Traveling, Startup, İndore, Sakshiof Indore, Fond Of Traveling, Started A Safe Travel Startup For Women, Annual Turnover Of 30 Lakhs With Roaming

Traveling, Startup

आज की पॉजिटिव खबर: ट्रैवलिंग की शौकीन इंदौर की साक्षी ने शुरू किया महिलाओं के लिए ट्रैवलिंग स्टार्टअप ; घूमने के साथ 30 लाख का सालाना टर्नओवर

आज की पॉजिटिव खबर: ट्रैवलिंग की शौकीन इंदौर की साक्षी ने शुरू किया महिलाओं के लिए ट्रैवलिंग स्टार्टअप ; घूमने के साथ 30 लाख का सालाना टर्नओवर #traveling #startup #indore

27-10-2021 08:42:00

आज की पॉजिटिव खबर: ट्रैवलिंग की शौकीन इंदौर की साक्षी ने शुरू किया महिलाओं के लिए ट्रैवलिंग स्टार्टअप ; घूमने के साथ 30 लाख का सालाना टर्नओवर traveling startup indore

घूमने का क्रेज काफी लोगों में देखने को मिलता है। फेमिली और फ्रेंड्स के अलावा कई लोग सोलो ट्रेवलिंग यानी अकेले घूमने जाना भी पसंद करते हैं। सोलो ट्रिप मजेदार होने से साथ काफी चुनौतीपूर्ण भी होती है, खासकर लड़कियों के लिए। इन्हीं चुनौतियों को कम करने और ट्रैवलिंग को खास, सुरक्षित और पॉकेट-फ्रेंडली बनाने के लिए इंदौर की साक्षी ने ‘लेट हर ट्रेवल’ (Let Her Travel) नाम से स्टार्टअप शुरू किया है | Sakshi of Indore, fond of traveling , started a safe travel startup for women; Annual turnover of 30 lakhs with roaming

आज की पॉजिटिव खबर:ट्रैवलिंग की शौकीन इंदौर की साक्षी ने शुरू किया महिलाओं के लिए ट्रैवलिंग स्टार्टअप ; घूमने के साथ 30 लाख का सालाना टर्नओवर5 घंटे पहलेलेखक: निकिता पाटीदारकॉपी लिंकवीडियोघूमने का क्रेज काफी लोगों में देखने को मिलता है। फेमिली और फ्रेंड्स के अलावा कई लोग सोलो ट्रेवलिंग यानी अकेले घूमने जाना भी पसंद करते हैं। सोलो ट्रिप मजेदार होने से साथ काफी चुनौतीपूर्ण भी होती है, खासकर लड़कियों के लिए। इन्हीं चुनौतियों को कम करने और ट्रैवलिंग को खास, सुरक्षित और पॉकेट-फ्रेंडली बनाने के लिए इंदौर की साक्षी ने ‘लेट हर ट्रेवल’ (Let Her Travel) नाम से स्टार्टअप शुरू किया है

एजाज पटेल का टेस्ट क्रिकेट में ऐतिहासिक कारनामा, चकमा खाए सभी 10 भारतीय बल्लेबाज़ - BBC News हिंदी पुतिन के दौरे से पहले S-400 मिसाइल सिस्टम पर भारत की दो टूक - BBC News हिंदी PHOTOS: बिना मास्क के हजारों की भीड़ में बांके बिहारी के दर्शन करने पहुंचीं कंगना रणौत, सोशल मीडिया पर शेयर कीं तस्वीरें

साक्षी अब तक गोवा, मनाली, जयपुर सहित 45 टूरिस्ट डेस्टिनेशन पर ट्रिप के लिए ले जा चुकी हैं। अपने स्टार्टअप के जरिए घूमने के साथ कई लोगों को रोजगार भी दे रहीं हैं। साक्षी ने मात्र 5 हजार रुपए की सेविंग्स के साथ स्टार्टअप शुरू किया था और आज वो हर साल 20 लाख रुपए का बिजनेस कर रही हैं।

