ईरान ने कहा- इसराइल एक ट्यूमर जिसे हटाना है, नेतन्याहू ने दिया जवाब

ईरान ने कहा- इसराइल एक ट्यूमर जिसे हटाना है, नेतनन्याहू ने दिया जवाब

23-05-2020 09:43:00

ईरान ने कहा- इसराइल एक ट्यूमर जिसे हटाना है, नेतनन्याहू ने दिया जवाब

ईरान ने सार्वजनिक तौर पर पहली बार फलस्तीन में सक्रिय सशस्त्र गुटों को हथियार मुहैया कराने की बात मानी है.

को हथियारों की मददहालांकि गज़ा में सक्रिय 'हमास' और 'इस्लामिक जिहाद' जैसे फ़लस्तीनी सशस्त्र गुट ईरान की तरफ़ से मिलने वाले पैसे और हथियारों की मदद की तारीफ़ करते रहे हैं.लेकिन शुक्रवार से पहले ख़ामनेई ने कभी भी सार्वजनिक तौर पर ये बात नहीं कबूल की थी ईरान इन सशस्त्र गुटों को हथियारों की आपूर्ति करता है.

PM Modi Speech Live: पीएम बोले- देश अब खुल गया है, हमें और ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत महाराष्ट्र के राज्यपाल ने की सोनू सूद के काम की तारीफ, कहा देंगे पूरा साथ मुंबई: आधी रात को अस्पतालों के चक्कर लगाती रही प्रेग्नेंट महिला, ऑटो में मौत

ख़ामनेई ने कहा,"ईरान को इस बात का एहसास है कि फ़लस्तीनी लड़ाकों की केवल एक समस्या है और वो है हथियारों की कमी. अल्लाह की मर्जी और मदद से हमने योजना बनाई और फ़लस्तीन में सत्ता का संतुलन बदल गया और गज़ा पट्टी यहूदी दुश्मनों के हमलों के ख़िलाफ़ खड़ी हो सकती है और उन्हें हरा सकती है."

इसराइल के रक्षा मंत्री बेनी गैंट्ज़ ने इस पर कहा,"इसराइल के सामने कई बड़ी चुनौतियां हैं. ख़ामेनेई का बयान इसे पूरी तरह से स्पष्ट कर देता है."बेनी गैंट्ज़ ने फ़ेसबुक पर लिखा,"मैं किसी को ये सलाह नहीं दे सकता कि वो हमारा इम्तेहान ले ले... हम किसी भी किस्म के ख़तरे का सामना करने के लिए हर तरह से तैयार हैं."

इमेज कॉपीरइटHAIDAR HAMDANI/AFP/Getty ImagesImage captionइस साल कोविड-19 की महामारी के कारण ईरान ने 'क़ुड्स डे' से जुड़ी रैलियां स्थगित कर दी थींख़ामेनेईने और क्या कहा?ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता ने शुक्रवार को अपने संबोधन में इसराइल के ख़िलाफ़ बयान देने के अलावा भी बहुत कुछ कहा.

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार ख़ामेनेई ने इस मौके पर कहा,"फ़लस्तीन की आज़ादी हमारी इस्लामी ज़िम्मेदारी है. इस संघर्ष का मक़सद पूरे फ़लस्तीनी इलाक़े की आज़ादी है और फ़लस्तीनियों को उनका मुल्क वापस दिलाना है. अमरीका चाहता है कि इस इलाक़े में यहूदियों की सरकार की मौजूदगी को सामान्य बात बना दी जाए. कुछ अरब देशों की अमरीका परस्त सरकारें इसके लिए हालात तैयार कर रही हैं."

फ़लस्तीन के मुद्दे को समर्थन देने के लिए ईरान हर साल रमज़ान के आख़िरी जुमे के दिन 'क़ुड्स (यरूशलम) दिवस' मनाता है. साल 1979 की क्रांति के बाद से ही ईरान में ये परंपरा चली आ रही है.पिछले 30 सालों में ये पहला मौक़ा है जब ईरान के सुप्रीम लीडर की हैसियत से ख़ामेनेई इस मौक़े पर संबोधित कर रहे थे. हालांकि वे लगातार ये कहते रहे हैं कि फ़लस्तीन का मुद्दा मुस्लिम जगत की सबसे बड़ी समस्या है.

