Uttarpradesh, Mainpuri, School, Discrimination, Schedulecaste, उत्तरप्रदेश, मैनपुरी, स्कूल, अनुसूचितजाति, भेदभाव

Uttarpradesh, Mainpuri

उत्तर प्रदेश: मैनपुरी के स्कूल में दलित बच्चे ख़ुद बर्तन धोकर उन्हें अलग रखने को मजबूर

उत्तर प्रदेश: मैनपुरी के स्कूल में दलित बच्चे ख़ुद बर्तन धोकर उन्हें अलग रखने को मजबूर #UttarPradesh #Mainpuri #School #Discrimination #ScheduleCaste #उत्तरप्रदेश #मैनपुरी #स्कूल #अनुसूचितजाति #भेदभाव

27-09-2021 05:30:00

उत्तर प्रदेश: मैनपुरी के स्कूल में दलित बच्चे ख़ुद बर्तन धोकर उन्हें अलग रखने को मजबूर UttarPradesh Mainpuri School Discrimination ScheduleCaste उत्तरप्रदेश मैनपुरी स्कूल अनुसूचितजाति भेदभाव

मामला उत्तर प्रदेश के मैनपुरी ज़िले में बीवर ब्लॉक के दाउदपुर शासकीय प्राथमिक विद्यालय का है. ग्राम प्रधान पति द्वारा शिकायत पर स्कूल का दौरा करने गए अधिकारियों ने पाया कि मिड-डे मील परोसने के लिए अनुसूचित जाति के बच्चों को दिए गए बर्तन अन्य बर्तनों से अलग रखे गए थे. मामले में प्रधानाध्यापिका को निलंबित करने के अलावा दो रसोइयों को भी काम पर से हटा दिया गया है.

नई दिल्ली:उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले के एक सरकारी स्कूल में अनुसूचित जाति (एससी) के बच्चों को अपनी थाली धुलकर अलग रखने के लिए मजबूर करने का मामला सामने आया है. इसे लेकर स्कूल प्रमुख और दो रसोइयों को हटा दिया गया है.इंडियन एक्सप्रेसकी रिपोर्ट के मुताबिक, मैनपुरी में बीवर ब्लॉक के दाउदपुर शासकीय प्राथमिक विद्यालय में अनुसूचित जाति के बच्चों को मिड-डे मील के लिए इस्तेमाल की गई थाली को खुद ही धुलकर रसोईघर में अलग रखना पड़ रहा था, जबकि इस विद्यालय में 80 में से 60 बच्चे अनुसूचित जाति से हैं.

आगरा जा रही प्रियंका गांधी वाड्रा को UP पुलिस ने हिरासत में लिया कृषि क़ानून पर केंद्र सरकार को ही मानना पड़ेगा, किसान नहीं मानेंगे: सत्यपाल मलिक - BBC News हिंदी तालिबान की तिजोरी खाली, अमेरिका सख़्त; पाकिस्तान, तुर्की, यूरोप तक आँच, चीन-रूस से बनेगी बात - BBC News हिंदी

इसे लेकर जब शिकायत की गई तो अधिकारियों में स्कूल का दौरा किया और पाया कि रसोईघर में एससी जाति के बच्चों की थालियां अलग से रखी हुई थीं.इसके चलते प्रधानाध्यापिका गरिमा राजपूत को बीते शुक्रवार (24 सितंबर) को निलंबित कर दिया गया. दो रसोइयों को भी काम पर से हटा दिया गया, क्योंकि उन्होंने कहा था कि वे अनुसूचित जाति के छात्रों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले बर्तनों को ‘छू नहीं सकते हैं.’

मैनपुरी बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) कमल सिंह ने कहा कि स्कूल में जातिगत भेदभाव को लेकर नवनिर्वाचित सरपंच मंजू देवी के पति द्वारा की गई शिकायत को सही पाया गया है.उन्होंने कहा, ‘हमें बुधवार (22 सितंबर) को इस बारे में शिकायत मिली थी और निरीक्षण के लिए स्कूल में एक टीम भेजी गई थी. अनुसूचित जाति के बच्चों और अन्य बच्चों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले बर्तन अलग-अलग रखे गए थे. प्रखंड विकास पदाधिकारी व अन्य पदाधिकारियों ने विद्यालय का दौरा किया.’ headtopics.com

उन्होंने आगे कहा, ‘इस दौरान रसोइया सोमवती और लक्ष्मी देवी ने अनुसूचित जाति के छात्रों के बर्तनों को छूने से इनकार कर दिया और कहा कि अगर उन्हें ऐसा करने के लिए मजबूर किया गया तो वे स्कूल में काम नहीं कर पाएंगी. उन्होंने जातिसूचक गालियों का भी इस्तेमाल किया.’

