Todayinhistory, Allındiaradio, India'sfirst Regular Radio Broadcasting Center Was Started İn Bombay, Which Later Became All India Radio

Todayinhistory, Allındiaradio

आज का इतिहास: बॉम्बे में हुई थी भारत के पहले नियमित रेडियो प्रसारण केंद्र की शुरुआत, यही आगे चलकर ऑल इंडिया रेडियो बना

आज का इतिहास: बॉम्बे में हुई थी भारत के पहले नियमित रेडियो प्रसारण केंद्र की शुरुआत, यही आगे चलकर ऑल इंडिया रेडियो बना #TodayinHistory #AllIndiaRadio

23-07-2021 05:40:00

आज का इतिहास: बॉम्बे में हुई थी भारत के पहले नियमित रेडियो प्रसारण केंद्र की शुरुआत, यही आगे चलकर ऑल इंडिया रेडियो बना TodayinHistory AllIndiaRadio

23 जुलाई 1927 को भारत के वायसराय लॉर्ड इरविन ने बॉम्बे में रेडियो केंद्र का उद्घाटन किया। 1930 में इंडियन ब्रॉडकास्टिंग कंपनी का राष्ट्रीयकरण हुआ। जून 1936 में इंडियन स्टेट ब्रॉडकास्टिंग सर्विस को ऑल इंडिया रेडियो नाम दिया गया। इसी साल ऑल इंडिया रेडियो के जरिए पहले न्यूज बुलेटिन का प्रसारण हुआ था। | India's first regular radio broadcasting center was started in Bombay, which later became All India Radio

आज का इतिहास:बॉम्बे में हुई थी भारत के पहले नियमित रेडियो प्रसारण केंद्र की शुरुआत, यही आगे चलकर ऑल इंडिया रेडियो बना7 मिनट पहलेकॉपी लिंक23 जुलाई 1927 को भारत के वायसराय लॉर्ड इरविन ने बॉम्बे में रेडियो केंद्र का उद्घाटन किया। 1930 में इंडियन ब्रॉडकास्टिंग कंपनी का राष्ट्रीयकरण हुआ। जून 1936 में इंडियन स्टेट ब्रॉडकास्टिंग सर्विस को ऑल इंडिया रेडियो नाम दिया गया। इसी साल ऑल इंडिया रेडियो के जरिए पहले न्यूज बुलेटिन का प्रसारण हुआ था।

चीन के नए सीमा क़ानून पर भारत ने कहा- ये हमारे लिए चिंता की बात है - BBC Hindi म्यांमार में कई बम धमाके, सैन्य सत्ता के खिलाफ़ बढ़ता जा रहा है विरोध - BBC Hindi आगरा: पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने के आरोप में तीन कश्मीरी छात्र गिरफ़्तार - BBC Hindi

हालांकि देश में प्राइवेट तौर पर रेडियो क्लब 1923 से ही शुरू हो गए थे। जून 1923 में रेडियो क्लब ऑफ बॉम्बे और इसके 5 महीनों बाद कलकत्ता रेडियो क्लब की शुरुआत हुई। हालांकि इन दोनों के ट्रांसमीटर ज्यादा शक्तिशाली नहीं थे, इसलिए केवल आसपास के क्षेत्रों तक ही इनकी पहुंच थी।

आजादी के समय भारत में कुल 9 रेडियो स्टेशन थे, लेकिन पाकिस्तान अलग हुआ तो 3 रेडियो स्टेशन पाकिस्तान में चले गए। भारत के पास दिल्ली, बॉम्बे, कलकत्ता, मद्रास, तिरुचिरापल्ली और लखनऊ के स्टेशन बचे। ऑल इंडिया रेडियो की पहुंच तब केवल 11% आबादी तक ही थी। 1956 में ऑल इंडिया रेडियो को आकाशवाणी नाम दिया गया। अगले ही साल विविध भारती की शुरुआत हुई। headtopics.com

