अहमदाबाद से बिहार लौटी महिला की स्टेशन पर मौत, बच्चे की कोशिश देखिए

अहमदाबाद से बिहार लौटी महिला की स्टेशन पर मौत, बच्चे की कोशिश देखिए

27-05-2020 19:41:00

अहमदाबाद से बिहार लौटी महिला की स्टेशन पर मौत, बच्चे की कोशिश देखिए

कोरोना में प्रवासी मज़दूरों का अपने अपने राज्यों में लौटने का सिलसिला जारी है, इसी सिलसिले में बिहार लौटी एक महिला की रेलवे स्टेशन पर मौत.

शेयर पैनल को बंद करेंइमेज कॉपीरइटPANKAJ KUMAR/BBCमुज़फ़्फ़रपुर रेलवे स्टेशन का एक वीडियो बुधवार को दिन भर वायरल रहा.वीडियो में एक मृत महिला का शव पड़ा दिख रहा है और दो साल का बच्चा उस मृत शरीर पर पड़ा कपड़ा हटा कर उससे खेल रहा है.इसके बाद सोशल मीडिया पर यह वीडियो पूरे दिन कई बार शेयर किया गया और लोगों के कमेंट्स आते रहे.

बसपा प्रमुख मायावती ने कहा- यूपी की भाजपा सरकार ऐसा काम न करे जिससे भयभीत हो ब्राह्मण समाज सचिन पायलट के साथ माने जा रहे तीन विधायकों का U-टर्न, कहा- 'हम कांग्रेस के सच्चे सिपाही' सचिन पायलट BJP के संपर्क में, 30 MLA भी छोड़ सकते हैं कांग्रेस का दामन

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में श्रमिकों की होती मौत के बीच वायरल होते इस वीडियो पर कयास लगाए जाते रहे कि महिला की मौत भूख से हुई होगी.इस बीच बीबीसी भी इस महिला से जुड़े तथ्यों की तस्दीक करने की कोशिश में जुटा रहा.बीबीसी ने मृत महिला के रिश्तेदार वज़ीर आजम जो उनके साथ ट्रेन में यात्रा कर रहे थे, उनसे बात की.

वज़ीर आजम ने बताया कि ट्रेन में खाने पीने की कोई दिक्कत नहीं थी. ट्रेन में खाना सिर्फ़ एक वक्त मिला था लेकिन पानी, बिस्कुट और चिप्स बार बार मिले. हालांकि पानी इतना गर्म था कि उन्होंने दो तीन बार पानी की बोतल ख़रीद कर पी.इमेज कॉपीरइटTwitterवज़ीर के साथ उनकी साली यानी 23 साल की मृतका अबरीना ख़ातून, वज़ीर की पत्नी कोहिनूर, अबरीना के दो बच्चे ( दो और पांच साल के अरमान और रहमत) और वज़ीर- कोहिनूर का एक बच्चा यात्रा कर रहे थे.

अहमदाबाद में मज़दूरी करने वाले वज़ीर ने बीबीसी को बताया कि अबरीना और उनके पति इसराम का एक साल पहले तलाक़ हो चुका है.उन्होंने ही बताया कि अबरीना की मौत तो ट्रेन में ही हो गई थी.वहीं मुज़फ़्फ़रपुर के डीपीआरओ कमल सिंह ने बीबीसी को बताया कि महिला की मौत के बाद उनके शव को एम्बुलेंस से कटिहार भेज दिया गया था. हालांकि महिला के पोस्टमार्टम के सवाल पर उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम की ज़रूरत नहीं थी क्योंकि महिला की बीमारी से मौत हुई थी.

@_YogendraYadavपूर्व मध्य रेलवे ने ट्वीट किया कि 09395 श्रमिक स्पेशल ट्रेन 23 मई को अहमदाबाद से कटिहार के लिए चली थी. इसमें 23 साल की अरबीना ख़ातून की मौत बीमार रहने के कारण यात्रा के दौरान हो गई. अरबीना अपनी बहन कोहिनूर खातून और कोहिनूर के पति वज़ीर आजम के साथ यात्रा कर रही थीं.

