उत्तराखंड में मोदी की मेगा रैली: प्रधानमंत्री ने 18 हजार करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास किया, बोले- विकास की वजह से केदारनाथ में श्रद्धालु बढ़े

उत्तराखंड में मोदी की मेगा रैली: प्रधानमंत्री ने 18 हजार करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास किया, बोले- विकास की वजह से केदारनाथ में श्रद्धालु बढ़े #PMModi #Uttarakhand

Pmmodi, Delhi Dehradun Economic Corridor

04-12-2021 15:10:00

उत्तराखंड में मोदी की मेगा रैली: प्रधानमंत्री ने 18 हजार करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास किया, बोले- विकास की वजह से केदारनाथ में श्रद्धालु बढ़े PMModi Uttarakhand

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को उत्तराखंड में 18 हजार करोड़ रुपए की 11 योजनाओं का शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि केदारनाथ में विकास की वजह से श्रद्धालु बढ़े हैं। आज भारत आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर 100 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा के निवेश के इरादे से आगे बढ़ रहा है। इस शताब्दी की शुरुआत में, अटल जी ने भारत में कनेक्टिविटी बढ़ाने का अभियान शुरू किया था। लेकिन उनके बाद 10 साल तक देश में इंफ्रास्ट्र... | Delhi Dehradun Economic Corridor Inaugurate By Narendra Modi Today, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज उत्तराखंड में 18 हजार करोड़ रुपए की 11 योजनाओं का शिलान्यास करेंगे। इसमें टूरिज्म, सड़क और इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े कई प्रोजेक्ट शामिल हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को उत्तराखंड में 18 हजार करोड़ रुपए की 11 योजनाओं का शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि केदारनाथ में विकास की वजह से श्रद्धालु बढ़े हैं। आज भारत आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर 100 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा के निवेश के इरादे से आगे बढ़ रहा है। इस शताब्दी की शुरुआत में, अटल जी ने भारत में कनेक्टिविटी बढ़ाने का अभियान शुरू किया था। लेकिन उनके बाद 10 साल तक देश में इंफ्रास्ट्रक्चर के नाम पर घोटाले हुए, घपले हुए। इससे देश का जो नुकसान हुआ उसकी भरपाई के लिए हमने दोगुनी गति से मेहनत की और आज भी कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि ये परियोजनाएं इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने में एक अहम भूमिका निभाएंगी। मोदी ने सवाल किया कि जो लोग पूछते हैं कि डबल इंजन की सरकार का फायदा क्या है वे लोग आज देख सकते हैं कि डबल इंजन की सरकार उत्तराखंड में कैसे विकास की गंगा बहा रही है।

मोदी ने कहा कि 5 सालों में केंद्र सरकार ने उत्तराखंड के लिए 1 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा की परियोजनाएं स्वीकृत कीं। यहां की सरकार इन्हें तेजी से जमीन पर उतार रही है। इसी को आगे बढ़ाते हुए आज 18,000 करोड़ रुपए से ज्यादा की परियोजनाओं का शिलान्यास किया जा रहा है। headtopics.com

Mithun Chakraborty on OTT: प्राइम वीडियो की इस सीरीज से होगा मिथुन का ओटीटी डेब्यू, सोनाली, श्रुति और गौहर का मिला साथ

2.5 घंटे में तय होगा 6 घंटे का सफरप्रधानमंत्री की मेगा रैली के लिए देहरादून के परेड ग्राउंड में हजारों लोगों की भीड़ पहुंची। जिन प्रोजेक्ट्स का मोदी ने शिलान्यास किया, उसमें टूरिज्म, सड़क और इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े कई प्रोजेक्ट शामिल हैं। इसमें 8,300 करोड़ का दिल्ली-देहरादून इकोनॉमिक कॉरिडोर भी है। इससे दिल्ली और देहरादून का सफर 6 घंटे से घटकर 2.5 घंटे हो जाएगा।

इसका निर्माण पूरा होने के बाद उत्तर प्रदेश के हरिद्वार, मुजफ्फरनगर, शामली, यमुनानगर, बागपत, मेरठ और बेरूत की कनेक्टिविटी बेहतर हो जाएगी। यह एशिया का सबसे लंबा (12 किलोमीटर) जंगल से गुजरने वाला कॉरिडोर होगा। इसके जरिए जानवरों को परेशान किए बिना गाड़ियां गुजर सकेंगी। कॉरिडोर में 340 मीटर लंबी टनल भी होगी।

देहरादून के परेड ग्राउंड में प्रधानमंत्री मोदी के आने का इंतजार करते भाजपा कार्यकर्ता।इस प्रोजेक्ट में एक ग्रीनफील्ड अलाइमेंट प्रोजेक्टर भी शामिल होगा। इसकी लागत 2000 करोड़ रुपए होगी। इसके अलावा 1600 करोड़ का हरिद्वार रिंग रोड प्रोजेक्ट भी इसके तहत पूरा किया जाएगा। देहरादून से हिमाचल के पांवटा साहिब के लिए भी 1700 करोड़ का रोड प्रोजेक्ट पूरा किया जाएगा।

