Todayınhistory, Israel, Historytodayındia, This Day İn History, Today İn History, This Day İn History 2021, What Happened Today İn History, Historical Events, Bharat Mein Aaj Ka Itihaas

Todayınhistory, Israel

आज का इतिहास: 73 साल पहले दुनिया का इकलौता यहूदी देश इजराइल अस्तित्व में आया, बनने के 24 घंटे के अंदर ही लड़ना पड़ा था पहला युद्ध

आज का इतिहास: 73 साल पहले दुनिया का इकलौता यहूदी देश इजराइल अस्तित्व में आया, बनने के 24 घंटे के अंदर ही लड़ना पड़ा था पहला युद्ध #TodayInHistory #Israel

14-05-2021 06:15:00

आज का इतिहास: 73 साल पहले दुनिया का इकलौता यहूदी देश इजराइल अस्तित्व में आया, बनने के 24 घंटे के अंदर ही लड़ना पड़ा था पहला युद्ध TodayInHistory Israel

इजराइल - वो देश जिसने दुश्मनों से घिरे होने के बाद भी उनकी नाक में दम कर रखा है। क्षेत्रफल में भारत के केरल से भी छोटा ये देश आज हर मामले में दुनिया के बड़े-बड़े देशों से आगे है। इजराइल की खुफिया एजेंसी मोसाद का जिक्र होते ही दुश्मनों के पसीने छूट जाते हैं। आज ही के दिन 1948 में इजराइल ने खुद को आजाद राष्ट्र घोषित किया था। | Today History, Aaj Ka Itihas (आज का इतिहास) Bharat Mein Aaj Ka Itihaas | What Is The Significance Of Today? What Famous Thing Happened On This Day In history; 13 ?? 2008 युद्ध समाप्त होने के साथ ही इजराइल की 120 सदस्यीय संसद के लिए 25 जनवरी 1949 को पहला चुनाव हुआ, जिसमें यहां के नागरिकों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और डेविड बेन गुरियन देश के पहले प्रधानमंत्री चुने गए।

73 Years Ago, Israel, The Only Jewish Country In The World, Came Into Existence, The First War Had To Be Fought Within 24 Hours Of BecomingAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपआज का इतिहास:73 साल पहले दुनिया का इकलौता यहूदी देश इजराइल अस्तित्व में आया, बनने के 24 घंटे के अंदर ही लड़ना पड़ा था पहला युद्ध

पेट्रोल-डीजल में लगी 'आग' से अब NDA में शुरू हुआ मतभेद, JDU ने कहा- कीमतें अब चुभने लगी हैं धारावी ने किया कमाल, 24 घंटों में कोरोना का एक भी नया मामला नहीं, केवल 13 एक्टिव केस बचे आज का कार्टून: टीआरपी वाले दिन - BBC News हिंदी

2 घंटे पहलेकॉपी लिंकइजराइल - वो देश जिसने दुश्मनों से घिरे होने के बाद भी उनकी नाक में दम कर रखा है। क्षेत्रफल में भारत के केरल से भी छोटा ये देश आज हर मामले में दुनिया के बड़े-बड़े देशों से आगे है। इजराइल की खुफिया एजेंसी मोसाद का जिक्र होते ही दुश्मनों के पसीने छूट जाते हैं। आज ही के दिन 1948 में इजराइल ने खुद को आजाद राष्ट्र घोषित किया था।

आज दुनिया के नक्शे में इजराइल जिस आकार में है इसके पीछे सालों पुराना इतिहास है। कभी इजराइल की जगह तुर्की का ओटोमान साम्राज्य हुआ करता था, लेकिन प्रथम विश्वयुद्ध में तुर्की की हार के बाद इस इलाके में ब्रिटेन का कब्जा हो गया। ब्रिटेन उस समय एक बड़ी शक्ति था और द्वितीय विश्वयुद्ध तक ये इलाका ब्रिटेन के कब्जे में ही रहा। द्वितीय विश्वयुद्ध में अमेरिका और सोवियत संघ दो नई ताकत बनकर उभरे। ब्रिटेन को इस युद्ध में काफी नुकसान उठाना पड़ा। 1945 में ब्रिटेन ने इस इलाके को यूनाइटेड नेशन को सौंप दिया। headtopics.com

1947 में यूनाइटेड नेशन ने इस इलाके को दो हिस्सों में बांट दिया। एक अरब राज्य और एक इजराइल। यरुशलम शहर को अंतरराष्ट्रीय सरकार के प्रबंधन के अंतर्गत रखा गया। अगले ही साल इजराइल ने अपनी आजादी का ऐलान किया। इसी के साथ आज ही के दिन 1948 में दुनिया के एक शक्तिशाली देश का गठन हुआ।

