यूपी, देवबंद, जमीयतउलेमाएहिंद, युवाकेंद्र, बजरंगदल, Up, Deoband, Jamiatulemaehind, Youthcentre, Bajrangdal

यूपी, देवबंद

उत्तर प्रदेशः मुस्लिम संगठन द्वारा युवा केंद्र के निर्माण पर हिंदू संगठनों ने विरोध जताया

उत्तर प्रदेशः मुस्लिम संगठन द्वारा युवा केंद्र के निर्माण पर हिंदू संगठनों ने विरोध जताया #यूपी #देवबंद #जमीयतउलेमाएहिंद #युवाकेंद्र #बजरंगदल #UP #Deoband #JamiatUlemaEHind #YouthCentre #BajrangDal

26-10-2021 23:30:00

उत्तर प्रदेशः मुस्लिम संगठन द्वारा युवा केंद्र के निर्माण पर हिंदू संगठनों ने विरोध जताया यूपी देवबंद जमीयतउलेमाएहिंद युवाकेंद्र बजरंगदल UP Deoband JamiatUlemaEHind YouthCentre BajrangDal

मामला देवबंद के केंदुकी गांव का है, जहां जमीयत उलेमा-ए-हिंद के मौलाना महमूद मदनी गुट द्वारा बनवाए जा रहे एक युवा केंद्र के निर्माण को ग्रामीणों के विरोध के बाद जिला प्रशासन ने हस्तक्षेप कर रुकवा दिया. हिंदू संगठनों का दावा है कि केंद्र निर्माण के लिए मंज़ूरी नहीं ली गई है और न ही क़ानूनी औपचारिकताएं पूरी की गई हैं.

लखनऊःउत्तर प्रदेश के देवबंद के केंदुकी गांव में जमीयत उलेमा-ए-हिंद के मौलाना महमूद मदनी गुट द्वारा एक युवा केंद्र के निर्माण से तनाव बढ़ गया है, जिस बीच जिला प्रशासन ने लगभग एक हफ्ते पहले ही इसका काम रुकवा दिया है.इंडियन एक्सप्रेसकी रिपोर्ट के मुताबिक, युवा केंद्र के निर्माण का ग्रामीणों (अधिकतर हिंदू) द्वारा विरोध करने के बाद जिला प्रशासन ने हस्तक्षेप किया. उनका दावा है कि युवा केंद्र निर्माण के लिए मंजूरी नहीं ली गई है और न ही कानूनी औपचारिकताएं पूरी की गई हैं.

BJP सांसद गौतम गंभीर को पिछले छह दिन में तीसरी बार मिली जान से मारने की धमकी Rs 75 में BSNL दे रहा 50 दिन की वैलिडिटी के साथ डाटा और कॉलिंग बेनेफिट्स 'विवादित चेहरा', बेंगलुरु पुलिस बोली रद्द करो मुनव्वर फारुकी का शो, जानें- क्यों?

हाल के दिनों में हिंदू संगठनों ने ग्रामीणों के साथ बैठकें की और आपत्ति जताई. देवबंद से भाजपा विधायक कुंवर बृजेश सिंह ने जांच समिति के गठन के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से आग्रह किया.यह गांव उस स्थान से लगभग 20 किलोमीटर दूर है, जहां राज्य सरकार ने अगस्त में आंतकवाद रोधी दस्ते की एक इकाई का गठन किया. हालांकि, जमीयत उलेमा-ए-हिंद के सहारनपुर के महासचिव जहीन अहमद ने कहा कि संगठन ने एक साल पहले युवा केंद्र के निर्माण का फैसला किया था. उस समय एटीएस की योजना के बारे में कोई जानकारी नहीं थी.

देवबंद के सब डिविजनल मजिस्ट्रेट राजेश कुमार ने सोमवार को बताया कि एक शिकायत के बाद निर्माण कार्य को रोक दिया गया था और जांच जारी है.उन्होंने कहा, ‘मैंने संगठन से जमीन के कागजात और केंदुकी गांव में युवा केंद्र खोलने के लिए मंजूरी पत्र सहित सभी दस्तावेज जमा कराने को कहा है. उन्होंने अभी तक सभी दस्तावेज पूरे नहीं किए हैं.’ headtopics.com

कुमार ने कहा कि ग्रामीणों ने शुरुआत में आशंका जताई कि इलाके में मदरसे का निर्माण किया जा रहा है.इस निर्माण को लेकर अफवाहों और आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए अहमद ने संगठन की ओर से किसी तरह की गलत मंशा से इनकार किया और कहा कि कुछ लोग फर्जी खबरें फैलाकर ग्रामीणों को भ्रमित कर रहे हैं.

