अमित शाह ने मिलने का वादा किया है तो पुलिस ने रोका क्यों?

शाहीन बाग़: अमित शाह ने मिलने का वादा किया है तो पुलिस ने रोका क्यों?

16.2.2020

शाहीन बाग़: अमित शाह ने मिलने का वादा किया है तो पुलिस ने रोका क्यों?

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि शाहीन बाग़ के प्रदर्शनकारियों को उनके दफ़्तर से समय मांगना चाहिए और तीन दिन भीतर समय मिल जाएगा.

शाहीन बाग़ की प्रदर्शनकारी महिलाएं रविवार को गृह मंत्री के आवास की तरफ़ जा रही थीं लेकिन पुलिस ने जाने नहीं दिया.अहिंसात्मक विरोध-प्रदर्शन के मूल में बात रहती है कि ग़ुस्सा आने पर मौन रखा जाएगा. यहां के प्रदर्शनकारी भी इस बात को जानते हैं.36 साल की मरियम ख़ान ने अपने दुपट्टे को हरा, केसरिया और सफेद रंग में रंगवाया हुआ था, उनके हाथों की चूड़ियां भी इसी अंदाज़ की थीं. अपने हाथों में तिरंगा संभाले उन्होंने कहा कि उन्हें मार्च में शामिल होने से कोई डर नहीं लग रहा है.

उन्होंने बताया,"मैंने यह सब इसलिए पहना है क्योंकि हमें ख़ुद को भारतीय साबित करने की ज़रूरत पड़ रही है. मैंने इन्हें 26 जनवरी को तिरंगे रंग में रंगवाया था."क्या तीन दिन के भीतर अमित शाह से मिलने का वक़्त मिल पाएगा?गृह मंत्रालय के सूत्रों ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि उन लोगों को शाहीन बाग़ की ओर से नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन के मुद्दे पर बातचीत के लिए किसी तरह के अप्वाइंटमेंट के लिए अनुरोध नहीं मिला है.

उन्होंने बताया,"हम उन्हें पीछे हटने के लिए कहेंगे."सरवारी ने बताया कि वे लोग मार्च के लिए प्रतिबद्ध हैं लेकिन पुलिस के आदेशों की अवहेलना नहीं करेंगे, केवल पुलिस से अनुरोध किया जाएगा. मार्च की शुरुआत से ठीक पहले, भीड़ ने एक एंबुलेंस को गुजरने का रास्ता भी दिया.

मार्च के रोके जाने के बाद हवा में संदेशे लिखे बैलून नज़र आने लगे. प्रदर्शनकारी महिलाओं ने बताया कि सड़क पर तब तक प्रदर्शन जारी रहेगा जब तक उन्हें पुलिस या गृह मंत्रालय की ओर से जवाब नहीं मिलता.इस दौरान आसमान में लाल गुब्बारे भरे हुए थे. वैलेंटाइन सप्ताह के मौक़े पर प्रदर्शनकारी महिलाएं इसके ज़रिए अमित शाह को 'प्रेम पत्र' भेज रही थीं.

हिना अहमद ने बताया,"सोमवार को उन याचिकाओं पर फिर सुनवाई होगी, जिनके मुताबिक़ विरोध प्रदर्शन के चलते लोगों को असुविधाएं हो रही हैं."मतलब अभी काफ़ी कुछ होना बाक़ी है.

और पढो: BBC News Hindi

कोरोना: मज़दूर महिलाओं के लिए जंग वायरस से ही नहीं, ग़रीबी से भी



पीएम केयर्स फंड में 25 करोड़ का योगदान देने के बाद अक्षय ने बीएमसी को दिए 3 करोड़ रुपए

पश्चिम बंगाल: मुसलमानों ने दिया हिंदू पड़ोसी की अर्थी को कंधा



कोरोना वायरस: लॉकडाउन में ज़रूरी सामान पहुँचाने वाले ट्रक ड्राइवरों की क्या है मुसीबत

कोरोना: चीन, ताइवान और अमरीका के बीच कैसी जंग?



तबलीगी जमात से लौटने वाले पूर्व कांग्रेस पार्षद ने छुपाई बात, परिवार समेत कोरोना पॉजिटिव पाए गए तो पुलिस ने दर्ज किया केस

कोरोना वायरस: भारत में मिले 'कम्युनिटी ट्रांसमिशन' के संकेत?



