Jeevanmantra, Aaj Ka Jeevan Mantra By Pandit Vijayshankar Mehta, Story Of Mahatma Gandhi, Prerak Katha

Jeevanmantra, Aaj Ka Jeevan Mantra By Pandit Vijayshankar Mehta

आज का जीवन मंत्र: भगवान बलि से नहीं, सत्य बोलने से और सेवा करने से प्रसन्न होते हैं

आज का जीवन मंत्र: भगवान बलि से नहीं, सत्य बोलने से और सेवा करने से प्रसन्न होते हैं #jeevanmantra

21-10-2021 05:55:00

आज का जीवन मंत्र: भगवान बलि से नहीं, सत्य बोलने से और सेवा करने से प्रसन्न होते हैं jeevanmantra

कहानी - महात्मा गांधी जी चंपारण के एक गांव में सेवा कार्य कर रहे थे। उसी समय वहां से जुलूस निकल रहा था। गांधी जी को उत्सुकता जागी कि चंपारण में कुछ तो अलग होता है, मैं भी जाकर देखूं कि यहां कैसा जुलूस निकल रहा है। | aaj ka jeevan mantra by pandit vijayshankar mehta , story of mahatma gandhi , prerak katha

आज का जीवन मंत्र:भगवान बलि से नहीं, सत्य बोलने से और सेवा करने से प्रसन्न होते हैं3 घंटे पहलेलेखक: पं. विजयशंकर मेहताकॉपी लिंककहानी- महात्मा गांधी जी चंपारण के एक गांव में सेवा कार्य कर रहे थे। उसी समय वहां से जुलूस निकल रहा था। गांधी जी को उत्सुकता जागी कि चंपारण में कुछ तो अलग होता है, मैं भी जाकर देखूं कि यहां कैसा जुलूस निकल रहा है।

लखनऊ में बेरोजगारी के मुद्दे पर छात्र संगठनों ने निकाला मार्च, पुलिस ने NDTV के कैमरे को बंद करने के लिए कहा पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था का संकट और गहराया - BBC Hindi सरकारी दावों के बावजूद यूपी के गन्‍ना मंत्री के क्षेत्र में ही किसानों का 300 करोड़ रुपए अभी तक बकाया

जुलूस में गांधी जी ने देखा कि एक बकरा, जिसे फूल-माला से सजा रखा था, उसे लेकर लोग जुलूस निकाल रहे हैं। ये देखकर गांधी जी चौंक गए। वे थोड़ा आगे बढ़े और जुलूस में शामिल लोगों से पूछा, 'इस बकरे को इतना सजा-धजाकर कहां ले जा रहे हो?'लोगों ने कहा, 'इस बकरे की बलि चढ़ाएंगे। देवी को भोग लगाना है।'

गांधी जी ने पूछा, 'देवी को बकरे का ही भोग क्यों लगाना है?'लोग बोले, 'इससे देवी प्रसन्न होंगी।'गांधी जी ने कहा, 'अच्छा, अगर देवी की प्रसन्नता के लिए बकरा चढ़ा रहे हो तो देवी को और अधिक प्रसन्न कर लो, बकरे से अच्छा तो आदमी होता है, आदमी का भोग लगेगा तो देवी और ज्यादा प्रसन्न हो जाएंगी। अगर तुम्हें देवी को ही प्रसन्न करना है और कोई आदमी बलि के लिए नहीं मिल रहा है तो चलो मैं बलि के लिए तैयार हूं, आप लोग मेरी बलि दे दीजिए।' headtopics.com

जुलूस में शामिल लोग एक-दूसरे का मुंह देखने लगे। किसी को कुछ समझ नहीं आया। गांधी जी बोले, 'किसी बेजुबान जानवर की बलि देने से कोई देवी-देवता प्रसन्न नहीं होते हैं। ये अधर्म है। सत्य का पालन करें, सेवा करें, तब देवता प्रसन्न होते हैं।'लोगों ने प्रणाम किया और उनसे क्षमा मांगी। इसके बाद उस गांव में पशु बलि की परंपरा खत्म हो गई।

