Presidentialdebate 2020, Usa, Election 2020, अमेरिका, राष्ट्रपति चुनाव, जो बाइडेन, डॉनल्ड ट्रंप, प्रेसिडेंशियल डिबेट

Presidentialdebate 2020, Usa

आखिरी प्रेसिडेंशियल डिबेट में ट्रंप और बिडेन के बीच वायरस, नस्लवाद और जलवायु पर बहस | DW | 23.10.2020

टेनेसी की नेश्विले में हुई डिबेट 90 मिनट चली. बहस के मुद्दे नागरिकों से जुड़े थे और दोनों ने एक दूसरे के बोलने के दौरान बहुत कम बाधा डाली. #PresidentialDebate2020 #USA #Election2020

23-10-2020 13:03:00

टेनेसी की नेश्विले में हुई डिबेट 90 मिनट चली. बहस के मुद्दे नागरिकों से जुड़े थे और दोनों ने एक दूसरे के बोलने के दौरान बहुत कम बाधा डाली. PresidentialDebate2020 USA Election2020

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से पहले राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और उनको चुनौती देने वाले डेमोक्रैट जो बाइडेन के बीच आखिरी प्रेसिडेंशियल डिबेट हुई. इस बहस में कोरोना वायरस, नस्लवाद और जलवायु परिवर्तन का मुद्दा छाया रहा.

दोनों ने एक दूसरे के बोलने के दौरान बहुत कम बाधा डाली. हालांकि दोनों नेता कोरोना वायरस, अपराध और जलवायु परिवर्तन पर आपस में भिड़ते दिखे. ट्रंप और बाइडेन ने एक दूसरे को जवाब दिया और कई बार दूसरे के बोलने के समय में सिर झुकाकर बोलने के लिए संकेत दिए.

तेजस्वी ने बिहार की एनडीए सरकार को दी चुनौती, कहा- 1 महीने में नहीं दिए 19 लाख रोजगार तो होगा आंदोलन आज तक @aajtak असदुद्दीन ओवैसी को दिया गया हर वोट भारत के खिलाफ : भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या

इस आखिरी डिबेट में ट्रंप ने बहुत अच्छा बर्ताव दिखाया. खासकर डिबेट के शुरूआत में. नेश्विले में हुई तीसरी और आखिरी डिबेट को एनबीसी की एंकर क्रिस्टीन वेल्कर ने मॉडरेट किया. वो शांत और संयमित नजर आईं. ट्रंप ने उनकी तारीफ करते हुए कहा,"जहां तक मुझे लगता है यह आप बहुत अच्छे से कर रही हैं." ट्रंप ने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि उन्होंने ट्रंप को बाइडेन के सवाल पर जवाब देने का मौका दिया था.

ट्रंप और बाइडेन की बहसयह बहस 90 मिनट चली और बहस को सुनने आए लोगों ने नियमों का कड़ाई से पालन किया. मंच पर दोनों नेता जब पहुंचे तो बाइडेन के मुंह पर मास्क था और ट्रंप ने मास्क नहीं लगाया था. कुछ दिन पहले ट्रंप कोरोना पॉजिटिव हो गए थे और फिर इलाज के बाद उनकी तबीयत भी ठीक हो गई थी. दोनों नेताओं ने एक दूसरे की तरफ देखा और बहुत विनम्रता के साथ एक दूसरे का अभिवादन किया. नेश्विले की बेलमॉन्ट यूनिवर्सिटी के हॉल में केवल 200 लोगों को ही बिठाया गया था, ऐसा कोरोना वायरस की वजह से किया गया.

इस बहस की शुरुआत कोरोना के बाद की स्थिति को लेकर शुरू हुई. इस दौरान जो बाइडेन ने कहा कि कोरोना के कारण पैदा हुई स्थिति संभालने में ट्रंप प्रशासन नाकाम रहा है. बाइडेन ने ट्रंप प्रशासन पर हमला करते हुए कहा कि कोरोना वायरस की वजह से 2,20,000 अमेरिकी लोगों की मौत के बाद ट्रंप को चुनाव के लिए अयोग्य घोषित किया जाना चाहिए. इसके जवाब में ट्रंप ने कहा कि ''वायरस को खत्म'' किया जा रहा है. हालांकि देश में मामले बढ़ रहे हैं. उन्होंने कहा, ''कोरोना वायरस अब धीरे-धीरे खत्म हो रहा है, ज्यादा से ज्यादा लोग ठीक हो रहे हैं. मुझे कोरोना हुआ था लेकिन अब ठीक हो गया हूं.'' ट्रंप ने कहा,"डॉक्टरों का कहना है कि मैं इम्यून हूं."

