उलझता जा रहा सांसदों का निलंबन विवाद, राज्यसभा में नई रणनीति के साथ उतरेगा विपक्ष

विपक्ष के नेताओं ने साफ कर दिया है कि इस मामले में वे झुकने वाले नहीं हैं. #Politics #WinterSession (@Supriya23bh)

Politics, Wintersession

07-12-2021 09:59:00

विपक्ष के नेताओं ने साफ कर दिया है कि इस मामले में वे झुकने वाले नहीं हैं. Politics WinterSession (Supriya23bh)

राज्यसभा सासंदों के निलंबन का मामला बढ़ता जा रहा है. ना सरकार झुकने को तैयार है और ना ही विपक्ष के नेता अपने प्रदर्शन को शांत कर रहे हैं. अब इस बीच विपक्ष अपने प्रदर्शन को और तेज कर सकता है.

उलझता जा रहा निलंबन विवादखबर है कि कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के घर पर विपक्ष की एक अहम बैठक होने जा रही है. बैठक में इस मुद्दे पर भी चर्चा की जाएगी और नई रणनीति पर भी मंथन होगा. विपक्ष के नेताओं ने साफ कर दिया है कि इस मामले में वे झुकने वाले नहीं हैं. ना माफी मांगी जाएगी और ना ही कोई सफाई पेश की जाएगी. स्पष्ट मांग की गई है कि सस्पेंशन को रद्द किया जाए.

Aparna Yadav Joins BJP: 'भाजपा ही सरकार बनाएगी', आजतक से बोलीं मुलायम की बहू अपर्णा यादव

इसी कड़ी में सस्पेंड हुए कांग्रेस सासंद नासिर हुसैन ने कहा है कि ये सरकार तानाशाही अंदाज में काम कर रही है. ऐसे में प्रदर्शन को और ज्यादा आक्रामक किया जाएगा. उनके मुताबिक निलंबित हुए सांसदों ने कोई गलत काम नहीं किया था. सिर्फ जनता के मुद्दों को उठाया गया था, उनकी मांगों को सरकार के बीच लाया गया था. लेकिन बिना किसी कारण उन सभी को सस्पेंड कर दिया गया.

माफी मांगने से इनकार, सरकार पर दवाबअभी के लिए सरकार कह रही है कि अगर निलंबित सासंद माफी मांग लें तो सस्पेंशन वापस लिया जा सकता था. लेकिन विपक्ष ने माफी मांगने से साफ मना कर दिया है. जोर देकर कहा गया है कि बिना किसी शर्त के सरकार अपने सस्पेंशन को वापस ले. वहीं दूसरी तरफ संसद टीवी पर होस्ट करने वालीं शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने भी कार्यक्रम से अपने हाथ पीछे खीच लिए हैं. शशी थरूर भी अब अपने कार्यक्रम की होस्टिंग करते नहीं दिखेंगे. ऐसे में सरकार पर दवाब बनाने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है. लेकिन अभी ये विवाद सुलझता नहीं दिख रहा है. headtopics.com

Live TV

और पढो: AajTak »

वो 20 मिनट जब PM मोदी सन्न रह गए, देखिए #DNA LIVE Sudhir Chaudhary के साथ

केजरीवाल के घर के बाहर धरने पर बैठे नवजोत सिंह सिद्धू, जानिए क्या है मामलानई दिल्ली। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोतसिंह सिद्धू रविवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के सामने दिल्ली के सरकारी स्कूलों के अतिथि शिक्षकों के विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए।

मुनव्वर फ़ारूक़ी के साथ खड़े होना कलाकारों की अभिव्यक्ति की आज़ादी के पक्षधरों का कर्तव्य है‘हिंदुत्ववादी’ संगठनों की अतीत की अलोकतांत्रिक करतूतों के चलते उनकी कार्रवाइयां अब किसी को नहीं चौंकातीं. लेकिन एक नया ट्रेंड यह है कि जब भी वे किसी कलाकार के पीछे पड़ते हैं, तब लोकतांत्रिक होने का दावा करने वाली सरकारें, किसी भी पार्टी या विचारधारा की हों, कलाकारों की अभिव्यक्ति की आज़ादी के पक्ष में नहीं खड़ी होतीं, न ही उन्हें संरक्षण देती हैं. वायर का कहने का अर्थ यह है बाकी विदूषक भी फारुखी की तरह हिन्दू धर्म का अपमान करें, 59 हिन्दू तीर्थयात्रियों को जिंदा जलाने पर विदुषिकी करें। क्योंकि हिन्दू केवल शोर मचा सकते हैं 'सर तन से जुदा' नही करते। 😂😂😂😂🤪🤪🤪 तुम हो ना😢😢

सुप्रीम कोर्ट ने पीपीई किट निर्यात के मामले में आरबीआई के दिशा-निर्देश को सही ठहरायानई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को एक महत्वपूर्ण फैसले में कोविड-19 महामारी के दौरान पीपीई किट के निर्यात के लिए साख पत्र देने से इंकार करने वाले रिजर्व बैंक के 'मर्चेंन्टिग ट्रेड ट्रांजैक्शन' (एमटीटी) के कुछ दिशा-निर्देशों की वैधता को बरकरार रखा है। न्यायालय ने कहा कि कुछ लोगों को बिना किसी नियंत्रण के मुक्त व्यापार की सुविधा के लिए जनता के कल्याण को सुरक्षित रखने वाले लोकतांत्रिक हितों को 'न्यायिक रूप से निरस्त' नहीं किया जा सकता है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सीएए-एनआरसी के छह प्रदर्शनकारियों के हिरासत आदेश को ख़ारिज कियामामला उत्तर प्रदेश के मऊ ज़िले का है, जहां प्रशासन ने 16 दिसंबर 2019 को कथित रूप से एक हिंसक प्रदर्शन में शामिल होने के कारण छह लोगों के ख़िलाफ़ एनएसए के तहत हिरासत आदेश जारी किया था. कोर्ट ने इसे ग़ैरक़ानूनी क़रार दिया है.

UP Election 2021: रामलला मंदिर के बहाने वोट बैंक साधने की कोशिश, विपक्ष ने साधा निशानाप्रयागराज। जब भी किसी परीक्षार्थी की परीक्षा नजदीक होती है या नाव डूबने का डर, तो ऐसे में वह भगवान को याद करने लगता है। उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव नजदीक हैं, ऐसे में सभी राजनीतिक दल भगवान को मनाने में लग गए हैं। सत्ता से लेकर विपक्षी दल ईश्वर के दर्शन कर आशीर्वाद ले रहे हैं। यही नहीं, अल्लाह और भगवान के नाम पर वोट मांगने से भी परहेज नहीं कर रहे हैं।

नौसेना के लिए निर्मित बड़ा सर्वेक्षण पोत ‘संध्यक’ लांच, जाने क्‍या है इसकी खासियतSurvey Ship Sandhyak launched रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट की मौजूदगी में 3400 टन वजन के इस जहाज का जलावतरण किया गया। रक्षा राज्य मंत्री भट्ट ने जीआरएसइ के प्रयासों की सराहना की और कहा कि इस सर्वेक्षण पोत से समुद्री सुरक्षा की निगरानी में काफी मदद मिलेगी।