सीख -कभी भी मूक प्राणियों का वध न किया जाए। ये बहुत छोटी सोच है कि कोई देवी-देवता बलि से प्रसन्न होते हैं। हिंसा कैसी भी हो, बुरी ही होती है। और पढो: Dainik Bhaskar »

इतिहास में पहली बार ट्रेन से चला प्याज: 220 टन लाल प्याज किसान व्यापारियों ने सीधे असम भेजा, 1836km का सफर करेगा

राजस्थान के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब यहां होने वाली प्याज को ट्रेन से किसी दूसरे राज्य में भेजा गया है। पहली बार अलवर की प्याज रेल से असम भेजा गया है। पूरे प्रदेश में इससे पहले कभी भी प्याज को मालगाड़ी से ट्रांसपोर्ट नहीं किया गया। किसान रेल के जरिए किसानों की उपज को भेजने की उत्तर पश्चिम रेलवे ने यह शुरुआत की है। | उत्तर पश्चिम रेलवे के क्षेत्र में किसान रेल की अलवर से शुरूआत, 220 टन प्याज अलवर से असम भेजी

Asur Ki Bali Deni Chahiye, Chahe Jaha Bhi Mile एक दम सही कहा 👏🏼 ईश्वर तो एक ही है। निराकार है परन्तु रोम-रोम में है। जिस बलि शब्द की बात देवी-देवता के संदर्भ में कर रहे हो वहाँ बलि का अर्थ हत्या कतई नहीं है । न ही किसी देवता ने किसी की हत्या पर खुश होने के लिए कहा है । क्या यह अन्य धर्मों के अनुयायियों पर भी लागू होती है? कृपया स्पष्ट करें, उनके देवता कब प्रसन्न होते हैं ।

Waise ye thesis sirf hinduoo k liye tha ya santi doot walo k liye v tha... confuse hu thoda 🤔 Ideally this gyan you guys should have given during the festival of peaceful community Sanatan sanskriti me bali ka koi sthan nhi hai ye maha paap hai. Bali log apne fayede ke liye dete hain bali ka bhagwan se koi lena dena nahi jo log bhagwan ke name pe bali dete hain unka bhagwan se bhi koi nata nhi hota aise log maha dhongi hain bas.jeevanmantra

बकरीद मनाने वालों को कब ज्ञान बांट रहे हो दिवाली आई नहीं सब कोई अपने-अपने teaching क्लास चालू कर लिया झोपड़ी के☹ रक्त बीज कैटभ ताड़े.. ज़हन आसुरी लगे.. असुरों के उत्थान और अनंत में मिले जो भाव उन में खुद से विचरण ही साक्ष्य में जुड़े हुए सब भाव ..🧬 पैफेंबर hota hai kya प्रसन्न

महाराष्ट्र: दिल्ली से मुंबई जा रहे विमान में अभिनेत्री से छेड़छाड़, गाजियाबाद का व्यवसायी गिरफ्तारमहाराष्ट्र: दिल्ली से मुंबई जा रहे विमान में अभिनेत्री से छेड़छाड़, गाजियाबाद का व्यवसायी गिरफ्तार Maharashtra Mumbai Delhi Ghaziabad Flight Actress CrimeNews Police

अल्लाह भी जोड़ देता यह बात पूरे साल भर बोला करें Bakwaas... अच्छा बकरे‌ ईद‌ पर लाखों बकरो को‌ काटते हैं कुर्बानी के नाम पर बो क्या BC अल्लाह बलि से प्रसन्न होते हैँ हम भी तो यही कह रहे हैं,,!!!! Sirf hindu devi devta ? Vithala of western India is form of Divinity worshipped as God waiting on a Brick not asking for welcome chair to sit on while the Bhakt any person is busy serving the sick the old our parents or any one in need

