Todayınhistory, History Today India, This Day İn History, Today İn History, This Day İn History 2021, What Happened Today İn History, Historical, Events, Bharat Mein Aaj Ka Itihaas

Todayınhistory, History Today India

आज का इतिहास: प्रधानमंत्री नेहरू का भरोसा तोड़कर चीन ने भारत पर हमला किया, युद्ध के 59 साल बाद भी जारी है सीमा विवाद

आज का इतिहास: प्रधानमंत्री नेहरू का भरोसा तोड़कर चीन ने भारत पर हमला किया, युद्ध के 59 साल बाद भी जारी है सीमा विवाद #TodayInHistory

20-10-2021 05:51:00

आज का इतिहास: प्रधानमंत्री नेहरू का भरोसा तोड़कर चीन ने भारत पर हमला किया, युद्ध के 59 साल बाद भी जारी है सीमा विवाद TodayInHistory

आज का दिन भारतीय कूटनीतिक विफलता की कहानी सुनाता है। 20 अक्टूबर 1962 को ही चीन ने भारत पर सुनियोजित हमला किया था। चीन की सेना ने न केवल सीमा पार की, बल्कि दोस्ती के नाम पर विश्वासघात भी किया। | Today History Aaj Ka Itihas (आज का इतिहास) Bharat Mein Aaj Ka Itihaas | What Is The Significance Of Today? What Famous Thing Happened On This Day In history; आज का दिन भारतीय कूटनीतिक विफलता की कहानी सुनाता है। 20 अक्टूबर 1962 को ही चीन ने भारत पर सुनियोजित हमला किया था।

आज का इतिहास:प्रधानमंत्री नेहरू का भरोसा तोड़कर चीन ने भारत पर हमला किया, युद्ध के 59 साल बाद भी जारी है सीमा विवाद2 घंटे पहलेकॉपी लिंकआज का दिन भारतीय कूटनीतिक विफलता की कहानी सुनाता है। 20 अक्टूबर 1962 को ही चीन ने भारत पर सुनियोजित हमला किया था। चीन की सेना ने न केवल सीमा पार की, बल्कि दोस्ती के नाम पर विश्वासघात भी किया।

किसान आंदोलन स्थगित, नेताओं ने कहा- सरकार वादे से मुकरी, तो फिर होगा आंदोलन - BBC Hindi किसान नेताओं ने किसान आंदोलन स्थगित करने की घोषणा की - BBC Hindi गुजरात दंगा मामले में ज़किया जाफ़री की याचिका पर फ़ैसला सुरक्षित - BBC Hindi

भारत 1947 में आजाद हुआ और 1949 में चीन रिपब्लिक बना। शुरुआत में दोस्ताना रिश्ते थे। दावे ऐसे भी हैं कि भारत ने चीन की खातिर संयुक्त राष्ट्र के सुरक्षा परिषद की स्थायी सदस्यता ठुकरा दी थी। प्रधानमंत्री नेहरू ने हिंदी-चीनी भाई-भाई का नारा देकर दोस्ती बढ़ाई थी। दोनों देशों के बीच तनाव तब बढ़ा, जब 1959 में भारत ने दलाई लामा को शरण दी।

1962 तक भारत चीन के बीच विवाद अपने चरम पर पहुंच चुका था। 20 अक्टूबर 1962 को चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने भारत पर हमला कर दिया। भारत युद्ध के लिए तैयार ही नहीं था। नतीजा ये हुआ कि चीन के 80 हजार जवानों का मुकाबला करने भारत ने 10-20 हजार सैनिक उतारे थे। युद्ध एक महीना चला और 21 नवंबर 1962 को चीन ने जब सीजफायर की घोषणा की, तब तक भारत को काफी नुकसान हो चुका था। एक महीने चले युद्ध के बीच नेहरू ने देशवासियों को सिर्फ लड़ाई के पहले दिन यानी 20 अक्टूबर को ही संबोधित किया। headtopics.com

युद्ध के दौरान पहाड़ों पर फंसी जीप को खींचते भारतीय जवान।पूरे एक महीने तक नेहरू और भारतवासियों के बीच कोई संवाद नहीं हुआ। दूसरी बार वह 20 नवंबर को बोले और वो भी बेहद निराशाजनक खबरों के साथ। नेहरू ने देशवासियों को बताया कि चीनी दोहरी नीति पर चल रहे हैं। एक तरफ तो वो शांति की बात कर रहे हैं, लेकिन दूसरी तरफ उनके हमले लगातार जारी हैं।

