अयोध्या राम मंदिर: समतलीकरण के दौरान मिले अवशेष पर उठे सवाल

अयोध्या राम मंदिर: समतलीकरण के दौरान मिले अवशेष पर उठे सवाल

22-05-2020 18:39:00

अयोध्या राम मंदिर: समतलीकरण के दौरान मिले अवशेष पर उठे सवाल

श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने दावा किया है कि मंदिर परिसर के समतलीकरण के दौरान पुराने मंदिर के अवशेष मिले हैं.

शेयर पैनल को बंद करेंइमेज कॉपीरइटGetty Imagesअयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने दावा किया है कि मंदिर परिसर के समतलीकरण के दौरान पुराने मंदिर के तमाम अवशेष मिले हैं.ट्रस्ट ने ज़िलाधिकारी की अनुमति से 11 मई से वहां समतलीकरण का काम शुरू किया है.

संजय राउत ने देश में कोरोना फैलने ने लिए 'नमस्ते ट्रंप' कार्यक्रम को ठहराया जिम्मेदार, कहा... खबरदार: नेपाल-भारत के बीच विवाद में चीन की भूमिका का विश्लेषण भारतीय सेना ने भारत-चीन सीमा पर झड़प वाले वीडियो को प्रमाणिक नहीं माना

ट्रस्ट की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि समतलीकरण के दौरान काफ़ी संख्या में पुरावशेष, देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां, पुष्प कलश, आमलक आदि कलाकृतियां निकली हैं.ट्रस्ट के सचिव चंपत राय ने मीडिया को बताया,"अब तक 7 ब्लैक टच स्टोन के स्तंभ, 6 रेडसैंड स्टोन के स्तंभ, 5 फुट के नक्काशीनुमा शिवलिंग और मेहराब के पत्थर आदि बरामद हुए हैं. समतलीकरण का कार्य अभी प्रगति पर है."

ट्रस्ट की ओर से मंदिर के पुरावशेषों को राम मंदिर का प्रमाणिक तथ्य बताया जा रहा है. समतलीकरण का काम रामजन्मभूमि में उस स्थान पर कराया जा रहा है, जहाँ सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से पहले रामलला विराजमान थे.कब से हो रहा है कामइमेज कॉपीरइटMaHENDRA TRIPATHIट्रस्ट की ओर से वहां तक जाने के लिए बने गैलरीनुमा रास्ते के एंगल इत्यादि को हटाकर साफ़-सफ़ाई की जा रही है ताकि मंदिर निर्माण की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जा सके.

चंपत राय ने बताया कि समतलीकरण के कार्य में 3 जेसीबी, 1 क्रेन, 2 ट्रैक्टर और 10 मज़दूर लगाए गए हैं. उन्होंने बताया कि कोरोना को लेकर सुरक्षा के मानकों, मास्क और सोशल डिस्टेसिंग आदि का कड़ाई से पालन करके ये सारे काम हो रहे हैं.अयोध्या के ज़िलाधिकारी अनुज कुमार झा कहते हैं कि ट्रस्ट ने उनसे लॉकडाउन में ढील के दौरान समतलीकरण की अनुमति मांगी थी, जो दे दी गई है और मानकों के तहत वहां काम हो रहा है.

इमेज कॉपीरइटMAHENDRA TRIPATHIवहां मिले अवशेषों के बारे में डीएम अनुज कुमार झा का कहना था,"अभी जो भी अवशेष मिले हैं वो ट्रस्ट की ही निगरानी में रखे गए हैं और उनकी साफ़-सफ़ाई की गई है. पुरातात्विक दृष्टि से अभी इनका परीक्षण नहीं किया गया है और इतनी जल्दी ऐसा कर पाना संभव भी नहीं है."

समतलीकरण के दौरान जो चीज़ें मिल रही हैं, बताया जा रहा है कि उस तरह के अवशेष पहले भी मिल चुके हैं.पहले भी मिले हैं अवशेषइमेज कॉपीरइटFacebook Accout of DMस्थानीय पत्रकार महेंद्र त्रिपाठी कहते हैं,"पुराने मंदिर के अवशेष पहले भी मिले हैं. अभी भी जो चीज़ें मिल रही हैं, उन्हीं से संबंधित हैं. चाहे शिवलिंग हों, कलश हों या फिर मूर्तियां. चूँकि इस जगह को तुरंत सरकार ने कब्ज़े में लेकर वहां रामलला की मूर्ति रखवा दी थी इसलिए यहां के सामान उस वक़्त संरक्षित नहीं किए जा सके थे. वही चीज़ें अब मिल रही हैं."