क्या पता कोई अल्लादीन का बम न फट जाए इसलिये रोक होगा Problem should resolve. Barat leke jao ge to kiya ko bhi permission nahi deha police lath leke bethi hai Because Shaha home minister not a muslim imam take appointments them met पुलिस ने सही किया देश सुरक्षा के साथ गृहमंत्री का सुरक्षा जरूरी है इनका क्या भरोसा, क्या पता सुसाइड बॉम पहनके होंगी तो...🤣🤣🤣🤣🤣

मिलने के लिए जुलूस नहीं निकाला जाता , संस्कारी तरीके से मिला जाता है । सिर्फ हम संविघान मानते है के नारे लगानेके बदले संविधानसे जिना सिखो । रास्ता बंद कर देशभक्ती जताना चाहते है ? २ बच्चे करके देशभक्ती जताओ महीलाओंको पढाकर उन्हे मर्दोंका मोहताज मत बनाओ Kuch baat to jarur hai' Muslim' sabd me jo .............. Jisse do logo ki kamaiye chal rahi hai.... 1) BJP 2) Dalal Media

वादा और सत्य इनकी डिक्शनरी से बाहर है जय भारत जय हिंद क्यों की आप 1000 लोग जाओगे. एक एक करके अपनी मौका मंगोगे और टाइम ख़तम होजायेगा. फिर कहोगे अमितजी हमसे मिले नहि. पहले अपना डेलीगेशन बनाओ, एक लीडर चुनो, फिर चलेजाना. सब समझते हैँ आप की चाल.

शाहीन बाग: गृह मंत्री अमित शाह से मिलना चाहते हैं प्रदर्शनकारी, पुलिस ने मांगी लिस्टप्रदर्शनकारियों ने सरिता विहार से आश्रम होते हुए गृह मंत्री के आवास तक जाने की अनुमति मांगी है. वहीं दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक प्रदर्शनकारियों से लिस्ट मांगी गई है कि कौन-कौन गृह मंत्री अमित शाह के आवास तक उनसे मिलने जाना चाहते हैं. NPR, NRC का विरोध छोड़ो और इमानदारी से टैक्स भरो‌ । बहुत खाली मुफ्त रोटी । हम डेढ़ करोड़ जनता के टैक्स पर पलने वाले अब तो अपने कागज दिखाओ और टैक्स भरो । हाथों में देश का झंडा और मन में टैक्स नहीं भरने की नीयत। कागज दिखाओ और रजिस्टर करो, टैक्स भरो, NPR NRC का विरोध छोड़ो। CAA क्यों जरूरी है? ये तस्वीर डॉ धर्मवीर भारती जी की पुस्तक से ली गयी हैं, 1971 भारत पाकिस्तान युद्ध का हैं, जहाँ पति अपनी पत्नी की (लगातार बलात्कार की गयी )अस्मत बचा ना सका, लाश हो चुकी पत्नी को लेकर कहा जाये? बंटवारे के बाद से अब तक यही सच्चाई है। CAA इसलिए भी जरूरी है। वोट दिए केजरीवाल को फिर मिलने का समय अमित शाह को क्यों ढूंढरहे फट गई

किस किस से बात एक व्यक्ति करेगा ,दिल्ली मे इतने मुर्ख रहते हे अब पता चल रहा हे ,पढे लिखे फारसी बोले वाले देश की संसद मे बहुमत से पास CAA नही समझ सकते ,मुसलमानो के पेट मे डाढी क्यो हे , Chal Appointment le ke ana.... Tum log faltu ho, HM nahi पाकिस्तान कराची से हिंदू श्रद्धालुओं का एक जत्था हरिद्वार गंगा स्नान/ मंदिरों के दर्शन के लिए पहुंचा ,पाक के श्रद्धालुओं का कहना है हिंदुओं के वीजा मुश्किलों को खत्म कर सरलीकरण किया जाए। सीएए पर उन्होंने इसे सियासत का खेल करार दिया।श्रद्धालुओं ने कहा कि वे पाक में बहुत खुश हैं

पुलिस के लगाए बैरिकेड के चलते उन्हें अपने प्रदर्शन की जगह लौटना पड़ा तो इन लोगों ने आसमान में 1111 लाल बैलून उड़ाए गए जिन पर गृह मंत्री अमित शाह के लिए संदेश लिखे हुए थे जब इनको उड़ाया जा रहा था तब शाहीन बाग की प्रदर्शनकारी महिलाएं नारे लगा रही थी कि गृह मंत्री महोदय कब मिलिएगा. शिष्ठमंडल को बुलाया था रेली को नहीं

