Aryankhancase, Aryankhandrugcase, Mumbaihighcourt, Mukulrohatgi, Aryankhanbailhearing, Swara Bhaskar, Shah Rukh Khan, Aryan Khan, Aryan Khan Case, Aryan Khan Bail Verdict, Aryan Khan Drugs, Aryan Khan Case

Aryankhancase, Aryankhandrugcase

आर्यन की बेल पर सुनवाई टली: बॉम्बे हाईकोर्ट कल फिर सुनवाई करेगा, आर्यन के वकील रोहतगी बोले- यंग बॉयज को सुधरने का मौका मिले

आर्यन की बेल पर सुनवाई टली:बॉम्बे हाईकोर्ट कल फिर सुनवाई करेगा, आर्यन के वकील रोहतगी बोले- यंग बॉयज को सुधरने का मौका मिले #AryanKhanCase #AryanKhanDrugCase #mumbaihighcourt #MukulRohatgi #AryanKhanBailHearing

26-10-2021 15:40:00

आर्यन की बेल पर सुनवाई टली:बॉम्बे हाईकोर्ट कल फिर सुनवाई करेगा, आर्यन के वकील रोहतगी बोले- यंग बॉयज को सुधरने का मौका मिले AryanKhanCase AryanKhanDrugCase mumbaihighcourt MukulRohatgi AryanKhanBailHearing

मुंबई क्रूज ड्रग्स केस में गिरफ्तार आर्यन खान की जमानत अर्जी पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने सुनवाई टाल दी है। कोर्ट अब कल यानी बुधवार को इस मामले की सुनवाई करेगा। खास बात ये है कि आज नामी वकील और पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी आर्यन की पैरवी कर रहे हैं। शुरुआत में NCB के वकील ने दलीलें पेश कर आर्यन को जमानत देने का विरोध किया। जांच एजेंसी ने कहा कि जमानत मिलने पर आर्यन गवाहों को प्रभावित कर सकता है। वह दे... | Aryan Khan Mumbai Cruise Drugs Case Bail Hearing Updates | Actor Shah Rukh Khan 's Son Aryan Khan and Arbaaz Merchant Munmun Dhamecha Arrested In Drugs Case

मुंबई क्रूज ड्रग्स केस में गिरफ्तार आर्यन खान की जमानत अर्जी पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने सुनवाई टाल दी है। कोर्ट अब कल यानी बुधवार को इस मामले की सुनवाई करेगा। खास बात ये है कि आज नामी वकील और पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी आर्यन की पैरवी कर रहे हैं। शुरुआत में NCB के वकील ने दलीलें पेश कर आर्यन को जमानत देने का विरोध किया। जांच एजेंसी ने कहा कि जमानत मिलने पर आर्यन गवाहों को प्रभावित कर सकता है। वह देश छोड़कर भाग सकता है।

इसके जवाब में आर्यन के वकील रोहतगी ने कहा कि मेरे क्लाइंट के खिलाफ ड्रग लेने, उसे खरीदने-बेचने का मामला नहीं है। वह अरबाज मर्चेंट के अलावा ड्रग से संबंध रखने वाले किसी शख्स को नहीं जानता है। अरेस्ट मेमो से ऐसा लग रहा है कि आर्यन ड्रग्स रखे हुए थे। मेरा क्लाइंट NCB के किसी अफसर पर आरोप नहीं लगा रहा है।

ये यंग बॉयस हैं, इन्हें सुधार का मौका देंरोहतगी ने कहा कि मुझे विटनेस नंबर 1 और 2 यानी प्रभाकर सैल और केपी गोसावी से कोई मतलब नहीं है, न ही मैं उन्हें जानता हूं। रोहतगी ने कहा कि ये यंग बॉयस हैं। उन्हें सुधार गृह में भेजा जा सकता है। उन पर मुकदमा नहीं चलाया जाना चाहिए। मैंने अखबारों में भी पढ़ा है कि सरकार सुधार के बारे में बात कर रही है। headtopics.com