लेकिन बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के संयोजक और सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड के वकील रह चुके ज़फ़रयाब जिलानी ने इन अवशेषों के मिलने पर सवाल खड़े किए हैं.इमेज कॉपीरइटGetty Imagesमीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा,"सुप्रीम कोर्ट यह कह चुका है कि एएसआई के सबूतों के मुताबिक़, तेरहवीं शताब्दी में वहां कोई मंदिर नहीं था, ऐसे में अवशेषों के मिलने की बातें सिवाय प्रोपेगेंडा के और कुछ नहीं हैं."

पापा बनने वाले हैं हार्द‍िक पंड्या, मंगेतर नताशा ने शेयर की गुड न्यूज - Entertainment AajTak MP: पुजारियों की रोजी-रोटी पर संकट, कांग्रेस बोली- एक जून से खुलें मंदिर देश तक: यूपी में लॉकडाउन 5.0 की गाइडलाइन जारी, कल से चलेंगी रोडवेड की बसें

राम जन्म भूमि के प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास कहते हैं कि पहले भी इस स्थल की पुरातत्व विभाग ने खुदाई की थी और खुदाई में मंदिर के साक्ष्य मिले थे.बीबीसी से बातचीत में सत्येंद्र दास कहते हैं,"खुदाई में मिले साक्ष्यों के आधार पर ही सुप्रीम कोर्ट ने रामलला के पक्ष में फ़ैसला सुनाया था. अब दोबारा फिर राम मंदिर से जुड़े हुए ही साक्ष्य मिल रहे हैं जिसमें कमल दल, शंख, चक्र और धनुष. ये सभी आकृतियां सनातन धर्म से जुड़ी हैं और इस बात की ओर इशारा करती हैं कि यहां पहले से ही मंदिर मौजूद था."

बौद्ध धर्म की बातइमेज कॉपीरइटMahendra Tripathiइस बीच, कुछ लोगों ने यह कहकर एक नया विवाद खड़ा करने की कोशिश की है कि खुदाई में जो भी अवशेष मिल रहे हैं वो शिवलिंग या मंदिर से संबंधित नहीं बल्कि बौद्ध स्तंभ हैं और बौद्ध धर्म से संबंधित हैं.सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर हैशटैग बौद्धस्थल अयोध्या के नाम से लोग खुदाई में मिले अवशेषों की तस्वीरें भी साझा कर रहे हैं.

पिछले साल राम मंदिर के पक्ष में आए सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के बाद अधिग्रहित क्षेत्र में मंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो गई. लॉकडाउन के चलते दो महीने तक यह काम नहीं शुरू हो सका था लेकिन लॉकडाउन में मिली कुछ रियायतों के बीच समतलीकरण का काम शुरू हो गया.

इसके अलावा मंदिर निर्माण के लिए अयोध्या के राम जन्मभूमि न्यास कार्यशाला में तराशे गए पत्थरों की सफाई का काम भी शुरू हो गया है.पिछले साल 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने इस विवाद से जुड़ी 2.77 एकड़ ज़मीन रामलला विराजमान को सौंप दी थी.कोर्ट ने मंदिर के निर्माण और प्रबंधन के लिए केंद्र सरकार को एक ट्रस्ट बनाने के लिए कहा था. सुप्रीम कोर्ट ने सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड को अयोध्या में ही मस्जिद बनाने के लिए पांच एकड़ ज़मीन देने का आदेश दिया था जिसे सरकार ने पिछले दिनों वक़्फ़ बोर्ड को दे दिया.

और पढो: BBC News Hindi »

Sunni o ko pak bhejo बा बा सी ये क्यो नही लिखा कि मंदिर के ही सबूत मिले बा बा सी हमेशा देश विरोधी न्यूज दिखता है If Gandhiji could make British Law truthfully strong and transparent by little practice of truth JKR could not think to keep even Sirius Black in Askban with any false charge of murder. तेरा तो काम ही भारत में इस्लामिक propaganda फैलाना है तेरे जैसे नीच न्यूज़ चैनल से इससे ज्यादा और कुछ उम्मीद की भी नहीं जा सकती है

ABHI TO BAHOT KUCH MIL JAYE GA SAMAJDAR KO ISHARA KAFI HAI. कोर्ट का फैसला आ चुका है ।अब बी बी सी पुनः मामले को क्यों उठा रहा है ? मंशा तो नेक है न ? भारत सरकार सिर्फ झूठ फैला सकती है,लोगो को भ्रम में रखने के लिए। I_am_Anil_Tyagi गहरी खोदाई के दौरान एएसआई को नही मिले अवशेष। समतलीकरण में मिले अवशेष। बात कुछ और लगती है।

और यहाँ बीबीसी की जल गई है। Avshesh me kamachakra mile hain.bhkto ke anusar bjp ka astitv us smay bhi raha hoga. जो होना था हो गया अब उसे फिर उठाना ठीक नहीं है नहीं तो सवाल उठेंगे और कुछ ऐसे सवाल उठेंगे कि जवाब देना मुश्किल हो जाएगा मान लीजिए ताजमहल के नीचे 100 फुट खुदाई की जाए और कुछ अवशेष अलग मिल जाए तो क्या ताजमहल को हटाया जा सकता है और मिले हुए अवशेष के हिसाब से उसे दे दिया जाएगा