आज की पॉजिटिव खबर में जानेंगे साक्षी के ट्रैवलिंग के पैशन को प्रोफेशन में बदलने की कहानी ….सोलो ट्रिप से स्टार्टअप का आइडिया आयालेट हर ट्रैवल, महिलाओं के लिए ट्रैवलिंग एक सस्ता और सुरक्षित जरिया है।24 साल की साक्षी बालदे इंदौर के एक निजी कॉलेज से कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहीं हैं। ग्रेजुएशन के शुरुआती दिनों में साक्षी ने अपने दोस्तों के साथ एक ट्रिप प्लान किया। हर बार की तरह इस बार भी प्लान पर पानी फिर गया क्योंकि दोस्तों के पेरेंट्स ने सेफ्टी रीजन्स के चलते उन्हें जाने से मना कर दिया। इस ट्रिप पर साक्षी को अकेले ही जाना पड़ा। इस तरह ये उनकी पहली सोलो ट्रिप थी। headtopics.com

साक्षी बताती हैं, “मेरे दोस्तों के पेरेंट्स ने सेफ्टी रीजन्स के चलते उनका ट्रिप कैंसिल कराया था। जब मैं ट्रिप पर गई तो यहीं सब वहां भी महसूस किया। मैंने लौटने के बाद इस पर काफी सोचा और इस तरह स्टार्टअप का आइडिया आया।”साक्षी ने ट्रिप के बाद इस पर रिसर्च करना शुरू किया। गूगल से लेकर फील्ड रिसर्च और खुद फॉर्म बना कर साक्षी ने सर्वे किए। जिससे उन्हें महिलाओं के ट्रैवल में आने वाली कई परेशानियों का पता चला। उन्होंने इंजीनियरिंग छोड़ महिलाओं के लिए एक सेफ और पॉकेट-फ्रेंडली स्टार्टअप बनाने का फैसला किया।

एक अलग तरह का बिजनेस करना चाहती थी24 साल की साक्षी बालदे नौकरी से अलग अपने पैशन से जुड़े स्टार्टअप को बनाया अपना प्रोफेशन।इंदौर में पली-बढ़ी साक्षी बताती हैं, ‘मैं एक मराठी परिवार से ताल्लुक रखती हूं। हमारे यहां लड़के-लड़कियों दोनों को खूब पढ़ाया जाता है, जिससे उन्हें एक वाइट कॉलर जॉब मिल सके और लाइफ आसानी से चल सके। जब मैंने पढ़ाई के बाद नौकरी ना कर, एक स्टार्टअप करने की बात अपने परिवार के सामने रखी तो पेरेंट्स को धक्का सा लगा। उनके लिए ये बिल्कुल भी एक्सपेक्टेड नहीं था। मैंने मन बना लिया था, इसलिए अपनी 5 हजार की सेविंग्स के साथ नवंबर 2018 में अपना पहला ट्रिप ऑर्गेनाइज किया। ये वन डे ट्रिप था, जिसमें हम 15 लड़कियों के ग्रुप को मांडू ले गए थे। इस ट्रिप की फीस भी स्कूल पिकनिक फीस जैसी ही रखी थी, जिससे हर कोई इसे आसानी से अफॉर्ड कर सके।

आगे की ट्रिप्स के लिए साक्षी के पास पैसे नहीं थे। इसलिए उन्होंने अपनी पढ़ाई के साथ पार्ट टाइम जॉब कर 30 हजार रुपए इकट्ठे किए और ट्रिप्स ऑर्गेनाइज की। री-इंवेस्टमेंट के साथ उन्होंने एक के बाद एक कई ट्रिप्स ऑर्गेनाइज कीं।पूरे 1 साल तक साक्षी ने वन डे टूर ही कराया। फिर बारी थी मध्यप्रदेश के बाहर देशभर में ट्रिप करने की। इसकी शुरुआत उन्होंने झीलों की नगरी उदयपुर से की। अभी तक वो 45 ट्रिप मध्यप्रदेश और 10 से ज्यादा ट्रिप्स गोवा, मनाली, जयपुर जैसी टूरिस्ट डेस्टिनेशन के करवा चुकी हैं। साक्षी कहती हैं, ‘कई लोग महिलाओं से पैसे लेकर ठग लेते हैं, तो वहीं कई बार उन्हें अच्छी सुविधाएं नहीं मिलती। ऐसे में कई महिलाओं का अनुभव खराब होता है। इसलिए हमने अपने सभी पैकेज को सस्ता और सुरक्षित रखा है ताकि ज्यादा से ज्यादा महिलाएं ट्रैवल कर सकें।

