Resultswithamarujala, Lok Sabha Elections 2019, İnld, Ashok Arora, Ashok Arora Resigns, Election, Abhay Chautala, Chandigarh News İn Hindi, Latest Chandigarh News İn Hindi, Chandigarh Hindi Samachar

Resultswithamarujala, Lok Sabha Elections 2019

इनेलो प्रदेश अध्यक्ष ने ली लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त की जिम्मेदारी, भेजा इस्तीफा

हरियाणा में लोकसभा चुनाव 2019 में करारी शिकस्त के बाद इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशेाक अरोड़ा ने की इसकी नैतिक जिम्मेदारी

25-05-2019 07:04:00

हरियाणा में लोकसभा चुनाव 2019 में करारी शिकस्त के बाद इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशेाक अरोड़ा ने की इसकी नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पद छोड़ दिया। haryanaINLD ResultsWithAmarUjala

हरियाणा में लोकसभा चुनाव 2019 में करारी शिकस्त के बाद इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशेाक अरोड़ा ने की इसकी नैतिक जिम्मेदारी

प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि उन्होंने लोकसभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन न कर पाने पर अपने पद से त्याग-पत्र दे दिया है। इस्तीफा पार्टी सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला को सौंप दिया गया है। इसमें उन्होंने इनेलो सुप्रीमो को आभार जताते हुए कहा कि आपने और आपके परिवार ने मुझे जो मान-सम्मान दिया, उसके लिए वे आपका हृदय से आभार व्यक्त करते हैं।

दिल्ली में बच्ची का यौन उत्पीड़न, 48 घंटे बाद अभियुक्त गिरफ़्तार लंबा खिंचेगा लद्दाख एलएसी का गतिरोध, भारत ने किया साफ लंबा डटे रहने के लिए सेना की तैयारी 'बेरूत रो रहा है, बेरूत चिल्ला रहा है, बेरूत को खाना चाहिए, बेरूत को कपड़े चाहिए'

प्रदेशाध्यक्ष के अनुसार, पार्टी के सभी वरिष्ठ साथियों एवं कार्यकर्ताओं ने उन्हे जो सहयोग एवं समर्थन दिया, उसके लिए उन सभी का भी वह आभार व्यक्त करते हैं। अब इनेलो सुप्रीमो तो तय करना है कि उनका इस्तीफा मंजूर करना है या नहीं। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2005 में अशेाक अरोड़ा ने पार्टी प्रदेशाध्यक्ष की जिम्मेवारी संभाली थी। वह चार बार विधायक रहते हुए एक बार प्रदेश के परिवहन मंत्री और विधानसभा स्पीकर रह चुके हैं। पार्टी ने वर्ष 2009 का लोकसभा और विधानसभा चुनाव उन्ही के नेतृत्व में लड़ा था।

तब इनेलो ने लोकसभा में तो कोई सीट नहीं जीती, मगर विधानसभा में 32 सीटों पर दर्ज की थी। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव भी उनके नेतृत्व में लड़ते हुए इनेलो ने 2 सीटें और विधानसभा में 19 सीटें जीती थी। मगर अब वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भी इनेलो को करारी शिकस्त मिली।

इससे पहले वर्ष 2018 में नगर निगम चुनावों में भी इनेलो हारी थी और जनवरी 2019 के जींद उपचुनाव में भी इनेलो को हार का मुंह देखना पड़ा था। छह महीने पहले इनेलो विघटन भी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा के कार्यकाल में ही हुआ था। लेते हुए पद छोड़ दिया। उन्होंने न केवल अपने इस्तीफे की पेशकश की, बल्कि इनेलो सुप्रीमो एवं पूर्व सीएम ओपी चौटाला को अपना इस्तीफा भी सौंप दिया है। भेजे गए इस्तीफे में उन्होंने पार्टी की हार की पूरी जिम्मेवारी खुद ली है।

विज्ञापनप्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि उन्होंने लोकसभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन न कर पाने पर अपने पद से त्याग-पत्र दे दिया है। इस्तीफा पार्टी सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला को सौंप दिया गया है। इसमें उन्होंने इनेलो सुप्रीमो को आभार जताते हुए कहा कि आपने और आपके परिवार ने मुझे जो मान-सम्मान दिया, उसके लिए वे आपका हृदय से आभार व्यक्त करते हैं।

प्रदेशाध्यक्ष के अनुसार, पार्टी के सभी वरिष्ठ साथियों एवं कार्यकर्ताओं ने उन्हे जो सहयोग एवं समर्थन दिया, उसके लिए उन सभी का भी वह आभार व्यक्त करते हैं। अब इनेलो सुप्रीमो तो तय करना है कि उनका इस्तीफा मंजूर करना है या नहीं।उल्लेखनीय है कि वर्ष 2005 में अशेाक अरोड़ा ने पार्टी प्रदेशाध्यक्ष की जिम्मेवारी संभाली थी। वह चार बार विधायक रहते हुए एक बार प्रदेश के परिवहन मंत्री और विधानसभा स्पीकर रह चुके हैं। पार्टी ने वर्ष 2009 का लोकसभा और विधानसभा चुनाव उन्ही के नेतृत्व में लड़ा था।

