Amitabhbachchan, अमिताभ बच्चन, रेखा, जया बच्चन, सिलसिला, कुली का एक्सीडेंट, अमिताभ-रेखा प्रेम कहानी, समय ताम्रकर, मनोरंजन, Amitabh Bachchan, Rekha, Love Story Of Amitabh And Rekha, Jaya Bachchan, Samay Tamrakar, Coolie Accident, Entertainment

Amitabhbachchan, अमिताभ बच्चन

अमिताभ-जया-रेखा प्रेम-त्रिकोण : क्यों अधूरी रह गई अमिताभ-रेखा की लव स्टोरी?

अमिताभ और रेखा बिलकुल अलग थे और इसी बात ने उन दोनों को आकर्षित किया। अमिताभ-रेखा की फिल्में पसंद की जाने लगी और वे लगातार साथ में शूटिंग करते थे।#amitabhbachchan

29-05-2020 07:05:00

अमिताभ और रेखा बिलकुल अलग थे और इसी बात ने उन दोनों को आकर्षित किया। अमिताभ- रेखा की फिल्में पसंद की जाने लगी और वे लगातार साथ में शूटिंग करते थे। amitabhbachchan

अमिताभ बच्चन , रेखा , जया बच्चन , सिलसिला , कुली का एक्सीडेंट , अमिताभ- रेखा प्रेम कहानी, समय ताम्रकर , मनोरंजन , Amitabh Bachchan , Rekha , Love Story of Amitabh and Rekha , Jaya Bachchan , Samay Tamrakar , Coolie Accident , Entertainment

शुक्रवार, 29 मई 2020 (06:45 IST)जया बच्चन ने फिल्म 'जंजीर' में महत्वहीन रोल इसीलिए स्वीकारा था ताकि अमिताभ की इस फिल्म को बड़ा सितारा मिल जाए। जंजीर के पहले रिलीज अमिताभ की अधिकांश फिल्में फ्लॉप रही थीं और जया उनसे बड़ा सितारा थीं।  

कोरोनाः सिंगापुर जैसे अमीर मुल्क को वायरस ने मंदी में धकेला - BBC Hindi सचिन पायलट: अब तक का सियासी सफ़र कैसा रहा है सचिन पायलट को 'महत्वाकांक्षा की उड़ान' कहाँ लेकर जाएगी

जया की यह मदद दर्शाती है कि वे अमिताभ को कितना चाहती हैं। जैसे ही जया ने अमिताभ की लाइफ में एंट्री ली उनका सितारा शिखर पर पहुंच गया। वे सुपरस्टार बन गए।  सुपरस्टारडम के इसी दौर में अमिताभ बच्चन ने रेखा के साथ कुछ फिल्में की। तब रेखा काफी आंकी-बांकी थीं। कच्ची थीं। अनगढ़ थीं। व्यावसायिक दृष्टिकोण नहीं था। जीवन के प्रति इतनी समझ नहीं थी। किस तरह से करियर गढ़ा जाए, नहीं जानती थीं। 

 दूसरी ओर अमिताभ एक पढ़े-लिखे परिवार से ताल्लुक रखते थे। हरिवंश राय और तेजी बच्चन के गुणों का प्रभाव उनमें था। हिंदी और अंग्रेजी भाषा पर अच्छी पकड़ थी। तेजी बच्चन के प्रभाव के कारण वे बेहद व्यावहारिक भी हैं।  विज्ञान में कहा जाता है कि 'पॉजिटिव' 'निगेटिव' की ओर आकर्षित होता है। चुंबक में भी हम यह प्रभाव देखते हैं कि विपरीत ध्रुव एक-दूसरे की ओर आकर्षित होते हैं। यही प्रभाव जिंदगी में भी लागू होता है। 

 अमिताभ और रेखा बिलकुल अलग थे और इसी बात ने उन दोनों को आकर्षित किया। अमिताभ-रेखा की फिल्में पसंद की जाने लगी और वे लगातार साथ में शूटिंग करते थे। अमिताभ के संपर्क में आकर रेखा में आश्चर्यजनक बदलाव देखने को मिला। जैसे किसी पारखी नजर ने उन्हें तराश दिया हो। 

 वे सुंदर नजर आने लगीं। समझदारी भरी बातें करने लगीं। लोगों को परखना उन्होंने सीख लिया। अमिताभ ने उनका कायाकल्प कर दिया और यह करते-करते वे खुद रेखा पर मोहित हो गए। अक्सर मूर्तिकार अपनी बनाई मूर्ति को चाहने लगता है। फिल्मकार अपनी हीरोइन के किरदार पर मर मिटते हैं।  

