Amroha Constituency, Lok Sabha Constituency 2019, Uttar Pradesh, Lok Sabha Elections 2019, Congress, Sp, Bsp, Candidate List

Amroha Constituency, Lok Sabha Constituency 2019

अमरोहा लोकसभा सीट: कौन-कौन है उम्मीदवार, किसके बीच होगी कड़ी टक्कर

पढ़िए अमरोहा लोकसभा सीट के संसदीय इतिहास

02-04-2019 13:15:00

पढ़िए अमरोहा लोकसभा सीट के संसदीय इतिहास

अमरोहा लोकसभा सीट के संसदीय इतिहास की बात करें तो 1952 से लेकर 1971 तक इस सीट पर शुरुआती तीन बार कांग्रेस ने और इसके बाद दो बार सीपीआई ने जीत दर्ज की थी. 1977 और 1980 में जनता पार्टी, 1984 में कांग्रेस और 1989 में एक बार फिर जनता दल को जीत मिली. 1991 के बाद 1998 में इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी की तरफ से पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान सांसद चुने गए. चेतन चौहान के कारण भी यह सीट चर्चा में रही थी.

अमरोहा लोकसभा सीट पर 18 अप्रैल को दूसरे चरण में मतदान होना है और यहां पर 15 उम्मीदवार मैदान में हैं. भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार कंवर सिंह तंवर के साथ-साथ हाल ही में बहुजन समाज पार्टी में शामिल हुए दानिश अली, कांग्रेस के सचिन चौधरी और शिवपाल यादव की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अलावा 7 निर्दलीय प्रत्याशी मैदान में हैं जबकि 4 अन्य प्रत्याशी छोटे-छोटे दलों के हैं.

टोक्यो ओलंपिक: भारत की महिला हॉकी टीम ने रचा इतिहास, ऑस्ट्रेलिया को हराकर सेमी फ़ाइनल में पहुँची - BBC Hindi म्यांमार: दो साल बढ़ सकता है आपातकाल, तख़्तापलट करने वाले जनरल ने ख़ुद को घोषित किया प्रधानमंत्री- आज की बड़ी ख़बरें. - BBC Hindi सिंधु के पिता बोले- वो पीएम मोदी के साथ आइसक्रीम खाएगी - BBC Hindi

क्रिकेटर चेतन चौहान के कारण चर्चित मेरठ, मुरादाबाद और संभल से सटा अमरोहा बीते दिनों राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की छापेमारी के कारण खासा सुर्खियों में भी रहा था.इस लोकसभा क्षेत्र की विधानसभा सीटों में वर्चस्व रखने वाली समाजवादी पार्टी महज एक बार 1996 में चुनाव जीत सकी है. 1999 में बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर राशिद अल्वी ने चुनाव जीता था. 2004 में यह सीट निर्दलीय और 2009 में राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के खाते में गई.

मुस्लिम वोटर 20 फीसदीअमरोहा लोकसभा क्षेत्र में करीब 16 लाख वोटर हैं, इनमें से 8,29,446 वोटर पुरुष और 7,14,796 महिला वोटर हैं. 2014 के चुनाव में करीब 71 फीसदी मतदान हुआ था. इस सीट पर दलित, सैनी और जाट वोटर अधिक मात्रा में हैं, मुस्लिम वोटरों की संख्या 20 फीसदी से ऊपर है. headtopics.com

अमरोहा लोकसभा क्षेत्र में पांच विधानसभा सीटें (धनौरा, नौगावां सादत, अमरोहा, हसनपुर और गढ़मुक्तेश्वर) भी शामिल हैं. 2017 के विधानसभा चुनाव में सिर्फ अमरोहा सीट ही समाजवादी पार्टी के खाते में गई थी, अन्य सभी सीटों पर भारतीय जनता पार्टी का कब्जा रहा था.2014 में बीजेपी जीती

2014 में अमरोहा लोकसभा सीट पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कंवर सिंह तंवर जीत कर आए, उन्होंने समाजवादी पार्टी के हुमैरा अख्तर को करीब 1 लाख मतों के अंतर से हराया था. तीसरे नंबर पर बहुजन समाज पार्टी रही, जिसे पंद्रह फीसदी वोट मिला.बीजेपी के कंवर सिंह तंवर को 5,28,880 (48.3%), सपा के हुमैरा अख्तर को 3,70,666 (33.8%) और बसपा के फरहत हसन को 1,62,983 (14.9%) वोट मिले.