हाईकोर्ट में आर्यन की पैरवी करने पहुंचे पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी (दाएं)।क्रूज पर जाने से पहले ही गिरफ्तार कियारोहतगी ने कहा- आर्यन और अरबाज 2 अक्टूबर की दोपहर को क्रूज टर्मिनल पहुंचे थे। NCB के कुछ लोग पहले ही टर्मिनल पर मौजूद थे। उनके पास कुछ इन्फॉर्मेशन थी। मेरे क्लाइंट आर्यन और अरबाज को क्रूज पर चढ़ने से पहले ही पकड़ लिया गया। मेरे क्लाइंट से कुछ भी बरामद नहीं हुआ। उसके ड्रग लेने की बात भी साबित नहीं हुई है। उसका अब तक कोई मेडिकल टेस्ट भी नहीं कराया गया है।

आर्यन क्रूज पार्टी का कस्टमर नहीं थारोहतगी ने कहा- यह सारा मामला 2 अक्टूबर से शुरू हुआ था। आर्यन क्रूज पार्टी का कस्टमर नहीं था। वह उसमें एक स्पेशल गेस्ट के तौर पर शामिल हुआ था। उसे प्रतीक गाबा नाम के आदमी ने बुलाया था, जो खुद को इवेंट मैनेजर बता रहा था। गाबा आर्यन और अरबाज मर्चेंट को जानता था।

कोर्ट रूम में रोहतगी की दलीलेंहमने अपनी याचिकाओं में कई बार यह सवाल उठाया कि जो लोग पुलिस ऑफिसर भी नहीं हैं, वे भी पुलिस के अधिकारों का इस्तेमाल कर रहे हैं। वे कहते हैं कि उन्हें गिरफ्तारी का अधिकार है। इसके अलावा वे पुलिस अफसर नहीं हैं।जब किसी तरह की रिकवरी या ड्रग लेने की बात नहीं है, तो मेरे क्लाइंट को गलत तरीके से अरेस्ट किया गया।

रोहतगी ने यह भी बताया कि किस तरह जमानत याचिका हाईकोर्ट तक पहुंची।मेरे क्लाइंट के खिलाफ जो बात कही गई है, वो ये कि वह अरबाज मर्चेंट के साथ आया था। इसलिए माना गया कि आपको ड्रग होने की जानकारी थी।यह अजीब अनुमान है कि मुझे (आर्यन को) इस बात की जानकारी थी और मैं इसके लिए जिम्मेदार था। जबकि यह मेरी जिम्मेदारी थी ही नहीं। किसी के पास जूते में कुछ रखा हो, यह देखना मेरा काम नहीं है। headtopics.com

कॉन्शियस पजेशन का मतलब यह होता है कि जिस चीज के बारे में मुझे जानकारी हो और मेरा कंट्रोल हो। अगर मैं एक कार ड्राइव कर रहा हूं और उसमें कुछ रखा हो, तो यह कॉन्शियस पजेशन का मामला बनता है।मेरा केस यह है कि मेरे क्लाइंट के खिलाफ कॉन्शियस पजेशन का मामला नहीं बनता है। किसी के जूते में क्या है, यह देखना मेरा काम नहीं है। इसलिए यह कॉन्शियस पजेशन का मामला नहीं बनता है।

यह पार्टी जारी रखने से संबंधित केस नहीं है। फिर मेरे क्लाइंट को क्यों टारगेट किया जा रहा है? कई लोग जिनके बड़े और कॉमर्शियल अकाउंट हैं, उन्हें भी गिरफ्तार किया गया है।अगर मेरे क्लाइंट के खिलाफ कॉन्शियस पजेशन का भी मामला हो, तो इसमें 6 ग्राम ड्रग रखने पर अधिकतम 1 साल की सजा हो सकती है। इसलिए मुझ पर सेक्शन 27A के तहत मामला नहीं बनता, मेरे खिलाफ केस दर्ज कराने में षडयंत्र किया जा रहा है।