इस बार डिबेट में म्यूट बटन का प्रावधान था.बाइडेन ने इसके जवाब में कहा है कि जो भी इतनी मौतों के लिए जिम्मेदार उसको पद पर बने रहने का अधिकार नहीं है. बाइडेन ने कहा, ''लोग कोरोना के साथ जीना सीख रहे हैं, मरना सीख रहे हैं." ट्रंप और बाइडेन ने इस बहस के दौरान खुद को अमेरिकी स्वास्थ्य देखभाल के रक्षक के तौर पेश करने की कोशिश की. इस बार चुनाव में मतदाताओं के बीच यह मुद्दा शीर्ष पर है.

इस बीच ट्रंप ने इस डिबेट में एक बार फिर बाइडेन पर चीन के प्रति झुकाव का आरोप लगाया और कहा,"मैं चीन से पैसे नहीं कमाता हूं. आप कमाते हैं. मैं यूक्रेन से पैसे नहीं बनाता हूं, आप कमाते हैं." हालांकि ट्रंप ने अपने आरोपों पर तो कोई सबूत पेश नहीं किए.

नस्लवादनस्लवाद के मुद्दे पर मॉडरेटर वेल्कर ने दोनों ही नेता को विस्तार से बहस का मौका दिया लेकिन दोनों ही ने एक दूसरे पर भड़ास निकाली. वेल्कर ने ट्रंप और बाइडेन से सीधे अश्वेत अमेरिकी नागरिकों को संबोधित कर उनके मुद्दे पर अपनी बात कहने को कहा लेकिन दोनों ने ही कहा कि वे जानते हैं कि अश्वेतों को किस तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है. ट्रंप ने अपने आपको सबसे कम नस्लवादी करार दिया और उन्होंने दावा किया कि जो काम उन्होंने किया है वैसा किसी और ने नहीं किया है. बाइडेन ने ट्रंप को नस्लवादी करार दिया. बाइडेन ने कहा,"आपने हर नस्लवादी आग को भड़काया है."

आज तक @aajtak आज तक @aajtak Coronavirus: क्या 12 दिसंबर को मिल जाएगी दुनिया को कोरोना वैक्सीन?

जलवायु परिवर्तनजलवायु के मुद्दे पर ट्रंप और बाइडेन के बीच भी बहस हुई. 20 साल में पहली बार प्रेसिडेंशियल डिबेट में इस मुद्दे पर व्यापक चर्चा हुई. ट्रंप ने देश की जनता को स्वच्छ हवा और साफ पानी देने का श्रेय लिया. साथ ही उन्होंने कहा कि वे अमेरिकी लोगों की नौकरियां बचाने के काम में जुटे हुए हैं. बाइडेन ने इसके जवाब में कहा कि पर्यावरण के अनुकूल बड़े पैमाने पर उद्योगों में निवेश की जरूरत है. उन्होंने कहा,"हमारे स्वास्थ्य और हमारी नौकरियां दांव पर हैं."

एए/सीके (एपी, एएफपी, रॉयटर्स) और पढो: DW Hindi »

Delhi में बेकाबू Coronavirus, क्या लगेगा Lockdown?