इजराइल ने जैसे ही अपनी आजादी का ऐलान किया, इसके महज चौबीस घंटे के अंदर ही अरब देशों की संयुक्त सेनाओं ने उस पर हमला कर दिया। इजराइल के लिए ये लड़ाई कठिन जरूर थी, लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी। करीब अगले एक साल तक ये लड़ाई चलती रही। नतीजा ये हुआ कि अरब देशों की सेनाओं की हार हुई।

युद्ध समाप्त होने के साथ ही इजराइल की 120 सदस्यीय संसद के लिए 25 जनवरी 1949 को पहला चुनाव हुआ, जिसमें यहां के नागरिकों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और डेविड बेन गुरियन देश के पहले प्रधानमंत्री चुने गए। इस वक्त दुनिया की कुल यहूदी आबादी के 40% से ज्यादा लोग इजराइल में रहते हैं। इजराइल दुनिया का अकेला यहूदी देश है।

वारसा का प्रेसिडेंशियल पैलेस। यहीं पर वारसा की संधि पर हस्ताक्षर किए गए थे।1955: वारसा की संधि1945 में दूसरा विश्वयुद्ध के खत्म होने के बाद सोवियत संघ और अमेरिका दो नई ताकतें दुनिया के सामने थीं। इन दोनों के बीच शीतयुद्ध शुरू हो गया था। दोनों ही देश अपने आप को शक्तिशाली साबित करना चाहते थे। इसके लिए दोनों ने लॉबी बनाना शुरू कर दिया। 1948 में सोवियत संघ ने पूर्वी यूरोप से अपनी सेनाएं हटाने से इनकार कर दिया और बर्लिन की नाकेबंदी कर दी। सोवियत संघ के इस कदम से अमेरिका सहित यूरोप के देशों को झटका लगा और उन्होंने सोवियत संघ को रोकने के लिए एक संगठन बनाने की पहल की। इसमें अमेरिका, फ्रांस और यूके समेत कई देश शामिल थे। आज ये संगठन नाटो के नाम से जाना जाता है। headtopics.com

चिराग़ पासवान: 'चाचा' पशुपति पारस क्यों हुए बाग़ी, एलजेपी में बिखराव की इनसाइड स्टोरी - BBC News हिंदी राजस्थान की सियासत में फिर उबाल, दिल्ली में सचिन पायलट, क्या मंत्रिमंडल का विस्तार करेंगे अशोक गहलोत? चीन के बढ़ते क़द को लेकर नेटो प्रमुख ने दी चेतावनी - BBC Hindi

सोवियत संघ ने जब देखा कि उसके खिलाफ देश संगठित हो रहे हैं तो उसने भी ऐसा ही संगठन बनाने की ठानी। पूर्वी यूरोप के कुछ देशों को साथ लेकर सोवियत संघ ने आज ही के दिन 1955 में वारसा की संधि की। अमेरिका के नाटो के जवाब में ये सोवियत संघ का अपना संगठन था। सोवियत संघ के अलावा इसमें 7 अन्य देश शामिल थे। संधि में कहा गया था कि संगठन के किसी भी देश पर हमला होने की स्थिति में बाकी देश उसकी मदद करेंगे। इस दौरान नाटो और सोवियत संघ के देशों में शीतयुद्ध चलता रहा। 25 फरवरी 1991 के दिन हंगरी में हुई एक बैठक में इस संधि को समाप्त कर दिया गया।

1984 में आज ही के दिन फेसबुक के संस्थापक मार्क जकरबर्ग का जन्म हुआ। 2015 में भारत यात्रा के दौरान जकरबर्ग ताजमहल भी घूमने गए थे।1984: फेसबुक के जनक का जन्म4 फरवरी 2004 को हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के एक स्टूडेंट ने एक वेबसाइट लॉन्च की। इसके पीछे उसका मकसद था कि यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स आपस में एक-दूसरे से जुड़े। ये आइडिया चल निकला। अगले ही दिन उस साइट पर एक हजार से ज्यादा स्टूडेंट्स ने रजिस्टर किया। ये तो बस शुरुआत थी। आज उस वेबसाइट पर 2 अरब से भी ज्यादा यूजर्स हैं। उस स्टूडेंट का नाम था- मार्क जकरबर्ग, जिनका आज जन्मदिन है।

अगले 4 महीनों में फेसबुक पर ढाई लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स ने रजिस्टर किया। नतीजा ये हुआ कि फेसबुक को संभालने के लिए जकरबर्ग को यूनिवर्सिटी की पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ी। इसी साल के अंत तक फेसबुक पर एक्टिव यूजर्स का आंकड़ा 10 लाख को पार कर गया।2006 में फेसबुक को 13 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों के लिए ओपन किया गया। इसके बाद तो फेसबुक ने रॉकेट की रफ्तार से तरक्की की। 2012 में फेसबुक दुनिया की पहली सोशल मीडिया साइट बनी जिस पर एक्टिव यूजर्स की संख्या 1 करोड़ को पार कर गई। आज फेसबुक दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया साइट है और जकरबर्ग दुनिया के 5वें सबसे अमीर इंसान।