यह एक सामान्य और अजीब तरह की स्थिति है, जिसमें NDCP के सेक्शन 37 के तहत मामला कायम हुआ और इनडायरेक्ट तरीके से सेक्शन 27A के तहत कार्रवाई की जा रही है।मेरे क्लाइंट के खिलाफ ड्रग लेने, उसे खरीदने-बेचने का मामला नहीं है। वह अरबाज मर्चेंट के अलावा ड्रग से संबंध रखने वाले किसी शख्स को नहीं जानता है।

अरेस्ट मेमो से ऐसा लग रहा है कि आर्यन ड्रग्स रखे हुए थे।मेरा क्लाइंट NCB के किसी अफसर पर आरोप नहीं लगा रहा है। मुझे विटनेस नंबर 1 और 2 यानी प्रभाकर सैल और केपी गोसावी से कोई मतलब नहीं है, न ही मैं उन्हें जानता हूं।रोहतगी ने कहा कि ये यंग बॉयस हैं। उन्हें सुधार गृह में भेजा जा सकता है। उन पर मुकदमा नहीं चलाया जाना चाहिए। मैंने अखबारों में भी पढ़ा है कि सरकार सुधार के बारे में बात कर रही है। headtopics.com

सुनवाई से पहले कोर्ट रूम से भीड़ हटाई गईसुनवाई शुरू होने से पहले ही कोर्ट रूम में इतनी भीड़ हो गई कि उसे हटाने के लिए पुलिस की मदद ली गई। अदालत ने कहा कि जो केस अभी चलने वाला है, उनसे संबंधित लोग ही कोर्ट रूम में उपस्थित रहें। कोर्ट रूम के बाहर लॉबी से भी भीड़ को हटाया गया है । भीड़ की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने पाने की वजह से यह कदम उठाया गया।

NCB ने कहा- गवाहों को प्रभावित कर सकता है आर्यनNCB ने हाईकोर्ट में दाखिल अपने हलफनामे में आर्यन की जमानत का विरोध किया है। NCB ने हलफनामे में कहा है कि शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी गवाहों के साथ मीटिंग कर रही हैं और जांच को प्रभावित करने की कोशिश कर रही हैं। ऐसे में जमानत मिलने पर आर्यन भी गवाहों को प्रभावित कर सकता है। वह देश छोड़कर भाग भी सकता है।

NCB की तरफ से कोर्ट में दाखिल किया गया हलफनामा।आर्यन ने प्रभाकर सैल के आरोपों से पल्ला झाड़ाउधर, आर्यन खान ने भी हलफनामा दायर करके कहा है कि NCB के खिलाफ रिश्वत के आरोपों से उसका कोई लेना-देना नहीं है। हलफनामे में आर्यन ने बताया है कि वह खुद जांच एजेंसी के किसी व्यक्ति के खिलाफ कोई आरोप नहीं लगा रहा है। इस केस के कुछ स्वतंत्र गवाहों की तरफ से जो दावे, बयानबाजी हो रही है, उससे भी उसका कोई वास्ता नहीं है। इसे देखकर साफ है कि आर्यन ने नवाब मलिक या प्रभाकर की तरफ से लगाए आरोपों से पल्ला झाड़ लिया है। प्रभाकर वही शख्स है, जिसने आर्यन केस में 18 करोड़ रुपए में डील होने की बात कही है।

दो बार खारिज हो चुकी आर्यन की बेल एप्लिकेशनइससे पहले आर्यन की बेल एप्लिकेशन दो बार स्पेशल NDPS कोर्ट और किला कोर्ट से खारिज हो चुकी है। जमानत खारिज करते हुए अदालत ने कहा था, 'पहली नजर में ऐसा लग रहा है कि आर्यन ड्रग्स से जुड़ी गतिविधियों में नियमित रूप से शामिल था।'

NDPS कोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि वॉट्सऐप चैट से भी यही लगता है कि आर्यन ड्रग्स सप्लायर के संपर्क में था। इस मामले में कोर्ट ने अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा की जमानत अर्जियां भी खारिज कर दी थीं।नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने तीन अक्टूबर को मुंबई से गोवा जा रहे एक क्रूज से 8 लोगों को गिरफ्तार किया था। फिर उनसे पूछताछ के आधार पर अब तक कुल 20 लोग अरेस्ट किए जा चुके हैं। इस मामले में शाहरुख खान के बेटे आर्यन 8 अक्टूबर से मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद हैं। आर्यन पर NDPS कानून के तहत ड्रग्स रखने और इस्तेमाल करने का आरोप है।

