आज का इतिहास: 20 साल पहले ऐपल को नई दिशा देने वाला आईपॉड लान्च हुआ, एक साइंस फिक्शन शो से प्रेरित था इसका नाम

आज का इतिहास: 20 साल पहले ऐपल को नई दिशा देने वाला आईपॉड लान्च हुआ, एक साइंस फिक्शन शो से प्रेरित था इसका नाम #TodayInHistory

Todayınhistory, History Today India

23-10-2021 05:51:00

आज का इतिहास: 20 साल पहले ऐपल को नई दिशा देने वाला आईपॉड लान्च हुआ, एक साइंस फिक्शन शो से प्रेरित था इसका नाम TodayInHistory

ऐपल ने आज से 20 साल पहले 23 अक्टूबर 2001 को अपना पहला आईपॉड लॉन्च किया था। मोबाइल मार्केट में यहीं से ऐपल के सफर शुरू हुआ और आज ऐपल दुनिया की दिग्गज स्मार्टफोन निर्माता कंपनी है। बात 1997 की है। स्टीव जॉब्स ऐपल में CEO के तौर पर लौटे ही थे। डेस्कटॉप मार्केट पर माइक्रोसॉफ्ट का कब्जा था। ऐपल के पास कोई भी लोकप्रिय प्रोडक्ट नहीं था और वह दिवालिया होने के कगार पर था। ऐसे में उम्मीद सिर्फ नए डिवाइस से ... | Today History Aaj Ka Itihas (आज का इतिहास) Bharat Mein Aaj Ka Itihaas | What Is The Significance Of Today? What Famous Thing Happened On This Day In history; ऐपल ने आज से 20 साल पहले 23 अक्टूबर 2001 को अपना पहला आईपॉड लॉन्च किया था। मोबाइल मार्केट में यहीं से ऐपल के सफर शुरू हुआ और आज ऐपल दुनिया की दिग्गज स्मार्टफोन निर्माता कंपनी है।

आज का इतिहास:20 साल पहले ऐपल को नई दिशा देने वाला आईपॉड लान्च हुआ, एक साइंस फिक्शन शो से प्रेरित था इसका नाम3 घंटे पहलेकॉपी लिंकऐपल ने आज से 20 साल पहले 23 अक्टूबर 2001 को अपना पहला आईपॉड लॉन्च किया था। मोबाइल मार्केट में यहीं से ऐपल के सफर शुरू हुआ और आज ऐपल दुनिया की दिग्गज स्मार्टफोन निर्माता कंपनी है। बात 1997 की है। स्टीव जॉब्स ऐपल में CEO के तौर पर लौटे ही थे। डेस्कटॉप मार्केट पर माइक्रोसॉफ्ट का कब्जा था। ऐपल के पास कोई भी लोकप्रिय प्रोडक्ट नहीं था और वह दिवालिया होने के कगार पर था। ऐसे में उम्मीद सिर्फ नए डिवाइस से ही थी। 1990 के दशक में हैंडहेल्ड MP3 प्लेयर्स मार्केट में आ गए थे।

स्टीव जॉब्स को लगता था कि यह इस्तेमाल में आसान नहीं है। ऐपल को पोर्टेबल MP3 प्लेयर बनाना चाहिए। जॉब्स का मानना था कि ऐपल के पोर्टेबल MP3 प्लेयर का आईट्यून्स से लिंक हो, ताकि वह मैक कंप्यूटर का इस्तेमाल कर रहे लोगों को आकर्षित करें। शुरुआती डिजाइन में सिर्फ दो पॉइंट्स रखे थे। 1.8 इंच की जगह में 5GB हार्ड ड्राइव का इस्तेमाल करना था, जो तोशीबा बनाती थी।

सारे इंजीनियर मैक को अपग्रेड करने में लगे थे। तब डिजाइन कंसल्टेंट के तौर पर फिलिप्स के टोनी फैडल को लाया गया। छह हफ्ते में तीन प्रोडक्ट मॉडल डिजाइन हुए। जॉब्स को पसंद भी आए। उन्होंने फैडल को पोर्टेबल म्युजिक डिवाइस टीम का इंचार्ज बना दिया। वे चाहते थे कि 2001 की क्रिसमस शॉपिंग लिस्ट में यह डिवाइस शामिल रहे। समय कम था इसलिए ज्यादातर कम्पोनेंट बाहर से खरीदे। headtopics.com