आज ऑल इंडिया रेडियो के जरिए 100 से भी ज्यादा देशों में 11 भारतीय और 16 विदेशी भाषाओं में रोजाना 56 घंटे के प्रोग्राम ब्रॉडकास्ट किए जाते हैं।आज ऑल इंडिया रेडियो को दुनिया के सबसे बड़े मीडिया ऑर्गेनाइजेशन में गिना जाता है। भारत की 99.18% आबादी तक ऑल इंडिया रेडियो की पहुंच है। 262 ब्रॉडकास्टिंग स्टेशन के जरिए भारत के 91% इलाकों में ऑल इंडिया रेडियो के प्रोग्राम्स की पहुंच है।

अगर दुनिया में रेडियो की शुरुआत की बात करें तो इसकी शुरुआत 1900 के आरंभ से होती है। 24 दिसंबर 1906 को कनाडा के वैज्ञानिक रेगिनाल्ड फेसेंडेन ने अपना वॉयलिन बजाया। दूर समुद्र में तैर रहे जहाजों में रेडियो सेट पर उनके वॉयलिन की आवाज सुनाई दी। इस तरह दुनिया में रेडियो प्रसारण की शुरुआत हुई।

हालांकि इसके पहले भी रेडियो वेव्स के जरिए संदेश तो भेजे जाते थे, लेकिन एक बार में केवल एक ही रेडियो सेट पर ये पहली बार हो रहा था, जब एक साथ कई रेडियो सेट पर संदेश भेजा गया। इसने ही पब्लिक ब्रॉडकास्टिंग के आइडिया को जन्म दिया।पहले विश्वयुद्ध में रेडियो तरंगों का इस्तेमाल खूब हुआ। धीरे-धीरे दुनिया में प्राइवेट रेडियो स्टेशन खुलने लगे। इंग्लैंड में बीबीसी की शुरुआत हुई।

आज चंद्रशेखर आजाद का जन्मदिनआज भारत की आजादी की लड़ाई के उस जुझारू सिपाही का जन्मदिन है, जिसे अंग्रेज कभी जिंदा नहीं पकड़ पाए। अंग्रेजों ने जब आजाद को चारों ओर से घेर लिया तो उन्होंने खुद को गोली मार ली। जिंदगी भर अंग्रेजों की पहुंच से आजाद ये सिपाही मरते दम तक अंग्रेजों की पहुंच से दूर ही रहा। headtopics.com

पेगासस का प्रेत और लोकतंत्र की आत्मा Toyota की इस कार ने फुल टैंक में 1360 किलोमीटर की माइलेज देकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड Prime Time With Ravish Kumar: Supreme Court पता लगाएगा, कौन है ये Big Brother?

23 जुलाई 1906 को जन्मे चंद्रशेखर मात्र 14 साल की उम्र में ही आजादी के आंदोलन में कूद पड़े थे। असहयोग आंदोलन के दौरान चंद्रशेखर को अंग्रेजों ने गिरफ्तार कर लिया था। उन्हें जज के सामने पेश किया गया। जब जज ने उनसे नाम पूछा तो उन्होंने अपना नाम ‘आजाद’ और पिता का नाम ‘स्वतंत्रता’ बताया। यहीं से चंद्रशेखर तिवारी चंद्रशेखर आजाद बन गए।

9 अगस्त 1925 को हुए काकोरी कांड में चंद्रशेखर आजाद भी शामिल थे। राम प्रसाद बिस्मिल के नेतृत्व में 10 क्रांतिकारियों ने लखनऊ से करीब 16 किलोमीटर की दूर स्थित काकोरी में इस घटना को अंजाम दिया था। क्रांतिकारियों ने सहारनपुर से लखनऊ जाने वाली पैसेंजर ट्रेन को जबरदस्ती रुकवाकर उसमें रखा अंग्रेजों का पैसा लूट लिया था।

इस घटना से बौखलाई अंग्रेज पुलिस ने करीब 40 लोगों को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन आजाद किसी तरह फरार होने में कामयाब हो गए। फरवरी 1931 में आजाद इलाहाबाद में थे। 27 फरवरी को अल्फ्रेड पार्क में आजाद अपने साथी सुखदेव राज के साथ बैठे थे, तभी वहां अंग्रेज पुलिस आ धमकी।

