Loksabhaelections 2019, चुनाव 2019, आखिरी चरण, वोटिंग, बनारस, मतदान

Loksabhaelections 2019, चुनाव 2019

आखिरी वोटिंग के साथ मतगणना की तैयारियां शुरू | DW | 19.05.2019

#LokSabhaElections2019 के आखिरी चरण में 10.1 करोड़ मतदाता 59 सीटों के लिए अपने नुमाइंदों का चुनाव कर रहे हैं.

19-05-2019 10:46:00

LokSabhaElections2019 के आखिरी चरण में 10.1 करोड़ मतदाता 59 सीटों के लिए अपने नुमाइंदों का चुनाव कर रहे हैं.

जोश के साथ भारत में आखिरी चरण के मतदान के लिए वोट जारी है. रविवार को मैराथन लोकसभा चुनावों के आखिरी चरण में 10.1 करोड़ मतदाता 59 सीटों के लिए अपने नुमाइंदों का चुनाव कर रहे हैं.

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएमपहली बार इस्तेमाल1982 में केरल विधानसभा के उपचुनावों में पहली बार 50 मतदान केंद्रों में ईवीएम का इस्तेमाल किया गया. यह एक टेस्ट फेज था. फिर 1998 में 16 विधानसभा क्षेत्रों में ईवीएम लगाई गईं. इनमें से पांच मध्य प्रदेश में, पांच राजस्थान में और छह दिल्ली में थीं. ये मशीनें 1989 से 1990 के बीच बनाई गई थीं. साल 2000 के बाद से तीन लोकसभा चुनावों में ईवीएम का इस्तेमाल हो चुका है.

युद्ध की तैयारी में चीन! राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सेना को तैयार रहने के दिए आदेश चीन को जवाब देने की तैयारी, तीनों सेनाओं ने पीएम मोदी को सौंपा ब्लूप्रिंट पिता के साथ बेचते थे सब्जी, यह हैं बिहार दसवीं के टॉपर हिमांशु राज

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएमइंटरनेट से लेना देना नहींभारत में इस्तेमाल होने वाली वोटिंग मशीनें वाईफाई या किसी भी तरह के नेटवर्क से जुड़ी नहीं होती हैं और ना ही एक मशीन दूसरी से कनेक्टेड होती है. चुनाव आयोग के अनुसार इस वजह से इन पर हैकिंग का खतरा नहीं रहता है. हर मशीन अपने आप में एकल डिवाइस है. एक मशीन के खराब होने का पूरी चुनावी प्रक्रिया पर कोई असर नहीं होता.

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएममाइक्रो चिप का कमालवोटिंग का सारा डाटा एक माइक्रो चिप में सुरक्षित होता है. इस चिप के साथ ना तो कोई छेड़छाड़ की जा सकती है और ना ही रीराइट किया जा सकता है. यही ईवीएम को फूल प्रूफ भी बनाता है. लेकिन बावजूद इसके 2014 के लोकसभा चुनावों में धांधली के आरोप लगते रहे हैं. हालांकि इन्हें सिद्ध नहीं किया जा सका है.

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएमकैसे काम करती है?जिस किसी ने ईवीएम इस्तेमाल किया है या फिर उसकी तस्वीर देखी है, वह समझ सकता है कि हर पार्टी के निशान के सामने एक बटन होता है. एक व्यक्ति एक ही बार बटन दबा सकता है. इसके बाद मशीन लॉक हो जाती है. बार बार बटन दबाने से वोटिंग दोबारा नहीं होती है.

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएममशीन के दो हिस्सेहर मशीन में एक बैलेटिंग यूनिट होती है और एक कंट्रोल यूनिट. बैलेटिंग यूनिट के जरिए मतदाता अपना वोट देता है और कंट्रोल यूनिट के जरिए पोलिंग अधिकारी मशीन को लॉक करता है. मतदान पूरा होने के बाद जो लॉक का बटन दबाया जाता है, उसके बाद मशीन कोई डाटा नहीं स्वीकारती.

