अमन के लिए अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति को पद छोड़ना होगा: तालिबान - BBC Hindi

अमन के लिए अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति को पद छोड़ना होगा: तालिबान

24-07-2021 18:11:00

अमन के लिए अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति को पद छोड़ना होगा: तालिबान

समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस को दिए इंटरव्यू में तालिबान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने अफ़ग़ानिस्तान के भविष्य को लेकर तालिबान का स्टैंड स्पष्ट किया है.

अमेरिका और नेटो के सैनिकों के अफ़ग़ानिस्तान छोड़ने के बाद तालिबान देश के अलग-अलग हिस्सों को लगातार अपने नियंत्रण में रहा है.इसी हफ़्ते अमेरिकी सेना के एक सीनियर मिलिट्री जनरल मार्क मिले ने पेंटागन की प्रेस ब्रीफिंग के दौरान बताया था कि तालिबान को रणनीतिक बढ़त हासिल है.

जब संसद गूंगी-बहरी हो जाती है तो सड़क की आवाज सुनाई देती है : NDTV से किसान नेता राकेश टिकैत विराट कोहली ने टी20 वर्ल्ड कप के बाद, टी20 की कप्तानी छोड़ने का एलान किया - BBC Hindi Taliban में आपसी सिर-फुटौव्वल, भुखमरी की कगार पर आम अफगान! देखें ताजा हालात

REUTERS/Ken Cedenoअफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ़ गनीImage caption: अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ़ गनीजनरल मार्क मिले ने इस बात से इनकार नहीं किया कि तालिबान पूरे अफ़ग़ानिस्तान को अपने दखल में ले सकता है.सुहैल शाहीन ने समाचार एजेंसी एपी से कहा,"जब बातचीत के बाद काबुल में ऐसी सरकार बनेगी जो सभी पक्षों को स्वीकार होगी और अशरफ़ गनी की सरकार चली जाएगी तो तालिबान अपने हथियार डाल देगा."

"मैं ये बात स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि हम सत्ता पर एकाधिकार नहीं चाहते हैं क्योंकि अतीत में अफ़ग़ानिस्तान में जिन सरकारों ने सारी ताक़त अपने हाथ में लेने की कोशिश की है, वे नाकाम सरकारें रही हैं."सुहैल शाहीन ने तालिबान की अपनी हुकूमत को भी उन्हीं नाकाम सरकारों में गिना है. उन्होंने स्पष्ट किया कि"हम उसी फॉर्मूले को फिर से दोहराना नहीं चाहते हैं." headtopics.com

EPA/JALIL REZAYEECopyright: EPA/JALIL REZAYEE31 अगस्त तक अमेरिका और नेटो की सेना पूरी तरह से अफ़ग़ानिस्तान छोड़ देगीImage caption: 31 अगस्त तक अमेरिका और नेटो की सेना पूरी तरह से अफ़ग़ानिस्तान छोड़ देगीलेकिन तालिबान ने एक और बात साफ़ कर दी है कि राष्ट्रपति अशरफ़ गनी के मुद्दे पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा.

मंगलवार को बकरीद के मौके पर राष्ट्रपति अशरफ़ गनी ने अपने भाषण में तालिबान पर हमला करने की बात कही थी. जिसके जवाब में तालिबान ने अशरफ़ गनी को जंग का सौदागर करार दिया है.सुहैल शाहीन का कहना है कि राष्ट्रपति अशरफ़ गनी मुल्क पर हुकूमत करने का हक खो चुके हैं. इसके अलावा तालिबान ने उन पर साल 2019 में चुनावी धांधली के जरिए जीत हासिल करने का इलजाम लगाया है.

पिछले आम चुनाव के बाद अशरफ़ गनी और उनके प्रतिद्वंद्वी अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह दोनों ने अपनी जीत का दावा किया था.हालांकि दोनों के बीच समझौता हो गया जिसके बाद अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह को सरकार में नंबर दो का ओहदा दिया गया और सुलह समिति का मुखिया नियुक्त किया गया था.