मंदिर में बेटियों संग रहने को मजबूर डॉक्टर दंपती: अशोकनगर में सरकारी आवास खाली कराया; अफसरों ने CM से मिलने नहीं दिया, सिंधिया ने फोन नहीं उठाया

नाम रखने के लिए फ्रीलांस राइटर विनी शिको को हायर किया गया। उन्होंने ही इसे आईपॉड नाम दिया, जो स्टारट्रैक से इंस्पायर्ड था। 23 अक्टूबर 2001 को यह प्रोडक्ट औपचारिक रूप से लॉन्च हुआ और नवंबर 2001 में पहले आईपॉड की डिलीवरी हुई। छह साल में ही 10 करोड़ से ज्यादा आईपॉड बिक चुके थे। इसके बाद जो हुआ, वह इतिहास है। आईपैड्स, आईवॉच और आईफोन ने अपने-अपने सेग्मेंट्स में धाक जमाई है।

फुटबॉल के मौजूदा स्टार लियोनल मेसी(बाएं) और ब्राजील के नेमार जूनियर(दाएं) के साथ पेले।फुटबॉल के जादूगर पेले का जन्मआज महान फुटबॉलर ब्राजील के एडसन अरांटीस डो नैसीमेंटो यानी पेले का जन्मदिन है। 23 अक्टूबर 1940 को ब्राजील में जन्में पेले अपने माता-पिता की पहली संतान थे।

पेले के नाम को लेकर भी रोचक कहानी है। दरअसल पेले का नाम डीको था, लेकिन इनके पसंदीदा फुटबॉलर “वास्को डा गामा बिले’” के बाद से इनके दोस्तों ने गलत उच्चारण करते हुए इन्हें “पेले” कहना शुरू कर दिया। तभी से डिको का नाम पेले हो गया।पेले ने शुरुआत में अपने पिता से फुटबॉल खेलना सीखा। अपनी प्रतिभा की वजह से जल्द ही पेले फुटबॉल क्लब का हिस्सा हो गए और 1957 तक ब्राजील की नेशनल फुटबॉल टीम का हिस्सा बन गए।

चंद्रशेखर आजाद का इंटरव्यू: बोले- मेरे डर से योगी गोरखपुर गए, लेकिन मैं पीछा छोड़ने वाला नहीं; जेल भेजेंगे तो वहां से भी लड़ूंगा चुनाव

इसके बाद पेले ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। पेले 3 बार वर्ल्ड कप चैंपियन रही ब्राजील नेशनल टीम का हिस्सा रहे। जून 1958 में पेले ने सिर्फ 17 साल की उम्र में ब्राजील के लिए अपना पहला वर्ल्ड कप जीता था। अपने प्रोफेशलन करियर में पेले ने 1 हजार से ज्यादा गोल दागे। headtopics.com

फुटबॉल के साथ ही पेले सामाजिक कार्यों के लिए भी जाने जाते हैं। वे बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए यूनिसेफ के गुडविल एंबेसेडर भी रहे हैं। 1978 में पेले को इंटरनेशनल पीस अवार्ड भी दिया गया था।23 अक्टूबर के दिन को इतिहास में और किन-किन महत्वपूर्ण घटनाओं की वजह से याद किया जाता है...

2013ःचीन और भारत ने द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने के लिए एक सीमा रक्षा समझौते पर हस्ताक्षर करने का फैसला किया।2011ःतुर्की के वान प्रांत में 7.2 तीव्रता का भूकंप आया, जिसमें 582 लोगों की मौत हुई और हजारों घायल हुए।2004ःजापान में आए भूकंप ने 85 हजार लोगों को बेघर कर दिया।