उनके लिए तो धरती भी चोरस है अब कोन किसे समझाए आपको खुश नहीं कर सकते bbchindi_fakenews bbchindi_propagendanews bbchindi_antinational राहति पैकेज को लोन में कन्वर्ट करने वाले पहले प्रधानमंत्री कुछ तो शर्म करो दोगलो ये ये पैकेज जनता को आर्थिक महामारी से बचबे के लिए दिया गया है न के जनता को कर्ज में डूब कर मारने के लिए दिया है

Covid-19 से हिंदुस्तान को तो राम जी ने बचा लिए अब इंग्लैंड को बचाव Jesus जी से बोलकर.... सवाल उठाने वाले का ऐसा इलाज कर दिया जाये कि सवाल करने लायक़ ही न रहें । ये बीबीसी न्यूज नहीं bc news hai hamesha india aur bjp ke khilaf hi bolega bcnews शर्म आती है आप लोगो की पत्रकारिता पर । बोध धर्म पहले था या सनातन ?

हो सकता है कि बौद्ध मंदिरों ने भगवान श्री राम के मंदिर की नकल की हो ये बताओ कि बौद्ध पहले आये की भगवान श्री राम अयोध्या मैं समतलीकरण के दौरान राम मंदिर के अवशेष नहीं यह सम्राट अशोक के काल में बनवाए गए बौद्ध मंदिर के अवशेष है जिसे चाटुकार मीडिया वाले कभी सही नहीं बताएंगे और ना ही सरकार l अगर ईमानदारी से जांच कराई जाए तो सब सामने आ जाएगा देख लो जिसे मीडिया शिवलिंग बता रही

सुन बे जिलानी जितना चिल्लाना था तूने सुप्रीम कोर्ट में चिल्लाया अब चिल्लाने से कुछ न होगा। मन्दिर वहीं बनेगा। सवाल केवल बीबीसी जैसे वामपंथी विचारधारा के लोग ही उठा रहे हैं जो अवशेष मिले हैं वो मंदिर के है,...... सवाल सिर्फ लिब्रांडु उठा रहे है... क्यों की उनके अजेंडो पे पाणी जो फिर गया है... Pakistan dalal midia BBC

उठाते रहो सवाल .IN A COUNTRY WHR RELIABLE NEW CONSTRUCTIONS ARE SO DIFFICULT ALWAYS SHORTAGE OF MONEY DESPITE TAKING MONEY FROM PUBLIC IN EVERY WAY POSSIBLE IMPOSSIBLE 2CONSTRUCT IDOLS. PILLERS IN 100 N 1000 YEARS OLD SCULPTURE STYLE PLANT THEM BENEATH THE GROUND N LATER PRODUCE THEM कांग्रेस ने पहले शांतिदूतो से अयोध्या में मस्जिद होने का झूठा दावा कराया उसके बाद आज भीमटो से झूठा दावा करवा रही है हैं की अयोध्या में बौद्ध मंदिर था मैं तो कहता हूं सीधा सोनिया जी की अगुवाई में ईसाई लोग आये और कहें कि यहाँ तो जीसस की मूर्ति थी उनकी भी भड़ास निकल जाए....!

Ram se jure har itihas par bbc walo ka sawal hota hi hai isme naya kya hai hme to pahle se pata hai जातिवाद सिर्फ हिन्दुओं मे होता है अतः दलितो को आरक्षण तब तक ही मिलना चाहिए जब तक वो हिन्दू है....तेरे जैसे क्रिश्चियन्स को आरक्षण क्यूँ मिले बोलो क्यों दुनिया का पहला इंसान देखा है जो ये कहना चाहता है की बेटे की शक्ल बाप से नही बाप की शक्ल बेटे से मिलती है इस आरक्षण के टट्टू को कोई समझाओ बौद्ध धर्म की उत्पत्ति सनातन से ही हुई है 😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂

Ek mandir ban ney me in itne jhamele, shayad ram bhakto ki niyat saaf nahi. अरे मूर्ख चेनल वालो तुम कभी सच नही लिखते क्योंकि या तो तुम पाकिस्तान से ऑपरेट हो रहे हो या फिर देशविरोधी लोगो के द्वारा सवाल नही उठे है राम लल्ला के ही प्रमाण मिले है अयोध्या श्री राम चन्द्र जी की थी है और रहेगी बोलो जय श्री राम

जो लोग सवाल उठा रहे वे लोग पुरातत्व का क ख ग नहीं जानते। कोर्ट में झूठे साबित हुए फर्जी वामपंथी इतिहासकारों खंभा नोच रहे खिसियानी बिल्ली की तरह। There is no longer any dispute to arise there .the controversy have been resting in peace. only temple of prabhu is to be built there .that's all bbc बुद्ध विहार