और पढो: आज तक »

वारदात: Dhanbad के जज की मौत के पीछे का असली सच! देखें

धनबाद में जज उत्तम आनंद की मौत के पीछे अब भी कई सवाल घूम रहे हैं. ये मौत वाकई एक हादसा था या हत्या? इस वीडियो में तस्वीर दिखा रही है कि एक शख्स सड़क के बिल्कुल बायीं ओर जॉगिंग कर रहा है. तभी अचानक पीछे से एक टेंपो आता है और जॉगिंग कर रहे शख्स को धक्का मार कर आगे बढ़ जाता है. पहली नज़र में यही गुमान होता है कि सड़क हादसे का एक मामला है. मगर इससे पहले कि आप किसी नतीजे पर पहुंचे, इसी सीसीटीवी तस्वीर की हर फ्रेम को अब गौर से देखिएगा. इसलिए कि इसी तस्वीर का जो बारीक पहलू है उसके बाद पूरा केस ही पलट जाएगा. इस केस की फॉरेंसिक जांच भी हो रही है. इस मामले में आज रांची हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लेते हुए सुनवाई की है. इस मामले को गंभीरता से लेते हुए अदालत ने झारखंड के डीजीपी और धनबाद के एसएसपी से जवाब तलब किया है. इस मामले में चीफ जस्टिस की बेंच ने डीजीपी से कहा कि अगर पुलिस जांच करने में विफल रहती है तो यह मामला सीबीआई को जा सकता है. देखें वारदात का ये एपिसोड.

ये चैनल मोदी की दलाली करता है हमलोग इसका बहिष्कार करते हैं। ये निष्पक्ष नहीं है। उजल बूंद आकाश की,परी गई भूमि बिकार। माटी मिली भई कीच सो बिनसंगति भौछार। अर्थात:-आदमी भी अच्छी संगति के अभाव से बुरा हो जाता है। उसी प्रकार शत्रुघ्न सिन्हा से भाजपा ने किनारा किया तो उनकी बुद्धि भ्रष्ट हो गई। चारा घोटाला का सजाफ्ता'कैदी लालू यादव'उनके मार्गदर्शक हो गये।

रामनाथपुरम लोकसभा सीट: BJP के नैनार नागेंद्रन मैदान में, 18 अप्रैल को वोटिंगतमिलनाडु की रामनाथपुरम लोकसभा सीट पर 18 अप्रैल को दूसरे चरण में वोट डाले जाएंगे. NDA में बंटवारे के तहत यह सीट बीजेपी के खाते में गई है, पार्टी ने नैनार नागेंद्रन (Nainar Nagenthran) को उम्मीदवार बनाया है, जबकि UPA गठबंधन की ओर से इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (IUML) ने यहां से के. नवासकणि (K. Navaskani) को टिकट दिया है.

कंधमाल लोकसभा सीट: BJD ने मौजूदा MP का टिकट काटा2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेडी ने इस सीट पर अत्युतानंद सामंता को अपना उम्मीदवार बनाया है. कांग्रेस के मनोज कुमार आचार्य इस सीट से उम्मीदवार हैं. जबकि बीजेपी ने आयरा खारबेला स्वैन को मैदान में उतारा है. इस सीट से बहुजन समाज पार्टी के आमिर नायक भी मैदान में हैं. टुना मल्लिक इस सीट से कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (एमएल) के कैंडिडेट हैं. खास बात ये हैं कि इस सीट से कोई भी निर्दलीय उम्मीदवार मैदान में नहीं है. Jitega कोई अगर मुफ्त दे तो भी मत लेना दिल अभी और भी सस्ते होंगे Fuck u B.J.D.........salo ko bhar pheko......chor hai sab ke sab ...... aab ki bar sirf modi srkr......

मध्य प्रदेश में बीजेपी के कई नेता नाराज, भिंड के पूर्व सांसद कांग्रेस के संपर्क मेंलोकसभा चुनाव 2019 से पहले मध्य प्रदेश में टिकट वितरण को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं में असंतोष बढ़ रहा है. शहडोल के सांसद ज्ञान सिंह और भिंड के पूर्व सांसद अशोक अर्गल टिकट न मिलने को लेकर खुले तौर पर अपनी नाराजगी जता चुके हैं. अर्गल कांग्रेस के संपर्क में हैं. वही लोग होंगे जिन्हें सिर्फ अपना स्वार्थ और अपनी-अपनी कुर्सी चाहिए, ऐसे लोगों के बाहर कर देना चाहिए । BJP4MP Wellcome to congress family.

नैनीताल-उधमसिंह नगर लोकसभा सीट: BJP के अजय भट्ट और कांग्रेस के हरीश रावत में मुकाबलापहले चरण के चुनावों में 20 राज्यों की कुल 91 सीटों को शामिल किया गया है. जिसमें से उत्‍तराखंड की नैनीताल उधमसिंह नगर भी एक है. यहां के उम्‍मीदवारों की किस्‍मत का फैसला 19 मई को होगा और नतीजे 23 मई को आएंगे. हरीश रावत जी फिर से अम्मी खुदेगी 😂 बोलो तो इसके गान ओर मुहर लगा दु 😜 अबकी बार हरीश रावत जीतेंगे the people who don't believe in EVM,CBI,ED,ECI,RAW,NSA, CJI,RBI, ARMY, NAVY, AIR FORCE,chief of FORCES. these are soul of our great nation. what's guarantee that they will believe in India when they will be in power.

