अलविदा विनोद दुआ: पाकिस्तान से ताल्लुक से दिल्ली के दबंग तक, अब खबरों की दुनिया का 'जायका' चला गया

अलविदा विनोद दुआ: पाकिस्तान से ताल्लुक से दिल्ली के दबंग तक, अब खबरों की दुनिया का 'जायका' चला गया #VinodDua

Vinoddua, Vinod Dua Death

04-12-2021 16:07:00

अलविदा विनोद दुआ: पाकिस्तान से ताल्लुक से दिल्ली के दबंग तक, अब खबरों की दुनिया का 'जायका' चला गया VinodDua

बात हो रही है दिग्गज पत्रकार और कलमकार विनोद दुआ की, जिन्होंने शनिवार (4 दिसंबर) को इस दुनिया को अलविदा कह दिया। या यूं

दिल्ली में हुआ था विनोद दुआ का जन्मविनोद दुआ के माता-पिता भले पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में डेरा इस्माइल खां से ताल्लुक रखते थे, लेकिन कलम के इस सिपाही ने दुनिया में 11 मार्च 1954 को पहला कदम रखा तो वह जमीन दिल्ली की थी। हालांकि, कहा जाता है कि 1947 में बंटवारे के दौरान उनके माता-पिता भारत आ गए थे। इसके बाद विनोद दुनिया की पढ़ाई-लिखाई दिल्ली में ही हुई। उन्होंने हंसराज कॉलेज से इंग्लिश लिटरेचर में स्नातक और परास्नातक किया।

थिएटर से भी जुड़े थे विनोद दुआजानकारों की मानें तो विनोद स्कूल-कॉलेज के दौर में सिंगिंग व डिबेट इवेंट में भी हिस्सा लिया था। इसके अलावा 1980 के दौर में उन्होंने थिएटर भी किया। उस वक्त श्रीराम सेंटर फॉर आर्ट एंड कल्चर के सूत्रधार कठपुतली ने बच्चों के लिए दो नाटक आयोजित किए थे, जिन्हें विनोद दुआ ने ही लिखा था। वहीं, नवंबर 1974 के दौरान युवा मंच के माध्यम से विनोद पहली बार टेलीविजन पर नजर आए। इसके बाद 1975 में युव जन कार्यक्रम ने उनकी लोकप्रियता को बढ़ा दिया। इसी साल वह कार्यक्रम जवान तरंग से जुड़े और 1980 तक इसके लिए काम करते रहे।

इस कार्यक्रम ने करियर में लगाए चार चांद1981 में विनोद दुआ ने आप के लिए कार्यक्रम में एंकरिंग शुरू की, जिसे 1984 तक जारी रखा। वहीं, 1984 के दौरान दूरदर्शन की ओर से आयोजित चुनावी चर्चा ने उनके करियर में चार चांद लगा दिए। दूरदर्शन में लंबी पारी खेलने के बाद विनोद आजतक, एनडीटीवी और जीटीवी समेत कई चैनलों से जुड़े। धीरे-धीरे उनकी लोकप्रियता बढ़ती चली गई। headtopics.com

चर्चा : प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ संवाद, नमो एप के माध्यम से जुड़ेंगे

इन पुरस्कारों से हुए सम्मानित1996 में विनोद दुआ को रामनाथ गोयनका पुरस्कार मिला। यह अवॉर्ड हासिल करने वाले वह पहले इलेक्ट्रॉनिक मीडियाकर्मी थे। 2008 में उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया। वहीं, 2016 में आईटीएम विश्वविद्यालय, ग्वालियर ने उन्हें डीलिट की उपाधि दी। इसके अलावा पत्रकारिता के क्षेत्र में लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए साल 2017 में मुंबई प्रेस क्लब ने उन्हें रेडइंक अवॉर्ड देकर सम्मानित किया।

विस्तारबात जायके की हो और उनका जिक्र न हो, ऐसा होना लाजिमी ही नहीं। वैसे उनका ताल्लुक पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा से रहा, लेकिन पत्रकारिता की दुनिया में दिल्ली के दबंग साबित हुए। कह लीजिए कि ऊपरवाले ने अब खबरों की दुनिया का 'जायका' छीन लिया...

