Covıd 19, कोरोना के प्रोटोकॉल, कोरोना के दिशानिर्देश, कोरोना की रोकथाम, कोरोना की महामारी, कोरोना की चुनौती, Corona Protocol Extended, Corona Prevention, Corona Guidelines, Corona Epidemic, Corona Challenge, भारत Samachar

Covıd 19, कोरोना के प्रोटोकॉल

अब भी बना हुआ है कोरोना का डर... रोकथाम के लिए मौजूदा प्रोटोकॉल 30 नवंबर तक रहेंगे जारी

अब भी बना हुआ है कोरोना का डर... रोकथाम के लिए मौजूदा प्रोटोकॉल 30 नवंबर तक रहेंगे जारी #COVID19 via @NavbharatTimes

28-10-2021 16:44:00

अब भी बना हुआ है कोरोना का डर... रोकथाम के लिए मौजूदा प्रोटोकॉल 30 नवंबर तक रहेंगे जारी COVID19 via NavbharatTimes

कोरोना को लेकर सरकार किसी तरह की कोताही नहीं बरतना चाहती है। यह अब भी चुनौती बना हुआ है। इसी को देखते हुए कोरोना से जुड़े प्रोटोकॉल को जारी रखने का फैसला किया गया है।

केंद्र ने गुरुवार को राष्ट्रव्यापी कोविड-19 रोकथाम उपायों को 30 नवंबर तक बढ़ा दिया। कुछ राज्यों में वायरस का स्थानीय प्रसार हुआ है। यह बीमारी देश में एक सार्वजनिक स्वास्थ्य चुनौती बनी हुई है। इसके मद्देनजर कोविड प्रोटोकॉल को अभी जारी रखने का फैसला लिया गया है।

हेलिकॉप्टर दुर्घटना में सीडीएस बिपिन रावत की मौत, अमेरिका-इसराइल ने भी जताया दुख - BBC Hindi रोहित शर्मा बने वनडे टीम के कप्तान, विराट करेंगे केवल टेस्ट में कप्तानी - BBC News हिंदी जनरल रावत की पत्नी मधुलिका की भी हेलिकॉप्टर हादसे में मौत, क्या थी शख़्सियत - BBC News हिंदी

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को भेजे पत्र में कहा कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए मौजूदा प्रोटोकॉल 30 नवंबर तक जारी रहेंगे।उन्होंने पिछले महीने कहा था कि ऐसी आशंका है कि कोविड-उपयुक्त व्यवहार का कड़ाई से पालन नहीं किया जाए, खासकर त्योहारों के दौरान और इसलिए दिशानिर्देशों को लागू करना महत्वपूर्ण है।

Covaxin को WHO की मंजूरी कब? इन देशों में भारत बायोटेक का टीका लगवा चुके लोगों को एंट्री की परमिशनभल्ला ने कहा था कि देश में दैनिक मामलों और कुल मरीजों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है, लेकिन कुछ राज्यों में वायरस का स्थानीय प्रसार हुआ है और देश में कोविड-19 एक सार्वजनिक स्वास्थ्य चुनौती बनी हुई है। headtopics.com

गृह सचिव ने कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नियमित रूप से अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले हर जिले के मामले की सकारात्मकता, अस्पताल, आईसीयू में भर्ती मरीजों की संख्या की बारीकी से निगरानी करनी चाहिए।उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासन को अपने टीकाकरण कार्यक्रमों को जारी रखना चाहिए ताकि पात्र आयु समूहों के टीकाकरण में तेजी लाई जा सके और पात्र लाभार्थियों को दूसरी खुराक देने के वास्ते प्राथमिकता पर रखा जा सके।

गृह सचिव ने मुख्य सचिवों से जिले और अन्य सभी संबंधित स्थानीय अधिकारियों को निर्देश जारी करने का आग्रह किया कि वे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की सलाह के अनुसार आवश्यक उपाय करें ताकि कोविड -19 के त्वरित और प्रभावी प्रबंधन के लिए सलाह दी जा सके।बच्‍चों के ल‍िए वैक्‍सीन कब तक? पहले किन्‍हें और कैसे लगेगी, हर सवाल का जवाब जानिए

भारत में एक दिन में कोविड-19 के 16,156 नए मामले सामने आने के बाद देश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,42,31,809 हो गई। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 1,60,989 हो गई है, जो पिछले 243 दिन में सबसे कम है।केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बृहस्पतिवार की सुबह आठ बजे जारी किए गए अपडेट आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण से 733 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,56,386 हो गई। केरल ने संक्रमण से मौत के आंकड़ों का पुन:मिलान करने के बाद मृतक संख्या में 622 का इजाफा किया है, जिनमें से पिछले 24 घंटे में संक्रमण से राज्य में 93 लोगों की मौत हुई।