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएमकुल कितने वोट?एक ईवीएम में अधिकतम 3,840 वोट जमा किए जा सकते हैं. मतदान केंद्रों की योजना इस तरह से बनाई जाती है कि एक केंद्र में 1400 से ज्यादा मतदाताओं को आने की जरूरत ना पड़े. इस तरह से लोगों को घंटों लंबी लाइनों में नहीं लगना पड़ता है. और इसका मतलब यह भी है कि हर मशीन बूथ की क्षमता से दोगुना से भी ज्यादा लोगों के वोट जमा कर सकती है.

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएमकितनी लंबी सूची?एक मशीन में 16 उम्मीदवार दर्ज किए जा सकते हैं. लेकिन अगर उम्मीदवारों की सूची इससे लंबी हो तो एक और मशीन को साथ में जोड़ा जा सकता है. इसी तरह अगर 32 में भी सूची पूरी ना हो रही हो तो एक तीसरी और चौथी मशीन को भी कनेक्ट किया जा सकता है. लेकिन ईवीएम की सीमा 64 है यानी पांचवीं मशीन को नहीं जोड़ा जा सकता. वैसे, अब तक इसकी जरूरत भी नहीं पड़ी है.

कांग्रेस का आरोप- यूपी में दलितों-पिछड़ों को निशाना बना रही योगी सरकार स्पेशल रिपोर्ट: कोरोना को लेकर राहुल गांधी का मोदी सरकार पर करारा वार मुंबई से गोरखपुर जा रही ट्रेन पहुंची ओडिशा, अखिलेश ने ली चुटकी

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएमक्या वोट हो जाते हैं ट्रांसफर?वोटिंग मशीन हो या फिर बैलेट पेपर, पार्टी के निशान किस क्रम में लगाए जाएंगे ये इस पर निर्भर करता है कि नामांकन कब दाखिल किया गया था और कब उसकी जांच पूरी हुई. इस प्रक्रिया को पहले से निर्धारित नहीं किया जा सकता. इसलिए पहले से किसी के लिए भी पार्टी के क्रम को जानना और मशीन को उस हिसाब से सेट करना संभव नहीं होता.

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएमकहां कौन सी मशीन?कौन सी मशीनें किस मतदान केंद्र में पहुंचेंगी इसकी जानकारी भी गुप्त रखी जाती है. मशीनें दो चरणों में चुनी जाती हैं और वो भी बेतरतीब ढंग से ताकि योजनाबद्ध उन्हें किसी एक केंद्र में ना भेजा जा सके. पहला चरण कंप्यूटर के हाथ में होता है और दूसरा पोलिंग अधिकारी के हाथ में.

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएमकैसे चुनते हैं मशीन को?हर मशीन का एक क्रमांक होता है. इनके आधार पर एक सूची बनाई जाती है. फिर पहले चरण में कंप्यूटर इस सूची में से अनियमित रूप से कुछ मशीनों को चुनता है. इसे फर्स्ट लेवेल रैंडमाइजेशन कहा जाता है. दूसरे चरण में अधिकारी अपने पोलिंग बूथ के लिए कुछ मशीनों को साथ ले कर जाता है. ये सेकंड लेवेल रैंडमाइजेशन कहलाता है.

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएमवीवीपैट क्या होता है?2010 में चुनाव आयोग ने वीवीपैट यानी वोटर वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल की शुरुआत की. इसके तहत वोट डालने के बाद हर मतदाता को उम्मीदवार के नाम और चुनाव चिह्न वाली एक पर्ची मिलती है ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि वोट सही डला है. वीवीपैट का इस्तेमाल पहली बार 2013 में नागालैंड के उपचुनाव में हुआ. जून 2014 में चुनाव आयोग ने इसे 2019 लोकसभा चुनावों में हर पोलिंग बूथ पर लागू करने का आदेश दिया.