BYD इस साल लॉन्च करेगी तीन इलेक्ट्रिक कारें, जानिए इनकी डिटेल्स

2002ःचेचन अलगाववादियों ने मॉस्को में लगभग 700 संरक्षक और कलाकारों को बंधक बनाया।2001ःनासा के मार्स ओडिसी अंतरिक्ष यान ने मंगल ग्रह की परिक्रमा शुरू की।1998ःजापान ने द्वितीय विश्व युद्ध के बाद अपने पहले बैंक का राष्ट्रीयकरण किया।1989ःहंगरी, सोवियत संघ से 33 वर्षों के बाद आजाद होकर गणराज्य बना।

1956ःसोवियत शासन के अंत की मांग करते हुए, हजारों लोग बुडापेस्ट, हंगरी में सड़कों पर उतरे।1954ःपश्चिम जर्मनी नाटो सम्मेलन में शामिल हुआ।1946ःसंयुक्त राष्ट्र महासभा की न्यूयार्क में पहली बार बैठक हुई।1943ःनेताजी सुभाष चंद्र बोस ने सिंगापुर में आजाद हिंद फौज में झांसी की रानी ब्रिगेड की स्थापना की। headtopics.com

1941ःजर्मन सरकार ने यहूदियों के उत्प्रवास पर प्रतिबंध लगाया।1934ःमहात्मा गांधी ने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता पद से इस्तीफा दिया।1910ःबीएस स्कॉट अमेरिका में अकेले हवाई जहाज उड़ाने बनाने वाली पहली महिला बनीं।1814ःविश्व की पहली प्लास्टिक सर्जरी इंग्लैंड में की गयी।

1764ःमीर कासिम बक्सर की लड़ाई में पराजित हुआ।1760:उत्तर अमेरिका में यहूदी प्रार्थना की पहली किताब मुद्रित हुई।1707:ग्रेट ब्रिटेन साम्राज्य की संसद की पहली बार लंदन में बैठक हुई।

और पढो: Dainik Bhaskar »

UP Elections: मुस्लिम वोटरों का बही-खाता, देखें क्या कहता है आंकड़ों का इतिहास

उत्तर प्रदेश में चुनाव सर पर हैं और पार्टियां चुनावी रैलियों के साथ-साथ सांठगांठ में भी लगी हुई हैं. यूपी में सियासत गरम है. दलबदलू नेता अपने अपने स्वार्थ सिद्ध करने के लिए कभी इस पार्टी कार्यालय तो कभी उस पार्टी के कार्यालय में घूम रहे हैं. तो वहीं नेतागण वोट बैंक की भी राजनीति कर रहे हैं. धर्म, जाति, उपजाति, हर तरह से वोट साधने की कोशिश की जा रही है. अभी पार्टियों की नजर प्रदेश के मुस्लिम वोटरों पर है. लेकिन सवाल है कि इस बार मुसलमान किस पर मेहरबान होंगे, किसका साथ देंगे और किसकी सरकार बनाएंगे? यूपी में बड़ी आबादी मुस्लिम वोटरों की है. देखें मुस्लिम वोटरों का बही-खाता और जानें क्या कहता है आंकड़ों का इतिहास. और पढो >>

पीएम मोदी आज गोवा में आत्मनिर्भर भारत स्वयंपूर्ण योजना के लाभार्थियों से बात करेंगेप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को आत्मनिर्भर भारत स्वयंपूर्ण गोवा कार्यक्रम के लाभार्थियों के साथ बातचीत करेंगे। स्वयंपूर्ण गोवा की पहल 1 अक्टूबर 2020 को शुरू की गई थी। इस मौके पर गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत भी मौजूद रहेंगे। narendramodi साहेब काम पर ध्यान दे लो पेट्रोल diesal per tex कम करो क्यो time पास कर रहे हो narendramodi यही आत्मनिर्भर बोल बोल कर तो पब्लिक सेक्टर बेच रहे है। बाद में बचेगा कटोरा narendramodi बढ़ती महंगाई और इनकी बढ़ती दाढ़ी में सिर्फ इतना अंतर हैं... बढ़ती महंगाई को कम करने के लिए इन्होने कोई ठोस कदम नहीं उठाया लेकिन अपनी बढ़ती हुई दाढ़ी को काटने के लिए महंगे सलून की व्यवस्था जरूर किया 😄😁😄😀😄

