Coronavirus, Covid-19, Tablighi Jamaat, Thane, Quarantine, Covid-19, Corona İn İndia, कोरोना वायरस, तबलीगी जमात

Coronavirus, Covid-19

अहमदनगर के बाद अब ठाणे की दो मस्जिदों से मिले 21 विदेशी नागरिक, क्वारनटीन में भेजा गया

01-04-2020 19:24:00

दिल्ली के मरकज के आयोजन में हिस्सा लेने वाले 21 विदेशी नागरिक ठाणे की दो मस्जिदों में मिले।

ठाणे पुलिस के मुताबिक इन 21 विदेशी नागरिकों ने दिल्ली के मरकज के आयोजन में हिस्सा लिया था. वहां से ये नवी मुंबई में तबलीगी जमात की मस्जिद में पहुंचे. उसके बाद ये मुंब्रा की दो मस्जिदों में आकर रहने लगे.ठाणे पुलिस जोन 1 के डीसीपी एसएस बुर्से ने बताया, ‘हमें सूचना मिली थी कि कुछ विदेशी नागरिक मुंब्रा की मस्जिद में ठहरे हुए हैं. जांच से हमने पाया कि वो बीते 15 दिन से कौसा की मस्जिद में ठहरे हुए थे. हमें पहले 13 बांग्लादेशी नागरिकों का पता चला था. फिर हमें आठ मलेशियाई नागरिकों के भी कौसा में ही मस्जिद में ठहरने की जानकारी मिली.’

कोरोना वायरस: दिल्ली के सभी निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम्स में 20 प्रतिशत बेड कोविड-19 के लिए - BBC Hindi कोरोना संक्रमण: तब्लीग़ी जमात से जुड़े सवाल पर डॉ. हर्षवर्धन ने कहा- ''बहुत हुआ'' महाराष्ट्र सरकार सौतेली मां बनकर भी सहारा देता तो वापस नहीं आते श्रमिक : सीएम योगी

कोरोना पर भ्रम फैलाने से बचें, आजतक डॉट इन का स्पेशल WhatsApp बुलेटिन शेयर करेंबुर्से ने आगे बताया, ‘हम अपने साथ ठाणे म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के डॉक्टरों को भी ले गए और मस्जिद में उपस्थित हर व्यक्ति का चेकअप कराया. इसके बाद 21 विदेशी नागरिकों को क्वारनटीन के लिए भेज दिया गया. उनके सैम्पल लेकर टेस्ट के लिए भेजे गए हैं. टेस्ट के नतीजे आने पर ही पता चलेगा कि उनमें से कोई Covid-19 पॉजिटिव है या नहीं.’

बता दें कि मंगलवार को अहमदनगर जिला पुलिस ने तीन मस्जिदों के ट्रस्टियों के खिलाफ केस दर्ज किया था. ये मस्जिदें जिले के नेवासा, जमखेड और मुकंदनगर इलाकों में मौजूद थीं. यहां 29 विदेशी नागरिकों को रखा गया था. ट्रस्टियों ने इनके बारे में पुलिस को सूचना नहीं दी थी. ये इसलिए और भी अहम है कि इन विदेशी नागरिकों में से दो Covid-19 पॉजिटिव पाए गए. इन सब 29 विदेशी नागरिकों ने भी दिल्ली के मरकज में तबलीगी जमात के आयोजन में हिस्सा लिया था. ये लोग दिल्ली से अहमदनगर आने से पहले तमिलनाडु गए थे.

अहमदनगर के एसपी सागर पाटिल ने बताया, हमें मस्जिद में कुछ विदेशी नागरिकों की मौजूदगी की सूचना मिली थी. हम सर्च के लिए गए तो मस्जिद परिसर से 10 लोग मिले. ये उन लोगों में शामिल थे जो निजामुद्दीन इलाके में स्थित मरकज के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के बाद पहले तमिलनाडु गए और फिर अहमदनगर आए. एडवाइजरी और सरकार की बार-बार की अपीलों के बावजूद मस्जिद के ट्रस्टी ने इन विदेशी नागरिकों के बारे में सूचना नहीं दी और Covid-19 महामारी के खतरे के बावजूद उन्हें छुपाने की कोशिश की.