विज्ञापनदिल्ली में हुआ था विनोद दुआ का जन्मविनोद दुआ के माता-पिता भले पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में डेरा इस्माइल खां से ताल्लुक रखते थे, लेकिन कलम के इस सिपाही ने दुनिया में 11 मार्च 1954 को पहला कदम रखा तो वह जमीन दिल्ली की थी। हालांकि, कहा जाता है कि 1947 में बंटवारे के दौरान उनके माता-पिता भारत आ गए थे। इसके बाद विनोद दुनिया की पढ़ाई-लिखाई दिल्ली में ही हुई। उन्होंने हंसराज कॉलेज से इंग्लिश लिटरेचर में स्नातक और परास्नातक किया।

दावा : कटोरे जैसे एक्वेरियम में पागल हो जाती हैं मछलियां, फ्रेंच फर्म ने छोटे बाउल बेचना किया बंद

थिएटर से भी जुड़े थे विनोद दुआजानकारों की मानें तो विनोद स्कूल-कॉलेज के दौर में सिंगिंग व डिबेट इवेंट में भी हिस्सा लिया था। इसके अलावा 1980 के दौर में उन्होंने थिएटर भी किया। उस वक्त श्रीराम सेंटर फॉर आर्ट एंड कल्चर के सूत्रधार कठपुतली ने बच्चों के लिए दो नाटक आयोजित किए थे, जिन्हें विनोद दुआ ने ही लिखा था। वहीं, नवंबर 1974 के दौरान युवा मंच के माध्यम से विनोद पहली बार टेलीविजन पर नजर आए। इसके बाद 1975 में युव जन कार्यक्रम ने उनकी लोकप्रियता को बढ़ा दिया। इसी साल वह कार्यक्रम जवान तरंग से जुड़े और 1980 तक इसके लिए काम करते रहे। headtopics.com

इस कार्यक्रम ने करियर में लगाए चार चांद1981 में विनोद दुआ ने आप के लिए कार्यक्रम में एंकरिंग शुरू की, जिसे 1984 तक जारी रखा। वहीं, 1984 के दौरान दूरदर्शन की ओर से आयोजित चुनावी चर्चा ने उनके करियर में चार चांद लगा दिए। दूरदर्शन में लंबी पारी खेलने के बाद विनोद आजतक, एनडीटीवी और जीटीवी समेत कई चैनलों से जुड़े। धीरे-धीरे उनकी लोकप्रियता बढ़ती चली गई।

इन पुरस्कारों से हुए सम्मानित1996 में विनोद दुआ को रामनाथ गोयनका पुरस्कार मिला। यह अवॉर्ड हासिल करने वाले वह पहले इलेक्ट्रॉनिक मीडियाकर्मी थे। 2008 में उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया। वहीं, 2016 में आईटीएम विश्वविद्यालय, ग्वालियर ने उन्हें डीलिट की उपाधि दी। इसके अलावा पत्रकारिता के क्षेत्र में लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए साल 2017 में मुंबई प्रेस क्लब ने उन्हें रेडइंक अवॉर्ड देकर सम्मानित किया।

नो पॉलिटिक्स प्लीज

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है?

और पढो: Amar Ujala »
फिलस्तीनी संगठन हमास को भेजी गई दिल्ली के व्यवसायी से चोरी की गई क्रिप्टोकरेंसी, पुलिस ने दी जानकारी मौसम : 26 जनवरी के बाद और बढ़ेगी ठिठुरन, यूपी समेत आठ राज्यों में पांच डिग्री तक गिरेगा पारा UP Election: रामपुर की लड़ाई दो परिवारों के बीच आई, जानिए कौन दे रहा आजम परिवार को चुनौती राष्ट्रीय बालिका दिवस : बेटियों के भविष्य को पांच तरीकों से दें आर्थिक सुरक्षा, थोड़े-थोड़े निवेश से बना सकते हैं बड़ा फंड चेतावनी : संक्रमण में जल्द ठहराव सही नहीं, बार-बार आ सकती है नई कोरोना लहर, जानें विशेषज्ञ क्यों नहीं मानते इसे शुभ संकेत Bihar Latest News : रेलवे ट्रैक पर विरोध प्रदर्शन से रेल यातायात बाधित, रात 10 बजे के बाद स्थिति हुई सामान्य, जानिए पूरा मामला