Tum sabko aur koi kaam nhi h Jahan bhi mandir ki baat aayengi. Wahin tum sab log bawasir felana start kar doge. Hassi aati h tum jo apne aap ko secular & liberal kahlana pasand karte ho. Par, bas hindu wali jagah par hi. Na ki muslim ya Christian ke liye. Wahanpar tum sab chup.🤐 कोई सवाल नहीं। BBC hindi... Afwaho ko hawa deta hua.... Desh todne k liye to patrakarita krte h ye

Means Pahle Wha Mandir tha,...,.phir Budhhist stupa......phir Masjid...... N again ab Ram Mandir.....Sawal BBC Wale bna rahen hai.....wo nah chahte Desh me Sakoon rahe ....,..Angrezo walla kaam phir see krne ki koshish बौद्धस्थल_अयोध्या Yar banane do fir se rajniti ho gai to fir 50 saal tak rajniti chalu ho jayegi

ab to vha se kuch b mil skta h. Corona crisis me hi gujrat me ventilator scams ho gya ये बावरी महाविहार था, कोई मंदिर नही । चूतियों को तो मंदिर और विहार का फर्क ही नही मालूम । बात करते है बड़ी बड़ी । कुछ चूतियों के उठाने से झांट फर्क नहीं पड़ता Masjid ka he Mela ho gay eavsase Abay Bana k alag karo Ab kya Drama hai Kya kare Nikle na nikle sarkar court police tumhari Jeb me sab Jaldi banao khatam karo

कम्युनिस्ट और हिन्दू धर्म विरोधियों का काम है सवाल उठना और बीबीसी का काम है उसे लोगो तक फैलाना...... लगता है बीबीसी भी 'गठबंधन की मजबूरी' वाली सरकार बना ली है। 🚩🚩🚩🚩🚩🚩 जब अवशेष के आधार पर मंदिर की बात हुई अब तो अवशेष बौद्ध धर्म का मिल रहा है इस लिए इस पर फिर से विचार करना जरूरी है और सुप्रीम कोर्ट इसकी फिर से जांच के लिए टीम बनानें का विचार करें

सवाल उठना लाजिमी है बिना विडियोग्राफि के समतल कराया गया है जो चिज खुदाई में नहीं निकला वह समतल में निकल गया यही से सक हो जाता है कि ये फ्राड कर रहे हैं । सवाल तो लाजिमी है, इस लिए SC को संज्ञान लेना चाहिए और फिर से अयोध्या मसलें हल ढूंढना चाहिए क्योंकि जो अवशेष मिले हैं वह बौद्ध स्तूपों की तरफ इशारा करते हैं

पत्थर ने इंसानों को गुमराह रखा हे, ये सत्य हे. Bauddh Mandir tha wahan पहले की खुदाई में भी बौद्धस्थल_अयोध्या के साक्ष्य सामने आए थे Profdilipmandal DalaiLama UrmileshJ Ram_Guha BBC ap ko nhi malum jab se dalal court ke murti rkhane ka ader diya he tab se aaj tak sari duniya hil gayi he es par bhi kuch likho tab pata chale

The remnants found frm ayodhya related to Buddhist,ayodhya's old name was saket during samarat ashoka's era.Buddhist stupas built in dome structure,so our demand is saket stupas further excavations should b done in presence of UNESCO hand over to Buddhists बौद्धस्थल_अयोध्या Gautam budh bhagwan ka temple banwa do Lakin jaldi banwa do

साकेत (आज का अयोध्या) में बौद्ध स्तूप थे। इसकी जांच अंतरराष्ट्रीय पुरातत्व विभाग से कराने की जरूरत है। जांच निष्पक्ष होनी चाहिये यही हम चाहते है। भारत सरकार बौद्ध स्तूपों को संरक्षित करती है या नही ? यही देखना है। Ab ye kya naya bawal shuru ho gaya ...? आपका पूरा लेख पढ़ा, किसी ने सवाल नही उठाये सिवाय बाबरी मस्जिद के पक्षकार वकील के। फिर भी आपने गलत/झूठा हैडलाइन बनायी।😐

Raising a questions about Ayodhya temple issue has become now useless. I appeal the concerned person not raise unwanted questions or speculation about the temple sight. Let a butiful temple constructed there peacefully. bbc सच सच बताना कितनी बड़ी डिग्री की थी मूर्ख बनने के लिए कल तक वहाँ तुम बाबरी मस्जिद के अवशेष बता रहे थे अब कुछ और बता रहे हो प्रोपगेंडा तो अच्छा तैयार कर लिया करो 😂😂😂