आज सुबह राष्ट्र के नाम PM नरेंद्र मोदी का संबोधन, 10 बजे देशवासियों से होंगे रूबरूप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को सुबह 10 बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे. ये जानकारी पीएमओ की ओर से दी गई. पीएम मोदी का संबोधन ऐसे वक्त पर हो रहा है, जब एक दिन पहले ही देश में कोरोना वैक्सीन की 100 करोड़ डोज का ऐतिहासिक आंकड़ा पार किया है Desh se baat to hoti nahi or khud mehngai par baat karte nahi .. Now he got time to start his speeches. Don't know what he is trying to prove. JOKER Aur kya kya mehnga krege ye btayege bs ....janta marti jaye usse unhe koi fark ni padega .....income utni hi hai bs govt ko apna fayda dikna chahiye ...wahi btayege .....

मुंबई: आज से खुलेंगे सिनेमा हाल, पार्क और ऑडिटोरियम, मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग होगी जरूरीमहाराष्ट्र में पार्कों, सिनेमाघरों व ऑडिटोरियम को खोल तो दिया गया है, लेकिन अभी भी कुछ प्रतिबंध लागू हैं। दर्शकों व

आज का कार्टून: ऑटोग्राफ़ के लिए बने नकली अधिकारी - BBC News हिंदीबॉलीवुड में ड्रग्स मामलों पर कीर्तीश ने बनाया आज का कार्टून भीड़ से पहचान बने .. फिर .. भीड़ ही सब भेद करे🧬 Please. Read my Pinned Tweet. Judges are corrupt and dishonest. They have changed decisions of Supreme court of India. TWICE. SHAMEFUL ये कमीने हरामी अब कुत्तों की तरह बिस्किट नमकीन स्वाद ले लेकर फैसले भी बदलने लगे हैं। मैं इन सब को यू ट्यूब पर बेनकाब करने वाला हूं। समर्थन दीजिए 👎🏾😜😝😛..

आज का जीवन मंत्र: भगवान बलि से नहीं, सत्य बोलने से और सेवा करने से प्रसन्न होते हैंकहानी - महात्मा गांधी जी चंपारण के एक गांव में सेवा कार्य कर रहे थे। उसी समय वहां से जुलूस निकल रहा था। गांधी जी को उत्सुकता जागी कि चंपारण में कुछ तो अलग होता है, मैं भी जाकर देखूं कि यहां कैसा जुलूस निकल रहा है। | aaj ka jeevan mantra by pandit vijayshankar mehta, story of mahatma gandhi, prerak katha GodiMedia se bhi prassan hotey hain bhagwaan Jo sacche aur acche ho.un ke sath kabi bura nhi hota 😇😇 बलि बलपूर्वक नहीं होनी चाहिए

19 दिन बाद 18 मिनट के लिए मिले शाहरुख-आर्यन: बेटे से मिलने आर्थर रोड जेल पहुंचे शाहरुख, आज जमानत के लिए फिर होगी कोशिशबुधवार को ड्रग्‍स केस में याचिका खारिज होने के बाद जेल में बंद आर्यन खान से मिलने उनके पिता और अभिनेता शाहरुख खान मुंबई की आर्थर रोड जेल पहुंचे थे। पिता और पुत्र के बीच तकरीबन 18 मिनट तक मुलाकात चली। | Shahrukh Khan arrived to meet his son after 19 days, today his lawyer will try again for bail Dear दैनिक भास्कर शाहरुख अपने आरोपी बेटे से मिला अपने अब्बू से वक्त पर नहीं मिल पाने व उचित संसर्ग नहीं पा सकने से सदैव व्यथित रहकर जानलेवा व अमानुषिक ड्रग्स के अभ्यस्त हो चुके मासूम आर्यन को कारावासी बनते देखकर हतप्रभ याचक बने शाहरुख खान के साथ सहानुभूति भी स्वाभाविक है और हमदर्दी भी । आजकल पर्सनल लिबर्टी वाले नहीं बोल रहे SupremeCourt Republic_Bharat ,pbhushan1 sakshijoshii pankajjha_ MonikaSinghSays