अहमदनगर पुलिस ने रविवार को इस तरह की पहली कार्रवाई में 19 विदेशी नागरिकों को जमखेड और मुकंदनगर की मस्जिद से पकड़ा था. उन्हें जिला अस्पताल के क्वारनटीन वार्ड में भर्ती कराया गया था. इन 19 में से दो विदेशी नागरिक Covid-19 पॉजिटिव पाए गए. इनमें से एक आइवरी कोस्ट और दूसरा फ्रांस का नागरिक है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करेंइस बीच पुणे पुलिस ने जांच से पता लगाया है कि पश्चिमी महाराष्ट्र से 182 लोगों ने दिल्ली में तब्लीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था. इनमें से 104 पुणे से हैं जिनमें से 94 का अधिकारी पता लगा चुके हैं. इन सभी को क्वारनटीन में भेजा गया है.

बता दें कि निजामुद्दीन के कार्यक्रम में हिस्सा लेने वालों में से 10 लोगों की मौत की सूचना है. इनका ताल्लुक तेलंगाना और जम्मू-कश्मीर से था. अब तक कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले 300 लोगों को क्वारनटीन में भेजा जा चुका है. बाकी का देश भर में पता लगाया जा रहा है. ये भी देखा जा रहा है कि उनके संपर्क में कौन कौन आया. जिससे सभी को क्वारनटीन में भेजा जा सके.

Rang De India, A Campaign By Rang De and NDTV कोरोना संक्रमित को लेकर दो घंटे धूप में खड़ी रही एंबुलेंस, पीड़ित ने तड़पकर तोड़ा दम श्रमिक स्पेशल ट्रेन के जरिए मिली लोगों को खुशियां, अब तक 30 बच्चों का जन्म ट्रेन में हुआ

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

और पढो: आज तक

समय आ गया है चाइना बनने का यह मानव बम जो पूरे देश में निकल गए हैं। सब को पकड़िए सपोर्ट नहीं करते हैं गोली मार दीजिए और सूचना देने की भी जरूरत नहीं है लाश उठाइए आग लगा दीजिए। नहीं तो इनकी वजह से देश मैं इतनी बड़ी त्रासदी आएगी जिसकी कोई कल्पना नहीं कर सकता काहे क्वॉरेंटाइन भेज रहे हो सब को गोली मार दो Maine ye kaha, suna nahi?

ये कर क्या रहे थे, सबकी व्यपक जांच होनी चाहिए। Videshi mosque m Kaya kar raha h .Delhi m danga k pichhe ehi videshi mosque wale ? वीज़ा देकर यह अपराध जिसने किया उसपर मुक़दमा !! आपराधिक साज़िश व देशद्रोह Today dainik Bhaskar Jaipur news ये लोग यही चाहते है कि पूरी सरकार इनके पीछे लगी रहे और अपना कार्य न कर पाए। मेरी सरकार से रिक्वेस्ट है कि इनको छोड़ दो। क्यो की सरकार इनकी 80 % गलियों में झांक भी नही सकती। इनको इनके हाल पर छोड़ दो। मूर्ख लोग है ये। बाकी कार्य सरकार करे। और इनको एक समुह में ही रहने दे।

TRIVENIDUBEY प्रशासन इसी तरह से सोया रहा और इनकी गतिविधियों पर प्रतिबंध नहीं लगाया गया तो, भविष्य के मध्यनजर, देश की संप्रभुता की अनदेखी करना माना जायेगा। भारत कोई मक्का है को यहां विदेशी मुसलमान आते हैं? जब राष्ट्र पर संकट आता है तो हरा ,नीला ,लाल सब झंडे गायब हो जाता हैं । सिर्फ और सिर्फ भगवा ध्वज दिखता हैं 🚩 जय श्री राम 🚩

Show this pic to NizamuddinMarkaz attendees who are splitting and misbehaving with doctors in makeshift hospital in Delhi. aagar pura desh bimar he to sirf in loko ki vajase...koi to aacha kadam lo sab rajjy ki sarkaro..anjanaomkashyap sudhirchaudhary RajatSharmaLive narendramodi AmitShah rajnathsingh rashtrapatibhvn indiatvnews timesofindia abpnewshindi

ठोको। सभी का पासपोर्ट को ब्लैक लिस्ट कर दिया जाए तकी आगे से कोई विदेशी गलती न करे भारत में आकर । कोरोना से बचने के लिए सुअर बाली कोम से बचना होगा। जिहादी है सारा वर्ल्ड परेशान है रेडिकल इस्लामिक टेरेरिज्म वापस इनके देश भेज दो आगे से आने वाले हर मुस्लिम की बराबर जांच करें mea वीसा देने से पहले Markz's talks are happening everywhere. Of course it was the fault of all those people that they all went to Markaj. But is it true to relate this incident to caste or religion?