हमे करोड़ो का पैकेज नही चाहिये बस गेस बिल लाइट बिल और वेरा बिल माफ करदो बहुत हो गया सवाल तो नही हाँ कुछ इतिहास कारो के मुँह पर तमाचे जरूर पड़े है अयोध्या में बौद्ध बिहार है। यह बार बार सवाल उठाने वाले है कौन यार जब देखो बस उंगली करते है। कुछ करने का काम नही है तो घर मे पड़े रहो ना यार बार बार आ जाते है मुँह उठा के। कभी मन्दिर कभी भगवान। करना धरना कुछ है नहीं बस फालतू की ची ची करते रहते है।

Bbc ka poora name Bahut Bada Chu..ya rakh dena chahiye har jgh negatitive जयश्रीराम Making a news out of a Twitter trend is a new low even by the low standards of BBC. What a fall!! बौद्धस्थल_अयोध्या बौद्धनगरी_अयोध्या यह बौद्ध नगरी साकेत है, राम मंदिर केवल प्रोपोगैंडा है. आप ये न्यूज़ नहीं भी लिखते तो क्या फर्क पड़ता जो असली बात है वो तो एक दो लाइन में पुरी की है और manuwadiyo की लक्किर पिटी है |

कितनी अजीब बात कि अंग्रेज भारत मे जहाँ कहीं खुदाई करते थे वहाँ बुद्ध ही मिलते थे। पर ये विदेशी आर्य और उनकी नाजायज संताने जहाँ भी खुदाई किये वहाँ इनके विष्णु, इंद्र, राम ,कृष्ण मिले ? कौनसी तकनीक इस्तेमाल करते है ये अवशेषो को परखने ठगी, इतिहास चोरी ? बौद्धस्थल_अयोध्या सवाल तो उठेंगे पूरी मीडिया ओर सेकूलर एक दशक तक झूठ फैलाते रहे ओर अंत मैं सत्य की जीत हुयी प्रभु श्री राम का धाम जल्द तैयार होगा रामायण_हमारा_इतिहास_है

इंसानियत के सबसे बड़े दुश्मन और घोरस्वार्थी अंग्रेज लगते हैं अब मुझे,चाहेवह गोरे हो या काले,मानसिकता वही है।बाटों और राजकरो।यह घटियारिपोर्टिंग इसका सबूत है कि वे हिन्दू मुस्लिम दंगे करा गुलाम INCIndia सरकार चाहते हैं,भले ही लाखोंलोग बेमौत मर कट जाएं।धिक्कार है 10DowningStreet साकेत_एक_बुद्धनगरी बौद्धनगरी_अयोध्या बौद्धस्थल_अयोध्या UNESCO IndiaatUNESCO unesconewdelhi

निहायतही शर्मनाक,धिक्कारहै ऐसी घटिया मानसिकता की पत्रकारिता हेतु आपपर।नेहरू गाँधी जिन्ना को आगेकर पहले अंग्रेजों ने देशको बाँटकर लाखों लोगों का निर्मम कत्ल करादिया,दायित्व?कश्मीर समस्या लाखों मरे मारे जा रहे,देन अंग्रेजों की।अब एक बड़ा मुद्दा सौहार्द में हल किया,तो फिर तुच्छ ता? दिल्ली जामामसजिद के निचे भी खोजने पड़ेगी कितने विवाद है ऊसके निचे

धार्मिक डकैदी बंद करो पाखंडीओ,अयोध्या(साकेत) मे बुध्द थे बुध्द हि मिलेगें बौद्धनगरी_अयोध्या बौद्धस्थल_अयोध्या Taj Mahal ko bhi todna hai. हर मुश्किल घरि मे। मंदिर मसजीद आता हे। खल्लाश। मंदिर बनाओ। घंटी बजाओ पूजा करो। ओर भगवान के मार्ग दर्शन पर चलो। ओर क़त्लआम बंद करो। क्या उस मंदिर का फायदा जिसमें बदनामी का दाग और झूठ की अफवाह पूरे देश अफवाह उससे अच्छी तो मेरे गांव की मंदिर है जिस पर कोई दाग तो नहीं

बौद्धस्थल_अयोध्या इस आर्टिकल का लेखक भी ब्राह्मण है, अयोध्या/साकेत का स्थानिय पत्रकार भी ब्राह्मण है और अयोध्या/साकेत का जिलाधिकारी भी ब्राह्मण बौद्धनगरी_अयोध्या विकाउ बी बी सी जनता से कोई सवाल नही है, हारे हुए बेईमान वामपंथी अपनी खीझ उतार रहे हैं। हिंदुस्तान मे जितने मुस्लिम शासक आया सब लूटेरा था और लूटेरा कभी कोई इमारत नही बनाता है । सब बहुत पहले से बना था। और किसी महल पर उर्दू फारसी लिख देने से महल किसी और की नही होता है। ये न्या हिंदुस्तान है