क्या देश की राजधानी दिल्ली में एक बार फिर से लॉकडाउन लगाया जाएगा? क्या एक बार फिर से बंद होंगे दिल्ली के बाजार? ये सवाल इसलिए उठे हैं क्योंकि दिल्ली में कोरोना की रफ्तार पहले से कहीं ज्यादा तेज हो गई है. कोरोना की बढ़ती रफ्तार ने दिल्ली की केजरीवाल सरकार को चिंता में डाल दिया है. अब दिल्ली सरकार एक बार फिर लॉकडाउन लागू करने का सोच रही है. दिल्ली में कोरोना न हुआ रक्तबीज हो गया, जितनी खत्म करने की कोशिश हो रही है, उतना ही बढ़ता जा रहा है. पूरे राजधानी को कोरोना ने ऐसा चपेट में लिया है कि एक बार फिर से राजधानी में लॉकडाउन करने की नौबत आ रही है.हालात बिगड़ते जा रहे हैं और इन बिगड़े हुए हालातों में कहीं ऐसा न हो कि दिल्ली में लॉकडाउन भी लौट आए. देखिए देशतक, चित्रा त्रिपाठी के साथ.

खुलासा: चीन में है ट्रंप का कारोबार और बैंक खाता, लग सकता है चुनाव में झटकाखुलासा: चीन में है ट्रंप का कारोबार और बैंक खाता, लग सकता है चुनाव में झटका USelections2020 USelections DonaldTrump JoeBiden China हमारे मोदी जी भी चीनी बैंको से लोन लेते है वो भी उस समय जब चीनी सेना हथियारों से लैस होकर सीमा फड़पने के लिए तैयार खड़ी हो।।

चीनी जासूसी कांड में खुलासा-प्रधानमंत्री कार्यालय और बड़े दफ्तरों में सेंध लगाने का था प्लानजासूसी मामले में पकड़ी गई युवती क्विंग शी ने पूछताछ के दौरान जांच एजेंसियों के सामने कई राज खोले हैं. जांच एजेंसियों को पता चला कि चीन ने भारत में अपनी जासूसी टीम को प्रधानमंत्री कार्यालय समेत बड़े कार्यालयों की आंतरिक जानकारी देने को कहा था.

सर्च में Google की दादागिरी के खिलाफ अमेरिका में केस; जानें भारत में क्या असर पड़ेगा?यूरोप- अमेरिका के बाद जापान और ऑस्ट्रेलिया ने भी Google जैसी टेक कंपनियों के एकाधिकार को चुनौती देने के संकेत दिए,Google का जवाब- हमने किसी के साथ जबरदस्ती नहीं की, लोग अपनी मर्जी से सर्च के लिए करते हैं इस्तेमाल | Google Search Antitrust Case (Alphabet) Update; अमेरिका में जस्टिस डिपार्टमेंट ने मंगलवार को गूगल के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। उस पर अवैध तरीके से सर्च और सर्च से जुड़ी गतिविधियों के लिए अवैध तरीके से मोनोपोली का आरोप लगाया Google ravibhajni justicforjaiprakashpal justicforjaiprakashpal justicforjaiprakashpal myogiadityanath BJP4UP narendramodi Mayawati PMOIndia Jitendr04457971 pal_dhamu HolkarSena31 AmitShah PAL_YOUTH_ Palektamanch Rashmipal_86

CBHFL Recruitment 2020: सेंट्रल बैंक में नौकरी का सुनहरा मौका, आज आखिरी तारीखयहां नौकरी के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया 14 अक्टूबर 2020 को शुरू हो गई थी. ऑफिसर, सीनियर ऑफिसर समेत कई पदों पर भर्ती के लिए आवेदन मांगे गए हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति चुनावः ईरान, चीन और कोरोना पर भिड़े ट्रंप और बाइडन - BBC News हिंदी राष्ट्रपति चुनाव से पहले डोनाल्ड ट्रंप और जो बाइडन के बीच कोरोना वायरस से आगे की लड़ाई, ईरान और चीन समेत कई मुद्दों पर हुई आखिरी बहस. ट्रम्प की बिदाई तो पक्की है अगर अपना वाला भी चला जाए तो मजा आ जायेगा काेराेना कि राजनीति करना सबसे बडा वेवकुफि का पहचान। राष्ट्रपति डाक्टर नहीं। सुझाव देनेके लिए डाक्टर बहुत हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावः ईरान, चीन और कोरोना पर भिड़े ट्रंप और बिडेनजो बिडेन ने कोरोना महामारी पर कहा, 'इस साल के अंत तक अमेरिका में दो लाख और मौतें होने का अनुमान है, लेकिन हमारे राष्ट्रपति के पास इसके लिए कोई व्यापक योजना नहीं है।' USA corona