Goli mar do salo ko JamaatKoBanKaro ja Thane ki Mosques tak yeh Tablaghi videshi Jihadi panhuchayega gaye? Aakhir Yeh chahte kya hain? Police unko puche? Unke hi saathi Vrindavan main bhi mile.... govt india ailed thm for spread virus and putt life in danger of millions indian jailed thm 10 yrs with heavy fine with in week in special court thy will ruined india

पता नहीं देश में कहां-कहां जा कर छुप गए हैं अत्यंत खतरनाक स्थिति देश के लिए Godi media Sale suar log जो लोग खुद आगे आकर सहयोग करे, केवल उन्ही का इलाज होना चाहिए। बाकी लोगों को ढूंढकर, देश मे कोरोना वायरस फैलाने के आरोप मे उन्हे गोली मार देनी चाहिए Corona 786 उन्हें वही बंद कर दें। मस्जिद_में_ही_क्वारंटाइन_करें

Bring in law to ban stay of foreigners in Mosques. Every mosques should keep a register of inmates with ID if they are staying there. PMOIndia HMOIndia NSAGov उनको पनाह देने वालों को भी फांसी की सज़ा दी जानी चाहिए। हिन्दुस्तान के दुश्मन है यह लोग। टैटू बनाया कि नहीं जिस कोरोना को कहते हैं चीन का जैविक हथियार, इस्तेमाल हो रहा है वह हिन्दुस्तान के खिलाफ और जिसके जरिए इस्तेमाल हो रहा है वो है तबलिगी जमात।

गोली मार देनी चाहिए ऐसे लोगों को। देश के सभी मस्जिदो को हमेशा के लिए सील किया जाय ये लोग हमेशा देश के खिलाफ रहते हैं ये लोग अल्लाह के नाम पर आतंक फैलाते है Saare masjidon ko taala lagao pehle to 😠😡 अब भी वही सवाल किया भारत कोरोना से बच पायेगा ?या चाइना से बुरे हालात होगा ? किया है मोदी सरकार की तयारिया ? .या कोरोना को रोकने में होगया नाकाम ? किया होगया है चूक ?

कल तक तो सिर्फ 16 देश मे लोग थे। और आज 21 हमे तो डर लगता है ,कही पड़ोसी मुल्क आतंकिस्तान से तो नही ? ये मौलाना है DrAPJ_ABDUL_KALAM नही कुछ भी हो सकता है।indiatvnews myogiadityanath Masjido me mile nahi ...masjid aur logo ne inform kiya....headlines likhne ka tarika badaliye... उनको वही एनकाउंटर कर देना चाहिए था...

सबको पता है ये लोग क्या करना चाहते हैं हे प्रभु बचाओ हमें🙏🙏🙏🙏🙏 Sad reality is the government will now spend huge amounts to find these traitors and invaders and then again to keep them under medical care. Sari mashido ki talasi karvaye sarkar, रास्ते seal कर देने से corona virus नही रुकेगा सरकार को देश कि हर मन्दिर मस्जिद गुरुद्वारा चर्च पर अपनी पुलिस वाले छोड़ने चाईये ताकी कोई उसके आस पास भी ना भटके ।

सील कर दी जाए मस्जिदें Tabhi to ye Owaisi jaise log NRC jaise bill kahi pas na ho jaye desh me...itne protest uhi nhi kr rhe the.. In sbko bchakr desh ko barbad krne k liye.. Inko yehi permanent rkhne ka plan hoga inka.. सरकार ने गलती की इन लोगो को वहां से निकालकर इनको वहीं पर बंद कर देना चाहिए था मरने तक वैसे भी सब फरिश्तों का इंतजार कर रहे थे

जो तोको काॅटा बोए, ताहि बोउ तू फूल । तोको फूल को फूल है, वाको है त्रिशूल ।। क्या यह दोहा आज के परिप्रेक्ष्य में लागू होता है । तबलीगी समर्थकों पर भी सार्थक होगा ? 🤦🤦🤦 Hideout bana rakha h eshi jagaao ko bhi? 🤦🤦🤦🤦 लातों के भूत बातों से नहीं मानते, 1 दिन का टाइम दीजिए अगर सरेंडर नहीं करते हैं तो पुलिस पर छोड़ दीजिए, जिंदा या मुर्दा पकड़ने के लिए।

