Maharashtra, Coronavirus, Re, Bombay Hıgh Court, Corona In Maharashtra, Aajtak Report, Aajtak Reporter, Bombay Hıgh Court On Corona

Maharashtra, Coronavirus

आजतक इम्पैक्ट: बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा- महाराष्ट्र के गांवों में सबको मिले कोरोना का इलाज

कोर्ट ने आजतक के रिपोर्टर @pankajcreates की खबर का लिया संज्ञान, महाराष्ट्र सरकार को दिए कोरोना पर निर्देश-गांव पर फोकस करे सरकार #Maharashtra #Coronavirus #RE | @journovidya

13-05-2021 03:30:00

कोर्ट ने आजतक के रिपोर्टर pankajcreates की खबर का लिया संज्ञान, महाराष्ट्र सरकार को दिए कोरोना पर निर्देश-गांव पर फोकस करे सरकार Maharashtra Coronavirus RE | journovidya

एक सुनवाई के दौरान बॉम्बे हाईकोर्ट ने आजतक की पालघर में की गई एक ग्राउंड रिपोर्ट का जिक्र किया. कोर्ट ने कहा ''इंडिया टुडे से पंकज कुमार नाम के रिपोर्टर ने पालघर से रिपोर्ट की है. वहां न बिस्तर हैं, न कोई सुविधा हैं, मरीज जमीन पर लेट रहे हैं. उस रिपोर्ट में परिजनों और मरीजों के साथ जो इंटरव्यू थे, वो आंख खोल देने वाले थे.''

स्टोरी हाइलाइट्सआजतक ने पालघर से की थी ग्राउंड रिपोर्टकोर्ट ने आजतक के रिपोर्टर की खबर का लिया संज्ञानमहाराष्ट्र सरकार को दिए कोरोना पर निर्देशगांव पर फोकस करे सरकारआजतक की एक रिपोर्ट का असर ये पड़ा है कि खुद कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को निर्देश दिया है कि गांव की स्थिति पर ध्यान दिया जाए, कोरोना से गांव में बिगड़ती स्थिति पर फोकस शिफ्ट किया जाए, बॉम्बे हाईकोर्ट में महाराष्ट्र में कोविड की स्थिति पर दायर की गई एक PIL पर सुनवाई हो रही थी.

ताकि लोकतंत्र को बड़ी जेल बनने से बचाया जा सके... चिराग पासवान ने बाग़ी सांसदों को निकाला, पारस धड़े ने चिराग को हटाया - BBC Hindi क्या बीजेपी ने नीतीश के लिए चिराग को छोड़ दिया है? - BBC News हिंदी

इस दौरान कोर्ट ने आजतक कीपालघर में की गई एक ग्राउंड रिपोर्टका जिक्र किया. कोर्ट ने कहा ''इंडिया टुडे से पंकज उपाध्याय ने पालघर से ग्राउंड रिपोर्ट की है. वहां न बिस्तर हैं, न कोई सुविधा हैं, मरीज जमीन पर लेट रहे हैं. हम चाहते हैं कि सरकार ग्रामीण इलाकों में काम करने के लिए कलेक्टरों को निर्देश दे. इन क्षेत्रों में कोई काम नहीं किया गया है. उस रिपोर्ट में परिजनों और मरीजों के साथ इंटरव्यू थे, जो आंख खोल देने वाले थे.''

कोर्ट ने आगे कहा कि आपको इस महामारी को उसकी दहलीज पर ही रोकना पड़ेगा. शहरों में इन मामलों को कुछ मैनेज किया जा सकता है, वहां कुछ इलाज दिया जा सकता है. लेकिन गांवों के मामले में ऐसा नहीं है. अब आपकी प्राथमिकता में गांव होने चाहिए. गांव के लोग पहली कोरोना वेव में बच गए थे, लेकिन इस बार वे कोरोना संक्रमित हो रहे हैं. headtopics.com

आपको बता दें कि बॉम्बे हाईकोर्ट मुंबई और पुणे जैसे शहरों के संबंध में कोविड की तैयारियों पर सुनवाई कर रही थी और कई निर्देश भी दिए हैं. आजतक की रिपोर्ट में पालघर की एक महिला कुसुम के बारे में खबर की गई थी जिसमें महिला एक लोकल अस्पताल में बेंच पर बैठी हुई थी. उसे ऑक्सीजन भी दी जा रही थी. लेकिन उसे अस्पताल में बिस्तर नहीं मिला था. लेकिन आजतक के रिपोर्टर ने जब अस्पताल प्रशासन से बात की तो महिला को बिस्तर मिल सका. कोर्ट ने निर्देश दिया है कि सभी मरीजों को पर्याप्त इलाज मिलना चाहिए.