इतिहास में आज के दिन को और किन-किन वजहों से याद किया जाता है-2013:ब्राजील ने समलैंगिक विवाह को मान्यता दी।2010:भारत और रूस के बीच रक्षा, परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष समेत कई क्षेत्रों में व्यापार एवं निवेश के लिए 22 समझौते हुए।1991:दक्षिण अफ्रीकी नेता नेल्सन मंडेला की पत्नी विनी मंडेला को चार युवकों के अपहरण के मामले में 6 साल की सजा सुनाई गई। headtopics.com

1981: भारतीय आविष्कारक और कंप्यूटर वैज्ञानिक प्रणव मिस्त्री का जन्म हुआ।1981:नासा ने स्पेस व्हिकल S-192 लॉन्च किया।1973:अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट ने सेना में महिलाओं के समान अधिकार को मंजूरी दी।1973: अमेरिका के पहले स्पेस स्टेशन स्कायलैब को लॉन्च किया गया।

1923:भारतीय फिल्मों के प्रसिद्ध निर्माता व निर्देशक मृणाल सेन का जन्म हुआ।1796:एडवर्ड जेनर ने स्मॉल पॉक्स की वैक्सीन का पहला डोज दिया। और पढो: Dainik Bhaskar »

द ग्रेट इंडियन पॉलिटिकल ड्रामा: स्पेशल रिपोर्ट में देखें कैसे पूरे दिन रही सियासी गलियारों में हलचल

आज स्पेशल रिपोर्ट में बात करेंगे द ग्रेट इंडियन पॉलिटिकल ड्रामे की. पूरे दिन सियासी गलियारे में हाइवोल्टेड ड्रामा चलता है, दिल्ली में दो फ्रंट पर सियासी बैटिंग होती रही, एक फ्रंट पर योगी और मोदी की चर्चा तो दूसरी तरफ बीजेपी बनाम आम आदमी पार्टी में तू-तू मैं-मैं. वहीं बंगाल में बीजेपी को ममता ने जोर का झटका जोर से दिया. मुकुल रॉय ने बीजेपी को टाटा बाय-बाय कह दिया, राजस्थान में सचिन पायलट कांग्रेस को थैंक्यू ना कह दे इस लिए दिनभर रूठने और मनाने का खेल चलता रहा. पंजाब में कांग्रेस किचकिच में परेशान है तो अकाली दल ने मैदान मारने के लिए हाथी की सवारी को हरी झंडी दे दी. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो.

Happy comeback Day Israeli वो ईद मनाने की तैयारी कर रहे है, पर ये अभी भी दीवाली मनाने पर अड़ा हुआ है असली IPL तो इज़राइल मे चल रहा हैं इज़रायल_प्रीमियर_लीग Extraordinary information. इज़रायल ना ही कोई देश है और ना ही कोई सल्तनत, यह मात्र एक जालिम शैतानी तंजीम है जो आतंकवाद को बढ़ावा देता है Isiliye use aaj bhi padhna padh raha hai 😞🙏 Ye Muslim Country Dusre Dharm ko Jine kyu nahi deti samjh nahi aata, Inko Problem Kya hai Sab Jiyo aur jine do but Nahi sabko marna hai katna hai hadd hai 😞😕😡

रश्मि बंसल का कॉलम: आज के अनगिनत बकासुरों का सामना कौन करेगा?यूं तो आंकड़ों से मुझे खास प्रेम नहीं, शब्दों की ओर रुझान है। पर आजकस रोज एक आंकड़े का इंतजार करती हूं। आज कोरोना के केस में क्या उतार-चढ़ाव हुआ? जीवन के सेंसेक्स ने कब हमारे देश, दिमाग व दिल पर पूरी तरह से कब्जा कर लिया, पता नहीं चला। और कब इसके जंजाल से निकलेंगे, उसका भी अनुमान करना मुश्किल है। | Who will face the countless Bakasura of today? rashmibansal Looking😍😍 at how obliged and indebted I am feeling towards you right now, I have realized that kindness is actually one of the greatest weapons any person can ever have. Thank you LISATOWNSENDC