Bbc walo Angrejo k ' chromosome'.......... करोना का मुद्दा को हटाना है और लोगों को धर्म में उलझाना है कुछ न्यूज चैनल तो चाहते नहीं थे कि राम मंदिर बने। ऐसे न्यूज चैनल हिंदूओं के प्रती हमेशा पक्षपाती रहा है। पहले की खुदाई से प्राप्त सबूतों को संदेश की दृष्टि से देखा गया। अब खुदाई से मुर्तियां निकलते देख उन सब का मुंह बंद है।

जय श्री राम सवाल उठाने वाले कौन हैं,कहीं वे लोग तो नहीं जो राम को काल्पनिक कहते रहे हैं । बाबर के पक्षधर तो नहीं?या फिर गौतम बुद्ध(सिद्धार्थ) के अनुयायी है ।अगर ऐसा है तो समझिए जो सुप्रिम कोर्ट में हारे वे.प्रोपोगण्डा के सहारे । पूर्णतः विक्षिप्त लोग। मतलब हर तरफ इतनी तबाही मची है इस टाईम ये सब क्यु ऐसा करते हो यारो

भारत बुद्धमय था। लेकिन उनको नष्ट कर दिया गया किसने किया? जबकि उस समय तक तो न ईसाई धर्म,न ही इस्लाम था। तो मौर्य शासन का अंत किसने किया?तो वो ही ब्राह्मण ही था, आज भी उसी मानसिकता वाला ब्रह्मण काबिज़ है अब तो हर मस्जिद ओर ताज़महल जैसे महलों की खुदाई अत्यंत आवश्यक हो गया है इसके लिए सरकार को कानून बनाकर जाँच कराई जानी चाहिए सब विदेशी आक्रांताओं ने भारत की वैभवशाली संस्कृति को धवस्त कर दिया है

क्या सवाल उठे हैं बे फर्जियों😂. क्रॉस निकला है या 786😁 सनातन संबधित मूर्तियां वगैरह निकली हैं😂 हां ऐसा हो सकता अयोध्या मे जो बाकी मस्जिदें हैं वो हमारे बोद्ध स्तूप तोड़कर बनाई गई हों😒 जांच होनी चाहिए😎 बामियान मे मूर्ति तोड़ते सबने देखा है। बोद्धों को चाहिए केस करें😎 हे प्रचंड चू***ये, ये बताओ इसमें विवाद कहा है ?

असां है सवाल खङे करने वालो से सवाल हमारा भी है बल्कि चैलेंज है सब मस्जिदों और ताज महल की भी खुदाई करा लो अगर मंदिर ना मिले तो बता देना अब_बाकि_स्थोलो_की_भी_हो_खुदाई Jahan ek bar masjid ban gai kayamat tak masjid he rehti h ap chaye kuch bhi kar lo ये भारत है साहब यहां कुछ लोग आंखों देखे आम को बबूल कह देते हैं। ख़ैर जाने दीजिए। प्रत्यक्षं किम प्रमाणं। जय श्री राम 🙏

अवशेष पर सवाल उठाने वाले लोग दो कौड़ी के खरीदे हुए गुलाम हैं।उन लोगों से कुछ बनना और बिगड़ना नहीं है। कहने को उन लोगों के ट्विटर पर हजारों लाखों फालोवर हैं पर जब मरेंगे तो उनको चार कंधा भी मिलना मुश्किल है। मस्जिद की जगह पर पहले ही पुरातत्व विभाग खुदाई कर चुका है अब तो सारी जमीन पर खुदाई चल रही है और ये सब बौद्ध के निशान है तो क्या और जगह बौद्ध का मंदिर था तो फिर बौद्ध धरम वालो को कुछ सोचना चाईए

Visit rameshwaram and south indian temples. Common design used in temples. Read the article and saw the images. I have a different question. It’s a finding of very high importance. The entire country has faught for decades on this. RW ecosystem has technological capacity. Then why are these images so poor in quality?

Boycott Non Indian brands There is not much time for doomsday so please ignore BBC वालों तुम्हारी माँ की जय। शर्म करो कुछ। सवाल तो तुम जैसे चूतियों की पैदाइश पर भी उठते है। जो ये सब लिखते हो। 1992 से अवशेष रखने का षड्यंत्र रचा गया था इसमें कौन सी बड़ी बात है। Kisne tere papa nein uthaya kya उठे नहीं, तू उठा रहा है जिहादी कहीं के। ट्विटर के नमूनों को सवाल उठाने वालों में गिनता है ?