Minister se milne ka tarika hota hai usko fallow karo shayad koi nahi rokega tab. पंडित वेद प्रकाश (ब्राह्मण हिन्दू) की पुस्तक कालकी अवतार ने हिन्दू धर्म को अनदेखी सच्चाई से अवगत कराया👇👇👇 Ab Amit shah bade yaad aa rahe he sbko.. सही कहा सर अमित शाह बिरयानी नहीं बना रखा है जो सब पहुंच गए

कल दोपहर 2 बजे अमित शाह से मिलने जाएंगी शाहीन बाग की प्रदर्शनकारी महिलाएंशाहीन बाग से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है. ताजा जानकारी के मुताबिक शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने फैसला किया है कि वे गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात कर अपनी बात उनके सामने रखेंगे. Amit ji yehi bolenge Ki potioko samjao aur 2 bachho tok hi tham jao 🤑🤑🤑🤑 क्यों भाई चुनाव तक ही वादा था क्या स्पोंसर का गृह मंत्री सबका हे उनका भी अधिकार हे .

शाहीन बाग के बुजुर्गो माओ बहनो हम शर्मिंदा है अपने हक के लिए सरकार से सिर्फ एक मांग है CAA NRC NPR आदि को सरकार वापस ले तभी देश भर में चल रहा आंदोलन खत्म होगा और अमित शाहजी के द्वारा लिये सभी निर्णय विधि विरूद्ध होने के कारण वापस करना देश धर्म समाज के लिए न्यायचित होगा जय हिन्द Hindu bhaiyo ek ho . Pakistan bangladesh me muslimsmadharcho Hindu bhno ka dhrm privartan and jabran Shadi krrhe whi chij same India me inke bhno betio ka krna chalu kro,tb smjh me ayega in Randi wale muslimo ko..kashmiri pandito ke sath jaisa Kia waisa kryo

दंगाई की तरह मिलने का ? आदमीयों को बुलाया था गंदी नाली में लोटपोट किये सुअर और सुअरनीयों के झुंड को नहीं .. जो भी मिलने जाए पहले अपने लाइफ इंश्योरेंस करवा लेना पता नहीं कुछ भी हो सकता है भाई गृहमंत्री है। वो पाकिस्तान की नहीं सुनता तुम्हारी तो औकात ही क्या है? Amit shah ki fat gayee ऐसे धूमधडाके से थोड़े मिलना होता है महान् भारत के यशस्वी गृहमंत्री से।अग्रिम appointment लेना होता है। इस मामले में तो नजाकत की भी जरूरत पड़ेगी, क्योंकि पूर्व में गन्दी-गन्दी गालियां बकी गयीं हैं।

Because There are faltu channel like U bbc chutiya jaisa news mat failao samjhe एक बुजुर्ग कहा है :- जब दूध देने वाली 'भैंस' को बेचकर,'खुल्गे' को लाएंगे,वो लात ही मारेगा। 😇

अमित शाह से मुलाक़ात पर क्या बोले शाहीन बाग़ के प्रदर्शनकारी?शाहीन बाग़ में ही प्रदर्शन कर रहे एक वर्ग का कहना है कि वो अमित शाह से मिलने नहीं जाएगा. जिस दिन हिंदुस्तान का मुसलमान दो जमात ज्यादा पढ़ लेगा उस दिन आधा पाकिस्तान ऐसे ही खत्म हो जाएगा Bc inke chakkar me kisi Ka flat bik gaya kisi Ka baccha khap gaya ab Akal Ayee ? AmitShah JI No need

पुलिस की जिम्मेदारी है झुंड को रोकना है क्या पता शाहीन बाग कब्जा करने वाले आगे किसी और सड़क पर कब्जा करके ढोल मजीरा बजाने लगते ।वैसे अब जाने का औचित्य ?जब जाना चाहिए था तब तो छाती कूट रहे थे तमाम दबावों के बावजूद हम CAA से जुड़े अपने फैसले पर कायम हैं और रहेंगे :narendramodi शाहीन बाग वाले ना तो अनुशासित हैं और ना ही संविधान को मानने वाले।ये लोग अवज्ञाकारी और झूठे हैं।