हालांकि मुज़फ़्फ़रपुर जंक्शन पर स्थानीय पत्रकारों को वीडियो इंटरव्यू देते हुए अरबीना की बहन के पति वज़ीर आजम ने कहा कि उसे कोई बीमारी नहीं थी. वो अचानक मर गई. और पढो: BBC News Hindi »

That was fake, the woman had already died in the train. Railway department told the truth. यह महिला की मौत नही है, सिस्टम की मौत है, हमारी सरकार गरीबों को घर तक सुरक्षित भी नही पहुंचा सकती। तेरी हर मूर्खामी की दास्तां इतिहास लिखेगा गरीबों के आंसूओं की कहानी इतिहास लिखेगा है जो भागी तेरे हर गुनाहों में उनके भी दोष इतिहास लिखेगा ।

Jis desh ka Raja feku hai OM Shanti आज खुद ओर शर्म आ रही है,हम ऐसे देश मे रह रहे है जहां संवेदना दम तोड़ चुकी है,इंसानियत मर चुकी है।। हुक्मरानों को चुल्लूभर पानी मिल जाता तो!शर्मनाक मन बहौत दूखी हैं और विचलित भी अब उन बच्चों का क्या होगा 😢😢😢 A much needed fact check about all the news being spread about Shramik Special Trains PoliticalKida

😶😌 फेकू मर जा कमिने तेरे मर जाने से कितने लोगो की जान बचेगी Koi manne nahi dega kaise maut hui kuch bhi karlo tum sab. Niche se upar ke sabhi afsar bik gaye he isme sab ko pata he job pe a jayegi tumari chup meri bhi chup aisa khel he sir sab media strong milke aye age to kuch baat banegi lekin wo ho nai sakta kyuki sab ko trp chahiye😠

Child ka kya hua. goairlinesindia DGCAIndia HardeepSPuri AAI_Official SonuSood The GoAir customer care is not responding.Govt should take action against GoAir ,they are rescheduling our tkts without our permission n not refunding money or giving credit shellMany people r upset Buycott_goair 😢😢😢

इंदौर में 300 साल में पहली बार ईदगाह में नहीं पढ़ी जा सकी ईद की नमाजदेश में कोविड-19 के प्रसार का बड़ा केंद्र बने इंदौर में सोमवार को ईद-उल-फितर का त्योहारी उल्लास घरों में सिमट गया। Well-done 🤝🤝🤝 Mtlb 1947 48 me bhi padhi gyi thi इसमें इतना कष्ट क्यों भाई महामारी में तो सबको सकारात्मक होना चाहिए! फिर इस बात का मलाल क्यों क्या साबित करना चाहते हो आप मिडिया वाले जहां और जिस बात को दिखाना ल बताना चाहिए वहां आप की चुप्पी की किमत लग जाती है! VIRENINFRA drneeraj13 ChouhanShivraj

अहमदाबाद से बिहार लौटी महिला की मौत, वजह पता नहींकोरोना में प्रवासी मज़दूरों का अपने अपने राज्यों में लौटने का सिलसिला जारी है, इसी सिलसिले में बिहार लौटी एक महिला की रेलवे स्टेशन पर मौत. जिस देश की जनता अपने ऊपर हुए वर्ण व्यवस्था के अत्याचारों को जानती है इतिहास अधिकार जानती है न्याय शिक्षा सुरक्षा समानता प्राप्त करने के लिए लड़ना जानती है वर्ण और जाति व्यवस्था के भेदभाव के खिलाफ लड़ना जानती है उस देश की 'जनता अपना भविष्य और इतिहास बनाना भी जानती है बीमार मीडिया और मोदी सरकार है rail ka chela jhut bolne se pehle kuch sharm kar

बिहार: श्रमिक ट्रेनों में बेहाल प्रवासी, रेलवे ने बताई लेटलतीफी की वजह25 मई तक केवल पूर्व मध्य रेलवे ने 1026 ट्रेनें चलाई हैं. इन ट्रेनों से करीब 15 लाख प्रवासी बिहार पहुंचे हैं. शुरुआत में इन ट्रेनों में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन हुआ और एक ट्रेन में अधिकतम 1200 प्रवासी ही बैठ सकते थे. लेकिन बाद में यात्रियों की संख्या बेहिसाब बढ़ने लगी. ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां भी उड़ने लगीं. sujjha ये भी DirectionLessBJP की तरह लोगों को भरम में उलझा कर मरने के लिए छोड़ रही हैं।