 रेखा और अमिताभ के चर्चे गली-गली गूंजने लगे। इसी को भुनाने के लिए यश चोपड़ा ने 'सिलसिला' बनाई। पहले इस फिल्म में अमिताभ के साथ स्मिता पाटिल और परवीन बॉबी थी, लेकिन बाद में रेखा और जया बच्चन ने फिल्म में जगह ले ली।  कहा जाता है कि जया यह फिल्म करने के लिए तैयार नहीं थीं, लेकिन अमिताभ ने उन पर दबाव डाल कर राजी कर लिया। इस फिल्म में जया की नजरों के सामने रेखा के साथ अमिताभ रोमांस करते नजर आए और संभवत: इनको अभिनय की जरूरत ही नहीं पड़ी। उनके भाव एकदम वास्तविक लगे। 

 दर्शकों को यह हरकत पसंद नहीं आई और सिलसिला बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह पिटी। लोगों को यह बात रास नहीं आई कि जया जैसी पत्नी के होते हुए उनका प्रिय नायक किसी और से रियल लाइफ में रोमांस करे।  आज भले ही दर्शकों को किसी स्टार की रियल लाइफ से मतलब नहीं होता, लेकिन तब के दर्शकों की सोच काफी अलग थी। आज तो एक अपराधी भी परदे पर ईमानदार व्यक्ति की भूमिका निभाता है और दर्शक तालियां पीटते हैं।

CBSE ने क्यों हटाए धर्मनिरपेक्षता, लोकतंत्र और नागरिकता चैप्टर बिहार: गैंगरेप सर्वाइवर को ही भेजा जेल, रिहाई की माँग उठी 'पायलट के लिए BJP के दरवाजे खुले', ओम माथुर ने और क्या कहा, देखें VIDEO

 अमिताभ और रेखा के बारे में तो यह भी कहा जाने लगा कि दोनों ने गुपचुप विवाह रचा लिया है। इस रोमांस के चर्चे से जया बच्चन विचलित जरूर हुई होंगी।  बहरहाल भाग्य कुछ और मंजूर था। बेंगलौर में अमिताभ अपने प्रिय निर्देशक मनमोहन देसाई की फिल्म 'कुली' की शूटिंग कर रहे थे। 

 26 जुलाई 1982 को अमिताभ और पुनीत इस्सर पर बैंगलोर यूनिवर्सिटी केम्पस में एक फाइट सीन फिल्माया जा रहा था। इस फाइट सीन में टाइमिंग गड़बड़ा गई और अमिताभ के पेट में टेबल का कॉर्नर लग गया।  सीन तो उन्होंने पूरा कर लिया लेकिन बाद में उनकी ऐसी हालत हुई कि महीनों तक वे जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष करते रहे। पूरा देश उनके लिए प्रार्थना कर रहा था। 

 इस दौरान जया बच्चन ने अपनी मानसिक मजबूती का प्रदर्शन किया। वे साये के साथ अमिताभ के साथ रही। उनकी देखभाल की और व्यवस्था संभाली। अमिताभ मौत के मुंह से वापस लौटे। जया ने जिस तरह से पत्नी धर्म निभाया, इस बात ने उन पर गहरा असर डाला।  अमिताभ 'स्वस्थ' हो गए और यह प्रेम-त्रिकोण टूट गया। रेखा से अमिताभ ने दूरी बना ली, भले ही वे एक-दूजे को आज तक भूला नहीं पाए हों। 

कहते हैं कि रेखा तो आज भी अमिताभ के नाम का सिंदूर लगाती हैं। एकतरफा प्रेम करती हैं। अमिताभ के मन की थाह लेना आसान नहीं है।   और पढो: Webdunia Hindi »

44 साल में कितना बदला अमिताभ बच्चन का लुक, बोले- क्या थे, क्या बना दियाBakvash karna chodiye aap sab jo Abhi important hai o dekhiye logo ki madat kariye please