भीड़ के साथ नहीं बीबीसी वालों से मेरा विनम्र निवेदन है, आप लोग तो एक प्रतिष्ठित मीडिया हैं, क्या इस तरह की हुजूम लेकर कोई गृहमंत्री से मिलने जाता है? क्या आपको पता नहीं है या आपलोग भी इनलोगों को ऐसा करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं? अन्यथा इस तरह नही लिखते पुलिस ने रोका क्यों? ऐसे कौन मिलता है गृहमंत्री से? पूरे के पूरे सुव्वर के झूंड चल दिए इसलिए पुलिस ने रोका 🤣🤣🤣

उसने झूट कहा था कि मिलेगा क्योंकि इन जिहादियों का कोई पता नहीं पेट में बम छुपा के ले जा सकते हैं उसने जो किया सही किया ऐसे लोगों से मिलने की आवश्यकता नहीं पुलिस सही काम कर रही है मुलाक़ात करना और बातचीत करनी है तो कुछ प्रतिनिधियों को भेजो शाहीन बाग के सभी लोगों को मुलाक़ात के लिये जुलूस में जाने का क्या औचित्य है ? ये अपने को संविधान का रक्षक बताते हैं और खुद देश के क़ानून को तोड़ने के बहाने ढूँढते रहते हैं

जो लोग इन महिलाओं को संविधान का पाठ पढ़ा रहे है वही लोग इन्हें क्यो नही बताते की इन्हें क्यो रोका गया। आखिर संविधान को समझने का ज्ञान रखने वालों को ये बात तो आसानी से समझ मे आ जानी चाहिए। Appointment लिया था क्या? और जुलूस के साथ जाओगे? .... हद्द है जाहिल पने की......

अमित शाह से मिलने जाएंगी शाहीन बाग की महिलाएं समेत बड़ी खबरेंअमित शाह से मिलने जाएंगी शाहीन बाग की महिलाएं समेत बड़ी खबरें AmitShah ShaheenBaghProtest RBI MangalPandey Representative bheje ek inch na hile . zindegi Ka haar bat ko bebaki rakhe ,security likhit me le Roll back ke alowa dusra vikalp na le . Only roll back CAA and NRC ,sare distention centre bandh ho MuslimST/SC par koi hamla naho agar hoga to karbai ho asadowaisi AIMPLB_Official jab man bana hi liya hai to sahi TARIKE SE JANA plan karo , 1 group ( chahe 5 ho 25 ka group ) banao & proper TIME lo , H.M. office se & KHUL KAR BAT KO CLEAR KARO JO bhi MAN KI 'shankaye' HAI door KARO

कागज दिखाओ पुलीस को वादा खिलाफी इनके डी एन ए में है सभी धरना प्रदर्शन करने वालों से मिलने का क्या मतलब है इस तरह से तो देश के सभी मुस्लिम अपने चार बेगम बीस बच्चों और बकरियों के साथ दिल्ली में अल तकिया करते नजर आएंगे। गृहमंत्री जी ने समझा दिया है कि कायदे से रहोगे तो फायदे में रहोगे। हिंदू मुस्लिम भाईचारे में चारा नहीं बनना है।

मिलने का समय मांगो तीन दिन के अंदर परमिशन मिलेगी , ये बोला धा । देश के ग्रह मंत्री है, कोई विधायक या पार्षद नही। क्योंकि पता है कि दोनों झूठे हैं Then better ask police and post the reason behind it.dont waste our time and money . useless cheap communist media..DelhiPolice अच्छा मिलने के लिए रैली ले कर जाओगे क्या? गृहमंत्री से मिलना है कि अपने रैली में जिनको बुलाते हो उन लोग जैसे 2 कौड़ी के नेता कलाकार से मिलना है। शुक्र करो उन्होंने कहा कि मिल लूंगा

1.They didn’t taken appointment. 2.They do not have any leader or representatives to talk with. Kyon ki Amit Shah ki fati pari hai

अमित शाह से मुलाकात की तैयारी में शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी, पुलिस को नहीं दी लिस्टFull support CAA NRC NPR PCB UCC. सब पेले जाएंगे.. 😂 Kuchh nhi hoga...likh lo

अमित शाह ने भीड़ से मिलने के लिए नही कहा था और भीड़ कभी बात नही करते। 2-4 लोग कहते तो बात समझ में आती। किस पर भरोसा करते हो यार। ये घमंडी लोग हैं, पॉलिटिक्स और लीडरशिप इन दोनों बातों का इनसे कोई लेना देना नहीं है। जज लोया को याद करो ओर बिना मिले ही रह लो Kagaz nahi dikhaya kya? Why don't you ask your Royal Family what happened there? Stop meddling in our Internal matters. Teach the Pakistan backing British National groups to chant Save Baluchistan in front of their own Embassy