यूपी, बिहार में क्यों घंटों की देरी से पहुंच रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनें?कोरोना के दौर में प्रवासी मज़दूरों को घर वापस भेजने की कोशिश में ट्रेनें चल तो रही हैं, लेकिन परेशानियाँ इतनी हैं कि पूछिए मत. I wish to see every responsible Politician and Ministers to stand on ground with their family like Migrants and feel d same heat This is high time now wednesdaymorning IndiaFightsCoronavirus MigrantWorkers MigrantLivesMatter why this Bbc is so active in spreading negativsnnews and cannot you potray good picture of India.. ZeeNews republic मोदी सरकार' और 'मोदी मंत्रिमंडल' ने कोरोना' संकट से लड़ने के सभी इंतजाम सिर्फ 'ट्विटर' 'फेसबुक' और खरीदे हुए टीवी न्यूज़ चैनलों पर बातों से ही कर रहे हैं.

बिहार: प्याज पर कोरोना की मार, खेतों में उपज छोड़ने को मजबूर किसानबिहार में 57 लाख हेक्टेयर खेत में प्याज की खेती होती है और इनमें 13 लाख टन प्याज का उत्पादन होता है. मूलतः नालंदा और पटना के किसान प्याज उत्पादक हैं. बिहार के प्याज को उच्च कोटि का माना जाता है. इन प्याजों की ज्यादातर खपत बंगाल, असम के साथ-साथ बांग्लादेश में होती है. sujjha Kio NAA log 10rs minimum price maan5-10kg per family jarur khareed lein chorey kisano kaa pyaaj directly unsey.bade kissan tau store Kar leingey. sujjha Locust attack will add on to this issue. We are clearly ill prepared sujjha महँगाई हो तो तैबा सस्ती तो तैबा ये प्याज़ है महँगी हो तो ग्राहक रोये😢 ये प्याज़ है सस्ती हो तो किसान रोये😢

बिहार: प्रवासी मजदूरों के 'पोस्टरबॉय' रामपुकार से तेजस्वी ने की बात, की आर्थिक मददबेगूसराय के रहने वाले रामपुकार उस वक्त सुर्खियों में आए जब अपने 1 साल के बेटे की मौत की खबर सुनने के बाद वह दिल्ली से अपने घर बेगूसराय के लिए पैदल ही रवाना हो गए थे. लेकिन यूपी बॉर्डर पर उन्हें पुलिस द्वारा रोक दिया गया था. I told you! In sbki mot ki saja is ruling govt.ko jarur milegi😒 yadavtejashwi where are you? जिसको जो मिल रहा है वहीं राजनीति चालू।

Amitabh Bachchan Covid 19 Positive: अमिताभ बच्चन को कोरोना, मुंबई के नानावटी अस्पताल में किया गया एडमिट Coronavirus Vaccine News: कोरोना वैक्‍सीन पर रूस ने मारी बाजी, सेचेनोव विश्वविद्यालय का दावा सभी परीक्षण रहे सफल PM CARES फंड की जांच नहीं करेगी लोक लेखा समिति, BJP ने रोका रास्ता Aishwarya Rai Bachchan Covid19 positive: अमिताभ और अभिषेक के बाद ऐश्वर्या और आराध्या बच्चन भी हुई कोरोना पॉजिटिव Vikas Dubey News: चार बड़े कारोबारी, 11 विधायक-मंत्री, पांच अफसरों से थे विकास के संबंध, एसटीएफ ने सौंपी सीडी गिरिराज सिंह बोले- हमारे पास जमीन बेहद कम और आबादी अधिक, जनसंख्या नियंत्रण कानून लाना होगा विकास दुबे: 'मुठभेड़' में इतने इत्तेफ़ाक़! ऐसा कैसे? राहुल गांधी का हमला, कहा- PM मोदी के रहते भारत की जमीन को चीन ने कैसे छीन लिया Mini LockDown in UP: अब हर हफ्ते में दो दिन होगा लॉकडाउन, UP में शनिवार व रविवार को सब बंद रहेगा कांग्रेस सांसदों की बैठक में फिर उठी राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने की मांग MP Politics: मध्य प्रदेश में कांग्रेस को बड़ा झटका, एक और विधायक भाजपा में शामिल