Uttarakhand, Kedarnath, Uttarakhand News, Uttarakhand Weather, Uttarakhand Weather Update, Uttarakhand Weather Forecast, Winters, Winters 2021, Rainfall, Rainfall İn Uttarakhand, Chamoli News İn Hindi, Latest Chamoli News İn Hindi, Chamoli Hindi Samachar

Uttarakhand, Kedarnath

उत्तराखंड: कई पर्वतीय क्षेत्रों में दो-तीन दिन भारी बारिश का अलर्ट, केदारनाथ और गंगोत्री-यमुनोत्री यात्रा रोकी

मौसम विभाग के अलर्ट के बीच रविवार काे राजधानी देहरादून सहित राज्य के अधिकतर इलाकों में रविवार को मौसम खराब बना हुआ

17-10-2021 12:13:00

उत्तराखंड: कई पर्वतीय क्षेत्रों में दो-तीन दिन भारी बारिश का अलर्ट, केदारनाथ और गंगोत्री-यमुनोत्री यात्रा रोकी Uttarakhand Kedarnath

मौसम विभाग के अलर्ट के बीच रविवार काे राजधानी देहरादून सहित राज्य के अधिकतर इलाकों में रविवार को मौसम खराब बना हुआ

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादूनPublished by:Updated Sun, 17 Oct 2021 02:42 PM ISTसारमौसम विभाग द्वारा 17 अक्तूबर से दो-तीन दिन तक चारधाम सहित अधिकांश पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। जिसको देखते हुए प्रशासन ने केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम की यात्रा रोक दी है।

केदारनाथ जाने वाले यात्रियों को सोनप्रयाग में रोका- फोटो : अमर उजालाविज्ञापनख़बर सुनेंख़बर सुनेंमौसम विभाग के अलर्ट के बीच रविवार काे राजधानी देहरादून सहित ज्य के अधिकतर इलाकों में रविवार को मौसम खराब बना हुआ है। वहीं मौसम विभाग द्वारा 17 अक्तूबर रविवार से दो-तीन दिन तक चारधाम सहित अधिकांश पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। दूसरी ओर खराब मौसम को देखते हुए प्रशासन ने केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम की यात्रा अस्थाई रूप से रोक दी है।

हरिद्वार में हरकी पैड़ी रेलवे स्टेशन व बस अड्डे पर पुलिस द्वारा लगातार यात्रियों से स्नान कर वापस जाने की अपील की जा रही है। ऋषिकेश में भी तीर्थयात्रियों और पर्यटकों से पहाड़ी क्षेत्रों और गंगा घाटों पर न जाने की अपील की जा रही है। नैनीताल, हरिद्वार, उत्तरकाशी और टिहरी जिले में जिला प्रशासन की ओर से 18 अक्टूबर के लिए सभी स्कूल-कॉलेज में एक दिन का अवकाश घोषित किया गया है। headtopics.com

चारधाम सहित अधिकांश पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनीमौसम विभाग द्वारा 17 अक्तूबर रविवार से दो-तीन दिन तक उत्तराखंड के चारधाम सहित अधिकांश पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आपदा प्रबंधन विभाग, पुलिस प्रशासन और सभी जिलाधिकारियों को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं।

उत्तराखंड: फिर बदलेगा मौसम, रविवार और सोमवार को भारी बारिश के आसार, ऑरेंज अलर्ट जारीउत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण और आपदा प्रबंधन विभाग ने इस चेतावनी को दृष्टिगत रखते हुए सभी स्थानीय निवासियों और यात्रियों से सतर्कता बरतने, नदी नालों से दूरी बनाने और सुरक्षित स्थानों पर रहने की अपील की है। उत्तराखंड की यात्रा पर आ रहे यात्रियों और यात्रा कर रहे यात्रियों से भी अनुरोध किया है कि वह मौसम की चेतावनी को देखते हुए अपनी यात्रा की योजना बनाएं और इस अवधि में यात्रा करने से बचें।

पुलिस, एसडीआरएफ अलर्ट परमुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश में हो रही भारी बारिश को देखते हुए मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु से फोन पर प्रदेश की स्थिति की जानकारी ली है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि पुलिस, एसडीआरएफ और अन्य संबंधित कार्मिकों को संवेदनशील स्थानों पर हाई अलर्ट रखा जाए। कहीं भी कोई घटना होती है तो रिस्पोंस टाईम कम से कम होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जरूरत होने पर प्रभावितों को तत्काल राहत मिले। चार धाम यात्रा मार्ग पर भी विशेष ध्यान रखा जाए। कहा कि चारधाम यात्रियों और पर्यटकों से भी सावधानी बरतने की अपील की जाए।