पूरा देश के मस्जिदों में फैले है ये लोग। ये वहा 'छिपे' थे या 'रुके' थे मतलब इनकी जानकारी थी ? Rip Maharastra अब इनके भी सेवा में लग जाओ , वेंटिलेटर तैयार रखो। ये हो क्या रहा है यार 😡😡 जो भी विदेशी पकड़े जा रहे हैं उनको देश के खिलाफ जंग छेड़ने का आरोपी बनाया जाना चाहिए।। पता नहीं देश भर में कितने विदेशियों को छुपा रखा है।

गोली मारो हराम के पिल्लो को गंगाधर ही शक्तिमान है..... सब मस्जिद में ही क्यु छिपते है Church ⛪ गुरुद्वारों और मंदिरों में क्यों नहीं जाते मतलब साफ है... Airport pe checking kyo nahi kerte ho yaar....ache se checking kerna chahiye tha

महाराष्ट्र के अहमदनगर में भी मरकज जैसा मामला, दो के खिलाफ केस दर्जदिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीग जमात के मरकज के मामले की तरह ही महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले से भी ऐसी ही घटना सामने आई है. जिले के नेवासा पुलिस थाने में दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. divyeshas hello sardesairajdeep another 'religious' gathering of 'pious believers'. SandipGhose divyeshas Kerala shrug krishna temple divyeshas पूरी साजिश के तहत ये हुआ ताकि भारत में ज्यादा से ज्यादा लोग मरे।

उन्नाव, मेरठ व कन्नौज के बाद अब आगरा से मिले तबलीगी जमात में शामिल हुए लोगलखनऊ। दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम निजामुद्दीन मरकज में आयोजित तबलीगी जमात में शामिल हुए 157 लोग उत्तरप्रदेश के लिए चिंता का सबब बने हुए हैं और पूरी यूपी पुलिस करके तलाशने में जुटी है। इसके चलते कल मंगलवार को उन्नाव, मेरठ व कन्नौज में पुलिस के हाथ कुछ लोग लग गए थे, जो तबलीगी जमात में शामिल हुए थे।

दिल्ली मरकज में कोरोना संक्रमितों के बाद यूपी के 19 जिलों में अलर्टउत्तर प्रदेश के गृह सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा कि हमने कई लोगों का पता लगाया है जो दिल्ली में आयोजित धार्मिक समागम में शामिल हुए थे. उन्हें 14 दिन के क्वारनटीन में रखा जाएगा और उनके नमूने परीक्षण के लिए एकत्र भी किए जाएंगे. अगर किसी में कोरोना वायरस के लक्षण मिलते हैं तो उन्हें आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा. neelanshu512 ये सब लगता ही कि कोई बहुत बड़ी साजिश थी neelanshu512 कहीं यहाँ पर करोना (मानव) बम तैयार कर देश के अलग अलग भागों में बिस्फोट कराने की साजिस तो नही हो रही थी, इसकी भी जांच होनी चाहिये। neelanshu512 किसी एक पर कठोर कार्रवाई होनी चाहिए जिससे आगे से ऐसा करने से सोचना परेगा बुझदिल इंसान को

VIDEO: टीम इंडिया के ‘सर’ ने लिए लॉकडाउन के मजे, अब फैंस भी ले रहे मजेएक फैंस ने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में रविंद्र जडेजा की ओर से की जाने वाली आर्थ‍िक मदद के बारे में भी पूछ लिया। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड भी अपने ट्विटर हैंडल पर उनका एक वीडियो शेयर किया है।

VIDEO: ट्रोल होने के बाद भज्जी ने दिखाया पाक के खिलाफ गुस्सा, फैंस बोले- बड़ी जल्दी...भारत और पाकिस्तान के बीच यह मैच 19 जून 2010 को खेला गया था। दांबुला में खेले गए एशिया कप के उस मैच में पाकिस्तान की टीम 49.3 ओवर में 267 रन पर आलआउट हो गई थी। लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया ने एक गेंद शेष रहते 3 विकेट से मैच अपने नाम कर लिया था।

कोरोना वायरस महामारी के चलते विंबलडन रद्द, द्वितीय विश्व युद्ध के बाद पहली बार हुआ ऐसा कोरोना वायरस महामारी के चलते विंबलडन रद्द, द्वितीय विश्व युद्ध के बाद पहली बार हुआ ऐसा Wimbledon Coronavirus Pandemic CautionYesPanicNo Wimbledon Wimbledon मौलाना साद को बुला लो सफल टूर्नामेंट करवादे गा