26 जनवरी पर अंग्रेजी धुन हटी: देखिए #DNA LIVE Sudhir Chaudhary के साथ

और पढो >>

दल्ला चला गया कोई कुत्ता कहीं मर गया क्या लखनऊ सहित विश्वगुरु के नगरोंमें घोसियों/गद्दियों की अराजक अवैध दुग्ध डेयरियां हमारे अमूल्य भूजल कोहीनहीं नष्टकर रहीं, बल्कि प्रतिबंधित OxytocinHormone केinjectionलगाकर पशुओं & मनुष्यों दोनोंकोही धीमी मृत्यु कीओर धकेलरहीहैं BanOnlineGames PMOIndia AmitShah CMOfficeUP RSSorg

कैसे?ॐ शांति😢😢😢 एक ईमान्दार, सच्चे ,लड़ाकू, पत्रकारिता का अंत होगया😢 उनके बिचारधारा, काम,योगदान को हमेशा याद किया जाहेगा भावपूर्ण श्रद्धांजलि🙏🙏🙏 ईश्वर पुण्य आत्मा को शांति प्रदान करें 💐 क्या यह खबर सही है। 😀

अलविदा: वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ का निधन, बीमारी के बाद अस्पताल में थे भर्तीविनोद दुआ पिछले काफी दिनों से बीमार चल रहे थे और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। Rip🙏🙏🙏 Om Shanti 🙏 Om shanti....great and decent journalist....!!!!!

आम आदमी को झटका: एक जनवरी से महंगी हो जाएगी एटीएम से धन निकासीग्राहकों के लिए नए साल से बैंकिंग सेवा महंगी होने जा रही है। एक जनवरी से एटीएम से पैसे निकालने पर ज्यादा शुल्क चुकाना

Mathura Politics: चुनाव से पहले मथुरा का मुद्दा उछालने से BJP को होगा फायदा? जानें- NBT के पोल में लोग क्या बोलेउत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या (Keshav Prasad Maurya) के 'मथुरा की बारी है' ट्वीट पर जमकर विवाद हो रहा है। हालांकि लोगों की इस पूरी बहस पर क्या राय है? क्या आम वोटर भी चुनाव में मथुरा के मुद्दे को ध्यान में रखते हुए वोट करेंगे? इसको लेकर हमने एक पोल किया, जिसके नतीजे दिलचस्प हैं। kpmaurya1 kpmaurya1 वैदिकसनातन के अतिअल्पसंख्यक दोहन अलावा ये कुछ नहीं! kpmaurya1 जनता मंदिर के नाम पर नहीं बल्कि विपक्ष की कालीकरतूतों से तंग आकर भाजपा को बोट देती है।

रविवार दोपहर को ओडिशा में पुरी के तट से टकरा सकता है Cyclone Jawad, 10 बातेंचक्रवात जवाद (Cyclone Jawad) रविवार सुबह ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्रों से टकरा सकता है. इसके फलस्‍वरूप भारी बारिश और 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है.

विदेशों में बसे बांग्लादेश के लोग अपनी मेहनत से कर रहे कमाल - BBC Hindi2020 में जब कोविड-19 महामारी के कारण विदेशी मुद्रा की प्रवाह वैश्विक स्तर पर प्रभावित हुई थी तब भी विदेशों में काम कर रहे बांग्लादेशियों ने 21.76 अरब डॉलर अपने घर भेजे थे.

Omicron Variant से निपटने की तैयारी में जुटा देश, Travelers Tracing, Testing पर जोर | Omicron IndiaCoronavirus Omicron Variant in India: कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रोन (Coronavirus Omicron Variant) दुनियाभर में तेजी से फैल रहा है और अब तक भारत समेत 2...