आर्यन की जमानत को लेकर फिलहाल ये 3 स्थितियां बन रही हैंपहली:29 अक्टूबर तक हाईकोर्ट आर्यन की जमानत याचिका पर सुनवाई करे। 29 या इससे पहले जमानत याचिका को मंजूर कर ले। तब आर्यन 29 से 30 अक्टूबर तक अपने घर जा सकते हैं।दूसरी:आज की सुनवाई में आर्यन के वकील जमानत की मांग करेंगे, लेकिन NCB पिछले 3-4 दिनों में हुए नए प्रकरणों और आर्यन की चैट के आधार पर जमानत का विरोध करेगी। सुनवाई एक दिन में हो जाए, इसकी संभावना कम है, क्योंकि बहस लंबी चल सकती है। हाईकोर्ट 29 अक्टूबर तक खुला है।

फिर 30 अक्टूबर को शनिवार और 31 को रविवार है। इसके बाद 1 नवंबर से 15 नवंबर तक दिवाली की छुट्टियां हैं। आमतौर पर शनिवार को कोर्ट में केस की फाइलिंग ही होती है। सुनवाई के चांस कम रहते हैं। हालांकि जज आखिरी मौके पर डिसाइड करें तो स्पेशल कोर्ट सुनवाई कर सकता है। इसमें अगर बेल रिजेक्ट होती है, तो आर्यन को सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगानी होगी।

तीसरी:एक संभावना ये भी है कि NDPS कोर्ट की तरह हाईकोर्ट जमानत पर फैसला 15 नवंबर तक सुरक्षित रखे। हालांकि इसकी उम्मीद बहुत कम है। इसकी एक वजह ये भी है कि दिवाली के बाद जजों के रोस्टर चेंज होंगे, फिर कोई नए जज बेंच पर आएं और फिर से उनके सामने सारी दलीलें रखी जाएं, ऐसा संभव नहीं है।

और पढो: Dainik Bhaskar »

दंगल: क्या अब्बाजान और चिलमजीवी ही यूपी चुनाव के मुद्दे हैं?

उत्तर प्रदेश में चुनाव का माहौल जैसे-जैसे गर्माता जा रहा है, नेताओं की जुबान तीखी होती जा रही है. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार को एक बार फिर चिलमजीवी कह के घेरा है. अखिलेश अक्सर चिलम फूंकने का आरोप लगाकर योगी आदित्यनाथ को घेरते रहे हैं. लेकिन चिलम के नाम पर अखिलेश को जवाब संत समाज की ओर से मिला है. कुछ साधु संतों ने इसे संतों का अपमान बताकर अखिलेश से माफी की मांग की है. आज दंगल में देखें क्या चिलम वाले बयान पर अखिलेश ने संतों की नाराजगी मोल ले ली है? और क्या 2022 के चुनाव में इसका असर पड़ेगा? देखें वीडियो.

Kyo mile desh me ek hajro kesdi hai subko moka mile fir PMOIndia,myogiadityanath शाहरुख खान ने न्याय खरीदने के लिए लंदन से बडे़ वकील को बुला लिया है। आर्यन खान को यदि बेल मिल जाती है तो जनता का बिस्वास न्याय से उठ जाएगा।सूत्रों से पता चला है कि बॉलीवुड के चरसी,नसेड़ी गैंग ने 1000 करोड़ रूपए कानून खरीदने के लिए इकट्ठा किया है।

Being a young boy means doing good work for the country. Young boy does not mean taking drugs. Honorable court punish. There should be equality of justice for the rich and the poor.