पुलिस ने उन्हें चारो ओर से घेर लिया और फायरिंग करने लगी। आजाद ने सुखदेव को भागने को कहा और अकेले ही पुलिस पर जवाबी फायरिंग करने लगे। जब आजाद के पास एक ही गोली बची तो उन्होंने वो खुद को मारी ली।चंद्रशेखर आजाद ने इसी पेड़ के नीचे खुद को गोली मारी थी।1903: फोर्ड ने बेची थी अपनी पहली कार headtopics.com

दुनिया की बेहद सफल कार कंपनी फोर्ड ने आज ही के दिन 1903 में अपनी पहली कार बेची थी। कंपनी द्वारा कॉमर्शियली बनाया गया ये पहला कार मॉडल था। शिकागो के डेंटिस्ट डॉक्टर अर्नस्ट फेनिंग ने 850 डॉलर में फोर्ड कंपनी की पहली कार मॉडल A खरीदी थी।फोर्ड कंपनी की शुरुआत करने वाली हेनरी फोर्ड एक इंजीनियर थे और अलग-अलग मैकेनिकल कंपनियों में काम कर चुके थे। इससे पहले 1893 में फोर्ड एक छोटा सिंगल सिलेंडर इंजन डिजाइन कर चुके थे। इस इंजन को उन्होंने साइकिल के 4 पहियों पर फिट कर क्वाड्रासाइकिल बनाई थी। इसे फोर्ड द्वारा बनाया पहला व्हीकल माना जाता है।

अपनी बनाई क्वाड्रासाइकिल पर हेनरी फोर्ड।1903 में उन्होंने इंजीनियर की नौकरी छोड़ दी और 12 लोगों के साथ मिलकर फोर्ड मोटर कंपनी की शुरुआत की। कंपनी ने इन्वेस्टर से मिले 28 हजार डॉलर की पूरी रकम अपने पहले मॉडल को बनाने में ही खर्च कर दी थी, लेकिन 3 महीनों में ही कंपनी को 37 हजार डॉलर का फायदा हुआ। 23 जुलाई 1903 को कंपनी ने अपनी पहली कार बेची। इसमें डबल सिलेंडर और 8 हॉर्सपॉवर का इंजन लगा था, जो 47 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से भाग सकती थी।

समीर वानखेड़े: आर्यन ख़ान की गिरफ़्तारी से लेकर ‘हिंदू-मुसलमान’ की पहचान तक - BBC News हिंदी पेगासस मामले पर राहुल गांधी का मोदी-शाह पर हमला, पात्रा का पलटवार - BBC Hindi गृह मंत्री अमित शाह बोले, नरेंद्र मोदी आजादी के बाद देश के सबसे सफल प्रधानमंत्री

23 जुलाई के दिन हुईं राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय महत्व की अन्य घटनाएं…2020:चीन ने अपने पहले मंगल मिशन की शुरुआत की। वेंचांग लॉन्च साइट से चीन ने तियानवन-1 लॉन्च किया।2019:यूके की कंजर्वेटिव पार्टी ने बोरिस जॉनसन को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार चुना। अगले ही दिन जॉनसन यूके के प्रधानमंत्री बने।

2005:मिस्र के शर्म-अल-शेख के रिसॉर्ट में हुए बम धमाकों में 88 लोग मारे गए थे।1962:यूरोप के लाखों लोगों ने सैटेलाइट टेलस्टार के जरिए पहली बार टीवी पर लाइव प्रसारण देखा था। इस घटना को सैटेलाइट कम्यूनिकेशन के क्षेत्र में एक बड़ी उपलब्धि माना जाता है।1904:

चार्ल्स मेंचेस ने पहले आइसक्रीम कोन को बनाया था।1829:अमेरिका के विलियम ऑस्टिन बर्ट ने टाइपोग्राफ का पेटेंट कराया, जिससे बाद में टाइपराइटर का विकास हुआ। और पढो: Dainik Bhaskar »

झूठ के सहारे सावरकर का महिमामंडन क्यों? | Arfa Khanum SHerwani | Savarakar | The Wire Video LIVE

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि विनयाक दामोदर सावरकर के 'दया याचिका' दायर करने को एक ख़ास वर्ग ने ग़लत तरीक़े से फैलाया. उन्होंने दावा किया कि सावरकर न...