Was eagerly waiting which website will first come up with 'hard hitting' 'factual' questions. 4 top contenders were – The Wire, Scroll, The Quint, BBC Hindi. I thought some Indian will win this :/ Such predictability. Such consistency. This is called professionalism. ;) तो क्या करें!!!! अब इसमें भी नई चाल चलोगे क्या!!!😡😕😡

अब जो अयोध्या में राम लल्ला मंदिर पर सवाल उठाएगा। वह व्यक्ति सीधा परलोक जाएगा। राम मंदिर निर्माण में अब किसी प्रकार का संदेह नहीं रहा हिंदुस्तान के सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आ जाने के बाद निर्माण कार्य जारी है। जय श्री राम 🛕🛕🛕🛕 अवशेष पर सवाल उठाने वालों को खुद के अस्तित्व पे भरोसा नही है , देखिए साफ दिखाई दे रहा है कि स्तुप है

सवाल कौन खड़े कर रहे है ,वही लोग है जो आक्रमणकारियों के गुलामी के अवशेष बनकर इस देश रह रहे है, उसमे बीबीसी अंग्रेजो के गुलामी का प्रतिक है, वामपंथी मार्क्सवाद के अवशेष है, Un news channel or paterkaro ki bolti band ho gayi jo kehte the .... ke koi murtia nai mili .. aab unka interview bhi lena chahye ek bar or jhooti news ke leye f.i.r

जिन्हें भगवान् राम के अस्तित्व पर सवाल करने की आदत है उन्हें ये सब तो कहना ही है क्या आप बता सकते है विवादित स्थल कितने एकड़ में है और राम मंदिर की खुदाई कितने एकड़ में चल रही है क्या ये सब मस्जिद की जगह निकले है या कहीं और अगर यह मस्जिद की जगह निकले है तो पुरातत्व विभाग ने खुदाई की थी जब मंदिर के निशान क्यों नहीं मिले थे

Ban BBC. Headline kya banai hai uthe sawal. Ek aadmi ke dawe ko sahi manege ya purani mili cheezon ko. Supreme court ne bhi maan lia ab to. Band karo ye faltu ki news aur bayanbazi. Yaha na mandir bane na masjid bane, ye jamin budho ko diya jaye, inpe unka adhikar proof ho rha hai 5 rupees for this news

वहीं तो मै सोचू की हिंदुत्व की बात हो वहा अब तक कुदे कैसे नहीं मिर्ची तो बहुत लगी होगी... कैसे नाम के आगे हिंदी लगाकर निष्पक्षता का ढोंग रचाकर न्यूज के आड़ में हिंदुत्व को नकारने का काम करने में अच्छा तो लगता होगा।।। अबे बेबकूफ लोगों हजारों मस्जिदें मंदिरों को तोड़कर बनाई गई है।मुगल कालीन कोई भी मस्जिद की खुदाई करोगे वहाँ सनातन मंदिरों के अवशेष मिलेंगे।कश्मीर घाटी में हजारों टूटे हुए मन्दिर अपनी कहानी बयान कर रहे हैं।अफगानिस्तान में बामियान की मूर्तियों को तोड़े हुए तो बहुत समय भी नहीं हुआ है

बौध अवशेष मिले हैं इतिहास दोहरा रही है अपने आप को, भारत पहले बौधमय ही था ,ये अंधभक्तों को अपनी आंख बंद कर लेने से सूर्य की रौशनी खत्म नही हो जाएगी| बौद्धस्थल_अयोध्या साकेत बौद्धस्थल_जामा_मस्जिद. नामकारन वाले इसका नाम कब साकेत करने वाले है? बुद्धस्थल_अयोध्या बौद्धनगरी_अयोध्या मंदिर वहीं बनाएंगे लग ही रहा था एक मीडिया चैनल ऐसा है जो हर देश के आंतरिक मामलों देश -दुनिया में हवा देकर आग को भड़काता है और खुद को क्म्यूनिष्ट पत्रकारिता का पक्षधर साबित करता है

तुम हो कौन? और रामजन्मभूमि पर सवाल किस हैसियत से उठा रहे हो? क्या बीबीसी हिंदी एन्टी हिन्दू मानसिकता के लोगो से भरी पड़ी है। तुम ब्रिटेन पर रिपोर्ट करो हमारे देश मे जहर घोलने की जरूरत नही। ज्यादातर अवशेष बौद्ध धर्म से सम्बन्धित है। There are more important issues in my country than this . How many debate show regarding creating job were hosted by you and attended by big political leaders, like you do related to hundu-muslim , Pakistan stop it. IndiaCreateJob

Kiske hai? BBC ne uthaye hain kya sawal...? BBCKMKB Bodh mandir structure Iska inam CJI ko rajyasbha bhej ke de diya gya hai, Ab apni jhooth ko such sabit krne ke liye draama ki kya zarurat hai आक्रमणकारियों ने सैकड़ों वर्षों से सवाल उठाए तो क्या सच को छिपा लेंगे? अयोध्या के कण कण में भगवान राम , वर्णन करते कभी ना थकते, जिसका वेद पुराण, संसार के क़ण कण मे राम , अयोध्या कें क़ण कण में भगवान राम !!