आर्यन ख़ान की ज़मानत याचिका पर सुनवाई कल के लिए स्थगित - BBC Hindiबॉम्बे हाई कोर्ट ने मुंबई ड्रग्स केस में आर्यन ख़ान की ज़मानत याचिका पर सुनवाई कल दोपहर ढाई बजे के लिए स्थगित की. आज उनके पैरवी भारत के पूर्व एटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने की. यह न्यायपालिका पर प्रश्न चिन्ह आर्यन खान को जमानत मिलनी चाहिए इतना भी बड़ा गुनाह नहीं किया आजकल तो मर्डर में भी अग्रिम जमानत हो जाती है नेताओं की तो फिर 3 ग्राम ड्रग्स के मामले में इतना लंबा कैसे चल रहा है जबकि ड्रग्स आर्यन खान के पास से नहीं मिली आरोपी का पक्ष बेहतरीन तरीके से रखा रोहतगी साहब ने! May be given bail with stiff conditions. The Mag. Court hadn't jurisdiction to grant bail. Possession maybe disputed, corroborated evidence jeopardize the case. 2018, 19, 20 Gaba chats confirms He is habitual & involved in illegal procurement, purchase & consumption of Drugs.

केंद्रीय मंत्री अठावले ने शाहरुख खान को दी सलाह, आर्यन को भेज दें नशामुक्ति केंद्रकेंद्रीय मंत्री रामदास अठावले (Ramdas Athawale) ने बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान (Shahrukh Khan) को ड्रग ऑन क्रूज (drug on cruise) मामले पकड़े गए आर्यन खान ( Aryan Khan ) को लेकर सलाह दी है कि उसे नशामुक्ति केंद्र (Rehabilitation centre) भेज दिया जाये। इतनी छोटी उम्र में ड्रग्स लेना अच्छा नहीं है। Ye koun hai Agar aryan ne drug nahi liya hai tho tum log kyon beech me aathe ho Tumhara bacchon ko sambalna... Bewda salah bhi deta hai...😂 कभी नही भेजना चाहिए नशामुक्ति केन्द्र, ये बिगड़े हुए दौलत की खदान मुसलमान, केन्द्र को नशेडिय़ों का अड्डा बना देगे,जैसे मुस्लिम महिला सधारघर को बुतखाना बना देती है

आर्यन को जमानत का इंतजार: 18 दिन से जेल में बंद आर्यन की जमानत पर आज बॉम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई, मुकुल रोहतगी करेंगे पैरवीमुंबई क्रूज ड्रग्स केस में गिरफ्तार आर्यन खान की जमानत अर्जी पर आज बॉम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है। खास बात ये है कि आज नामी वकील और पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी आर्यन खान की पैरवी करेंगे। उन्होंने खुद ये जानकारी दी है। रोहतगी सोमवार रात को ही मुंबई पहुंच चुके हैं। आर्यन की अर्जी का सीरियल नंबर 57 है, इस लिहाज से इसकी सुनवाई थोड़ी देर में शुरू होने की उम्मीद है। | Aryan Khan Mumbai Cruise Drugs Case Bail Hearing Updates | Actor Shah Rukh Khan 's Son Aryan Khan and Arbaaz Merchant Munmun Dhamecha Arrested In Drugs Case

आर्यन खान और अनन्या के बीच ड्रग्स को लेकर चैट्स, रह जाएंगे दंग

रामदास अठावले बोले- शाहरुख से मेरा निवेदन, आर्यन को सुधारने के लिए भेजें नशामुक्ति केंद्रअठावले ने ये भी कहा कि नवाब मलिक समीर वानखेड़े का चरित्र हनन करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्हें ऐसे गलत आरोप नहीं लगाने चाहिए। समीर पर लगे आरोपों में कोई तथ्य नहीं है। अंधभक्तों को कान्हा भेजा जाएगा जैसे महाजन के बेटे के साथ था तब तो देश के सभी माता पिता से निवेदन करिए जिनके बच्चे गलत रास्ते पर है, किसी को जेल न भेजा जाए सबको नशामुक्ति केन्द्र भेजा जाए!

जानें अब कौन हैं आर्यन खान के वकील, करेंगे शाहरुख खान के बेटे की पैरवी Aryan Khan Drugs Case: देश के जाने माने वकील और पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी शाहरुख खान के बेटे की तरफ से पैरवी करेंगे।