हरिद्वार लोकसभा सीट: BJP के निशंक और कांग्रेस के अंबरीश कुमार में टक्करपहले चरण के चुनावों में 20 राज्यों की कुल 91 सीटों को शामिल किया गया है. जिसमें से उत्‍तराखंड की हरिद्वार भी एक है. यहां से उम्‍मीदवारों की किस्‍मत का फैसला 19 मई को होगा और नतीजे 23 मई को आएंगे. मैं SC (Scheduled Caste) से हूँ, क्या इससे मेरे और आपके देशभक्त, हिंदूवादि, मोदीभक्त होने मे कोई अंतर आएगा? रिट्वीट कर अपना विचार दें!🙁 कोई नहीं है टक्कर में आजतक पढ़ा है राहुल के चक्कर में काहे अफवाह फैला रहे हो असली मुकाबला तो भ्रष्टाचारी नेताओं के बीच है जिसमें हारना जनता-जनार्दन को ही है

मुलायम सिंह ने मैनपुरी से भरा पर्चा, साथ में थे अखिलेश और राम गोपाल यादव, नहीं दिखे शिवपालमुलायम सिंह यादव मैनपुरी सीट से चार बार सांसद रह चुके हैं. साल 2014 में उन्होंने मैनपुरी के साथ ही आजमगढ़ सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा था. मुलायम ने दोनों ही सीटों से जीत हासिल कर ली थी, बाद में उन्होंने मैनपुरी सीट छोड़ दी. इसके बाद इस सीट पर उपचुनाव हुए, जिसमें समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार तेज प्रताप यादव जीतने में कामयाब रहे. मैनपुरी सीट से मुलायम 1996, 2004 और 2009 से चुनाव जीत चुके हैं. राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि मैनपुरी लोकसभा सीट समाजवादी पार्टी के लिये काफी सुरक्षित सीट है. इस सीट पर पिछली बार मुलायम साढ़े तीन लाख से अधिक वोटो से जीते थे. achcha hai nahi dikhe जिसका जलवा आज भी कायम है! उसका नाम धरती पुत्र मुलायम सिंह यादव है! yadavakhilesh

गया सीट: क्या जीतन राम मांझी के सामने एनडीए जीत सकेगी यह सीट?गया संसदीय सीट इस बार अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. लेकिन सीधी लड़ाई राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) बनाम महागठबंधन की है. जीतन राम मांझी को इस बार महागठबंधन का साथ मिला है. इस सीट के मौजूदा सांसद हरी मांझी हैं, लेकिन एनडीए गठबंधन के चलते उन्हें टिकट नहीं दिया गया. These people swallowed my PMAY file and from 10 months not giving my money what to do..CHOR Corrupt even after tweetuing 20 times no is replying from PMAYUrban PMOIndia or any office ICICIBank_Care jumla no is caring to look into issue. 12000 सिर्फ महिलाओं के खाते में डालेंगे.. कोंग्रेस मतलब अब्दुल की 4 पत्नियों को 48000 और जगदीश की पत्नी को 12000 😂😂😂 कोई नाटक कम नहीं देगा। BJP'll Win.

तिरुनेलवेली लोकसभा सीट: AIADMK के सामने सीट बचाने की चुनौतीतिरुनेलवेली में लोकसभा चुनाव के लिए 18 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. तमिलनाडु की 39 लोकसभा सीटों में से एक तिरुनेलवेली में मतदाता दूसरे चरण के मतदान के तहत अपने वोट का इस्तेमाल कर सकेंगे. इस सीट पर राज्य की दो बड़ी AIADMK और DMK के बीच मुकाबला है. DMK ने यहां से Gnanathiraviam S को टिकट दिया है. AIADMK की ओर से पॉल मनोज मैदान में हैं. वहीं बहुजन समाज पार्टी ने Essakkiammal E को यहां से प्रत्याशी घोषित किया है. जेम्स वाट को इंजन बनाने का आइडिया जिस केतली से आया था वह केतली मेरी थी - मोई जी

आंध्र प्रदेश: नेल्‍लोर लोकसभा सीट पर YSR कांग्रेस ने पूर्व TDP नेता को उतार रोमाचंक की जंगनेल्‍लोर लोकसभा सीट कांग्रेस के दबदबे वाली सीट रही है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कांग्रेस ने यहां से कुल 13 बार जीत हासिल की है. यहां तक कि 1982 में टीडीपी के अस्तित्व में आने के बाद हुए 10 लोकसभा चुनावों में भी 6 बार कांग्रेस को जीत मिली. वहीं इन टीडीपी 2 बार और 2 बार वाईएसआर कांग्रेस ने जीत दर्ज की. 1957 के लोकसभा चुनाव में इस सीट से कांग्रेस को जीत मिली, जिसके बाद कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन किया और 1984 तक इस सीट पर कब्जा बरकरार रखा.

नगीना लोकसभा सीट: कौन-कौन है उम्मीदवार, किसके बीच होगी कड़ी टक्कर2009 लोकसभा चुनाव में नगीना संसदीय सीट समाजवादी पार्टी के खाते में गई तो 2014 में इस सीट पर भी मोदी लहर का असर दिखा और जीत भारतीय जनता पार्टी के खाते में गई. मुस्लिम बहुल होने के बावजूद भी ये सीट बीजेपी के पास गई, बीजेपी की नजर फिर से इस सीट पर जीत हासिल करने की है.