Rt Saheen baag walo ka gulam h bbc गैरकानूनी चेकपोस्ट बनाने वाले को कानूनी चेकपोस्ट से क्या दिक्कत आ गई इस नाटक मंडली को अमित शाह से मिलने जाना था या किसी लावारिस मस्जिद में नमाज पढ़ने जाना था..? गृहमंत्री से मिलने की एक प्रक्रिया होती है, पहले समय लेकर कोई व्यक्ति या शिष्टमंडल मिलने जाता है.., यहां तो इन लोगों को नौटंकी करना है..

रोका इसलिए कि अग़र गृहमंत्री AmitShah जी शाहीनबाग़ वाले से मुलाक़ात कर लेते तो वह बिकाऊ मीडिया के माध्यम यह झूठ फैलाते की सरकार ने उनकी बात मान ली है एवं हमे आश्वासन दिया है जिनकी बुनियाद ही झूठ पर टिकी हो उनसे सच्चाई की उम्मीद नही की जा सकती है narendramodi Republic_Bharat क्योंकि मिलने के लिए बोला था, नाटक करने के लिए नहीं बोला था। और गलत किया इनको पड़े रहने दे सड़को पर क्या फर्क पड़ता है या बल प्रयोग कर के हटाए। कल ऐ लोग सड़को पर बैठ कर शरिया कानून की मांग करे तो क्या बातचीत करेंगे।

#ShaheenBagh: अमित शाह से आख़िर बात कौन करेगा?सवाल उठने लगा है कि इतने बड़े मुद्दे को लेकर सिर्फ महिलाएं सरकार से बात नहीं कर सकतीं. इन लोगों को बात नही केवल उलझाना है जो भी हो फैसला कोई भी करें बात लेकिन संवैधानिक तौर तरीके सिखाने के लिए शाहीन बाग की उन महिलाओं को धन्यवाद देता हूं, क्योँ अब अकल ठिकाने आ गै क्या शाहीन बाग वालोँ की..

भाजपा यह मनुवादी वर्चस्वी सरकार है इन पर चड्डी धारियों का कब्जा है इनसे न्याय की उम्मीद बेकार है इनकी औकात कॉमेंट्स पढ़ने से समझ में आती है एक समाज जो शिक्षित समझा जाता था आज वेश्यालयों के भड़वों से ज्यादा बुरे शब्द प्रयोग करते लगता है आने वाली सरकार ही न्याय देगी बदलाव तक जारी भाई, इतने लोगों को बिठाने का घर भी तो चाहिए होगा। मिलना है तो पांच लोगों का एक टीम जाकर मिले या फिर हजारों लोगों की भीड़?

Vaah re badmaash BBC अमीत शाह पर विशवास मत कीजिये । Was there anappointment and howmanyperson वादा मर्यादित संख्या के प्रतिनिधि से मिलने का होगा, भेड़ बकरियों के झुंड को मिलने का नहीं होगा!!! क्या हुआ वो cctv मुद्दा न बन पाया , आ गये रास्ते मे । जा भोसरी तेरा होगा Amit sah ne Puri Panchayat ko Milne ko nhi Bola tha

BBC की गांड क्यों चौड़ी हो रही?

... Kyoki tum log beawkufo jinna ki olad Ho bheje ME kuch hota to samjhte act Se koi Problem nhi kisi ko तड़ीपार को लोकतंत्र की भाषा कहा समझ आती है सुनने आया है शाहीन बाग़ को BBC news hindi ने 1 करोड़ रूपये दिये .....देशद्रोही के साथ शर्म करो । इस इंसान से देश को खतरा था....... निशब्द..... DR.Kafeel. चुनाव खत्म फंडिंग बंद रोहन्गिया पाकिस्तानी बंगलादेशी मुस्लिम घुसपैठि समर्थक अब बात चित के लिये इतने ललालीत क्यों है ? ? समापन का बहाना और सम्मान ढ़ूंढ़ रहे है 1947 से पहले जिन्ना के गुर्गे धरना प्रदर्शन हिंसा करके शांतिवार्ता का धोखा देते थे सावधानी हटी तो फिर से देश बटी

