एअरलाइंस को खरीदने वाले को 23,286 करोड़ रुपए का कर्ज चुकाना होगा। बाकी के कर्ज को सरकार की कंपनी एअर इंडिया एसेट होल्डिंग्स को हस्तांतरित किया गया है।

इस बार बोली लगाने वालों में टाटा समूह भी है। वर्ष 1932 में जेआरडी टाटा ने देश में टाटा एअरलाइंस की शुरुआत की थी, लेकिन दूसरे विश्वयुद्ध के बाद दुनियाभर में उड्डयन क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुआ था। योजना आयोग ने सुझाव दिया कि सभी एअरलाइन कंपनियों का राष्ट्रीयकरण कर दिया जाए। मार्च 1953 में संसद ने ‘एअर कॉरपोरेशंस’ अधिनियम पारित किया।

इसके पारित होने के बाद देश में काम कर रही आठ एअरलाइंस का राष्ट्रीयकरण कर दिया गया। इसमें टाटा एअरलाइंस भी शामिल थी। सभी कंपनियों को मिलाकर इंडियन एअरलाइंस और एअर इंडिया बनाई गई। एअर इंडिया को अंतरराष्ट्रीय और इंडियन एअरलाइंस को घरेलू उड़ानें संभालने का जिम्मा दिया गया। अगर एअर इंडिया को टाटा ग्रुप खरीद लेता है, तो यह एक तरह से एअर इंडिया की घर वापसी होगी।

क्या हुआ था 2018 मेंवर्ष 2018 में सरकार ने एअर इंडिया के विनिवेश की तैयारी की थी। फैसला लिया था कि सरकार एअर इंडिया में अपनी 76 फीसद हिस्सेदारी बेचेगी। इसके लिए कंपनियों से ‘एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट’ (ईओआइ) मंगवाए गए थे। जिसे जमा करने की आखिरी तारीख 31 मार्च 2018 थी, लेकिन निर्धारित तारीख तक सरकार के पास एक भी कंपनी ने दस्तावेज जमा नहीं किए थे। headtopics.com

दंगल: क्रूज ड्रग्स केस में आर्यन खान के बाद अनन्या पांडे? जब पत्नी की हत्या के लिए ज़हरीले कोबरा को बनाया गया हथियार - BBC News हिंदी वानखेड़े को नवाब मलिक की चुनौती- सालभर में जाएगी नौकरी, जाना होगा जेल, NCB अफसर ने दीं शुभकामनाएं और पढो: Jansatta »

सियासी बवाल के बीच राहुल गांधी का दिल्ली से लखीमपुर का सफर, देखें टाइमलाइन

लखीमपुर खीरी में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत के बाद का विवाद अबतक शांत नहीं हुआ है. लखनऊ एयरपोर्ट पर धरने के बाद आखिरकार राहुल गांधी को वहां से बाहर निकलने दिया गया है. एयरपोर्ट पर राहुल अपनी गाड़ी से जाएंगे या प्रशासन की गाड़ियों से इस पर विवाद हुआ था. अब राहुल गांधी और प्रियंका गांधी सीतापुर से लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हुए और लखीमपुर में मृतक किसानों के परिवार से मिलने पहुंच चुके हैं. देखें राहुल गांधी के दिल्ली से लखीमपुर के सफर की पूरी टाइमलाइन.

Pura desh bech do 101 पहली बोली मेरी तरफ से

टीम इंडिया के बाद IPL टीम RCB की भी कप्तानी छोड़ेंगे विराट कोहलीभारत की टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने के बाद विराट कोहली ने अपनी आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) की भी कप्तानी छोड़ने का फैसला कर लिया है। यूएई में शुरू हुए आईपीएल 2021 के दूसरे चरण के बाद वे आरसीबी की कप्तानी छोड़ देंगे।

Facebook : फेसबुक इंडिया ने पूर्व आईपीएस अधिकारी राजीव अग्रवाल को सौंपी अहम जिम्मेदारीFacebook : फेसबुक इंडिया ने पूर्व आईपीएस अधिकारी राजीव अग्रवाल को दी अहम जिम्मेदारी Facebook RajivAgrawal FacebookIndia Follow the twitter handles of 'All India Trinamool Congress' from all over India 👇👇👇 AITC4Assam AITC4Delhi AITC4Bihar AITC4Jharkhand AITC4Tripura AITC4UP AITC4Gujarat AITCofficial AITC_Parliament BanglarGorboMB

टी20 वर्ल्ड कप के बाद तीन देशों की चुनौतियों का सामना करेगी टीम इंडिया, देखिए पूरा शेड्यूलटी20 वर्ल्ड कप के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के सामने होंगी ये चुनौतियां, देखिए क्या होगा टीम इंडिया का पूरा शेड्यूल TeamIndia FullSchedule T20WorldCup IndianCricketTeam BCCI Schedule HomeSeries

टी-20 विश्वकप के 7 महीने बाद भी घरेलू पिच पर लगातार क्रिकेट खेलेगी टीम इंडिया, पढ़े शेड्यूलT20 विश्वकप के बाद भारतीय क्रिकेट टीम इन टीमो के साथ लेगी लोहा T20WorldCupsquad T20WorldCup T20 TeamIndia T20Cricket ViratKohli BCCI T20WorldCup BCCI imVkohli

राहत के बावजूदलखनऊ में आयोजित जीएसटी परिषद की पैंतालीसवीं बैठक संपन्न हो गई।

दिल्ली : पिछले 24 घंटे में कोरोना के 20 नए केस, 0.04 फीसद हुई संक्रमण दरसक्रिय मरीजों की संख्या 379 हो गई है, जिसमें से होम आइसोलेशन में 116 मरीज हैं.