आज का इतिहास: आज ही के दिन हुआ था 'लेडी विद द लैंप' फ्लोरेंस नाइटिंगेल का जन्म, उनके सम्मान में मनाया जाता है इंटरनेशनल नर्स डेआज इंटरनेशनल नर्स डे है। इस दिन को फ्लोरेंस नाइटिंगेल के जन्मदिन की याद में मनाया जाता है। नर्सिंग को एक सम्मानजनक पेशा बनाने का श्रेय फ्लोरेंस नाइटिंगेल को ही जाता है। | Today History, Aaj Ka Itihas (?आज का इतिहास ) Bharat Mein Aaj Ka Itihaas | What Is The Significance Of Today? What Famous Thing Happened On This Day In history; आज इंटरनेशनल नर्स डे है। इस दिन को फ्लोरेंस नाइटिंगेल के जन्मदिन की याद में मनाया जाता है। नर्सिंग को एक सम्मानजनक पेशा बनाने का श्रेय फ्लोरेंस नाइटिंगेल को ही जाता है। 12 मई 1820 को इटली के फ्लोरेंस में नाइटिंगेल का जन्म हुआ था। उच्च वर्गीय परिवार में जन्मीं फ्लोरेंस के घर वालों को ये बिल्कुल मंजूर नहीं था कि उनकी बेटी नर्स बने, क्योंकि उस वक्त नर्सिंग को सम्मानित पेशा नहीं माना जाता था। Thnks kisi media house ko to yaad tha, nhi to sb me bikne ki or fir chhapne ki hod lagi h, Sabhi Nurses ko mera pranaam.

'अपने विचार मुझे मेल के जरिए बताएं', पार्टी कार्यकर्ताओं के इस्तीफे के बाद बोले कमल हासनएक्टर और राजनीतिज्ञ कमल हासन की पार्टी मक्कल नीधि मय्यम (MNM) को तमिलनाडु विधानसभा चुनावों में करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा, उनकी पार्टी चुनावों में एक भी सीट नहीं जीत पाई थी. जिसके बाद अब पार्टी में बिखराव की स्थिति पैदा हो गई है, कई बड़े नेताओं ने खुले मंच से पार्टी में लोकतंत्र की कमी का हवाला देते हुए कमल हसन को पार्टी चलाने की समझ नहीं होने की बात कही थी. जिसके बाद मंगलवार को कमल हासन ने पार्टी कार्यकर्ताओं से मेल के जरिए अपने असंतोष और विचार व्यक्त करने की अपील की. 😜😜😂😂 झंडू Hahahaha...jis thali khata usi me chhed ...kisi bhi dharm ki burai karoge to yahi Hal hoyenga U have got ur results of HINDU HATE STATEMENTS...continuously..same happen in ASANSOL WEST BENGAL sayyani ghosh condom on god image

आरपी सिंह के पिता का कोरोना से निधन: लखनऊ के मेदांता अस्पताल में ली आखिरी सांस; पिता की देखभाल के लिए आरपी ने IPL का ऑफर ठुकराया थापूर्व इंटरनेशनल क्रिकेटर रुद्र प्रताप सिंह के पिता शिव प्रसाद सिंह का बुधवार दोपहर 12 बजे निधन हो गया। लखनऊ के मेदांता अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली। वह पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे। पिछले हफ्ते वह कोरोना से संक्रमित भी हो गए थे। इसी वजह से उनका ऑक्सीजन लेवल घट गया था। पिता की देखभाल करने के लिए ही आरपी ने इस बार IPL में कमेंट्री करने से मना कर दिया था। | father of international crickter RP Singh died from covid-19 in lucknow ॐ शांति Dukhad,Ishwar mritaatma ko shanti pradaan karayn, ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे एवं परिवार को यह महान दुःख सहने की शक्ति भी दें 🙏🌹🥀

Petrol Diesel Price: आज मिली राहत, स्थिर रहे पेट्रोल-डीजल के दामसरकारी तेल कंपनियों की ओर से आज पेट्रोल व डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। कल पेट्रोल की कीमत 22 से 25 पैसे तक कम क्यों नहीं हुई कीमत राहत कैसे?

आज का कार्टून: समय की गंगा में बेफिक्र सरकार का नौका विहार, नीचे देखना ही न चाहे तो कैसे नजर आएगा लाशों का अंबारआज का कार्टून: समय की गंगा में बेफिक्र सरकार का नौका विहार, नीचे देखना ही न चाहे तो कैसे नजर आएगा लाशों का अंबार cartoonistnaqvi cartoonoftheday cartoonistnaqvi अब आपको इग्नोर करना हमारा अधिकार cartoonistnaqvi हमारे एरिए में गतिए लोग बहिष्कार cartoonistnaqvi केवल हवाई सर्वेक्षण, जिसमे कुछ नहीं दिखता, करने की आदत है इनको। चिताओं पे केवल हाथ ताप सकते हैं?