क्या अमिताभ के लिए बदल जाएंगे राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार के नियम, ऐसा हुआ तो होगी पांचवें पुरस्कार की दावेदारीक्या अमिताभ के लिए बदल जाएंगे राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार के नियम, ऐसा हुआ तो होगी पांचवें पुरस्कार की दावेदारी SrBachchan vidya_balan ShakuntalaDevi GulaboSitabo SrBachchan vidya_balan WFH ke nam pe bank sales employees ko bularahe SALES MANAGER without any official mail,bank nhi aaoge to attendance regularize nhi krege salary nhi denge. Jbki bank k taraf se work from home ka mail aaya hai. AxisBank , INDORA NAGPUR ngpnmc RBI TOI_Nagpur SrBachchan vidya_balan ये गलत नियम परिपाटी होगा।इस चमचे को जो पहले congres का और इसकी बीबी मुल्ला यम की है।कभी एक पैसा दान किया हिन्दूओ को मन्दिर मे।श्री राम मन्दिर मे कोई donation किया मदद किया।नही ये सिर्फ परिवार बेटा पतोहू बीबी तक ही है।ये मुस्लमान आतंकी पर कुछ बोला आजतक

बाइस्कोप: पहली नजर में अमिताभ को रिजेक्ट कर दिया था मनमोहन देसाई ने, फिल्म की रिलीज के दिन आया बुखारबाइस्कोप: पहली नजर में अमिताभ को रिजेक्ट कर दिया था मनमोहन देसाई ने, फिल्म की रिलीज के दिन आया बुखार AmarAkbarAnthony Biscope SrBachchan VinodKhanna RishiKapoor SrBachchan ताली ओर थाली पीटेगा तो रिजेक्ट ही होगा 😂

अमिताभ बच्चन ने भी किया यूपी के मजदूरों के लिए बसों का इंतजाम, हर रोज खिला रहे हजारों गरीबों को खाना अमिताभ बच्चन ने भी किया यूपी के मजदूरों के लिए बसों का इंतजाम, हर रोज खिला रहे हजारों गरीबों को खाना AmitabhBachchan Migrants Lockdown SrBachchan SrBachchan बड़ी माफी के सात कहना चाहता हूं कि मैंने आज तक इनसे बड़ा दोगला मतलबी मौकापरस्त इंसान नहीं देखा 🙏🙏 SrBachchan Ye hui Na deshbhakto Bali vast.saadhubaad . SrBachchan Der aye durust aye.....

अमिताभ बच्चन ने भी किया यूपी के मजदूरों के लिए बसों का इंतजाम, हर रोज खिला रहे हजारों गरीबों को खाना अमिताभ बच्चन ने भी किया यूपी के मजदूरों के लिए बसों का इंतजाम, हर रोज खिला रहे हजारों गरीबों को खाना AmitabhBachchan Migrants Lockdown SrBachchan SrBachchan बड़ी माफी के सात कहना चाहता हूं कि मैंने आज तक इनसे बड़ा दोगला मतलबी मौकापरस्त इंसान नहीं देखा 🙏🙏 SrBachchan Ye hui Na deshbhakto Bali vast.saadhubaad . SrBachchan Der aye durust aye.....

1962 भारत-चीन युद्ध: जब दोस्ती की पीठ पर चीन ने घोंपा था दगाबाजी का खंजरएलएसी यानी (लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल या वास्तविक नियंत्रण रेखा ) के करीब चीन की हिमाकत इन दिनों कुछ बढ़ती ही जा रही है.. चाइना कभी भारत का नहीं हो सकता CKMKB इस बार दोस्त को छठी की दूध याद दिलाधी है और ये भी बताना है कि दोस्ती किसे कहतें है...चाइना मतलब अपने बाप का भी नहीं.. News18India

कांग्रेस के सचिन अब क्या बीजेपी के लिए 'बल्लेबाज़ी' करेंगे? WHO ने कहा- कोरोना अभी बद से बदतर होगा, वैक्सीन और इम्युनिटी से भी निराशा नेपाल के पीएम ओली अयोध्या और राम पर अपने ही देश में घिरे राजस्थान: सचिन पायलट को कांग्रेस ने उपमुख्यमंत्री पद से हटाया योगी सरकार की 'ठोंको नीति' से इंसाफ़ मिलेगा या अपराध बढ़ेगा? कोरोना वायरस: रूस का दावा, उसने कोरोना की वैक्सीन का सफल परीक्षण किया - BBC Hindi कोरोना वायरस: महामारी रोकने के लिए दक्षिण अफ्रीका ने लगाई शराब पर पाबंदी - BBC Hindi कोरोना वायरस: अमरीका में एक दिन में 66,281 नए मामले, अकेले फ्लोरिडा में 15,300 पॉज़िटिव - BBC Hindi गूगल कंपनी भारत में करेगी 75 हज़ार करोड़ का निवेश ईरान ने भारत को दिया झटका, चार साल पहले मोदी ने किया था करार सचिन पायलट के साथ माने जा रहे तीन विधायकों का U-टर्न, कहा- 'हम कांग्रेस के सच्चे सिपाही'