जब शादी से पहले ही पिता बन गए ये क्रिकेटर

अक्षरधाम (स्टार्टिंग पॉइंट) से देहरादून तक दिल्ली-देहरादून इकोनॉमिक कॉरिडोर की पूरी लंबाई को चार सेक्शन में डिवाइड किया जाएगा।प्रधानमंत्री की इस रैली को लेकर उत्तराखंड भाजपा से लेकर राज्य सरकार तक सभी लोग कई दिनों से तैयारियों में जुटे हुए थे। पार्टी ने रैली में 1 लाख लोगों को जुटाने का लक्ष्य रखा था। headtopics.com

सेक्शन 1सेक्शन 1 को 6एल सर्विस रोड के साथ 6 लेन में डेवलप किया जा रहा है। इसे 2 पैकेजों में डिवाइड किया गया है। पैकेज 1 दिल्ली पोर्शन 14.75 किलोमीटर का होगा। इसमें से 6.4 किमी एलिवेटेड है। पैकेज 2 उत्तर प्रदेश पोर्शन 16.85 किमी को होगा। इसमें से 11.2 किमी एलिवेटेड है। यह सेक्शन दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे (DME) के पास अक्षरधाम मंदिर से शुरू होगा और गीता कॉलोनी, खजूरीखास, मंडोला आदि से होकर गुजरेगा।

सेक्शन 2यह बागपत, शामली, मुजफ्फरनगर और सहारनपुर जिलों से होकर गुजरता है। डिटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट (DPR) तैयार है। भूमि अधिग्रहण की प्रोसेस अभी जारी है।सेक्शन 3यह सहारनपुर बाईपास से शुरू होकर गणेशपुर पर खत्म होगा। पूरी लंबाई को हाल ही में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) ने 4 लेन में पूरा किया है। 100 किमी/घंटा की न्यूनतम गति प्राप्त करने के लिए अंडरपास और सर्विस रोड की योजना बनाई जा रही है।

Legends League Cricket: ब्रेट ली का जलवा कायम- लास्ट ओवर में नहीं बनने दिए 8 रन, देखिए ये Video

सेक्शन 4छह लेन का सेक्शन मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में एक रिजर्व फॉरेस्ट से होकर गुजरता है। 20 किमी में से, 5 किमी ब्राउनफील्ड एक्सपेंशन है और 15 किमी रिअलाइनमेंट है जिसमें एलिवेटेड वाइल्डलाइफ कॉरिडोर (12 किमी) और एक टनल (स्ट्रक्चर 340 मीटर) शामिल है। वाइल्डलाइफ कंसर्न के कारण राइट-ऑफ-वे (ROW) 25 मीटर तक सीमित है। इस सेक्शन के लिए सभी फॉरेस्ट और वाइल्ड लाइफ क्लीयरेंस ले लिए गए हैं।

और पढो: Dainik Bhaskar »

खबरदार: क्या है यूपी में बीजेपी की जाटलैंड पॉलिटिक्स, समझिए

बीजेपी के स्टार प्रचारक केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने चुनाव की कमान पर प्रचार के तीर चढ़ा दिए हैं. अमित शाह गुरुवार को मथुरा-वृंदावन में थे, जहां बांके-बिहारी के दर्शन करने के बाद वो लोगों से मिलने के लिए डोर-टू-डोर गए. प्रचार के पर्चे बांटने के साथ-साथ गृहमंत्री शाह ने जनता को पिछली सरकारों के गुंडाराज की याद भी दिलाई. इसके अलावा यूपी में जाट पॉलिटिक्स भी रूठे को मनाने की मुद्रा में आ गई है. बीजेपी ने जयंत के लिए दरवाजे खुले छोड़े हैं, लेकिन जयंत के तेवर बदले हुए हैं. आज खबरदार में हम बीजेपी की जाटलैंड पॉलिटिक्स को भी डिकोड करेंगे. देखें खबरदार. और पढो >>

ब्रामक विज्ञापन लग रहा,है,पुष्टि करे,इसका हरयाणा और भारत सरकार की कोई योजना नही है,,केवल प्राइवेट बिल्डर ,केवल दीन दयाल जी के नाम का इस्तेमाल कर रहा हैं, कभी धर्म जाति से उपर शिक्षा रोजगार और स्वाथ्य पर भी बात कर लिया करो चौकीदार मोदीजी ने बिहार के बिकास के लिये जो आश्वासन दिया था उसके नतीजा बिहार भुखमरी में नम्बर एक रहा ।🤗🤗🤗

गैरसैंण स्थाई राजधानी स्थापित नही कर पाएं डबल इंजन सरकार में भी सिर्फ मैदानी क्षेत्रों के लिए योजना पहाड़ी क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं और शिक्षा, रोजगार, पलायन के लिए कोई प्रयास नहीं किया गया सिर्फ जुमले दिए गए दुनिया मे अगर फेकूगिरी का अवार्ड किसीको देना पड़े तो इस बन्दे का सबसे पहले नाम होगा ! कुछ भी कर लो मोई जी उत्तराखंड मे कांग्रेस की हवा है। आगे आंधी में बदल जाएगी।

सिर्फ फेकता ही रहता है। कुछ देता नही 😂😂 Itna besharam faku nehi dekha kedarnath me bhagwan shankar ke darshan karne aate hai tera vikas sirf andhbhakt dakhte hai

स्टडी में खुलासा, डेल्टा की तुलना में ओमीक्रोन में दोबारा इंफेक्शन की संभावना तीन गुना ज़्यादा!आंकड़ों के आधार पर पता चला कि ओमिक्रोन पहले हुए संक्रमण से मिली प्रतिरक्षा से बचने की क्षमता रखता है। 27 नवंबर तक कोविड पॉज़ीटिव पाए गए 2.8 मिलियन रोगियों में से 35670 को दोबारा संक्रमण हुआ था क्योंकि वे 90 दिनों में ही दोबारा कोविड पॉज़ीटिव हो गए थे।

शेयर बाजार की तेजी का नतीजा: FD से रकम निकाल कर IPO में लगा रहे हैं निवेशक, बैंक डिपॉजिट में 2.67 लाख करोड़ की कमीपिछले 12-18 महीने से भारतीय बाजार में IPO का क्रेज जमकर चल रहा है। हालात यह है कि लोग अपने फिक्स्ड डिपॉजिट तोड़कर इसका पैसा बाजार में लगा रहे हैं। इस वजह से पिछले पखवाड़े में बैंकों के डिपॉजिट में 2.67 लाख करोड़ रुपए की कमी आई है। | investing FD money in IPO, ipo investment, ipo investment benefits So sad दुख की बात हे अब वो भिखारी बन जायेंगे

Omicron Variant से निपटने की तैयारी में जुटा देश, Travelers Tracing, Testing पर जोर | Omicron IndiaCoronavirus Omicron Variant in India: कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रोन (Coronavirus Omicron Variant) दुनियाभर में तेजी से फैल रहा है और अब तक भारत समेत 2...

प्रशांत किशोर की एंट्री से 'देश में विपक्ष कौन' का मुद्दा और गरमाया - BBC News हिंदीममता बनर्जी ने ये कह कर बहस छेड़ ही है कि 'कोई यूपीए नहीं है'. गुरुवार को इस बहस को और हवा देते हुए प्रशांत किशोर की एंट्री हुई और वे एक बार फिर कांग्रेस पर हमलावर हुए. पढ़ें क्या है पूरा मुद्दा? टूलकिट पर चर्चा कोई मायने नहीं रखता... हाँ अब बेशक प्रशांत की सरकारी नौकरी हैं और बंदा मालामाल हो गया मोदी हैं तो मुमकिन है This man must now work for national welfare instead of using his skills for personal benefits only ! NationFirst bjp की राजनैतिक चातुर्य है कि आज भारत में मज़बूत विपक्ष ही नहीं है,विपक्ष के रूप में कई सारे क्षैत्रिय दल,सभी की अपनी अपनी महत्वाकांक्षाएँ कभी उनको एकजुट होने नहीं देगी। महत्वाकांक्षी मनोवृत्ति में फूट आसानी से डाली जा सकती है,यही bjp की सबसे बड़ी ताक़त है।

Omicron वैरिएंट की बेंगलुरु में दस्तक से बढ़ी टेंशन, कई राज्यों ने बढ़ाई सख्तीकर्नाटक में मिले ओमिक्रॉन के दोनों मरीजों की सैंपल को जीनोम सिक्वेसिंग के लिए भेज दिया गया है ताकि नये वैरिएंट की मारक क्षमता की पक्की जानकारी हासिल की जा सके. अगर ये डेल्टा वेरिएंट की तरह ख़तरनाक हुआ तो मुश्किलें और बढ़ सकती हैं. Kal ke kal flight ✈️ bandh honi chahiye.... आ ही गया 🤔 Let's do all precautions in all de protocol of Covid19,but,Let's not be so much Panic as of now as it's advent has not made huge fatal to deaths in Africa or so,yet. Let de govts provide safety measures&Financial aid too,to the BPL citizens to enable them to get isolated at home!

कश्मीर में कोविड से अनाथ हुए बच्चों की तस्करीः क्या है पूरा मामला - BBC News हिंदीदक्षिण कश्मीर के पुलवामा ज़िला के पम्पोर में स्थित 'ग्लोबल वेलफ़ेयर चैरिटेलब ट्रस्ट' को पुलिस ने गुरुवार को सील कर दिया.