अहमद ने कहा, ‘शुरुआत में यह फैलाया किया गया कि हम यहां बूचड़खाना बना रहे हैं. जब हमें समझाया तो समूह ने यह अफवाह फैलाई कि हम मदरसे का निर्माण कर रहे हैं. हम लोगों को समझाया यह भी गलत है. अब वे दोबारा झूठी कहानियां गढ़ रहे हैं और लोगों को भड़का रहे हैं. हम भारत स्काउट्स एंड गाइड्स के तहत युवाओं के लिए प्रशिक्षण केंद्र का निर्माण कर रहे हैं, जिससे समाज के सभी लोगों को लाभ होगा.’

जमीयत के अधिकारी ने कहा कि केंद्र ने लगभग 15 एकड़ जमीन पर युवा केंद्र के निर्माण का प्रस्ताव रखा था, जिसमें एक खेल का मैदान, एथलेटिक ट्रैक, एडवेंचर पार्क और अन्य खेल गतिविधियां शामिल हैं.अहमद ने कहा, ‘यह केंद्र सभी समुदायों और धर्म के लोगों के लिए होगा. हमने पहले ही चार हेक्टेयर जमीन खरीद ली है और बाकी बची जमीन के सौदे को लेकर प्रक्रिया जारी है. एक हफ्ते पहले शिकायत के बाद निर्माणस्थल पर हो रहे रसोई का निर्माण प्रशासन ने रोक दिया. प्रशासन ने हमसे जमीन और संगठन से जुड़े दस्तावेज मुहैया कराने को कहा. हमने शनिवार को इन्हें जमा करा दिया. प्रशासन ने अब तक कोई निर्देश नहीं दिए हैं.’

जमीयत की इस निर्माण योजना का विरोध करते हुए बजरंग दल जैसे हिंदू संगठनों ने ग्रामीणों से मिल चुके अपने कार्यकर्ताओं को इकट्ठा किया है और प्रदर्शन की योजना बना रहे हैं.पश्चिमी यूपी में बजरंग दल के प्रांतीय सहयोजक विकास त्यागी ने कहा, ‘जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने चुपचाप तरीके से जमीन खरीद ली और जिला प्रशासन से बिना किसी मंजूरी के निर्माण कार्य शुरू कर दिया. उन्होंने कृषि जमीन खरीदी और इसमें बदलाव किए निर्माण कार्य शुरू किया. हमने केंदुकी में हुई बैठक के दौरान ऐलान किया कि इस परियोजना के रद्द होने तक नियमित बैठकें होनी चाहिए. हमें उस संगठन की मंशा पर संदेह है.’ headtopics.com

संसद सत्र से पहले सर्वदलीय बैठक में नहीं पहुंचे PM मोदी, AAP नेता ने भी किया बहिष्कार पूर्व सांसद अतीक अहमद के बेटे उमर की मुश्किलें बढ़ीं, CBI ने जारी किया लुकआउट नोटिस UPTET 2021 की परीक्षा रद्द, पेपर लीक के बाद लिया गया फैसला

उन्होंने कहा कि केंदुकी हिंदू बाहुल्य गांव है और इसके आसपास के गांवों में रहने वाले लोग मुस्लिम हैं.विधायक कुंवर बृजेश सिंह ने यह भी दावा किया कि जमीयत ने बिना मंजूरी के केंदुकी में निर्माण करना शुरू किया. संगठन को युवा केंद्र के निर्माण की मंशा को बतानी चाहिए. सिंह ने कहा, ‘स्थानीय निवासी से शिकायत मिलने पर मैंने निर्माण कार्य रोक दिया. मैंने मामले की जांच के लिए मुख्यमंत्री से समिति का गठन करने का आग्रह किया.’

और पढो: द वायर हिंदी »

वारदात: तेज हो गई समीर-नवाब की तकरार, क्या है स्कूल सर्टिफिकेट की सच्चाई?

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के मुंबई के जोनल हेड समीर वानखेड़े के बर्थ सर्टिफिकेट और मैरिज सर्टिफिकेट के बाद महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक कथित रूप से उनके ये दो नए सर्टिफिकेट लेकर आए हैं. नवाब मलिक के मुताबिक समीर दादर के सेंट पॉल हाईस्कूल से प्राथमिक शिक्षा ली थी. इस सर्टिफिकेट में समीर वानखेड़े का नाम वानखेड़े समीर दाऊद लिखा है. यहां ये भी लिखा है कि छात्र की जाति और उपजाति तभी बताई जाए जब वो पिछड़े वर्ग, या अनुसूचचित जाति-जनजाति से आए. जबकि धर्म के कॉलम में लिखा है मुस्लिम. इसके बाद समीर वडाला के सेंट जॉसेफ हाईस्कूल में पढने गए. यहां के स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट में समीर का नाम वानखेड़े समीर दाऊद लिखा है. और धर्म के कॉलम में लिखा है मुस्लिम. दरअसल नवाब मलिक समीर वानखेड़े को मुसलमान साबित करने के लिए इसलिए जुटे हैं क्योंकि अगर उनकी बात सही साबित हो गई तो समीर वानखेड़े के नौकरी खतरे में पड़ जाएगी. देखें वीडियो.