REUTERS/Jonathan Ernst/File PhotoCopyright: REUTERS/Jonathan Ernst/File Photoव्हाइट हाउस ने स्पष्ट किया है कि राष्ट्रपति बाइडन का समर्थन अफ़ग़ान राष्ट्रपति के साथ हैImage caption: व्हाइट हाउस ने स्पष्ट किया है कि राष्ट्रपति बाइडन का समर्थन अफ़ग़ान राष्ट्रपति के साथ है headtopics.com

रवि शास्त्री कैसे लौटेंगे स्वदेश..? उड़ान भरने के लिए कराना होगा ये टेस्ट कोई पहली बार जीता, कोई है पेशे से बिल्डर, जानें गुजरात के नए मंत्रियों को UP: चंदौली में बनेगा नॉर्थ इंडिया का पहला आधुनिक वातानुकूलित मछली केंद्र, मिलेंगी ये सुविधाएं

राष्ट्रपति अशरफ़ गनी को पद से हटाए जाने की तालिबान की मांग पर व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जेन प्साकी ने शुक्रवार को समाचार एजेंसी एपी को बताया कि राष्ट्रपति बाइडन का समर्थन अफ़ग़ान राष्ट्रपति के साथ है.बीस साल पहले जब अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान की सत्ता थी तो लड़कियों के तालीम हासिल करने पर पाबंदी लगा दी गई थी, शरिया क़ानून लागू था.

कई लोगों को तालिबान के उस दौर की वापसी का डर सता रहा है. जिन अफ़ग़ानों की आर्थिक स्थिति ठीक है, वे अफ़ग़ानिस्तान छोड़ने के लिए वीजा का आवेदन दे रहे हैं. और पढो: BBC News Hindi »

Delhi में बड़े Terror Module का पर्दाफाश, जांच एजेंसियों ने 6 को दबोचा, देखें स्पेशल रिपोर्ट

दिल्ली में पाकिस्तान की बड़ी साजिश का खुलासा करते हुए एजेंसी ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. जानकारी के मुताबिक इस पाकिस्तानी आतंकी मॉड्यूल के लिए काम करने वाले 6 लोगों में से दो ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग हासिल की थी. जांच एजेंसियों ने पाकिस्तान द्वारा पोषित एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है. इस मामले में जांच एजेंसियों ने 6 लोगों को गिरफ़्तार किया है. पकड़े गए संदिग्ध भारत में इस आतंकी मॉड्यूल को ऑपरेट कर रहे थे. इन सभी से लगातार पूछताछ की जा रही है. एजेंसी का दावा है कि पकड़े गए इन संदिग्ध आतंकियों के पास से बड़ी मात्रा में हथियार और विस्फोटक बरामद हुए हैं. देखिए स्पेशल रिपोर्ट का ये एपिसोड.

Kya din aagaye hai Ab aman... Taliban sikhayega🤣🤣 तालिबान का कहना है कि अफगानिस्तान के निर्वाचित सरकार की जिमेदारी है शांति बहाल करने और तालिबान तो अशांति फैलाने के लिये पैदा ही हुआ है। हिंसा किसी भी समस्या का हल नहीं। पहलेंं तालिबान सशर्त आत्मसमर्पण करें। और.. लोकतंत्र में निष्ठा दिखातें हुए, मानवीय मूल्यों में निष्ठा दिखाएं। अंतरराष्ट्रीय मंच, मुद्दों और समस्याओं में अपनी भागीदारी साबित करें और इंसानियत पर नासूर ना बनें। उग्रता सदैव पतन का कारण होता हैं।।