Live TV और पढो: आज तक »

कोरोना की उत्पत्ति पर चीन की सफाई: चीनी साइंटिस्ट ने कहा- निर्दोष वैज्ञानिकों पर कीचड़ उछाल रही दुनिया; वुहान लैब को लेकर अफवाहें फैलाई जा रहीं

कोरोनावायरस की उत्पत्ति को लेकर दुनियाभर के निशाने पर आए चीन अब अपने बचाव में उतर आया है। कोरोना की उत्पत्ति को लेकर सबसे ज्यादा चर्चा रही चीन की वुहान लैब के वैज्ञानिकों ने दुनिया के आरोपों को निराधार बताया है। | World Health Organization, WHO Report, Coronavirus, Wuhan, SARS-CoV-2 Virus, Coronavirus Origin, Coronavirus History, WHO Wuhan report, WHO's coronavirus origins report, Coronavirus Made In China Wuhan Lab, Wuhan Virology Laboratory, COVID Scientists

pankajcreates journovidya आज तक का कैमरा हाथरस तो खूब दौड़ा,रोज दौड़ा,पर टिकरी बार्डर बलात्कार की शिकार बंगाली महिला के पास कितना दौड़ा। Sarm karo nalayko tumhe jo pese de sirf vahi news dikhate ho Shame on u aaj tak

छत्तीसगढ़: कई गांवों में तेजी से फैल रहा कोरोना, टीका और इलाज के लिए भटक रहे लोगछत्तीसगढ़: कई गांवों में तेजी से फैल रहा कोरोना, टीका और इलाज के लिए भटक रहे लोग Chhattisgarh LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine OxygenCrisis OxygenShortage PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI bhupeshbaghel PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI bhupeshbaghel ऐसा कैसे हुआ? राहुल बाबा खुद मोदी जी को आए दिन ज्ञान देते रहते हैं लेकिन उनके मुख्यमंत्री को न सुनाई देता न समझ आती? या उनका ज्ञान पेलना किसी निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति के लिए है?

कोरोना: आंध्र के पूर्व सीएम पर गुमराह करने के आरोप में केस, जी-7 सम‍िट में नहीं जाएंगे पीएमकोरोना: आंध्र के पूर्व सीएम पर गुमराह करने के आरोप में केस, द‍िल्‍‍‍‍ली में सोन‍िया ने बनाई टास्‍‍‍क फोर्स, जी-7 सम‍िट में नहीं जाएंगे पीएम

फ़ाउची ने कहा, भारत यह मान बैठा था कि पिछली लहर ही असली है - BBC Hindiअमेरिका के शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉक्टर एंथनी फ़ाउची ने कहा है कि कोरोना वायरस को लेकर किए गए ‘ग़लत पूर्वानुमान’ के कारण आज भारत ‘ख़तरनाक भंवर’ में है. Vocal for local कर के गाँव बर्बाद, विश्वा गुरु कर के देश बर्बाद, आत्मनिर्भर करके भिक्षु बना दिए। जय हो मोदी जी एक ही वजह है मोदी। किसी का चलने दे हीरो तब तो। तो तिथ बसुन ईथली कारण सांगनार , म्हणजे आम्ही येडे

गंगा में तैरती लाशें, 45 दिन में 28 मौतें, कहीं सब बीमार... गांवों में यह क्या हो रहा!नई दिल्लीकोरोना की दूसरी लहर में शहरों के बाद अब गांवों में भी स्थिति काफी खराब हो रही है। यूपी से लेकर बिहार समेत देश के अन्य राज्यों में ग्रामीण इलाकों में कोरोना से संक्रमण की खबरें लगातार आ रही हैं। हालांकि गांवों में ऐसे लोगों की संख्या बहुत अधिक है जो कोरोना को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। रविवार को बिहार मे बक्सर के चौसा के महदेवा घाट पर दर्जनों शव नदी में पानी के ऊपर उतराते हुए दिखाई देने के बाद हड़कंप मच गया। बताया जा रहा है कि ये शव संदिग्ध रूप से कोरोना संक्रमित लोगों के हैं जिन्हें नदी में बहा दिया गया है। हालांकि, जिला प्रशासन ने इससे इनकार किया।

छत्तीसगढ़: गाँवों में तेज़ी से फैल रहा कोरोना; ना टीका मिल रहा, ना इलाज - BBC News हिंदीछत्तीसगढ़ में जहाँ एक समय बड़े शहरों में कोरोना के मामले सामने आ रहे थे, वहाँ अब ग्रामीण इलाक़ों से सामने आ रहे कोरोना के आँकड़े चिंताजनक हैं. प्रधानमंत्री हर मीटिंग को 'हाई लेवल मीटिंग' का नाम देकर देशवासियों को भ्रमित करते हैं. नहीं हाँ 👇 👇 भाजपा सांसदों ने जो गांव गोद लिए थे वह तो करोना मुक्त होंगे महा कुंभ मेले मे आस्था की डुबकी और नेताओं की चुनावी रैली के नतीजे अब सामने आने लगे है। धन्य हो मोदी जी। मोदी जी को 7 तोपों की सलामी।

नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन ने रोकी कोरोना की रफ्तार, स्वास्थ्य मंत्रालय का दावाकेंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना की मौजूद स्थिति पर प्रेस कॉन्फ्रेंस किया और कहा कि राज्यवार कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आ रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा है कि नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन ने कोरोना संक्रमण की रफ्तार रोकी है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि नाइट कर्फ्यू और 15 दिनों के कुछ राज्यों में सख्त लॉकडाउन के असर से संक्रमण के मामले कम हुए हैं. देखें स्वास्थ्य मंत्रालय की पूरी प्रेस कॉन्फ्रेंस, इस वीडियो में. srk love Shoaib akhtar Rare video ipl 2008