चारधाम यात्रा मार्ग फिलहाल सुचारू है। वहीं रविवार को मौसम खराब होने की वजह से केदारनाथ यात्रा में जाने वाले यात्रियों को प्रशासन व पुलिस द्वारा सोनप्रयाग में रोका गया है। खराब मौसम को देखते हुए प्रशासन ने केदारनाथ यात्रा अस्थाई रूप से रोक दी है।वहीं केदारनाथ धाम से यात्रियों को लौटाया जा रहा है। इसका कारण यह है कि वहां क्षमता से अधिक यात्री मौजूद हैं। इसी को देखते हुए यात्रियों को लौटाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि श्रद्धालु दर्शन के बाद वापस न लौटकर वहीं रुक रहे हैं, जिस कारण धाम पर दबाव बढ़ रहा है। headtopics.com

गंगोत्री व यमुनोत्री धाम की यात्रा पर लगाई रोकउत्तरकाशी जिले में बारिश के मद्देनजर प्रशासन ने गंगोत्री व यमुनोत्री धाम की यात्रा पर भी रोक लगा दी है। रविवार को 850 यात्रियोें ने मां यमुना के दर्शन किए हैं। भटवाड़ी एसडीएम चतर सिंह चौहान और बड़कोट एसडीएम शालिनी नेगी ने बताया कि शासन के निर्देश पर यात्रा पर रोक लगाई गई है।

तीर्थयात्रियों से सुरक्षित स्थानों पर बने रहने को कहा गया है। साथ ही धामों से भी तीर्थयात्रियों को वापस लौटने के लिए कहा गया है। चेक पोस्ट पर भी आने-जाने वालों पर निगरानी रखी जा रही है। एसडीएम बड़कोट शालिनी ने बताया कि दोपहर तक यमुनोत्री से 300 यात्री वापस लौटे हैं।

दून में तड़के से रुक-रुक कर झमाझम बारिश जारी है। वहीं मसूरी में भी हल्की बारिश होने से ठंड बढ़ गई है। रविवार को मसूरी-देहरादून मार्ग पर गलोगी के पास मलबा आ गया था। लोनिवि ने जेसीबी मशीन से मलबा हटाया और यातायात सुचारू किया।यमुनोत्रीधाम सहित आस-पास के क्षेत्र में तेज बारिश होने के साथ ही धाम से लगी ऊंची चोटियों पर बर्फबारी भी हुई है। नई टिहरी में भी मौसम का मिजाज बदल गया है। नई टिहरी और आसपास के क्षेत्रों में सुबह से बारिश हो रही है। नैनीताल जिले के भवाली में भी बारिश हो रही है। श्रीनगर, देवप्रयाग और कीर्तिनगर सहित अन्य क्षेत्रों में हल्की बूंदा-बांदी हुई। ऋषिकेश में झमाझम बारिश हुई। रुड़की में सुबह आठ बजे से बारिश होती रही।

ज्यादातर जगह बारिश होने के आसारमौसम केंद्र के अनुसार 17 अक्तूबर को उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, टिहरी, पौड़ी, देहरादून, हरिद्वार, पिथौरागढ़, बागेश्वर, अल्मोड़ा, नैनीताल, चंपावत, ऊधमसिंह नगर में अधिकांश क्षेत्रों में बारिश होने का अनुमान है। 18 और 19 को भी ज्यादातर जगह बारिश होने के आसार हैं। 18 अक्तूबर को उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़, बागेश्वर, अल्मोड़ा, नैनीताल, चंपावत, देहरादून, टिहरी व पौड़ी के कई और हरिद्वार व ऊधमसिंह नगर के कुछ इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। इस दौरान 80 किमी प्रति घंटे की तेज रफ्तार से हवाएं भी चल सकती हैं। कई जगह ओले गिरने के आसार हैं। headtopics.com

ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ भी गिरने की संभावनापिथौरागढ़, बागेश्वर, चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी में 3500 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ भी गिर सकती है। मौसम विभाग ने इस दौरान भूस्खलन, जलभराव होने, गाड़-गदेरों में उफान आने और ओलावृष्टि से फसलों, खुले में पार्क वाहनों और जानवरों को नुकसान होने की भी चेतावनी दी है। इससे चारधाम समेत पहाड़ी क्षेत्रों में चल रही यात्राओं पर भी असर पड़ सकता है।

धान की खेती को मौसम की मारडोईवाला में धान की खेतों में कटी फसल को बारिश से नुकसान हुआ है। शनिवार देर रात और रविवार सुबह तड़के हुई बारिश से खेतों में कटी धान की फसल को भारी नुकसान पहुंचा है। किसान उमेद बोहरा ने बताया कि दूधली, शिमलास ज्वालापुर, नागल बुलंदा वाला के अलावा कई क्षेत्रों में धान की फसल की कटाई हो रही है। बारिश होने से कटी फसल को नुकसान होना तय है। किसानों ने कहा कि विभाग की और से भी बारिश का अनुमान एक दिन पहले ही बताया गया। इस बारिश से धान काला पड़ने और सूखने की स्थिति में चावल का दाना टूटने की संभावना रहती है। किसानों ने कहा कि यदि बारिश जारी रही तो नुकसान होना तय है।

विस्तारमौसम विभाग के अलर्ट के बीच रविवार काे राजधानी देहरादून सहित ज्य के अधिकतर इलाकों में रविवार को मौसम खराब बना हुआ है। वहीं मौसम विभाग द्वारा 17 अक्तूबर रविवार से दो-तीन दिन तक चारधाम सहित अधिकांश पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। दूसरी ओर खराब मौसम को देखते हुए प्रशासन ने केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम की यात्रा अस्थाई रूप से रोक दी है।

विज्ञापनहरिद्वार में हरकी पैड़ी रेलवे स्टेशन व बस अड्डे पर पुलिस द्वारा लगातार यात्रियों से स्नान कर वापस जाने की अपील की जा रही है। ऋषिकेश में भी तीर्थयात्रियों और पर्यटकों से पहाड़ी क्षेत्रों और गंगा घाटों पर न जाने की अपील की जा रही है। नैनीताल, हरिद्वार, उत्तरकाशी और टिहरी जिले में जिला प्रशासन की ओर से 18 अक्टूबर के लिए सभी स्कूल-कॉलेज में एक दिन का अवकाश घोषित किया गया है।

चारधाम सहित अधिकांश पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनीमौसम विभाग द्वारा 17 अक्तूबर रविवार से दो-तीन दिन तक उत्तराखंड के चारधाम सहित अधिकांश पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आपदा प्रबंधन विभाग, पुलिस प्रशासन और सभी जिलाधिकारियों को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं।

उत्तराखंड: फिर बदलेगा मौसम, रविवार और सोमवार को भारी बारिश के आसार, ऑरेंज अलर्ट जारीउत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण और आपदा प्रबंधन विभाग ने इस चेतावनी को दृष्टिगत रखते हुए सभी स्थानीय निवासियों और यात्रियों से सतर्कता बरतने, नदी नालों से दूरी बनाने और सुरक्षित स्थानों पर रहने की अपील की है। उत्तराखंड की यात्रा पर आ रहे यात्रियों और यात्रा कर रहे यात्रियों से भी अनुरोध किया है कि वह मौसम की चेतावनी को देखते हुए अपनी यात्रा की योजना बनाएं और इस अवधि में यात्रा करने से बचें।

पुलिस, एसडीआरएफ अलर्ट परमुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश में हो रही भारी बारिश को देखते हुए मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु से फोन पर प्रदेश की स्थिति की जानकारी ली है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि पुलिस, एसडीआरएफ और अन्य संबंधित कार्मिकों को संवेदनशील स्थानों पर हाई अलर्ट रखा जाए। कहीं भी कोई घटना होती है तो रिस्पोंस टाईम कम से कम होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जरूरत होने पर प्रभावितों को तत्काल राहत मिले। चार धाम यात्रा मार्ग पर भी विशेष ध्यान रखा जाए। कहा कि चारधाम यात्रियों और पर्यटकों से भी सावधानी बरतने की अपील की जाए।

केदारनाथ सहित इन धामो की यात्रा फिलहाल रोकीचारधाम यात्रा मार्ग फिलहाल सुचारू है। वहीं रविवार को मौसम खराब होने की वजह से केदारनाथ यात्रा में जाने वाले यात्रियों को प्रशासन व पुलिस द्वारा सोनप्रयाग में रोका गया है। खराब मौसम को देखते हुए प्रशासन ने केदारनाथ यात्रा अस्थाई रूप से रोक दी है।

वहीं केदारनाथ धाम से यात्रियों को लौटाया जा रहा है। इसका कारण यह है कि वहां क्षमता से अधिक यात्री मौजूद हैं। इसी को देखते हुए यात्रियों को लौटाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि श्रद्धालु दर्शन के बाद वापस न लौटकर वहीं रुक रहे हैं, जिस कारण धाम पर दबाव बढ़ रहा है।

गंगोत्री व यमुनोत्री धाम की यात्रा पर लगाई रोकउत्तरकाशी जिले में बारिश के मद्देनजर प्रशासन ने गंगोत्री व यमुनोत्री धाम की यात्रा पर भी रोक लगा दी है। रविवार को 850 यात्रियोें ने मां यमुना के दर्शन किए हैं। भटवाड़ी एसडीएम चतर सिंह चौहान और बड़कोट एसडीएम शालिनी नेगी ने बताया कि शासन के निर्देश पर यात्रा पर रोक लगाई गई है।

तीर्थयात्रियों से सुरक्षित स्थानों पर बने रहने को कहा गया है। साथ ही धामों से भी तीर्थयात्रियों को वापस लौटने के लिए कहा गया है। चेक पोस्ट पर भी आने-जाने वालों पर निगरानी रखी जा रही है। एसडीएम बड़कोट शालिनी ने बताया कि दोपहर तक यमुनोत्री से 300 यात्री वापस लौटे हैं।

ऊंची चोटियों पर बर्फबारीदून में तड़के से रुक-रुक कर झमाझम बारिश जारी है। वहीं मसूरी में भी हल्की बारिश होने से ठंड बढ़ गई है। रविवार को मसूरी-देहरादून मार्ग पर गलोगी के पास मलबा आ गया था। लोनिवि ने जेसीबी मशीन से मलबा हटाया और यातायात सुचारू किया।यमुनोत्रीधाम सहित आस-पास के क्षेत्र में तेज बारिश होने के साथ ही धाम से लगी ऊंची चोटियों पर बर्फबारी भी हुई है। नई टिहरी में भी मौसम का मिजाज बदल गया है। नई टिहरी और आसपास के क्षेत्रों में सुबह से बारिश हो रही है। नैनीताल जिले के भवाली में भी बारिश हो रही है। श्रीनगर, देवप्रयाग और कीर्तिनगर सहित अन्य क्षेत्रों में हल्की बूंदा-बांदी हुई। ऋषिकेश में झमाझम बारिश हुई। रुड़की में सुबह आठ बजे से बारिश होती रही।

ज्यादातर जगह बारिश होने के आसारमौसम केंद्र के अनुसार 17 अक्तूबर को उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, टिहरी, पौड़ी, देहरादून, हरिद्वार, पिथौरागढ़, बागेश्वर, अल्मोड़ा, नैनीताल, चंपावत, ऊधमसिंह नगर में अधिकांश क्षेत्रों में बारिश होने का अनुमान है। 18 और 19 को भी ज्यादातर जगह बारिश होने के आसार हैं। 18 अक्तूबर को उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़, बागेश्वर, अल्मोड़ा, नैनीताल, चंपावत, देहरादून, टिहरी व पौड़ी के कई और हरिद्वार व ऊधमसिंह नगर के कुछ इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। इस दौरान 80 किमी प्रति घंटे की तेज रफ्तार से हवाएं भी चल सकती हैं। कई जगह ओले गिरने के आसार हैं।

ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ भी गिरने की संभावनापिथौरागढ़, बागेश्वर, चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी में 3500 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ भी गिर सकती है। मौसम विभाग ने इस दौरान भूस्खलन, जलभराव होने, गाड़-गदेरों में उफान आने और ओलावृष्टि से फसलों, खुले में पार्क वाहनों और जानवरों को नुकसान होने की भी चेतावनी दी है। इससे चारधाम समेत पहाड़ी क्षेत्रों में चल रही यात्राओं पर भी असर पड़ सकता है।

धान की खेती को मौसम की मारडोईवाला में धान की खेतों में कटी फसल को बारिश से नुकसान हुआ है। शनिवार देर रात और रविवार सुबह तड़के हुई बारिश से खेतों में कटी धान की फसल को भारी नुकसान पहुंचा है। किसान उमेद बोहरा ने बताया कि दूधली, शिमलास ज्वालापुर, नागल बुलंदा वाला के अलावा कई क्षेत्रों में धान की फसल की कटाई हो रही है। बारिश होने से कटी फसल को नुकसान होना तय है। किसानों ने कहा कि विभाग की और से भी बारिश का अनुमान एक दिन पहले ही बताया गया। इस बारिश से धान काला पड़ने और सूखने की स्थिति में चावल का दाना टूटने की संभावना रहती है। किसानों ने कहा कि यदि बारिश जारी रही तो नुकसान होना तय है।

और पढो: Amar Ujala »

छात्रों से मिले 51 हजार बिजनेस आइडिया, देखें Business Blasters Programme पर क्या बोले Sisodia

दिल्ली सरकार की नई योजना स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों में उद्यमी एवं व्यावसायिक क्षमता को विकसित करने वाले बिजनेस ब्लास्टर्स प्रोग्राम को लेकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आजतक से खास बातचीत की है. इस दौरान उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में छात्र बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं और कई तरह के अनूठे आइडिया दे रहे हैं. इसकी सफलता को देखते हुए दिल्ली सरकार ने भविष्य में प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों को भी इस प्रोग्राम से जोड़ने की योजना बनाई है. साथ में दिल्ली सरकार के कॉलेजों में भी प्रोग्राम को ले जाने की तैयारी है. देखिए ये वीडियो.

छत्तीसगढ़ के बाद अब भोपाल में दुर्गा विसर्जन समारोह में दौड़ी कार, चपेट में आया बच्चाभोपाल में दुर्गा विसर्जन समारोह में जा रहे लोगों को एक कार ने कुचल दिया. इस हादसे में एक बच्चा घायल हो गया है. घटना भोपाल रेलवे स्टेशन के समीप बजरिया तिराहे के करीब की है. ReporterRavish गजब 🤔 मतलब पहले 'रौंदना / कुचलना' सिर्फ़ शाब्दिक रूप में इस्तेमाल होता था,अब सचमुच में गाड़ियों से रौंदा जाने लगा है🤔 ReporterRavish Ab ye trend bn gya hai ReporterRavish Challo gullo ki team RubikaLiyaquat AMISHDEVGAN mu kholo, Patti utaro mu se jaldi ab 🤬

Delhi Rains: दिल्ली-एनसीआर में बारिश से मौसम हुआ सुहाना, इन राज्यों में रेड अलर्ट जारीराजधानी दिल्ली में आज सुबह से हल्की बारिश हो रही है। आगे मध्यम तीव्रता की बारिश के भी आसार हैं। बादलों की वजह से दिन के समय भी तापमान में भारी गिरावट की उम्मीद है। 18 अक्टूबर यानी सोमवार को भी हल्की बारिश होगी। Bin mausam kheti barbad karne wali बारिश हो रही है। बिना बात की जो भी कुछ फसल खड़ी रह गई थी वो अब बारिश बर्बाद कर देगी। किसान तो परेशान है सरकार वैसे पीछे पड़ी।और उपर से ये बारिश।

पुंछ में आतंकियों से लोहा लेते हुए उत्तराखंड के 2 सपूतों ने दी शहादतदेहरादून। पूरा उत्तराखंड दशहरा पर्व मना रहा है, लेकिन जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में आतंकी मुठभेड़ के दौरान उत्तराखंड के 2 जवानों के शहीद होने की खबर ने इस पर्व के बीच पूरे उत्तराखंड में शोक की लहर दौड़ा दी है। उत्तराखंड में उनके गांवों में शोक छा गया।

इन 6 खिलाड़ियों के कंधे पर है IPL 2021 के फाइनल में जलवा दिखाने की जिम्मेदारीIPL 2021 के फाइनल में चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से वे कौन-कौन से खिलाड़ी हैं जिनके कंधे पर खिताबी मैच में जलवा दिखाने की जिम्मेदारी है। ऐसे ही 3-3 खिलाड़ियों के बारे में इस खबर में आप जानने वाले हैं।

अफ़ग़ानिस्तान के कंधार में शिया मस्जिद में विस्फोट - BBC Hindiअधिकारियों का कहना है कि दक्षिण अफ़ग़ानिस्तान के शहर कंधार में एक शिया मस्जिद में विस्फोट हुआ है. ये रोजमर्रा का काम है । मौज तो अल्लाह के बंदों की है कमर में बंब बांधकर उड़ने और उड़ाकर 72 हूरें प्राप्त करते हैं✌️✌️✌️🤣😂 अबे कितनी नफ़रत करोगे कमबखतों कभी तो रुक जाओ । क्या रखा है इन सब चीज़ों में ।?

राजभर की BJP के साथ आने की अटकलें, यूपी में 'ब्रेकअप' की तैयारी में AIMIMभारतीय सुहेलदेव समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के अगुवाई में बने भागीदारी संकल्प मोर्चा 2022 के चुनावी मैदान में उतरने से पहले ही दरार पड़ती दिख रही है. बीजेपी के साथ राजभर के जाने के आसार के साथ ही असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ने भागीदारी मोर्चा से अलग होने की धमकी दे दी है.