Private sector ko bula liya kya🤦‍♂️😆

रामजन्मभूमि परिसर में समतलीकरण के दौरान मिले मंदिर के अवशेष और देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियांखुदाई में मंदिर के अवशेष प्राप्त हुए हैं। रामजन्मभूमि परिसर के पुराने गर्भगृह स्थल के समतलीकरण का कार्य श्रीरामजन्मभूमि Sad to see this n still its happening in many states Jay Shree ram 🙏 अब संविधान खतरे में आ जाएगा...

राम मंदिर निर्माण से पहले समतलीकरण, मिल रहीं प्राचीन मूर्तियां और शिवलिंग - trending clicks AajTakअयोध्या में राम मंदिर का काम धीरे-धीरे शुरू हो चुका है. इसी बीच राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से कराए जा रहे समतलीकरण 🌎Follow: ✔️Check Website at my Profile ✔️KUBIBOOK, FREE E-Book Collection book freebook sharebook जय श्री राम Allah tala nahi nikle kya?

स्पेशल रिपोर्ट: राम मंदिर के सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर नए सबूतों की भी मुहर!अयोध्या में मंदिर-मस्जिद का विवाद 4 सदी तक चला. सुप्रीम कोर्ट ने वहां मंदिर माना और मंदिर के पक्ष में फैसला सुनाया. अब जब जन्मभूमि को समतल करने का काम शुरू हुआ तो खुदाई में एक के बाद एक निकल रहे हैं मंदिर के सबूत. जो बता रहे हैं कि वहां पहले भी मंदिर था और आगे भी मंदिर ही रहेगा. स्पेशल रिपोर्ट में अंजना ओम कश्यप के साथ देखिए खुदाई में मिले मंदिर के सबूतों के बारे में. JournoAshutosh anjanaomkashyap This Song is dedicated to all News Media... JournoAshutosh anjanaomkashyap पूर्वांचल वाले को पहले श्रमिक बनाओ फिर श्रमिक स्पेशल ट्रेन। JournoAshutosh anjanaomkashyap

कोरोना संकट के बीच डॉक्टरों और नर्सों के संगठन ने केंद्र सरकार के खिलाफ खोला मोर्चाकेन्द्र सरकार ने अपने एक आदेश में मेडिकल कर्मचारियों के लिए क्वारंटीन रहने की अनिवार्यता खत्म कर दी है। जिसके खिलाफ डॉक्टरों और नर्सों के संगठन ने अपना विरोध दर्ज कराया है।

कोरोना संकट: लॉकडाउन के दौरान मुसलमान समझ कर वकील की पिटाईमध्य प्रदेश में एक वकील की पुलिसवालों ने इसलिए पिटाई कर दी गई क्योंकि वो मुसलमान जैसा दिखते थे. वाह इंडिया फेक न्यूज Police bhi andhbhakt ban gaye yar.

वकीलों को वीडियो कांफ्रेंस के दौरान कोट और गाउन पहनने की जरूरत नहीं : उच्च न्यायालयवकीलों को वीडियो कांफ्रेंस के दौरान कोट और गाउन पहनने की जरूरत नहीं : उच्च न्यायालय BombayHighCourt BlackCourt BlackGown CourtHearing महोदय कृपया किराना को छोड़ कर सभी प्रतिष्ठानों को खोलने का समय सुबह 7 बजे से दोपहर 12 बजे तक करवा दे वा किराना 1 बजे दोपहर से साम 5 बजे तक करवा दे तो सभी के लिए आसान रहेगा वा अनावश्यक भीड़ से बचा जा सकता है धन्यवाद महेंद्र कुमार पटवा अध्यक्ष पटवा सभा सीतापुर

e-Agenda Aaj Tak 2020: 1 Year Of Modi Government 2.0, Schedule and List Of Speakers नरेंद्र मोदी की चिट्ठी- मुझमें कमी हो सकती है, पर देश पर भरोसा आठ जून से लागू होगा अनलॉक का पहला चरण, एक जून से ई-पास की अनिवार्यता समाप्त ट्विटर पर ट्रेंड #BoycottChineseProducts, अरशद वारसी-मिलिंद सोमन ने किया सपोर्ट e-एजेंडा: 7500 रुपये का कांग्रेसी नारा जनता चुनाव में नकार चुकी है-शाह मोदी सरकार 2.0 के मैन ऑफ़ द मैच हैं अमित शाह? PM मोदी- अब हमें अपने पैरों पर खड़ा होना ही होगा, जनता को लिखे पत्र की 13 खास बातें शिवसेना नेता राउत की सलाह, CAA को कुछ दिन के लिए ठंडे बस्ते में डालें मोदी को टक्कर देना छह साल बाद भी इस क़दर मुश्किल क्यों कोरोना अपडेटः भारत में 24 घंटे में संक्रमण के लगभग 8,000 नए मामले, आँकड़ा पौने दो लाख के पास पहुँचा - BBC Hindi अनलॉक 1 से लेकर आत्मनिर्भर भारत तक पर बोले अमि‍त शाह, देखें पूरा इंटरव्यू