और पढो: NBT Hindi News »

LIC के ब्रांड बनने की कहानी: 5 करोड़ रुपए की सरकारी रकम से शुरू हुई कंपनी, अब तक सरकार को दे चुकी है 23 लाख करोड़

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की दस्तक हो चुकी है। शेयर बाजार में गिरावट का रुख है। Paytm और स्टार हेल्थ जैसी इंश्योरेंस कंपनियों के IPO पिट गए हैं। इसके बावजूद भारतीय जीवन बीमा निगम, यानी LIC, जनवरी से मार्च के बीच में देश का सबसे बड़ा IPO ला रही है। इससे LIC के करीब 30 करोड़ पॉलिसी होल्डर्स, 12 लाख एजेंट्स और 1 लाख कर्मचारियों की धड़कनें बढ़ गई हैं। | LIC (Life Insurance Corporation) Success Story Success Story; Everything You Need To Know About Life Insurance Corporation 1818 में पहली बार भारत की धरती पर कोई बीमा कंपनी शुरू हुई थी। इसका नाम ओरिएंटल लाइफ इंश्योरेंस कंपनी था। ये सिर्फ अंग्रेजों का जीवन बीमा करती थी

Coronavirus LIVE News : दिल्ली में बीते 24 घंटे में 41 नए कोरोना केस, कोई मौत नहींचीन में कोरोना वायरस के मामले फिर से बढ़ रहे हैं। चीनी अधिकारी इसके पीछे डेल्टा के नए वैरिएंट को वजह बता रहे हैं। वहीं भारत में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट एवाई.4 से अभी कोई खतरा नहीं है। कोशिकीय एवं आणविक जीव विज्ञान केंद्र (सीसीएमबी) के पूर्व निदेशक राकेश मिश्रा ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस के डेल्टा प्रकार के ‘सब-लिनियेज’ एवाई.4 की संक्रामक दर डेल्टा से अधिक होने का कोई साक्ष्य मौजूद नहीं है। उन्होंने कहा कि यह उक्त वायरस का कोई नया प्रकार नहीं है। मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में छह लोग एवाई.4 से संक्रमित पाए गए हैं। कोरोना से जुड़े पल-पल के अपडेट के लिए बने रहिए नवभारतटाइम्स ऑनलाइन के साथ source? official statement?

दुनिया के कई हिस्सों में फिर बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलेदो साल पहले, अक्तूबर 2019 में चीन से कोरोना विषाणु संक्रमण (कोविड-19) महामारी की शुरुआत हुई थी।

चीन में बढ़े कोरोना के मामले, सीमावर्ती शहरों में तेज किया गया टेस्ट, लगाया गया लाकडाउनचीन ने 10 दिन पहले मौजूदा प्रकोप की शुरुआत के बाद से कोविड ​​-19 के लगभग 250 स्थानीय रूपों के प्रसारण की सूचना दी है। चीन के उत्तर-पश्चिम में दूरदराज के शहरों में संक्रमण फैला हुआ है। चीन में 26 अक्टूबर को 50 नए स्थानीय मामले सामने आए।

कर्नाटक: बोर्डिंग स्कूल में 33 छात्र कोरोना पॉजिटिव, कंटेनमेंट जोन घोषितकर्नाटक के कोडागु के मदिकेरी में जवाहर नवोदय विद्यालय के कुल 33 छात्र कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए है. इन लोगों को अचानक बुखार आने के बाद इनकी कोरोना जांच की गई थी. इन छात्रों को संक्रमित पाए जाने के बाद स्कूल के बाकी बच्चों को आयसोलेशन में रखा गया है.

खुशखबर: अब ऑनलाइन भी इस्तेमाल कर सकेंगे एडोब फोटोशॉप, नहीं पड़ेगी इंस्टॉल करने की जरूरतएडोब फोटोशॉप को इस्तेमाल करने के लिए आपको सॉफ्टवेयर को कंप्यूटर में इंस्टॉल करने की जरूरत नहीं होगी।

कोरोना वायरस: नए एवाई म्यूटेंट से डरने की जरूरत नहीं है, डेल्टा वैरिएंट ही अब तक सबसे खतरनाकइन दिनों पूरे देश में कोरोना वायरस के एक नए स्वरूप एवाई.4.2 को लेकर सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है। चर्चा इस बात की हो रही है