First time I'm seeing the tricolor in the hands of Muslim population in a protest.... Cheers to Amit Shah ji and modi ji... 👏👏🇮🇳 आपने दिन भर बहुत मंथन किया है लगता बाप के सामने अदब से पेश आना चाहिए.....// Voh ye log he logon ko 15 lakh ka vada kiya tha bad me ye tadipaar kya bola ye to jumla tha sab juthe sanghi he samje oun logo se koi asha bhi nahi rakhni desh jai dub ne oun logo ko koi desh se matlab nahi he

Tell who is leading you to talk and store इतनी बड़ी संख्या में कैसे मिलेगा गृह मंत्री? Abe phle latter bhejo tym maago muh utha k chl doge to kaise milenge अबे बेबकूफ, अमित शाह से मिलने इक्कठे 4000 लोग जाएंगे ? इन्हें मिलना ही होता तो 4-5 लोगों का प्रतिनिधिमंडल बना के जाते। ये तुमलोगों जैसे दुष्ट पत्रकारों की राजनीति है जो उन जाहिल औरतों से ये सब करवा रहा है।

'कागज़ नहीं थे' ये बताने को कि अमित शाह ने बुलाया है। 😂😂😂 Simple, had Shaheen bagh not tried to approach, in court tomorrow lawyers would have made this as a pretext to get ashaheen bagh protest removed. उस अभिमानी शाह से मिलने की जरूरत ही क्या है, जिसे अपनी क्रोनोलोजी की थोथोलोजी समझाना है वही शाहीनबाग आए, पूरी दिल्ली पुलिस उनकी है फिर इतना डरने की क्या बात है, या फिर हकीकत में डर गये हैं और डर के कारण अपनी मां-बहनों से भी नजरें मिलाने की हिम्मत नहीं है।

Check out Sayyed HusaiN🌹 (HusainZiyai): क्यों इनके रोजगार छीनने पे लगे हो 😂😂 News Chanel hai ya aunties ki gossip..kisne vada kiya tha..maine news dekhi hai..mit shah ki baat kuch aur thi aur unko JHUND banakar jane kinpad gai..aur sham ko ek bol raha tha ki shaheen bagh k har admi pratinidhimandal hai..har bachcha&bada jayega..bheja bina bheja 🤣

अमित शाह जी ने डेलिगेशन बुलाया था न की मार्च निकालने को कहा था । बात करनी है तो जिम्मेदार लोग जाएं caa की समझने न कि जिहादियों की भीड़ लेकर। Bhsdk अपने लीडरों को भेजते । Milne ka wada kia hai... Family invitation nahi hai... Wahan Qudrati khana nahi milta.. पुलिस ने रोका तो बीबीसी के पेट मे क्यो दर्द उठा

Arre to ek tarikaa hota hai Milne ka ,esse muhh uthha ke thodi jata hai koi ,esse to ye to log abhi rahul Gandhi ji se nahi mil skte Mlilne ka kiya tha ,dadagiri se marh nikalne ka nhi Amith shah hijra hai oh kay Mila ga पुलिस व्यवस्था को संवेदनशील बनाना बहुत जरूरी हैं ....जो आम लोगों की भावना को कदर नही करती हैं यह आश्चर्यजनक बात हैं कि मैंने इसकी शिकायत सुप्रीम कोर्ट से की थी उन्होंने ऐसी गंभीर मामलों में अभीतक संज्ञान नही लिया ....



कोरोना वायरस: ट्रंप की तारीफ़ के बाद क्या बोले पीएम मोदी - BBC Hindi

कोरोना वायरस: मिस इंग्लैंड ने ताज उतारा, डॉक्टरी के पेशे में लौटीं

कोरोना वायरस, फ़ेक न्यूज़ और ग़रीब मुसलमानों की मुसीबत

कोरोना संक्रमण के दौर में तर्क पर भारी पड़ती धार्मिक आस्था

कोरोना वायरस: क्या मौलाना साद ने पीएम-केयर्स में 1 करोड़ रुपये दान किए- फ़ैक्ट चेक

कोरोना संकट: परीक्षाओं में कंप्टीशन करने वाले अब 'भूख' से लड़ने को मजबूर

कोरोना वायरस: पान मसाला और गुटखा की लत वालों का क्या हाल है?

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

17 फरवरी 2020, सोमवार समाचार

पिछली खबर

केजरीवाल की शपथ पर अलका लांबा बोलीं- आज AAP का, कल फिर हमारा होगा

अगली खबर

केजरीवाल को दिल्ली CM पद की शपथ लेने पर PM मोदी ने ट्वीट कर दी बधाई