चीन के एक शीर्ष स्ट्रैटेजिस्ट वांग जिसी ने 2012 में दावा किया था कि चीन के बड़े नेता माओत्से तुंग ने ग्रेट लीप फॉरवर्ड आंदोलन की असफलता के बाद सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी पर फिर से नियंत्रण कायम करने के लिए भारत के साथ युद्ध छेड़ा था।2011: मारा गया था गद्दाफी

2 अक्टूबर 2011 को लीबिया के तानाशाह मुअम्मर-अल-गद्दाफी की हत्या कर दी गई थी। गद्दाफी ने लीबिया पर 4 दशकों से ज्यादा समय तक शासन किया था।सितंबर 1969 में एक सैन्य तख्तापलट के जरिए किंग इदरीस को हटाकर गद्दाफी लीबिया की सत्ता में आया था। उसने सत्ता में आने के बाद ही देश में बड़े बदलाव किए। 1973 में गद्दाफी ने सभी पेट्रोल के कुओं का राष्ट्रीयकरण कर दिया। इस्लामी कानून के हिसाब से लीबिया के लोगों पर सख्त प्रतिबंध लगाए गए।

गद्दाफी के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन करते लोग।कहा जाता है कि लीबिया के लोगों में वो भले ही पसंद किए जाते हो, लेकिन अतंरराष्ट्रीय समुदाय उन्हें पागल ही समझता था। गद्दाफी ने अपने लोगों को अच्छे घर, स्वास्थ्य सेवा और सड़कें दीं।साल 2011 आते-आते मिडिल ईस्ट और अरब देशों में काफी कुछ बदल चुका था। लोग सालों से राज कर रहे तानाशाहों से तंग आ चुके थे। फरवरी 2011 से गद्दाफी के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन शुरू हो गए थे। इन्ही विरोध प्रदर्शनों के बीच 20 अक्टूबर को गद्दाफी को एक संदिग्ध सैन्य हमले में मार गिराया गया। headtopics.com

CDS रावत की सुरक्षा में रहे जवान की आंखें नम: फतेहाबाद के नायक सुशील बोले- मां वैप्णो देवी की यात्रा पर साथ ले गए थे जनरल बिपिन रावत के साथ दुर्घटना में मारे गए ये 11 फ़ौजी - BBC News हिंदी जनरल रावत को आखिरी सैल्यूट LIVE: हादसे में बचे ग्रुप कैप्टन वरुण लाइफ सपोर्ट पर; एयर एंबुलेंस से बेंगलुरु शिफ्ट किए जाएंगे

20 अक्टूबर के दिन को इतिहास में और किन-किन महत्वपूर्ण घटनाओं की वजह से याद किया जाता है...2007:अली लारीजानी के त्यागपत्र के बाद ईरान के विदेश उपमंत्री सईद जलाली नए प्रमुख परमाणु वार्ताकार बने।1995:श्रीलंकाई क्रिकेट टीम ने वेस्टइंडीज को हराकर शारजाह कप फाइनल ट्रॉफी अपने नाम की।

1991:उत्तरकाशी में 6.8 तीव्रता के भूकंप से 1000 से ज्यादा लोगों की मौत।1973:ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में ओपेरा हाउस को पहली बार जनता के लिए खोला गया था।1970:सैयद बर्रे ने सोमालिया को समाजवादी राज्य घोषित किया।1947:अमेरिका और पाकिस्तान ने पहली बार राजनयिक संबंध स्थापित किए थे।

1946:वियतनाम की डेमोक्रेटिक रिपब्लिकन सरकार ने इस दिन को महिला दिवस के रूप में घोषित किया।1905:रूस में 11 दिन तक चली ऐतिहासिक हड़ताल की शुरुआत हुई।1904:चिली और बोलीविया ने शांति और मित्रता की संधि पर हस्ताक्षर किया।1880:एम्सटर्डम मुक्त विश्वविद्यालय की स्थापना हुई।

1774:कलकत्ता (अब कोलकाता) भारत की राजधानी बना।1740:मारिया थेरेसा ऑस्ट्रिया, हंगरी और बोहेमिया के शासक बने।1568: अकबर ने चित्तौड़गढ़ पर आक्रमण किया। और पढो: Dainik Bhaskar »

इतिहास में पहली बार ट्रेन से चला प्याज: 220 टन लाल प्याज किसान व्यापारियों ने सीधे असम भेजा, 1836km का सफर करेगा