यंग्स्टर्स को दे रहीं हैं मौकास्टार्टअप के जरिए कई लड़कियों को काम भी दे रही हैं।साक्षी अपने इस स्टार्टअप के जरिए महिलाओं को रोजगार देने की भी कोशिश कर रही हैं। उनकी टीम में 15 महिलाएं हैं, इनमें से ज्यादातर कॉलेज जाने वाली लड़कियां हैं। साक्षी ने अपनी टीम में अलग-अलग शहरों के लोगों को शामिल किया है जिससे उनके ट्रिप पर आने वाले ट्रेवलर को जगहों के बारे में फर्स्ट हैंड इन्फॉर्मेशन मिल सके। headtopics.com

पराग अग्रवाल: भारत में जन्मे सीईओ का सिलिकन वैली में इतना दबदबा क्यों है? - BBC News हिंदी भारत में ओमिक्रॉन का तीसरा केस: गुजरात के जामनगर में ओमिक्रॉन का केस मिला, द. अफ्रीका से लौटा था शख्स; भारत में अब कुल 3 मामले एजाज़ पटेल का कारनामा, भारतीय टीम के दसों खिलाड़ियों के लिए विकेट - BBC News हिंदी

मार्केटिंग के लिए अपनाया सोशल मीडिया का रास्तास्टार्टअप की जानकारी लोगों तक पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया का लिया सहारा।महिलाओं की ट्रैवलिंग पर बेस्ड 'लेट हर ट्रेवल’ कई महिला ट्रैवलर के लिए पसंदीदा बना चुका है। साक्षी बताती हैं इस स्टार्टअप को शुरू करने के लिए कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा। वो कहती हैं, “मुझे कभी भी फैमिली की तरफ से फाइनेंशियल सपोर्ट नहीं मिला लेकिन दोस्तों ने स्टार्टअप की मार्केटिंग में बहुत मदद की। हमने पोस्टर बनाकर लोगों तक ट्रिप की जानकारी पहुंचाई। वॉट्सऐप स्टेटस पर लोगों से शेयर किया। धीरे-धीरे फैमिली और फ्रेंड्स के जरिए स्टार्टअप को रफ्तार मिली।”

महिलाओं की सुरक्षा का खास ख्यालसाक्षी की इस पहल की वजह से कई महिलाएं कर रहीं सुरक्षित ट्रैवलिंग।साक्षी बताती हैं, ‘मैं खुद एक महिला हूं और अच्छे से जानती हूं कि महिलाओं की सुरक्षा का मुद्दा हर बार उठता ही है खास कर ट्रैवलिंग के दौरान। ट्रिप पर जाने वाले सभी स्टाफ को महिलाओं की सुरक्षा के हिसाब से ट्रेन किया जाता है। उन्हें ग्रूमिंग के साथ ही ट्रिप के दौरान शराब न पीने की हिदायत भी दी जाती है। जिससे किसी भी तरह की परेशानियां खड़ी न हों। नॉर्मल लोकेशन पर ट्रिप के लिए हम सिर्फ फीमेल स्टाफ को रखते हैं। वहीं ट्रैकिंग के दौरान बतौर हेल्पिंग स्टाफ मेल मेंबर्स को बुलाया जाता है।”

और पढो: Dainik Bhaskar »

शंखनाद: Sakshi Maharaj के बिगड़े बोल, कैसे भरोसा जताएं किसान?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने का ऐलान कर दिया, मगर किसानों में अविश्वास की भावना इस कदर भरी हुई है कि वो मानने के लिए तैयार नहीं हैं. अब किसानों के इस अविश्वास पर मुहर लगा दी है बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने, साक्षी महाराज ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है, साक्षी महाराज ने कहा है कि कानून तो बनते बिगड़ते रहते हैं, उनके इस बयान के बाद अब सियासत गरमाई हुई है. साक्षी महाराज का बयान पीएम मोदी के बयान का विरोधाभास बताता है, क्योंकि बीजेपी बताती है कि पीएम को किसानों की चिंता है इसलिए उन्होंने किसान बिल वापस ले लिया, मगर साक्षी महाराज का मानना है कि ये खालिस्तानी और पाकिस्तानी गठजोड़ को खत्म करने के लिए मारा गया हथौड़ा है. देखिए शंखनाद का ये एपिसोड.

जानें अब कौन हैं आर्यन खान के वकील, करेंगे शाहरुख खान के बेटे की पैरवीAryan Khan Drugs Case: देश के जाने माने वकील और पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी शाहरुख खान के बेटे की तरफ से पैरवी करेंगे।

द्रविड़ ने किया टीम इंडिया के हेड कोच के लिए आवेदन, लक्ष्मण संभालेंगे NCA की जिम्मेदारी?RahulDravid VVSLaxman RaviShastri souravganguly TeamIndia headcoach cricketnews NCA BCCI बीसीसीआई ने पहले भी राहुल द्रविड़ से हेड कोच बनने की बात कही थी, लेकिन दब उन्होने मना कर दिया था।

एलन मस्क ने फिर की Dogecoin की तारीफ, SHIB के बारे में दिया चौंकाने वाला बयान!एलन मस्क ने "डॉजकॉइन करोड़पति" ग्लौबर कॉन्टेसोटो के जवाब में ट्वीट किया कि वह Dogecoin को "लोगों के क्रिप्टो" (the people's crypto) के रूप में देखते हैं और बताया कि वह क्रिप्टोकरेंसी को सपोर्ट क्यों करते हैं। भारत देश में वंचित और शोषित वर्गों का एकमात्र सहारा सिर्फ संविधान ही हैं धार्मिक किताबों से कई गुना ज्यादा शक्तिशाली हैं,हमारा पवित्र ग्रन्थ भारत का संविधान

CM की सभा में 'खाने की लूट', VIDEO: शिवराज के मंच से जाते ही खाने के पैकेट के लिए टूटी भीड़, छीनाझपटी पर भी उतारूमुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को पृथ्वीपुर में चुनावी सभा को संबोधित किया। सीएम के मंच से नीचे उतरते ही बाहर नजारा बदल गया। सभा में शामिल होने आए लोगों को जैसे ही पता चला कि खाना बंटना शुरू हो गया है तो उन्होंने दौड़ लगा दी। लोग खाना लेकर आए वाहन में चढ़ने लगे। देखते ही देखते खाने के पैकेट की लूट मच गई। इस दौरान किसी ने 5 से 10 पैकेट तक लूट लिए तो कोई खाली हाथ ही रह गया। | People ran to loot food as soon as they left the stage of CM Shivraj, some ran away with 5 and some 10 packets. Hunger index 101 Yahi bhid ka hissa aapko banana hahate hai ye log Mama ji ki Dhum

ये कैसी बेरूखी: सरकार बदलने के बाद उलझी देवास के हरणगांव की सड़क, 'मामा' के 'भांजों' ने किया चक्काजामये कैसी बेरूखी: सरकार बदलने के बाद उलझी देवास के हरणगांव की सड़क, 'मामा' के 'भांजों' ने किया चक्काजाम MPNews ShivrajSinghChauhan All about the United Nations in just one video, pls watch and share more and more 👍👍

ड्रग्स केस में आर्यन की जमानत के लिए पिता शाहरुख ने उतारे दिग्गज वकीलमुंबई। क्रूज ड्रग्स मामले में फंसे आर्यन को बचाने के लिए पिता शाहरुख खान ने दिग्गज वकीलों की फौज उतार दी है। इस मामले में अब तक वरिष्ठ वकील सतीश मानशिंदे पैरवी कर रहे थे। मानशिंदे ने रिया चक्रवर्ती का केस भी लड़ा था।