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएमकितने देश करते हैं इस्तेमाल?दुनिया भर के 31 देशों में ईवीएम का इस्तेमाल हो चुका है. लेकिन भारत के अलावा केवल ब्राजील, भूटान और वेनेजुएला ही देश भर में इनका इस्तेमाल कर रहे हैं. जर्मनी, नीदरलैंड्स और पराग्वे में इनका इस्तेमाल शुरू किया गया और फिर रोक लगा दी गई. जर्मनी और नीदरलैंड्स के अलावा इंग्लैंड और फ्रांस में भी ईवीएम का इस्तेमाल नहीं होता है. हालांकि वहां इस पर रोक नहीं लगाई गई है.

वोट देने से पहले जान लें कैसे काम करती है ईवीएमईवीएम से दूरी2009 में जर्मनी की एक अदालत ने कहा कि कंप्यूटर आधारित इस सिस्टम को समझने के लिए प्रोग्रामिंग की जानकारी होना जरूरी है, जो आम नागरिकों के पास नहीं हो सकती, इसलिए मतदान का यह तरीका पारदर्शी नहीं है. अमेरिका में फैक्स या ईमेल के जरिए ई-वोटिंग की जा सकती है लेकिन मशीनों का इस्तेमाल वहां भी नहीं होता.

लॉकडाउन: राजस्थान में ग्रेजुएट और MA पास कर रहे मनरेगा में मिट्टी ढोने का काम जनरल वीके सिंह बोले- ध्यान भटकाने के लिए हथकंडे अपना रहा चीन क्रिसिल ने चेताया- आजादी के बाद चौथी सबसे बड़ी आर्थिक मंदी की आशंका

रिपोर्ट: ईशा भाटिया सानन और पढो: DW Hindi »

लोकसभा चुनाव: आखिरी चरण में पीएम मोदी समेत इन दिग्गजों की किस्मत का होगा फैसला-Navbharat Timesलोकसभा चुनाव के आखिरी रण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं। सातवें चरण के चुनाव में यूपी की 13 सीटों के अलावा हिंसाग्रस्त पश्चिम बंगाल की 9, बिहार की 8, पंजाब की 13, हिमाचल प्रदेश की 4, मध्य प्रदेश की 8, झारखंड की 3 सीटों सहित चंडीगढ़ संसदीय सीट पर कई उम्मीदवार अपना दांव आजमा रहे हैं। आखिरी चरण के मतदान में कई दिग्गजों की किस्मत का फैसला होना है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा शत्रुघ्न सिन्हा, सनी देओल, मीसा भारती और किरण खेर जैसी शख्सियतें शामिल हैं। सातवें चरण का चुनाव बीजेपी, कांग्रेस समेत बाकी दलों के लिए लिटमस पेपर टेस्ट की तरह है। इसके लिए सभी पार्टियों के नेताओं ने चुनाव प्रचार में सारी ताकत झोंक दी तो वहीं पश्चिम बंगाल में अमित शाह के रोड शो में बवाल के बाद चुनाव आयोग ने सख्ती बरतते हुए चुनाव प्रचार का समय कम कर दिया था। एक नजर आखिरी चरण के चुनाव की चर्चित सीटें और दिग्गज उम्मीदवारों पर-

गुजरात: आखिरी चरण के प्रचार के बाद आज सोमनाथ मंदिर में दर्शन करेंगे अमित शाहबीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आज सोमनाथ मंदिर जाकर दर्शन करेंगे तो वहीं पीएम मोदी आज उत्तराखंड दौरे पर जाएंगे. इस दौरान वह विश्वप्रसिद्ध हिमालयी धामों केदारनाथ और बदरीनाथ के दर्शन करेंगे. AmitShah एक बार चौराहे पर आ जा तुम लोगों पर बुडापे का लिहाज भी नहीं करेगी जनता अंतिम इच्छा भी जाहिर नहीं करने देगी जनता। इतनी नफरत हो चुकी है भाजपा से जनता को AmitShah AmitShah Ayodhya kyo nhi jate jai shri ram

बिहार: आखिरी चरण के चुनाव में मोदी सरकार के 4 मंत्रियों की किस्मत दांव परIstifa prasad haarte hi Istifa maangna shuru kar dega. 3 boliye, Shatrughan ka harna pakka hai, like k rakh lijiye ले अपने बाप को दे दियो 23 मई को लड्डू खा लेगा, आएगा_तो_मोदी_ही क्योंकि मोदी है तो मुमकिन है। 🚩 🙏 narendramodi RahulGandhi INCIndia INCIndiaLive ShatruganSinha sonakshisinha यह सिर्फ छेनु के लिए है

लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में पीएम मोदी और कैबिनेट सहयोगियों की दांव पर लगी प्रतिष्ठालोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के आखिरी चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(PM Narendra Modi) ही नहीं, उनके मौजूदा और पूर्व कैबिनेट सहयोगियों की भी प्रतिष्ठा दांव पर लगी है.

लोकसभा चुनाव: आखिरी चरण का मतदान, पटना के गांधी मैदान में तैयार हुई 'महारंगोली'-Navbharat Timesलोकसभा चुनाव 2019 न्यूज़: सातवां चरण यानी 19 मई को लोकसभा चुनाव के लिए होने वाले मतदान के मद्देनजर चुनाव आयोग की ओर से खास तैयारियां की जा रही हैं। प्रयास किया जा रहा है कि ज्यादा से ज्यादा मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करें।

लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में आठ राज्यों की 59 सीटों पर मतदान शुरूलोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में आठ राज्यों की 59 सीटों पर मतदान शुरू LoksabhaElections2019 7thPhase Varanasi NarendraModi EC लोकसभाचुनाव2019 सातवांचरण वाराणसी नरेंद्रमोदी चुनावआयोग Ye tou latest news hai LokSabhaElections2019

बिहार: लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण से पहले आरजेडी और जेडीयू के बीच 'लेटर वॉर'तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए चिट्ठी लिखी तो जवाब में जेडीयू के विधान पार्षद नीरज कुमार ने लालू यादव को चिट्ठी लिखते हुए निशाना साधा.

लगातार दूसरे दिन महंगा हुआ डीजल, पेट्रोल में आई गिरावट आखिरी चरण के चुनाव से पहले शुक्रवार को  डीजल की कीमतों में एक बार फिर बढ़ोतरी दर्ज की गई है. मोदी सरकार में महंगाई चरम पर है । इस बार न तो पेट्रोल की किम्मतो पर .. ना महंगाई पर .. बात कर रहा है ... ? सच में राम राज्य आ गया है ... बात करते है तो बास ... मोदी हटाओ .. तो क्या कांग्रेस को वोट दे दे बे आज तक... भाग bc

election/lok sabha chunav/lok sabha chunav news and updates on 18th may 2019 - कुमारस्‍वामी बोले- पीएम पद के उम्‍मीदवार के रूप में राहुल गांधी को हमारा समर्थन | Navbharat Timesलोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण के लिए प्रचार का शोर थम चुका है। अंतिम चरण के लिए कल यानी 19 मई को मतदान होगा। आखिरी चरण में 7 राज्यों व एक केंद्रशासित प्रदेश की 59 सीटों पर मतदान होना है। बीजेपी के लिहाज से अंतिम चरण काफी ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योंकि इस चरण में यूपी के पूर्वांचल की कई सीटों पर भी मतदान होना है, जहां पिछली बार बीजेपी ने जबरदस्त प्रदर्शन किया था। चुनावी हलचल की हर अपडेट के लिए बने रहिए हमारे साथ...

गोरखपुरः बाहुबली पर हाथ डालने से उपचुनाव में नाराज थे ब्राह्मण, इस बार कांग्रेस ने बिगाड़ा खेललोकसभा चुनाव -2019 अपने आखिरी सफर में है. 19 मई को सातवें चरण के बाद लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व समाप्त हो जाएगा. इस चरण में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के गढ़ यानी गोरखपुर में मतदान होना है. बीते उपचुनाव में पटखनी खाने के बाद बीजेपी यहां सोशल इंजीनियरिंग के जरिए जातीय गणित साध रही है. भले ही इस सीट पर निषाद समाज के वोटर निर्णायक भूमिका में हों, लेकिन ब्राह्मणों को साधे बिना राह मुश्किल है. झूठ पे शर्म आने के बजाय गर्व की अनुभूति होंने लगे तब आत्मचिंतन करें राष्ट्रचिन्तन नही। चाणक्य ने तो नहीं बताया हो लेकिन हम बताये देते हैं। वैसे स्थानीय मत ये भी है कि योगी जिबखुद ब्राह्मण कैंडिडेट को हरवाते है ताकि ये साबित किया जाए कि अगड़ों में उनके अलवा कोई और नहीं जीत सकता ये वर्चस्व सिद्ध करने कि लड़ाई है रणचंडी बनी ममता बनर्जी ने भाजपाईयों की कलकत्ता में वो हालत कर दी है कि भाजपाई सपने में भी ममता दीदी-ममता दीदी चिल्ला रहे हैं।🤣🤣