आज पहली बार किसी मीडिया संस्थान के tex चोरी करने का मामला सामने आया है। टेक्स चोर दैनिक भास्कर ग्रुप सूर्योदय काशी के अस्सी से We support Dainik Bhaskar for real news

नवजोत सिंह सिद्धू का अमृतसर में शक्ति प्रदर्शन, 62 विधायकों के साथ का दावाकैप्टन अमरिंदर सिंह की तरफ से अभी तक सिद्धू को लेकर कोई बयान नहीं आया है, लेकिन एक दिन पहले ही उनके मीडिया सलाहकार ने कहा था कि जब तक सिद्धू माफी नहीं मांगेंगे सीएम उनसे नहीं मिलेंगे।

जम्मू कश्मीर: भाजपा के दो कार्यकर्ता आतंकवादी हमले का नाटक रचने के आरोप में गिरफ़्तारजम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा ज़िले के अधिकारियों ने कहा कि भाजपा के दो कार्यकर्ताओं इशफ़ाक़ मीर तथा बशारत अहमद ने अपनी सुरक्षा बढ़वाने के लिए सुरक्षाकर्मियों के साथ मिलकर बीते 16 जुलाई की रात कुपवाड़ा के गुलगाम में हमला करवाया था. इस दौरान भाजपा ज़िलाध्यक्ष मोहम्मद शफ़ी मीर के बेटे के हाथ में चोट आई थी. घटना के बाद भाजपा ने मोहम्मद शफ़ी मीर को निलंबित कर दिया है. Ye क्या सुन लिए narendramodi AmitShah rajnathsingh myogiadityanath बेशर्म तो बहुत देखे हैं लेकिन जो सत्ता के लिए बेशर्म हो जाए ऐसा पहली बार देखा है। पूरा देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें। BhatkhalkarA तुमच्या पक्षाची नौटंकी इथपर्यंत पोहचली लाजा कशा वाटत नाही निर्लज्जननो

केरल में 2 दिन के संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलानकोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए केरल सरकार ने पूरे राज्य में 2 दिन यानी 24 और 25 जुलाई को संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान किया है। इस दौरान 12 और 13 जून 2021 को जारी किए गए दिशानिर्देशों का पालन किया जाएगा।

Tokyo Olympics: कोरोना का खतरा- ओपनिंग सेरेमनी में भारत के 20 ही खिलाड़ी उतरेंगेकोविड-19 जुड़ी चिंताओं और अगले दिन कुछ प्रतियोगिताओं के आयोजन के कारण भारत के 7 खेलों के 20 खिलाड़ी और छह अधिकारी ही शुक्रवार को यहां ओलंपिक के उद्घाटन समारोह में हिस्सा लेंगे.

कोरोना वायरस: केंद्र के ही अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से मरने वालों का रिकॉर्ड नहींकोरोना वायरस: केंद्र के ही अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से मरने वालों का रिकॉर्ड नहीं Coronavirus OxygenShortage Covid19Deaths mansukhmandviya MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI mansukhmandviya MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI This is the way, the government manipulates the things. mansukhmandviya MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI सच को कितना भी छुपाने की कोशिश कर ले हिटलर सरकार सच कभी दब नही सकता चौकीदार झूठा है DainikBhaskar bstvlive brajeshlive priyankagandhi SoniaGhandhiIND SoniaGandhiIND AcharyaPramodk narendramodi 09LJTVSDFjPwncR RahulGandhi ravishndtv BBCWorld BBCNews mansukhmandviya MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI BJP का एक-एक कदम BJP की भविष्य की राजनीति तय करेगा। निजीकरण-UP में 1600 शिक्षकों की मौत,700 किसानों की मौत। Oxygen की कमी से कोई मौत नहीं हुई, Father Stan Swamy की मौत, अयोध्या ज़मीन घोटाला, Pegasus जासूसी कांड, Danik Bhaskar अखबार पर छापा।

कोरोना एहतियात के साथ खेलों के महाकुंभ का आगाजखिलाड़ियों का पूजनीय स्थल है ओलंपिक। अपनी मेहनत, लगन और तपस्या को अंजाम देने का संकल्प लेकर दुनिया के हर कोने से खिलाड़ी इस भव्य खेल मेले में उतरते हैं।