तब इनेलो ने लोकसभा में तो कोई सीट नहीं जीती, मगर विधानसभा में 32 सीटों पर दर्ज की थी। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव भी उनके नेतृत्व में लड़ते हुए इनेलो ने 2 सीटें और विधानसभा में 19 सीटें जीती थी। मगर अब वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भी इनेलो को करारी शिकस्त मिली।

सुशांत के कॉल डिटेल्स से हुए कई खुलासे, रिया ने किया था एक्टर का फोन ब्लॉक खुदाई कर रहे किसान की चमकी किस्‍मत, एक साथ मिले लाखों की कीमत के तीन हीरे Coronavirus: हिमाचल के ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी कोरोना पॉजिटिव

इससे पहले वर्ष 2018 में नगर निगम चुनावों में भी इनेलो हारी थी और जनवरी 2019 के जींद उपचुनाव में भी इनेलो को हार का मुंह देखना पड़ा था। छह महीने पहले इनेलो विघटन भी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा के कार्यकाल में ही हुआ था। और पढो: Amar Ujala »

Punjab Election Results 2019 Live Updates: पंजाब में 13 लोकसभा सीटों के लिए 8 बजे से शुरू होगी वोटों की गिनतीपंजाब समेत देश के सभी राज्यों में हुए लोकसभा चुनाव के लिए वोटों की गिनती गुरुवार सुबह 8 बजे से शुरू होगी. पंजाब में पंजाब में अंतिम दिन 19 मई को एक ही चरण में मतदान हुआ था. पंजाब में 13 लोकसभा सीटें और राज्य में 117 विधानसभा क्षेत्र हैं. पंजाब में गुरदासपुर, अमृतसर, खडूर साहिब, जालंधर, होशियारपुर, आनंदपुर साहिब, लुधियाना, फतेहगढ़ साहिब, फरीदकोट, फिरोजपुर, बठिंडा, संगरूर और पटियाला लोकसभा निर्वाचन (Punjab Election s 2019) क्षेत्र हैं. पंजाब की पटियाला सीट पर परनीत कौर कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं. यहां उनका मुकाबला पंजाब डेमोक्रेटिक अलायंस के उम्मीदवार डॉ. धर्मवीर गांधी व अकाली-भाजपा गठबंधन के उम्मीदवार सुरजीत सिंह रखड़ा से है. बठिंडा सीट पर हरसिमरत कौर बादल का कांग्रेस के अमरिंदर सिंह राजा वडिंग से कड़ा मुकाबला है.अमृतसर में भाजपा के टिकट पर केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और कांग्रेस के टिकट पर गुरजीत सिंह औजला चुनाव मैदान में हैं. वहीं, गुरदासपुर में सुनील जाखड़ और भाजपा के सनी देयोल के बीच कड़ा मुकाबला है.

आखिर कहां हैं मोदी की जीत के शिल्पकार अरुण जेटलीनई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई में विपक्ष के चक्रव्यूह को तोड़ते हुए लोकसभा चुनाव में 303 सीटें हासिल कर इतिहास रच दिया। आज देश के पश्चिम तथा उत्तरी भाग में ही नहीं बल्कि पूर्वी हिस्से में भी भगवा लहरा रहा है। इस जीत के शिल्पकारों में एक नाम अरुण जेटली का भी है। भाजपा की जीत में बड़ी भूमिका निभाने वाले अरुण जेटली पार्टी के महाविजय के जश्न के बीच कहीं दिखाई नहीं दे रहे हैं। ऐसे में यह सवाल उठ रहा है कि जेटली आखिर हैं कहां...

'रिजल्ट लूट' की तैयारी, उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा- सड़कों पर बह सकता है खूनपटना। लोकसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले एग्जिट पोल के अनुमानों में राजनीतिक गलियारों में हलचल मचा दी है। नतीजों के बाद महागठबंधन के नेताओं ने कहा कि हम एग्जिट पोल के अनुमानों को सिरे से खारिज करते हैं। राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने प्रेस कॉन्फेंस में चुनाव आयोग पर सवाल उठाया। कुशवाहा ने कहा कि एग्जिट पोल के बाद जनता में खतरनाक आक्रोश है और सड़कों पर खून बह सकता है।

Exit Poll Results 2019: पप्पू यादव बोले, तेजस्वी के अंहकार की वजह से NDA को बढ़त– News18 हिंदीलोकसभा चुनाव 2019 ( Lok Sabha Elections 2019 ) के लिए न्यूज18 के एक्जिट पोल में NDA को पूर्ण बहुमत मिलता दिख रहा है. जबकि अन्य चैनलों के एक्जिट पोल में भी NDA को पूर्ण बहुमत दिखाया गया है. एग्जिट पोल के नतीजे पर जनाधिकार पार्टी के सरंक्षक पप्पू यादव ने न्यूज़18 से कहा कि तेजस्वी यादव के अंहकार और अपरिपक्वता के कारण एग्जिट पोल के नतीजे बिहार में एनडीए को बढ़त दिखा रहे हैं. बिहार में कई मंच को कांग्रेस और राजद ने एक साथ साझा नहीं किया. Brahman ka apman karne waalo ko chunav mei shrp mila कौन सा नशा करता है ये बीबी पप्पु के सेवा मे लगा दिया और सोचता है फल ये खाता बकलोल

