Nititaayog, Reportonhealthsystem, नीतिआयोग, भारतकीस्वास्थ्यप्रणाली

Nititaayog, Reportonhealthsystem

अब मध्यम वर्ग के लिए स्वास्थ्य व्यवस्था बनाने की तैयारी, नीति आयोग ने पेश की रूपरेखा

अब मध्यम वर्ग के लिए स्वास्थ्य व्यवस्था बनाने की तैयारी, नीति आयोग ने पेश की रूपरेखा #NititAayog #ReportonHealthSystem #नीतिआयोग #भारतकीस्वास्थ्यप्रणाली

19.11.2019

अब मध्यम वर्ग के लिए स्वास्थ्य व्यवस्था बनाने की तैयारी, नीति आयोग ने पेश की रूपरेखा NititAayog ReportonHealthSystem नीतिआयोग भारतकीस्वास्थ्यप्रणाली

इस नई स्वास्थ्य प्रणाली में उनको शामिल नहीं किया जाएगा जो आयुष्मान भारत योजना के दायरे में हैं. हाल में शुरू इस योजना के दायरे में कुल आबादी का 40 प्रतिशत आता है.

कुमार ने कहा, ‘करीब 50 प्रतिशत आबादी अभी भी किसी सार्वजनिक स्वास्थ्य व्यवस्था से जुड़ी नहीं है. उनके लिए उनसे मामूली राशि लेकर ऐसी प्रणाली तैयार करने का विचार है जो मध्यम वर्ग की स्वास्थ्य देखभाल जरूरतों को पूरा कर सके.’

इस मौके पर बिल गेट्स ने कहा कि युवा आबादी के कारण भारत का भविष्य काफी उज्ज्वल है. उन्होंने रेखांकित किया कि किसी भी देश की मानव पूंजी वहां के नागरिकों के स्वास्थ्य, शिक्षा और पोषण पर किये गये कुल निवेश का जोड़ है.

इस रिपोर्ट में भविष्य की स्वास्थ्य प्रणाली के पांच मुख्य क्षेत्रों को चिन्हित किया गया है. जन स्वास्थ्य का अपूर्ण एजेंडा पूरा करना, बड़ी बीमा कंपनियों में निवेश करके व्यक्तिगत स्वास्थ्य व्यय को घटाना, सेवा वितरण को आपस में जोड़ना, स्वास्थ्य सेवा का बेहतर खरीददार बनाने के लिए नागरिकों का सशक्तिकरण करना और डिजिटल स्वास्थ्य की शक्ति का लाभ पाना इनमें शामिल हैं.

और पढो: द वायर हिंदी

डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा के मामलों को लेकर बिल पेश कर सकता है स्वास्थ्य मंत्रालयडॉक्टरों के खिलाफ देश में बढ़ते हिंसा के मामलों को लेकर सरकार इसी शीत सत्र में बिल ला सकती है। drharshvardhan MoHFW_INDIA violenceagainstdoctors drharshvardhan MoHFW_INDIA मरीजों से अनर्गल पैसा ऐंठने और बिना जानकारी के इलाज करने के बाद मरीजों की मौत के जिम्मेदार डाक्टरों पर किसी कार्रवाई की तैयारी है या आम जनता को मरने के लिए छोड़ देंगे। सब डाक्टर खराब नहीं हैं लेकिन एक बड़ी संख्या भी है जो सिर्फ मरीजों को पैसे की मशीन समझते हैं, खून चूसते हैं। 🚑 drharshvardhan MoHFW_INDIA डॉक्टरों के खिलाफ भी कोई बिल आना चाहिए, ये लोग मरे हुओं पर मशीनें लगा कर पैसे बना रहे हैं drharshvardhan MoHFW_INDIA Doctors k khilaf hinsa q hoti h is topic ko dhyan me rakh kr bill laiye janab. Patients k gharwalo k sath doctors jo suluk krte h iske barr me v sochiye, ye bde bde super speciality hospitals logo ko lut te h is matter pe bill laiye, dead body k v paise wasulte h ispe bill laiye.

राज्यसभा में तैनात मार्शलों ने खुद तैयार की वर्दी की डिजाइन, नए लुक में आए नजरराज्यसभा के एक अधिकारी के मुताबिक़ मार्शलों को विंटर सीजन के लिए नेवी ब्लू में यूनिफार्म तैयार किया है जबकि समर सीजन के लिए इसी लुक में सफ़ेद यूनिफार्म दी गई है. जय हो। परिवर्तन ही जीवन है । 🇮🇳👍

शेयर बाजार तेजी के साथ खुला, सेंसेक्स में 110 अंकों की बढ़त, निफ्टी 11900 के पारWrite something on indian GDP and unemployment in India and always remember not to play with your own profession Otherwise trp level will go so much down u can't think of that Don't know which stock market are they tracking nifty is down sensex is also down ....bhai red ka matlab kamjori hota hai majbooti nhi 🤣🤣🤣kya jahil media hai

सियाचिन ग्लेशियर के पास हिमस्खलन, कई जवानों के बर्फ में फंसे होने की आशंकासियाचिन ग्लेशियर के पास हुए हिमस्खलन के बाद कई जवान बर्फ में फंस गए हैं. आर्मी सूत्रों के हवाले से न्यूज एजेंसी ANI ने बताया कि सियाचिन के उत्तरी ग्लेशियर के पास 3:30 बजे 18,000 फीट की ऊंचाई पर यह हादसा हुआ. 12th पास करके सेना में भर्ती हो जाते है और माइनस 45 डिग्री में भी मुस्तैद रहते है अडिग रहते है अपने लक्ष्य पर निरन्तर माँ भारती की सेवा। धन्य है इनको जन्म देने बाली माताएं🙏🙇🚩 एक जेएनयू में पढ़ने वाले गद्दार है जो PG करके भी देश के खिलाफ चलते है JNUWallOfShame AmitShah

सियाचिन में हिमस्खलन, बर्फ में फंसने के बाद 4 जवान समेत 6 की मौतबताया गया कि सियाचिन ग्लेशियर क्षेत्र के उत्तरी सेक्टर में तैनात आठ सैन्यकर्मी इस हिमस्खलन की चपेट में आए थे। मामले की जानकारी के बाद फौरन आसपास की चौकियों से जवान उन्हें बचाने पहुंचे, जिसके बाद उन सभी को बर्फ के ढेर के नीचे से निकाला गया।

मामूली बढ़त के साथ खुला बाजार, Airtel के शेयर में 5 फीसदी की तेजीसप्‍ताह के दूसरे कारोबारी दिन भारतीय शेयर बाजार की मामूली बढ़त के साथ शुरुआत हुई. शुरुआती कारोबार में सेंसेक्‍स 40 हजार 400 के स्‍तर पर था. ~40 देश में ONGC मोदी सरकार ने दिखावा करते RIL सा किया डिजाइन! पर न खाऊंगा न खाने दूगाँ कह सबको खाने देने से ONGC चौथाई ! RIL चौगुना!! Badhai ho isit this link

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

19 नवम्बर 2019, मंगलवार समाचार

पिछली खबर

पीएफ घोटाले के विरोध में दूसरे दिन भी 45 हजार यूपी बिजलीकर्मियों ने कार्य बहिष्कार किया

अगली खबर

महाराष्ट्र: शरद पवार ने सोनिया गांधी से की मुलाकात, सरकार गठन की तस्वीर अब तक साफ नहीं