Sahi faisla hai Inshallah 🤲 अल्लाह हू अकबर ❤️ छोड़ दे नही तो वन टू वन कुश्ती लड़ ले जाके खुद काहे लोगों की जान लेने पे तुले है ' तुम ही गालिब रहोगे अगर तुम मोमिन हो ' कुरान. 🕋🤲👊😊 Pakistan wants taliban rule in Afghanistan but don’t want the same rule in Pakistan….. लोकतन्त्र है तो Right to = चुनाव और भारत के महान हिन्दू तत्व तो पड़ोसी देश में मंदिर टूट जाए या हिन्दू पिटें, तो ध्यान तक नहीं देते क्या दुर्भाग्य है! ShivSena RSSorg VHPDigital

तो क्या तालिबान वालों ने शांति का ठेका ले रखा है🤔🤔

बढ़ रहा है दायरा: अफगानिस्तान के आधे हिस्से में तालिबान ने जमाया कब्जाअमेरिका के ज्याइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष जनरल मार्क मिले ने कहा है कि तालिबान ने अब तक अफगानिस्तान के करीब आधे हिस्से

The best at murder are those who preach against it and the best at hate are those who preach love and the best at war finally are those who preach peace. Pure Afghan me independent vote hone Chahiye... Election commission Up ke sichha mitra ko bahal kara dijeeye sarkar

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान की जीत के पीछे जंग से ज़्यादा राजनीति, बोले अफ़ग़ान सलाहकार - BBC Hindiअफ़ग़ानिस्तान सरकार के एक बड़े सलाहकार ने कहा है हाल के समय में तालिबान की लगातार जीत की वजह लड़ाई नहीं बल्कि राजनीति है. 👍 तो जाओ UNO पाक पर लगवाओ परतिबनध!

तालिबान को रोकने के लिए ताजिकस्तान ने दिखाई ताकत, रूस ने भी लिया ये फैसलारूस ने तालिबान के संभावित खतरों को रोकने के लिए ताजिकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच सीमावर्ती क्षेत्रों में सैन्य उपकरण भेजे हैं. जबकि ताजिकिस्तान ने भी अफगानिस्तान सीमा पर सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अब तक अपना सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास किया है.

टीएमसी ने प्रसार भारती के पूर्व सीईओ जवाहर सरकार को राज्यसभा के लिए किया नामितटीएमसी ने अपने राज्यसभा के उम्मीदवार का ऐलान कर दिया है। जवाहर सरकार को पार्टी ने उम्मीदवार बनाया है। वह पूर्व आईएएस अधिकारी और प्रसार भारती के पूर्व सीईओ हैं।

EU वॉचडॉग ने 12 से17 आयु वर्ग के बच्चों के लिए Moderna वैक्सीन को मंजूरी दीयूरोपीय दवाओं की निगरानी करने वाली संस्था यूरोपियन मेडिसिन एजेंसी (EMA) ने शुक्रवार को 12 से 17 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए मॉडर्ना की कोरोना वायरस वैक्सीन के उपयोग को मंजूरी दे दी. इससे यह महाद्वीप पर किशोरों के कोरोना वायरस से बचाव में उपयोग के लिए दूसरी वैक्सीन बन गई.यूरोपियन मेडिसिन एजेंसी (ईएमए) ने मॉडर्न के ब्रांड नाम का इस्तेमाल करते हुए कहा कि 12 से 17 साल की उम्र के बच्चों में स्पाइकवैक्स वैक्सीन का इस्तेमाल 18 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों की तरह ही होगा.

तालिबान को निशाना बनाकर अमेरिका ने किया हवाई हमला - BBC News हिंदीतालिबान ने कहा है कि वो ख़ामोश नहीं बैठेगा और नतीजों के लिए अमेरिका ज़िम्मेदार होगा. Tujhe bahut dard ho Raha hay Islamic radical extremists terrorism supporter media अमेरिका ने ही तालिबान को पाल पोस कर बड़ा किया था सोवियत संघ के खिलाफ लड़ने के लिए , तालिबान अब अमेरिका के लिए भस्मासुर बना हुआ है । Sharam aa rahi h to apni izzat bachane k liye hawai hamle Ka natak kar raha h