CM योगी की सिफारिश पर राज्यपाल ने ओपी राजभर को UP कैबिनेट से किया बर्खास्त तो बोले- हक मांगना बगावत तो समझो हम बागी हैंसुभासपा उत्तरप्रदेश में भाजपा की सहयोगी पार्टी है और 2017 के विधानसभा चुनाव में उसने चार सीटें जीती थीं. लेकिन लोकसभा चुनाव राजभर की पार्टी ने भाजपा के साथ मिलकर नहीं लड़ा. राजभर की पार्टी ने खुद 39 उम्मीदवार चुनाव में उतारे थें. वहीं कुछ सीटों पर उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों के खिलाफ प्रचार भी किया था. हालही राजभर के पुत्र सुभासपा महासचिव अरूण राजभर ने स्पष्ट किया था कि भाजपा के साथ विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन था ना कि लोकसभा चुनाव के लिए.

लोकसभा चुनाव: आखिरी चरण में पीएम मोदी समेत इन दिग्गजों की किस्मत का होगा फैसला-Navbharat Timesलोकसभा चुनाव के आखिरी रण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं। सातवें चरण के चुनाव में यूपी की 13 सीटों के अलावा हिंसाग्रस्त पश्चिम बंगाल की 9, बिहार की 8, पंजाब की 13, हिमाचल प्रदेश की 4, मध्य प्रदेश की 8, झारखंड की 3 सीटों सहित चंडीगढ़ संसदीय सीट पर कई उम्मीदवार अपना दांव आजमा रहे हैं। आखिरी चरण के मतदान में कई दिग्गजों की किस्मत का फैसला होना है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा शत्रुघ्न सिन्हा, सनी देओल, मीसा भारती और किरण खेर जैसी शख्सियतें शामिल हैं। सातवें चरण का चुनाव बीजेपी, कांग्रेस समेत बाकी दलों के लिए लिटमस पेपर टेस्ट की तरह है। इसके लिए सभी पार्टियों के नेताओं ने चुनाव प्रचार में सारी ताकत झोंक दी तो वहीं पश्चिम बंगाल में अमित शाह के रोड शो में बवाल के बाद चुनाव आयोग ने सख्ती बरतते हुए चुनाव प्रचार का समय कम कर दिया था। एक नजर आखिरी चरण के चुनाव की चर्चित सीटें और दिग्गज उम्मीदवारों पर-

एमबीबीएस के छात्र ने परिवार के दबाव में चुनी मौत-Navbharat TimesLucknow Crime News: शुभम एमबीबीएस द्वितीय वर्ष का छात्र था। शुभम पढ़ाई में औसत छात्र था। पुलिस के अनुसार वह पटना के बेगमपुरा के बक्शी मैदान सम्पत चक के निवासी ईएनटी सर्जन शैलेंद्र कुमार का बेटा था।

LIVE: केदारनाथ में साधना के बाद अब बदरीनाथ में PM ने की पूजाकेदारनाथ में साधना के बाद बद्रीनाथ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की पूजा-अर्चना Badrinath Kedarnath पढ़ें अप्डेट्स: Drama queen कर्मठ कर्मयोगी हैं , नरेंद्र दामोदरदास मोदी .

प्यार में धोखा मिलने के बाद गर्भवती प्रेमिका ने युवक को चलती वैन में जलायाझारखंड की राजधानी रांची में एक प्रेमिका ने प्यार में धोखा मिलने के बाद अपने प्रेमी को जिंदा जला दिया है। पीड़ित युवक

पाकिस्तान में सिख दुकानदारों ने दिखाई दरियादिली, इफ्तार के लिए रोजेदारों के दे रहे हैं Discountसिख दुकानदारों का कहना है कि यह छूट सिर्फ उन लोगों को दी जाएगी जिन्होंने रोजा रखा होगा. सिख दुकानदार ने कहा कि रोजादारों का सामान खरीदने पर छूट देने का फैसला इसलिए रखा गया है. इसको दरियादिली नहीं मज़बूरी बोलते हैं। इसे दरियादिली नही भय कहते हैं, वो वहां डरे हुए हैं, ए होता है धर्म, हमारे सीख भाईयो को नमन करता हूं

विवेक ओबेराॅय ने माफी मांगी, कहा- महिलाओं के अपमान के बारे में सोच भी नहीं सकताविवेक ने ट्वीट डिलीट कर कहा- अगर किसी को भी इससे कष्ट पहुंचा तो उन्हें इसका दुख है इससे पहले विवेक ने कहा था कि नेता उनकी बात का राजनीतिकरण करने में जुटे हैं | On Aishwarya Rai meme share issue Vivek Oberoi says politicians are trying to politicise the issue vivekoberoi यह कोई फ़िल्म का सीन नही है जो बोलने के बाद एडिट हो जाए।।न ही कोई नाटक कर रहे हैं।।यह हकीकत होती हैं