सरपंच मंजू देवी के पति साहब सिंह ने कहा कि कुछ माता-पिता ने उन्हें 15 सितंबर को इस भेदभावपूर्ण प्रथा के बारे में बताया था.उन्होंने कहा, ‘18 सितंबर को मैं एक मीटिंग के लिए स्कूल गया था. मैंने देखा कि रसोई गंदी थी और उसमें केवल 10-15 प्लेटें रखी थीं. मैंने रसोइयों से पूछा कि बाकी थालियां कहां हैं, तो उन्होंने कहा कि रसोई में जो थालियां रखी थीं, वे पिछड़े और सामान्य वर्ग के छात्रों की थीं, जबकि 50-60 थालियां अलग-अलग रखी गई थीं.

साहब सिंह ने आगे कहा, ‘मुझे यह भी बताया गया था कि अनुसूचित जाति के छात्रों को अपने बर्तन खुद से धोने और अलग रखने के लिए मजबूर किया जाता है, क्योंकि अन्य जातियों का कोई भी उन्हें छूने को तैयार नहीं होता है.’मैनपुरी समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव का गढ़ है. सपा द्वारा समर्थित मैनपुरी जिला पंचायत सीट जीतने वाले शुभम सिंह ने कहा कि उन्होंने गांव का दौरा किया था.

सिंह ने कहा, ‘भाजपा दलित उत्थान के बड़े-बड़े दावे करती है. वे समुदाय के कुछ नेताओं को खानापूर्ति के लिए कुछ पद देते हैं, लेकिन यह यूपी की वास्तविकता है.’इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर कुछ वीडियो वायरल हुए हैं, जिसमें परिजनों को ये कहते सुना जा सकता है, ‘यहां बच्चे आते हैं, यहां बर्तन धुलवाए जाते हैं. मास्टर लोग धुलवाते हैं. मैंने खुद देखा है. मास्टर से कहा था, उन्होंने अनसुनी कर दी. बच्चों ने भी बताया, घर पे भी बताया.’ headtopics.com

मुस्लिमों का निकाह एक समझौता, हिंदू विवाह की तरह संस्कार नहीं: कर्नाटक हाईकोर्ट आगरा में पुलिस हिरासत में सफ़ाईकर्मी की मौत, क्या है पूरा मामला? - BBC News हिंदी जेल में रोता रहता है मंत्री का बेटा: लखीमपुर हिंसा का आरोपी बार-बार गद्दा और बाहर के खाने की लगा रहा गुहार; 8 दिन से क्वारैंटाइन बैरक है ठिकाना और पढो: द वायर हिंदी »

अमृतसर से ग्राउंड रिपोर्ट: सिख किसान बोले- आंदोलन और धर्म अलग नहीं, निहंग हमारी और हमारे धर्म की रक्षा के लिए सिंघु पर डटे रहेंगे

पंजाब के ज्यादातर किसानों को सिंघु बॉर्डर पर दलित लखबीर सिंह की नृशंस हत्या का मलाल नहीं है। उनका मानना है, आंदोलन और धर्म अलग-अलग नहीं हैं, दोनों एक साथ चलेंगे। प्रदर्शनकारी किसानों का कहना है कि निहंग सिंघु बॉर्डर पर जमे रहेंगे, क्योंकि वे किसानों और सिख धर्म की रक्षा के लिए हैं। | Sikh farmers said - movement and religion are not separate, Nihang will stand on Singhu to protect us and our religion

This was inevitable dear Indians यही है नया भारत का सच ? 😏😏😏aa gye propoganda le kar chal chal

राणा गुरजीत को मंत्री बनाने के विरोध में कांग्रेसी, सिद्धू समेत CM को लिखा खतयह पत्र पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष मोहिंदर सिंह कायपी, विधायक नवतेज सिंह चीमा, बलविंदर सिंह धालीवाल, बावा हेनरी, राज कुमार, शाम चौरसी, पवन आदिया और सुखपाल सिंह खैरा ने लिखा है।

कृषि कानूनों को रद करने के लिए भारत बंद के समर्थन में उतरे विपक्षी दलकांग्रेस और माकपा से लेकर राकांपा और तृणमूल कांग्रेस सरीखे विपक्षी दलों ने किसान संगठनों के 27 सितंबर को बुलाए गए भारत बंद के समर्थन का एलान कर इस मुद्दे पर सरकार की राजनीतिक घेरेबंदी पर फोकस बढ़ाने के इरादे स्पष्ट कर दिए हैं। विपछि दल नही दलाल . भारत_बंद_नहीं_रहेगा 👈🏾 . RakeshTikaitBKU INCIndia BJP4India AamAadmiParty देश को होने वाले नुकसान से गद्दारो को क्या मतलब?

