Teamındia, Cricket, Sport, World Test Championship, Team İndia, Arzan Nagwaswalla, Nagwaswalla Spell

Teamındia, Cricket

इस मैच से चर्चा में आए थे अरजान नागवासवाला, चटकाए थे 10 विकेट, Video

टीम इंडिया के साथ इंग्लैंड जाएंगे अरजान नागवासवाला #TeamIndia #Cricket #Sport

09-05-2021 15:11:00

टीम इंडिया के साथ इंग्लैंड जाएंगे अरजान नागवासवाला TeamIndia Cricket Sport

गुजरात के तेज गेंदबाज अरजान नागवासवाला को पहली बार टीम इंडिया स्क्वॉड में शामिल किया गया है. वह इंग्लैंड जाने वाले भारतीय दल का हिस्सा होंगे. बाएं हाथ के इस गेंदबाज को बतौर स्टैंड बाय टीम में जगह मिली है.

पिछले साल रणजी ट्रॉफी में उन्होंने पंजाब के खिलाफ शानदार गेंदबाजी करते हुए मैच में 10 विकेट निकाले थे. अरजान ने प्रथम श्रेणी में डेब्यू 2018-19 में किया था. उन्होंने मुंबई के खिलाफ मैच में पांच विकेट झटके थे. लेकिन वह चर्चा में 2019-20 में किए गए अच्छे प्रदर्शन के बाद आए.

नीतीश कुमार ने लल्लन सिंह को बनाया जदयू का राष्ट्रीय अध्यक्ष - BBC News हिंदी जंगल की आग, झुलसाती गर्मी और बाढ़ से डूबते शहर- दुनिया में ये क्या हो रहा है? - BBC News हिंदी देश में महंगाई और इकॉनमी की बदहाली नेहरू के 1947 के भाषण से शुरू हुई : MP के मंत्री ने कहा

इस सीजन में उन्होंने 39.4 की औसत से 41 विकेट निकाले थे. अरजान ने इस दौरान तीन 5 विकेट हॉल अपने नाम किए. इसमें से पहला पंजाब के खिलाफ मैच में आया. इस मुकाबले में अरजान ने दोनों पारियों में 5 विकेट लिए थे. मैच में उनके नाम 10 विकेट रहे थे.क्लिक करें:पंजाब के खिलाफ अरजान नागवासवाला की खतरनाक गेंदबाजी

अरजान ने पहली पारी में पंजाब के टॉप ऑर्डर को तहस-नहस कर दिया था. उन्होंने अपनी स्विंग से पंजाब के बल्लेबाजों को क्रीज पर टिकने का मौका नहीं दिया. अरजान ने पहली पारी में 64 रन देकर 5 विकेट लिये थे. इसके बाद दूसरी पारी में उन्होंने 50 रन देकर 5 विकेट निकाले. headtopics.com

अरजान नागवासवाला का ये कारनामा इतिहास में दर्ज हो चुका है. वह अब टीम इंडिया के साथ इंग्लैंड जाएंगे और ये उनके करियर की नई शुरुआत होगी. 23 साल के इस युवा गेंदबाज को दौरे पर काफी कुछ सीखने को मिलेगा. वह नेट्स में विराट कोहली और रोहित शर्मा जैसे दिग्गज बल्लेबाजों के सामने अपनी छाप छोड़ना चाहेंगे.

Live TV और पढो: आज तक »

कम नमक भी जानलेवा: अक्सर बिना नमक खाए व्रत रखते हैं या हैं फिटनेस फ्रीक, तो ध्यान रखें सोडियम की कमी से ये 6 तरह के जोखिम

व्रत रखना बॉडी को डिटॉक्स करने का सबसे अच्छा तरीका है। कुछ लोग धार्मिक होने की वजह से व्रत रखते हैं, तो वहीं कुछ लोग अपने फिटनेस गुरु के कहने पर हफ्ते में कई दिन व्रत रखते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं और केवल मीठा खाकर ही व्रत रखते हैं या फिर नमक कुछ ज्यादा ही कम खाते हैं तो यह खतरनाक हो सकता है। | सावन महीने की शुरुआत हो चुकी है। धार्मिक दृष्टि से यह महीना काफी शुभ माना जाता है। सावन सोमवार के व्रत रखने की प्रथा सालों पुरानी है। कुछ लोग ये सोमवार का व्रत केवल मीठा खाकर रखते हैं. यानी पूरे दिन नमक नहीं खाते हैं। वैसे तो व्रत रखना शरीर के लिए फायदेमंद है लेकिन दिनभर नमक न खाने के कई नुकसान भी हो सकते हैं।

इस राज्य में ऑनलाइन शराब डिलीवरी शुरू, कुछ घंटे में हजारों ऑर्डर, ऐप क्रैशऐप क्रैश हुआ तो लोग इसे ठीक करने की मांग करने लगे. इसे ठीक तो किया गया लेकिन फिर इस ऐप पर डिमांड बढ़ गई. नतीजा यह हुआ कि दोपहर होते-होते इस पर फिर लोड बढ़ गया. App kaa name please

Corona: 24 घंटे में Maharashtra में 53 हजार और Delhi में 17 हजार से ज्यादा मामलेमहाराष्ट्र में कोरोना के 53 हजार 605 नए केस आए हैं, जबकि कोरोना के चलते 864 लोगों की मौत हुई है. उधर, राजधानी मुंबई में कोरोना के मामलों में गिरावट देखी जा रही है. एक दिन में मुंबई में कोरोना के 2678 नए केस आए जबकि 36 सौ से ज्यादा मरीज ठीक हुए. वहीं राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आ रही है. बीते 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के 17 हजार 364 नए केस सामने आ हैं ,जबकि 332 मरीजों की मौत हुई है. देखें वीडियो.

अमेरिका: फीनिक्स में होटल में गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत, सात घायलअमेरिका के फीनिक्स में एक होटल में रविवार को कहासुनी के बाद हुई गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई और सात अन्य घायल

इधर कोरोना पर चल रहे थे अध्ययन, उधर गांवों में फैलने लगी थी महामारीयह वाइरस बड़ा विचित्र है। भारत में कई-कई म्यूटेटेड स्वरूप सक्रिय हैं, जबकि इनमें सबसे खतरनाक है B.1.617.1 है। यह अब तक तीन नए रूप धारण कर चुका है।

‘भारतीय खिलाड़ी बायो-बबल में रोक-टोक के थे खिलाफ,’ मुंबई इंडियंस के कोच का खुलासामुंबई के कोच ने यह भी कहा कि अहमदाबाद में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैचों में 70000 दर्शकों को प्रवेश की अनुमति देना गैर जिम्मेदाराना था और फिर अहमदाबाद में कोरोना संक्रमण के मामले बढ गए।