राजस्थान के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब यहां होने वाली प्याज को ट्रेन से किसी दूसरे राज्य में भेजा गया है। पहली बार अलवर की प्याज रेल से असम भेजा गया है। पूरे प्रदेश में इससे पहले कभी भी प्याज को मालगाड़ी से ट्रांसपोर्ट नहीं किया गया। किसान रेल के जरिए किसानों की उपज को भेजने की उत्तर पश्चिम रेलवे ने यह शुरुआत की है। | उत्तर पश्चिम रेलवे के क्षेत्र में किसान रेल की अलवर से शुरूआत, 220 टन प्याज अलवर से असम भेजी

इनका मतलब अभी हालात हे चीन हमारी सीमा पर कब्जा किया हुआ हे इनके लिए नेहरू जिम्मेदार हे हद हे यार चाटुकारिता की गोदी समाचार पत्र ,थोड़ी कम चाटो फेंकू की china मोदी को भी China पर बहुत भरोसा है 🤷🏻‍♂️

पाकिस्तान ने भारतीय पनडुब्बी रोकने का किया दावा, नौसेना ने जारी किया वीडियोजम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान आतंकी बेगुनाओं की हत्या कर रहे हैं। इसी बीच पाकिस्तान ने भारतीय पनडुब्बी रोकने का दावा किया है।

चीन का अंतरिक्ष से हाइपरसोनिक मिसाइल परीक्षण, अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसियाँ हैरान - BBC Hindiरिपोर्ट्स के मुताबिक़ चीन ने एक नई हाइपरसोनिक मिसाइल का परीक्षण किया है जो परमाणु क्षमता से लैस है. ख़ास बात यह है कि इस मिसाइल का परीक्षण अंतरिक्ष से ही हुआ छिप छिपा कर आकाश खोज रहे.. उड़ने के पंख टटोल रहे.. कोई देख रहे इनके ध्यान से ओझल .. खुद के सार्वभौमिक प्रमाण संजोए रहे🧬 हमें क्या लेना हमें तो हिंदू-मुस्लिम करना है 🤔🤔🤔🤔🤔

यूपी : पीएम मोदी आज करेंगे कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन, पर्यटन उद्योग की उम्मीदें बढ़ींयूपी : पीएम मोदी आज करेंगे कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन, पर्यटन उद्योग की उम्मीदें बढ़ीं UttarPradesh Kushinagar Airport PMOIndia UPGovt myogioffice

Uttarakhand Rains Live Update | आज का मौसम 20th October | Weather Report | News18 IndiaMadhya Pradesh के किसानों पर मौसम की मार। बिहार के किन-किन इलाक़ों में बारिश की चेतावनी? मुंबई में October Heat! जानिए कैसा है मौसम का मिज़ाज? WeatherUpdate October2021 HeavyRain Heat FarooqHareem ManojSharmaBpl cmohan_pat shreyad21

Rail Roko Andolan: लखीमपुर खीरी हिंसा के खिलाफ देशभर में किसानों का आज 'रेल रोको' आंदोलनसंयुक्त किसान मोर्चा ने लखीमपुर खीरी नरसंहार मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्र को मंत्री पद से बर्खास्त करके तुरंत गिरफ्तार करने की मांग समेत न्याय सुनिश्चित करने के लिए घोषित कार्यक्रम के तहत 18 अक्टूबर को रेल सेवाएं बाधित की जाएंगी। किसान मत बोलो इनको, हत्यारे हैं ये😡 यह किस क्रिया का प्रतिक्रिया है? CHARANJITCHANNI sir please see over petrol diesel prices. They are very high when your govt. Is ruling. If petrol diesel increases then every thing will we incerases. But our salary does not increases they are still their. Watch the people at ground level. officeofssbadal

बेहद शानदार है UP का कुशीनगर एयरपोर्ट,आज PM नरेंद्र मोदी करेंगे उद्घाटन - देखें PHOTOSकुशीनगर हवाई अड्डे के उद्घाटन कार्यक्रम में 25 प्रतिनिधियों तथा 100 बौद्ध भिक्षुओं समेत तमाम विशिष्ट अतिथियों को पार्टिसिपेटरी रूरल डेवलपमेंट फाउंडेशन (पीडीआरएफ) की तरफ से काला नमक चावल से बना बुद्ध प्रसाद वितरित किया जाएगा. बहुत अच्छा! चलो इस एयरपोर्ट पर शायद कोई छोटी मोटी नॉकरी मिल जाये, हवाई यात्रा करने की तो अब हैसियत रही नही। I bet name will be nrander modi airport इतना शानदार होने के बाद भी चमन चमचों की जली पड़ी है। अरे चमचों किसी ने अच्छा काम किया है तो उसे appreciate करो।