Time to boycott DAINIK BHASKAR now!!!🤔🤔 बलि बलपूर्वक नहीं होनी चाहिए

Punjab चुनाव से पहले नई पार्टी बनाएंगे Captain Amarinder, BJP से गठबंधन के दिए संकेतपंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह अब कांग्रेस से भी अलग होने जा रहे हैं. पंजाब चुनाव से पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नई राजनीतिक पार्टी बनाने का ऐलान किया है. इस बात की जानकारी कैप्टन के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने ट्वीट कर दी है. कैप्टन अमरिंदर 2022 के पंजाब विधानसभा के चुनाव को लेकर अपनी राजनीतिक पार्टी बनाने जा रहे हैं. इसके साथ ही वह भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन भी कर सकते हैं. बता दें कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 18 सितंबर को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था और अब उन्होंने नई पार्टी का ऐलान कर दिया है. देखिए. Y-Axis yaxis a fraud company looting money form overseas carrier aspirants by fake profile evaluations, Cheating and manipulating. Y-Axis operations is a big scam yaxis xavieraugustin With due to respect. Sir if u really want to save ur Punjab then u should alliance with bjp. U both can win the Punjab election. बीजेपी ने दिया ? बीजेपी ने ही खड़ा किया ...

Jo sacche aur acche ho.un ke sath kabi bura nhi hota 😇😇 GodiMedia se bhi prassan hotey hain bhagwaan

उत्तराखंड में भारी बारिश और बाढ़ से कम से कम 47 लोगों की मौत - BBC Hindiमुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बाढ़ प्रभावित इलाक़ों का हवाई सर्वेक्षण किया और मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की. Modi ji ne Uttrakhand ke 47 logo ke marne pr dukh jahir kiya lekin 500 kisano ke marne pr dukhi nahi huye. Aur na hi Kashmir main mare gaye 9 Jawan 5 Civilian pr dukh jahir kiyaa क्या TV न्यूज़ चैनल वाले आर्यन ख़ान का सहारा लेकर ड्रग्स् का प्रचार प्रसार कर रहे हैं..

अरब सागर से उठे चक्रवात से हुई उत्‍तराखंड में हुई भीषण बारिश, देशभर में दिखा असरतीन दिनों तक हुई भारी बारिश ने हर किसी को हैरान और परेशान कर दिया है। यह भीषण रूप शक्तिशाली पश्चिमी विक्षोभ के साथ अरब सागर से उठे तूफान के कारण रहा। इसका असर देश के अधिकांश हिस्सों के साथ मध्य हिमालय तक दिखा। ☎️HELLO____ इंद्र भगवान 📞 मोटर बंद कर दो पानी भर गई

उत्तराखंड के बाद बंगाल से सिक्किम तक बारिश से तबाही, दार्जिलिंग में लैंडस्लाइडबंगाल के जलपाईगुड़ी और दार्जिलिंग के पड़ाही इलाकों पर पिछले 45 घंटे से लगातार हो रही बारिश के चलते कई जगहों पर लैंडस्लाइड की घटनाएं सामने आई हैं. महानदी में एनएच 55 पर भूस्खलन हुआ है. सुकना तक सड़क जाम हो गई है. कुरस्योंग में लैंडस्लाइड के चलते एक घर को भी नुकसान पहुंचा है. बताया जा रहा है कि घटना के वक्त घर पर कोई मौजूद नहीं था.

उत्तराखंड: मूसलाधार बारिश से मरने वालों की संख्या 47 हुई, नैनीताल से संपर्क बहालउत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र में मरने वालों की संख्या 40 से अधिक हो गई है. भारी बारिश से कई मकान ढह गए. कई लोग अब भी मलबे में फंसे हुए हैं. सड़कों, पुलों और रेल पटरियों को नुकसान पहुंचा हैं. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि राज्य भर में भारी क्षति हुई है. सामान्य स्थिति में लौटने में समय लगेगा. धामी ने राहत प्रयासों के लिए प्रत्येक ज़िलाधिकारियों को 10-10 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं.