America, Space, Planet, Jupiter, America News, 400 Light Years From Earth, New Planet, Youngest Planet 2M0437b, 2M0437b Planet, University Of Hawaii, Youngest Planet, Astronauts, Jupiter, Grater Than Jupiter, America, World News İn Hindi, World News İn Hindi, World Hindi News

America, Space

अमेरिका : अंतरिक्ष विज्ञानियों ने की 2एम0437बी नाम के सबसे युवा ग्रह की खोज, बृहस्पति से भी बड़ा है इसका आकार

अंतरिक्ष विज्ञानियों ने सबसे युवा ग्रह की खोज की है। यह पृथ्वी से 400 प्रकाश वर्ष दूर स्थित है। वैज्ञानिकों का मानना

28-10-2021 04:20:00

अमेरिका : अंतरिक्ष विज्ञानियों ने की 2एम0437बी नाम के सबसे युवा ग्रह की खोज, बृहस्पति से भी बड़ा है इसका आकार America Space Planet Jupiter

अंतरिक्ष विज्ञानियों ने सबसे युवा ग्रह की खोज की है। यह पृथ्वी से 400 प्रकाश वर्ष दूर स्थित है। वैज्ञानिकों का मानना

पृथ्वी से 400 प्रकाश वर्ष दूर, चारों तरफ बना है धूल का गुबारयूनिवर्सिटी ऑफ हवाई के वैज्ञानिकों ने कहा कि 2एम0437बी ग्रह (बेबी प्लैनेट) अभी अपनी जिंदगी के शुरुआती दिनों में है। इस समय यह बेहद गर्म है और इससे काफी ज्यादा ऊर्जा निकल रही है। वैज्ञानिकों का अनुमान है कि इसका तापमान धरती पर लावा उगल रहे किसी भी ज्वालामुखी के बराबर हो सकता है।

मध्य प्रदेश के विदिशा में सेंट जोसेफ़ स्कूल पर 'हिन्दूवादियों' ने हमला क्यों किया? - BBC News हिंदी मथुरा में नहीं, तो क्या लाहौर में बनेगा भगवान कृष्ण का मंदिर : उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री Anil Menon बनेंगे नासा एस्ट्रोनॉट, हो सकते हैं चांद पर जाने वाले पहले भारतवंशी!

इसे पहली बार साल 2018 में देखा गया था। उसी समय से इस पर लगातार निगरानी की जा रही है। यह अपने तारे 2एम0437 के करीब है। नया ग्रह अपने तारे के चारों तरफ धीमी गति से चक्कर लगा रहा है। इस ग्रह को खोजने वाली टीम के वैज्ञानिक एरिक गाइडोस ने कहा कि 2एम0437बी ग्रह उन ग्रहों में से एक है, जिन्हें हम धरती पर मौजूद टलीस्कोप से देख सकते हैं।

वैज्ञानिक एरिक गाइडोस ने बताया कि जब उन्होंने इस ग्रह से निकलने वाली रोशनी की जांच की तो पता चला कि इसके चारों तरफ गैस की डिस्क बनी हुई थी, जो अब नहीं है। लेकिन इसके तारे के चारों तरफ धूल का गुबार है, जो अब भी इस ग्रह से निकल रहा है। गाइडोस ने बताया कि 2एम0437बी का व्यास हमारे सौर मंडल में मौजूद बृहस्पति ग्रह से कई गुना ज्यादा है। यह अपने तारे के चारों तरफ जिस कक्षा में चक्कर लगा रहा है, वह धरती से सूर्य के बीच मौजूद कक्षा से 100 गुना बड़ी है। headtopics.com

विस्तार है कि इस खोज के बाद ग्रहों की उत्पत्ति के नए खुलासे होंगे। 2एम0437बी नामक ग्रह बृहस्पति से भी बड़ा और धरती के ज्वालामुखी जैसा गर्म है।विज्ञापनपृथ्वी से 400 प्रकाश वर्ष दूर, चारों तरफ बना है धूल का गुबारयूनिवर्सिटी ऑफ हवाई के वैज्ञानिकों ने कहा कि 2एम0437बी ग्रह (बेबी प्लैनेट) अभी अपनी जिंदगी के शुरुआती दिनों में है। इस समय यह बेहद गर्म है और इससे काफी ज्यादा ऊर्जा निकल रही है। वैज्ञानिकों का अनुमान है कि इसका तापमान धरती पर लावा उगल रहे किसी भी ज्वालामुखी के बराबर हो सकता है।

इसे पहली बार साल 2018 में देखा गया था। उसी समय से इस पर लगातार निगरानी की जा रही है। यह अपने तारे 2एम0437 के करीब है। नया ग्रह अपने तारे के चारों तरफ धीमी गति से चक्कर लगा रहा है। इस ग्रह को खोजने वाली टीम के वैज्ञानिक एरिक गाइडोस ने कहा कि 2एम0437बी ग्रह उन ग्रहों में से एक है, जिन्हें हम धरती पर मौजूद टलीस्कोप से देख सकते हैं।

वैज्ञानिक एरिक गाइडोस ने बताया कि जब उन्होंने इस ग्रह से निकलने वाली रोशनी की जांच की तो पता चला कि इसके चारों तरफ गैस की डिस्क बनी हुई थी, जो अब नहीं है। लेकिन इसके तारे के चारों तरफ धूल का गुबार है, जो अब भी इस ग्रह से निकल रहा है। गाइडोस ने बताया कि 2एम0437बी का व्यास हमारे सौर मंडल में मौजूद बृहस्पति ग्रह से कई गुना ज्यादा है। यह अपने तारे के चारों तरफ जिस कक्षा में चक्कर लगा रहा है, वह धरती से सूर्य के बीच मौजूद कक्षा से 100 गुना बड़ी है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

रिटायरमेंट के दिन जूते की माला भेंट!: रीवा में यूनिवर्सिटी के डिप्टी रजिस्ट्रार से कर्मचारी यूनियन ने की हरकत; थैंक्यू कहकर दिया जवाब

रीवा में अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के डिप्टी रजिस्ट्रार लाल साहब सिंह से रिटायरमेंट के दिन विदाई समारोह में बदसलूकी का मामला सामने आया है। यूनिवर्सिटी के कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों ने डिप्टी रजिस्ट्रार को जूते की माला भेंटकर मुर्दाबाद के नारे लगाए। जवाब में अफसर ने कहा-धन्यवाद, थैंक्यू। | Viral Video: Employees unions misbehaved with Deputy Registrar at Rewa APS University

क्रूज़ ड्रग्स मामला: रिश्वत मामले में एनसीबी ने अपने अधिकारी समीर वानखेड़े की जांच शुरू कीमुंबई क्रूज़ ड्रग्स मामले में स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सैल ने दावा किया हैं कि अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन ख़ान को छोड़ने के लिए एनसीबी की मुंबई क्षेत्रीय इकाई के निदेशक समीर वानखेड़े और कुछ अधिकारियों द्वारा 25 करोड़ रुपये की मांग की गई थी. एनसीबी और समीर वानखेड़े ने इन आरोपों के ख़िलाफ़ अदालत का रुख़ किया है. शिकारी खुद यहाँ शिकार हो गया Bollywood valo ko bachane ki kosis..... bina post se hataye kun si janch hogi?

Toyota की इस कार ने फुल टैंक में 1360 किलोमीटर की माइलेज देकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्डपहले दिन सफर की शुरुआत करते हुए वेन और बॉब ने एक ही दिन में 473 मील (लगभग 761 किलोमीटर) की दूरी तय की। अगले दिन जोड़ी ने 372 मील (599 किलोमीटर) की ईको-इन्फ्यूज्ड ड्राइविंग को कवर किया। Mileage is distance travelled per litre/ kg. You need to fire your social media team.

राकेश टिकैत ने कहा, सरकार ने बात नहीं मानी तो करेंगे सर्दियों की तैयारीआंदोलन को लेकर भारतीय किसान यूनियन नेता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार की तरफ से बातचीत का हम इंतजार कर रहे हैं। सरकार बात करे, हम भी अपने घर जाएं।

Google से खोजी बच्ची की हत्या की तरकीब, सर्च हिस्ट्री ने खोल दी पोल!शख्स के मोबाइल फोन पर 'बच्ची को जहर कैसे दें' और 'नवजात शिशु को कैसे मारें' जैसी चीजें गूगल सर्च हिस्ट्री में पाई गई. इसी के आधार पुलिस का शक और भी पुख्ता हो गया कि उसने बच्चे को मारने की तरकीब गूगल पर सर्च की थी.

Nigeria ने लॉन्च की खुद की डिजिटल करेंसी eNaira, ऐसा करने वाला बना पहला अफ्रीकी देशनाइजीरिया अब बहामास के साथ शामिल हो गया, जिसने अक्टूबर में एक जनरल पर्पज़ सैंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी Sand Dollar को लॉन्च किया। Now another online scam will come out of Nigeria

एलन मस्क ने फिर की Dogecoin की तारीफ, SHIB के बारे में दिया चौंकाने वाला बयान!एलन मस्क ने "डॉजकॉइन करोड़पति" ग्लौबर कॉन्टेसोटो के जवाब में ट्वीट किया कि वह Dogecoin को "लोगों के क्रिप्टो" (the people's crypto) के रूप में देखते हैं और बताया कि वह क्रिप्टोकरेंसी को सपोर्ट क्यों करते हैं। भारत देश में वंचित और शोषित वर्गों का एकमात्र सहारा सिर्फ संविधान ही हैं धार्मिक किताबों से कई गुना ज्यादा शक्तिशाली हैं,हमारा पवित्र ग्रन्थ भारत का संविधान