Jeevanmantra, Aaj Ka Jeevan Mantra By Pandit Vijayshankar Mehta, Motivational Story Of Swami Vivekanand, Life Management Tips By Vivekanand, We Should Have Respect For Others

Jeevanmantra, Aaj Ka Jeevan Mantra By Pandit Vijayshankar Mehta

आज का जीवन मंत्र: दूसरों का अपमान करने वाले को खुद भी एक दिन बेइज्जती झेलनी पड़ती है, अपने व्यवहार और शब्दों को संयमित रखें

आज का जीवन मंत्र: दूसरों का अपमान करने वाले को खुद भी एक दिन बेइज्जती झेलनी पड़ती है, अपने व्यवहार और शब्दों को संयमित रखें @hamare_hanuman #JeevanMantra

27-03-2021 06:42:00

आज का जीवन मंत्र: दूसरों का अपमान करने वाले को खुद भी एक दिन बेइज्जती झेलनी पड़ती है, अपने व्यवहार और शब्दों को संयमित रखें hamare_hanuman JeevanMantra

कहानी - एक दिन स्वामी विवेकानंद किसी गांव में प्रवचन देने जा रहे थे। उनके साथ कई शिष्य भी थे। रास्ते में उनके एक विरोधी का घर भी था। स्वामीजी के विरोधी ने जब उन्हें देखा तो वह गुस्सा हो गया। | aaj ka jeevan mantra by pandit vijayshankar mehta , motivational story of swami vivekanand , life management tips by vivekanand , we should have respect for others

Aaj Ka Jeevan Mantra By Pandit Vijayshankar Mehta, Motivational Story Of Swami Vivekanand, Life Management Tips By Vivekanand, We Should Have Respect For OthersAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपआज का जीवन मंत्र:दूसरों का अपमान करने वाले को खुद भी एक दिन बेइज्जती झेलनी पड़ती है, अपने व्यवहार और शब्दों को संयमित रखें

राजस्व में कमी की भरपाई के लिए दूसरी छमाही में 5.03 लाख करोड़ रुपये का कर्ज लेगी सरकार पाकिस्‍तान में बेरोजगारी दर सबसे उच्‍चतम स्‍तर पर, चपरासी के 1 पद के लिए 15 लाख लोगों ने किया आवेदन दिग्विजय के शिशु मंदिर वाले बयान पर होगी FIR: राष्ट्रीय बाल आयोग ने DGP को लिखा पत्र; कहा- पूर्व CM के बयान से बच्चों के सम्मान को ठेस पहुंची, FIR दर्ज करें

3 घंटे पहलेकॉपी लिंककहानी -एक दिन स्वामी विवेकानंद किसी गांव में प्रवचन देने जा रहे थे। उनके साथ कई शिष्य भी थे। रास्ते में उनके एक विरोधी का घर भी था। स्वामीजी के विरोधी ने जब उन्हें देखा तो वह गुस्सा हो गया।वह व्यक्ति विवेकानंद से नफरत करता था। जैसे ही उसने स्वामीजी को देखा वह दौड़कर उनके पास पहुंचा और जोर-जोर से गालियां देने लगा। स्वामीजी ने उसकी बातों पर ध्यान नहीं दिया और वे आगे बढ़ते रहे। विरोधी व्यक्ति भी उनके पीछे-पीछे चलते हुए चिल्ला-चिल्लाकर गालियां दे रहा था।

स्वामीजी के साथ चल रहे सभी शिष्य उस व्यक्ति के गलत व्यवहार से परेशान हो रहे थे, उन्होंने देखा कि स्वामीजी सभी से बात करते हुए शांति से आगे बढ़ रहे हैं। विरोधी व्यक्ति को किसी ने रोका-टोका नहीं तो वह आजाद हो गया, और ज्यादा गंदे शब्दों का उपयोग करने लगा। वह गालियां देते-देते हद पार कर रहा था। headtopics.com

कुछ ही देर बाद वे लोग उस गांव की सीमा तक पहुंच गए, जहां स्वामीजी को प्रवचन देना था। वहीं गांव की सीमा पर स्वामीजी रुके और उस विरोधी व्यक्ति से कहा, ‘देखो भइया, तुम बहुत विद्वान हो। शब्दों का भंडार तुम्हारे पास है। उन शब्दों को गालियां बनाकर जितना तुम मुझे दे सकते थे, तुमने दे दिया है। मुझे इसी गांव में जाना है। अब तुम यहीं रुक जाओ, क्योंकि मेरे पीछे-पीछे तुम इस गांव में आओगे और इसी तरह मुझे गालियां देते रहोगे तो सभा स्थल पर मेरे जो भक्त हैं, वे तुम्हें दंड देंगे और मैं तुम्हें उन लोगों से बचा नहीं पाऊंगा। मुझे तकलीफ होगी कि मेरी वजह से तुम्हारे जैसे विद्वान व्यक्ति की पिटाई हो गई। पिटोगे तुम और पाप मुझे लगेगा। अच्छा तो ये है कि तुम यहीं रुक जाओ और वापस लौट जाओ। जो भेंट तुमने मुझे दी है, वह भी अपने साथ वापस ले जाओ।’

विवेकानंदजी का व्यवहार देखकर वह व्यक्ति चौंक गया। उसे ऐसे व्यवहार की उम्मीद ही नहीं थी। वह स्वामीजी के पैरों में गिर पड़ा और उनसे क्षमा मांगने लगा।सीख -स्वामीजी ने उस व्यक्ति को समझाया कि किसी के भी साथ गलत काम करोगे तो दंड पता नहीं किस तरीके से मिलेगा, क्योंकि कर्मों का फल तो मिलता ही है। इसीलिए सभी के साथ सम्मान के साथ व्यवहार करें। अच्छे शब्दों का उपयोग करें। किसी के लिए भी गलत बात न करें।

और पढो: Dainik Bhaskar »

US दौरे पर PM मोदी, अब होगा आतंक पर वार! देखें हल्ला बोल

दो साल बाद अमेरिका के लिए पीएम मोदी की उड़ान तेजी से बदलती दुनिया में भारत की आन-बान और शान को दमदार अंदाज़ में दर्ज कराएगी. ये पहला मौका होगा जब प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर जो बाइडेन आमने सामने मुलाकात करेंगे. माना जा रहा है कि पीएम मोदी और जो बाइडेन की मुलाकात में अफगानिस्तान में तालिबान राज और उसके बाद के बढ़ते खतरे पर भी बात होगी. भारत और अमेरिका के बीच द्विपक्षीय रिश्तों को मजबूती देने के अलावा प्रधानमंत्री के एजेंडे में आतंकवाद पर दुनिया को कड़ा संदेश देना भी शामिल होगा. SCO की बैठक में पीएम मोदी आतंकवाद को लेकर चीन और पाकिस्तान के सामने खरी-खरी सुना चुके हैं. आज हल्ला बोल में देखें इसी मुद्दे पर चर्चा.

आज का जीवन मंत्र: प्रकृति का संदेश समझें, प्राकृतिक संसाधनों का दुरुपयोग करने से बचेंकहानी - त्रेतायुग में राक्षसों का आतंक काफी बढ़ गया था। राक्षसों से तंग आकर मुनि विश्वामित्र अयोध्या पहुंचे। अयोध्या में विश्वामित्र ने राजा दशरथ से कहा, 'आप मुझे अपने दो पुत्र राम-लक्ष्मण कुछ दिनों के लिए सौंप दीजिए। मैं इन्हें वन में ले जाऊंगा। वन में राक्षसों का आतंक है। राम-लक्ष्मण उन राक्षसों का वध कर देंगे और सभी ऋषि-मुनियों को सुरक्षित करेंगे। | aaj ka jeevan mantra by pandit vijayshankar mehta , significance of natural resources, story of ramayana, ram and vishwamitra hamare_hanuman Yeh Sarkar Ko smjhao

COVID-19 : सीबीआइसी का अधिकारियों को निर्देश, आयातित जीवन रक्षक वस्तुओं का तुरंत करें निपटानबोर्ड ने कहा कि उसने अपने सभी फील्ड अधिकारियों को सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ इन खेपों का निपटान करने के निर्देश दिए हैं। सीबीआइसी ने अधिकारियों से कहा है कि कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है।

आज का दिन: आरोपों पर ममता को EC का जवाब, बीजेपी ने कैसे किया रिएक्ट?बीते दिनों ममता बनर्जी ने कहा था कि शिकायत के बाद भी चुनाव आयोग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा. अगर ऐसा जारी रहा, तो वे मामले को लेकर कोर्ट जाएंगी. पोलिंग बूथ पर धांधली की शिकायत पर अब चुनाव आयोग ने जवाब दे दिया है. नक्सलियों हमले में 23 जवान शहीद हो गए लेकिन तुम लोगों ने 1घण्टे की खबर नहीं मिली अगर कोई नेता अभिनेता को सरदर्द भी हो जाता तो रोज live telecast करते हैं दिनभर एक ही खबर बार बार दिखाते है

मुख्तार अंसारी का यूपी पुलिस के साथ 15 घंटे का सफर, पत्नी को एनकाउंटर का डरयूपी में मऊ के बीएसपी विधायक मुख्तार अंसारी की कस्टडी पाने के लिए यूपी सरकार को सुप्रीम कोर्ट में लड़ाई लड़नी पड़ी थी, लेकिन अब जब मुख्तार यूपी लाया जा रहा है, तो उसका परिवार उत्तर प्रदेश में सुरक्षा का रोना रो रहा है. मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां ने आशंका जतायी है कि मुख्तार को फर्जी एनकाउंटर में मारने की साजिश रची जा सकती है. हजारों को मौत के घाट उतारने वाले को अपनी मौत से डर लग रहा है YogiHaiToMumkinHai काश उसकी आशंका सच हो जाए। आमीन Isko nahi encounter Karega next tym he will join ...,

आज का शब्द: अटल और शिवमंगल सिंह 'सुमन' की कविता- फिर व्यर्थ मिला ही क्यों जीवनआज का शब्द: अटल और शिवमंगल सिंह 'सुमन' की कविता...फिर व्यर्थ मिला ही क्यों जीवन AajkaShabd Hindi HindiNews सदैवनिर्वाचनकार्यमेंपूर्णसहयोगकरतेउप्रकेशिक्षामित्र उ प्र के शिक्षा मित्रों ने हर कार्य बखूबी निभाया है और आज भी निभा रहे हैं आज सभी उ प्र के शिक्षा मित्र चुनाव कार्य में अपना पूर्ण सहयोग देरहे हैं। 👍