उत्तर पूर्वी दिल्ली: ‘मेरी पिटाई के बाद जेल में डालने की धमकी दी गई’वीडियो: उत्तर-पूर्व दिल्ली की हामिदा इदरीसी का आरोप है कि बीते 30 अगस्त को उनके किरायेदार और पड़ोसियों के बीच झगड़ा हुआ था. उन्होंने बीच-बचाव कर मामला शांत करा दिया था. बाद में दयालपुर थाने के एसएचओ गिरीश जैन और अन्य पुलिसकर्मी उन्हें जबरन थाने ले गए और उनकी बेरहमी से पिटाई की गई. हालांकि पुलिस ने इन आरोपों का खंडन किया है. Delhi police doob maro chullu bhar pani me

न्यूयार्क में UNGA को संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री मोदी, राष्ट्रपति बाइडन को दिया भारत आने का निमंत्रणप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन को भारत आने का निमंत्रण दिया है। यह जानकारी विदेश मंत्रालय ने दी। मंत्रालय ने बताया कि सुविधानुसार जल्द से जल्द अमेरिकी राष्ट्रपति के आने का इंतजार रहेगा। यह जानकारी विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने अपनी ब्रीफिंग में दिया। narendramodi JoeBiden होमगार्ड्स_विभाग- एक वैतनिक स्टाफ हैं जो, कमांडेंट इस्पेक्टर बीओ हवलदार,चपरासी,नाई,मोची, धोबी, फालवर,आदि सब नियमित है। अवैतनिक होमगार्ड्स स्टाफ(स्वयंसेवक) जवान है जो 1962-63 से आज तक नियमित क्यो नही किया गया है? होमगार्ड्स_को_नियमित_करें - PMOIndia

अखिलेश यादव का निशाना, बोले- OBC को जनसंख्या के अनुपात में हक नहीं देना चाहती बीजेपीशनिवार को अखिलेश यादव ने ट्वीट करके लिखा कि भाजपा सरकार ने लंबे समय से चली आ रही ‘ओबीसी’ समाज की गणना की मांग को ठुकरा कर साबित कर दिया है कि वो ‘अन्य पिछड़ा वर्ग’ को गिनना नहीं चाहती है. Obc k liye bjp kch bhi achcha na kre but vote maximum bjp ko jayega kynki ab voting kaam pe ni bs dharm adharit ho gayi hai agar galat hai to sahi mjhe koi bataye aj petrol diesel gas kitna menga hai kisan naujawan pareshan hai mehngai bht hai desh me nafrat falfool rahi hai जितने बढ़े कम ही लगे जितने हुए इच्छाओं के भंवर में मिले स्वयं भाव में सब बसते सब के भाव से खुद ही मिलते अति की चाह हर की होती .. कोई नहीं कहे.. खुद से खुद के अभाव से मिले.. अध्याय से जुडे़ रहे..⚡ रोते-रोते हंसना सीखो, हंसते हंसते, हंसना भारतवासी ने भरी चाबी पांच साल की अब तो २०२४ तक है सहना रोते-रोते हंसना सीखो, हंसते हंसते हंसना जिनकी किस्मत में है सिर्फ रोना, उनको रोते-रोते है रहना रोते-रोते हंसना सीखो, हंसते हंसते हंसना जय श्री राम जय जय श्री राम वन्देमातरम 🌹🌹🌹

SRH को चमत्कार का इंतजार, ऑरेंज कैप की रेस में शामिल हुए धोनी के ओपनर्सचेन्नई सुपरकिंग्स के फाफ डुप्लेसिस ने अब तक 9 मैच में 50.14 के औसत से 351 रन बनाए हैं। वहीं उनके साथी ओपनर ऋतुराज गायकवाड़ ने अब तक 9 मैच में 40.25 के औसत से 322 रन बनाए हैं।