और पढो: BBC News Hindi »

ईरान कट्टर इस्लामिक देश होने के कारण आतंकवाद समर्थन देश हैं जबकि इज़राइल अपनी रक्षा के लिए लड़ने वाला देश है। Pahle morena ko hatao, fir israil ko hatana. Uski techknalogy ke aage ache acche pani bharte hai. Aisa koi doctor hi paida nahi hua Occupied Palestine (Israel) ka Hashar Ham toh ni Dekhenge par aapki hamari Nasle Zarur Dekhegi. Inshallah

मादरचोद इस्राएल हमेशा से था ओर हमेशा रहेगा फारसियों के भूमि में तू सबसे बड़ा जेहादी ट्यूमर है यहूदी तो इजरायल मैं 5 हजार से पहले आते रहते है तेरे जैसे जेहादी ट्यूमर पैदा हुये कुछ ही साल हुये है इज़राइल एक यहूदी मुल्क है जो एन्टी मुस्लिम सोच रखता है। इजरायल एक छोटा सा देश है जिसे परमेश्वर ने आशीष दी और जिसने उसे मिटाने की कोशिश करें परमेश्वर ने उनका हर्ष भी बहुत बुरा करा इसलिए जो उसके बारे में गलत सोचते बोलते और लिखते हैं उन्हें सावधान हो जाना चाहिए

ईजराईल हम हिन्दुस्तानीयो का पहला और प्रिय मित्र देश हैं। Israel murdabad..... ट्यूमर का इलाज जल्दी न किया गया तो वह जानलेवा भी हो जाता है और ईरान को यह समझने में ही बहुत देर हो चुकी है। अब छेड़ा तो अल्लाह मालिक। ईरान को वापस पर्शीया बना देना चाहिए अब ईरान के दिन पुरे हो गये हैं They can't maintain peace even amid pandemic

सो गीदड़ मिलकर भी एक शेर का शिकार नहीं कर सकते .......सहमत हो तो लाइक करके फॉलो करें इस्राइल भारत नही। बिल्कुल सही कहा ईरान ने IsupportIran ईरान एक गठिया दर्द है इसका ऑपरेशन करना बहुत जरूरी है। Why not cure if it and live with it, how many more deaths your ego needs to be satisfied. 😂mr jayega ye बोलने में पैसा थोड़े ही लगता है इसका मतलब कुछ मत बोलिये

Ye sb pasad Britain imperialism ka krya hua hai दोनों देश ही अटूट मित्र है। भारत के और मेरा मनना यह है। की ईरान को भी इसराइल से मित्रता कर लेने चाहिए क्योंकि सुन्नी देश ईरान का कभी साथ नहीं देगे परंतु अगर भारत दोनों देशों को दवाब बनाएगा तो जरुर एक दूसरे के मित्र बन सकते हैं। Bach ke rhna mullo israel walo se

बच के रहना नहीं तो इंग्लैंड तो ऐसे भी इस्लामिक होने जा रहा है It's about person to person opinion, many other million have same opinion about Islam and Muslims ! India ne kabhi Israel Ko support nahi Kiya tha 2014 se pehle kyuki wo log Palestine pe jabran kabja kar rakhe the ye BJP aur jew dono Muslims virodhi h tabhi unko support karte Palestiniyo ki jagah

मुस्लिम जगत को इजरायल के साथ जीने की आदत डालनी चाहिए! Iran ko Israel se mil kar rahna hi Insaniyat ko bacha payega एक न एक दिन तो इजरायल दुनिया के नक्शे से ज़रूर हटेगा Ye wohi Israel 🇮🇱 hai jissne poore Arab ko ek saath sabko pel diya tha bhool gaye.... He's a TUMOR for his sorry not his country. He's a TUMOR for all PERSIANS and the world.

पहले सऊदी अरब से तो निबट लो भाई

ईरान ने इजरायल को बताया ट्यूमर, कहा- इस वायरस को करना होगा खत्म - World AajTakईरान के सुप्रीम लीडर अयोतुल्लाह खामनेई ने शुक्रवार को फिलिस्तीनियों से इजरायल के खिलाफ संघर्ष जारी रखने की अपील की और कहा कि Jihadio tumhari maa chod dega israel 🤣 काहे गिने चुने दिन एक ही दिन में खत्म करना चाहते हो abe top h wo tu khatm ho jayega nkase se😎😎

बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा- कोरोनावायरस शवों से भी फैलता है, इसका कोई सबूत नहीं हैबीएमसी ने पत्र जारी कर कोरोनवायरस के कारण मरने वाले लोगों के शवों के लिए 20 कब्रिस्तानों को चिह्नित किया थाइसी फैसले के खिलाफ कई लोगों ने बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिकाएं दायर की थी, इनमें फैसले को बदलने की मांग की गई थी | Bombay High Court said - there is no evidence that coronavirus spreads from dead bodies mybmc MoHFW_INDIA DrHVoffice कौन है ये डाक्टर साहब पूरी दुनिया में संक्रमित लोगों का अंतिम संस्कार सरकार कर रही शव परिजनों को नहीं सौंपा जा रहा है, और इन्हें लगता है कि शवों से कोरोनावायरस नहीं फैलता है।🤷🏻‍♂️ mybmc MoHFW_INDIA DrHVoffice As per doctor and medical team, in some cases after dead person, doctor did test and in covid report some person get positive. MumbaiHighCourt proof is a not option, if want a proof, so please do testing. PMOIndia AmitShah mybmc MoHFW_INDIA DrHVoffice ऐसा बात तो डाक्टर बता सकता है हाई कोट कैसे बता सकता है

Cyclone Amphan : प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, प्रभावितों को मिलेगी पूरी मदद, रखी जा रही है नजरCyclone Amphan : प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, प्रभावितों को मिलेगी पूरी मदद, रखी जा रही है नजर AmphanCyclon Amphan MamataOfficial PMOIndia MamataOfficial PMOIndia MamataOfficial PMOIndia Ha

राम जन्मभूमि: खुदाई में मिले अवशेष, संतों ने कहा- यह राम मंदिर का प्रमाण हैabhishek6164 Shame on aajtak when Indian citizens eating dead animals on road this channel debate religion abhishek6164 जय श्री राम abhishek6164 बुद्ध नगरी है अयोध्या

अम्फान चक्रवात: पीएम मोदी और अमित शाह ने कहा- मदद में नहीं छोड़ी जाएगी कोई कसरप्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, 'यह चुनौतीपूर्ण समय है, पूरा देश पश्चिम बंगाल के साथ एकजुट होकर खड़ा है।' AmphanSuperCyclone narendramodi PMOIndia HMOIndia MamataOfficial narendramodi PMOIndia HMOIndia MamataOfficial narendramodi PMOIndia HMOIndia MamataOfficial narendramodi PMOIndia HMOIndia MamataOfficial

मदद के लिए छात्र ने सोनू सूद को कहा 'शुक्रिया', अभिनेता ने कहा, 'मां के हाथ का आलू पराठा उधार रहा भाई'मदद के लिए छात्र ने सोनू सूद को कहा 'शुक्रिया', अभिनेता ने कहा, 'मां के हाथ का आलू पराठा उधार रहा भाई' SonuSood Student Lockdown SonuSood SonuSood 👏👏👏🙏🙏🙏❤️❤️ SonuSood Thanks alot sir SonuSood 🙏

e-Agenda Aaj Tak 2020: 1 Year Of Modi Government 2.0, Schedule and List Of Speakers ट्रंप ने चीन को लेकर की दो बड़ी घोषणाएं, WHO से अमरीका को किया अलग आठ जून से लागू होगा अनलॉक का पहला चरण, एक जून से ई-पास की अनिवार्यता समाप्त नरेंद्र मोदी की चिट्ठी- मुझमें कमी हो सकती है, पर देश पर भरोसा ट्विटर पर ट्रेंड #BoycottChineseProducts, अरशद वारसी-मिलिंद सोमन ने किया सपोर्ट e-एजेंडा: 7500 रुपये का कांग्रेसी नारा जनता चुनाव में नकार चुकी है-शाह मोदी सरकार 2.0 के मैन ऑफ़ द मैच हैं अमित शाह? मोदी को टक्कर देना छह साल बाद भी इस क़दर मुश्किल क्यों PM मोदी- अब हमें अपने पैरों पर खड़ा होना ही होगा, जनता को लिखे पत्र की 13 खास बातें शिवसेना नेता राउत की सलाह, CAA को कुछ दिन के लिए ठंडे बस्ते में डालें कोरोना अपडेटः भारत में 24 घंटे में संक्रमण के लगभग 8,000 नए मामले, आँकड़ा पौने दो लाख के पास पहुँचा - BBC Hindi