राजतिलक: छठे चरण के मतदान में पश्चिम बंगाल आगे, पिछड़ा उत्तर प्रदेश West Bengal registers massive voter turnout in sixth phase - Rajtilak AajTakलोकसभा चुनाव 2019 के छठे चरण में दिल्ली सहित 7 राज्यों की 59 लोकसभा सीटों पर आज मतदान पूरा हो गया है. इसमें केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह, हर्षवर्धन और मेनका गांधी, सपा प्रमुख अखिलेश यादव और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया की किस्मत का फैसला होगा. छठे चरण में उत्तर प्रदेश की 14, हरियाणा की 10, बिहार और मध्य प्रदेश की 8-8, दिल्ली की सात और झारखंड की चार सीटों पर वोटिंग के बाद उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला ईवीएम में कैद हो चुका है. चुनाव आयोग के मुताबिक लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 63.04 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. आयोग के रात 8.50 बजे तक आए आंकड़ों के अनुसार बिहार में 59.29, हरियाणा में 66.69, मध्य प्रदेश में 64.22, उत्तर प्रदेश में 54.29, पश्चिम बंगाल में 80.35, झारखंड में 64.50 और दिल्ली में 58.93 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है.चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़ लेटर gauravbh anjanaomkashyap पिछले 24 घंटे में बंगाल में- हिंदू लड़कियों की साड़ियां खीची गई। हिंदुओं की गाड़ियों व घरों में घुस के तोड़फोड़ की गई। 3 हिंदुओं को जिहादियों ने मार डाला, 1का हाथ काट दिया - ABP गायब - aajtak गायब - बिंदी_गैंग गायब - अवार्ड_वापसी गायब - बालीवुड योद्धा गायब MeraVoteModiKo gauravbh anjanaomkashyap Congrats MI to win the VIVO IPL 2019 TROPHY gauravbh anjanaomkashyap Rahul rahul Didi didi

राहुल गांधी का वार- पीएम ने पहले फ्रंटफुट पर खेला, लेकिन अब बैकफुट पर हैं मजदूरों की मदद के नाम पर पब्लिस्टी स्टंट के आरोप, सोनू सूद ने द‍िया जवाब केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा ने क्वारंटाइन से किया किनारा, सफाई में बोले- छूट वाली कैटेगरी में आता हूं अभिजीत बनर्जी की सलाह- प्रत्येक भारतीय को 1000 रुपये हर महीने दे सरकार ईद के दिन फिर दिल्ली की सड़कों पर निकले राहुल, टैक्सी ड्राइवर से जाना हाल योगी आदित्यनाथ का वो बयान जिस पर मच रहा है सियासी घमासान VIDEO: राहुल बोले- लॉकडाउन हुआ फेल, मोदी सरकार माने नाकामी 2 महीने बाद शुरु हुई घरेलू उड़ान, देखें कैसा था पहला दिन दिल्ली के तुगलकाबाद में भीषण आग से 1500 झुग्गियां जलकर राख, सैकड़ों लोग बेघर सोनू सूद के बाद मजदूरों के मसीहा बने प्रकाश राज, घर पहुंचाने में कर रहे मदद नेपाल के साथ क्या हुआ, लद्दाख में कैसे हालात? देश के सामने सच्चाई बताए सरकार: राहुल गांधी