ममता का आरोप: आम लोगों को प्रताड़ित करने के लिए केंद्र ने बढ़ाए बीएसएफ के अधिकारममता का आरोप: आम लोगों को प्रताड़ित करने के लिए केंद्र ने बढ़ाए बीएसएफ के अधिकार Westbengal BSF MamataBanerjee MamataOfficial BJP4India MamataOfficial BJP4India BSF se aam log Kyun pratarit hone lage ...? Police ki chowki to hmsa ghr k as ps hi hoti tab bhi aam log pratarit nahi hote sirf chor logon ko hi pratarna mehsus hoti hai ... MamataOfficial BJP4India डरे हुए आम आदमी = घुसपैठिए !

शाहीन शाह अफ़रीदी ऐसे बने भारत के ख़िलाफ़ मैच में पाकिस्तान के 'शहंशाह' - BBC News हिंदीभारत के ख़िलाफ़ मैच में पाकिस्तान के शाहीन अफ़रीदी ने टॉप ऑर्डर को काफ़ी परेशान किया और पाकिस्तान की जीत की आधारशिला रखी. 2014 के बाद सचमुच का विकास हुआ है पहले भारत के हारने पर टीवी टूटते थे और अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचता था अब शमी को गाली दो और विकास चालू सब चंगा सी Ab Bas Bhi Kar Dijiye Itna To Pak media bhi nahi dikha raha honga Jitna aap Dikhaye Jaa Rahe Hai. IndvsPak ghamand ki haar howee hai

सुप्रीम कोर्ट ने हत्या के एक मामले में 'गैरजरूरी' अपील के लिए उत्तराखंड सरकार को फटकाराशीर्ष अदालत ने उत्तराखंड सरकार द्वारा दाखिल याचिका को खारिज करते हुए चेतावनी दी कि गैरजरूरी याचिका दायर करने की कोशिश पर जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ हो सकती है कार्रवाई। सर्वोच्च न्यायालय उत्तराखंड द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई कर रहा था।

क्रिकेटर शमी के खिलाफ अपशब्दों को हटाने के लिए कदम उठाए गए हैं: फेसबुकभारत को टी20 विश्व कप के पहले मुकाबले में पाकिस्तान के हाथों 10 विकेट से शिकस्त झेलनी पड़ी. शमी भारत के सबसे महंगे गेंदबाज साबित हुए और उन्होंने 3.5 ओवर में 43 रन दिए. ये सब कांग्रेसियों का काम है बीजेपी को बदनाम करने के लिए । TMaryada नाली से गैस बनाने से लेकर रडार तक पर अथाह ज्ञान बाटने वाले साहब ने कोहली को अब तक क्रिकेट पर ज्ञान नही दिया IPLNewTeam Kohli Shami ICCT20WorldCup2021 Cricket INDvPAK BabarAzam ShoaibAkhtar Dhoni Trending Shame TeamIndia india मोहम्मद शमी के अलावा क्या बाकी खिलाड़ी मुजरा करने उतरे थे मैदान में जो भारत हार गया? खेल को भी धर्म से जोड़कर देख रहें हैं दोगले लोग 🙄

यूपी में आज भी बारिश के संकेत, दिल्ली में पारा गिरने से ठंड बढ़ने के आसारDelhi Cold Weather : यूपी के पहासू, डिबाई, नरौरा, गभाना, अतरौली, अलीगढ़ में भी अगले कुछ घंटों में बारिश का अनुमान मौसम विभाग ने जताया था.  वहीं दिल्ली में बरसात के कारण सर्दी ने दस्तक दे दी है. अभी तो यूपी में मौसम बिल्कुल साफ दिखाई दे रहा है बारीस का कोई आसार नहीं दिख रहा है कड़वा चौथ वाले दिन ऐसा 70 साल में पहली बार हुआ है हर दुकानदार छोटे मोटे व्यापारी का नुकसान Acha humko toh pata he nahi tha

गुरु पुष्य नक्षत्र के दिन के शुभ योग, शुभ मुहूर्त, क्या खरीदें और क्या करें, जानिएGuru Pushya Nakshatra 2021 : चंद्रमा का राशि के चौथे, आठवें एवं बारहवें भाव में उपस्थित होना अशुभ माना जाता है। परंतु इस पुष्य नक्षत्र के कारण अशुभ घड़ी भी शुभ घड़ी में परिवर्तित हो जाती है। ग्रहों की विपरीत दशा से बावजूद भी यह योग बेहद शक्तिशाली है, परंतु एक श्राप के चलते इस योग में विवाह नहीं करना चाहिए। इसके प्रभाव में आकर सभी बुरे प्रभाव दूर हो जाते हैं। मान्यता अनुसार इस दौरान की गई खरीदारी अक्षय रहेगी। अक्षय अर्थात जिसका कभी क्षय नहीं होता है। इस शुभदायी दिन पर महालक्ष्मी की साधना करने, पीपल या शमी के पेड़ की पूजा करने से उसका विशेष व मनोवांछित फल प्राप्त होता है।