Jharkhand, Hemant Soren, Adiwasi Student, Latest Updates, Trending News Hindi

Jharkhand, Hemant Soren

अब झारखंड के आदिवासी बच्चे उच्च शिक्षा के लिए विदेश पढ़ने जाएंगे, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान

अब झारखंड के आदिवासी बच्चे उच्च शिक्षा के लिए विदेश पढ़ने जाएंगे, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान @HemantSorenJMM #Jharkhand

24-09-2021 06:35:00

अब झारखंड के आदिवासी बच्चे उच्च शिक्षा के लिए विदेश पढ़ने जाएंगे, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान HemantSorenJMM Jharkhand

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन के प्रयासों से राज्य के आदिवासी छात्रों का विदेश में शिक्षा लेने का सपना अब अपना होने के कगार पर है. राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना इसमें सहायक बनेगा.

यह भी पढ़ेंइसी माह विदेश जाएंगे चयनित छात्रराज्य सरकार मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय स्कॉलरशिप स्कीम के तहत इंग्लैंड एवं आयरलैंड की यूनिवर्सिटी में उच्चस्तरीय शिक्षा (मास्टर डिग्री, एम फिल) के लिए ट्यूशन फीस सहित उनके रहने एवं अन्य खर्च वहन करेगी. इसके लिए प्रति वर्ष झारखण्ड के रहने वाले 10 अनुसूचित जनजाति वर्ग के छात्रों का चयन किया जाएगा. इस कड़ी में पहली बार 6 छात्रों का चयन स्कॉलरशिप के लिए किया गया है, जो सितंबर महीने में उच्च शिक्षा हासिल करने इंग्लैंड की 5 विभिन्न यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने जा रहे हैं.

वंदे मातरम्: 250 गोरखाओं के सामने 4000 पाक सैनिकों का सरेंडर, देखें सिलहट की शौर्यगाथा पाकिस्तान को विराट कोहली की टीम क्या हरा पाने में सक्षम है? - BBC News हिंदी शनिवार को फिर बढ़े दाम, डेढ़ साल में पेट्रोल 36 रुपये और डीज़ल 26.58 रुपये महंगा हुआ - BBC Hindi

2020 में सरकार ने की थी योजना की घोषणा28 दिसंबर 2020 को सरकार द्वारा कैबिनेट की बैठक में इस योजना को मंजूरी दी गई थी. वहीं सरकार के एक वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में 29 दिसंबर 2019 को रांची के मोरहाबादी मैदान में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा स्कॉलरशिप स्कीम का विधिवत उद्घाटन किया था. जिसके पश्चात 7 मार्च को स्कॉलरशिप स्कीम के योग्य लाभुकों से आवेदन आमंत्रित किए गए थे. आवेदन प्राप्ति के लिए इस वर्ष 6 छात्रों का चयन किया गया है.

इन छात्रों का स्कॉलरशिप के लिए हुआ चयनस्कॉलरशिप के लिए चयनित छात्रों में  हरक्यूलिस सिंह मुंडा, यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन के स्कूल ऑफ ओरिएन्टल एंड अफ्रीकन स्टडीज में एमए की पढ़ाई करने  जा रहे हैं. अजितेश मुर्मू यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ लंदन में आर्किटेक्चर में एमए की पढ़ाई करेंगे. आकांक्षा मेरी का चयन लॉ बॉर्ग यूनिवर्सिटी में क्लाइमेट चेंज साइंस एंड मैनेजमेंट में एमएससी के लिए हुआ है. दिनेश भगत यूनिवर्सिटी ऑफ सस्सेक्स में क्लाइमेट चेंज, डेवलपमेंट एंड पॉलिसी में एमएससी की पढ़ाई करेंगे. इसके अतिरिक्त अंजना प्रतिमा डुंगडुंग यूनिवर्सिटी ऑफ वार्विक में एमएससी तथा प्रिया मुर्मू लॉ बॉर्ग यूनिवर्सिटी में क्रिएटिव राइटिंग एंड द राइटिंग इंडस्ट्रीज में एमए की पढ़ाई के लिए चयनित हुई हैं. headtopics.com

चयनित विद्यार्थी बोलेविदेश में पढ़ाई के लिए चयनित एक छात्र का कहना है कि आदिवासी छात्रों को उच्च शिक्षा में मदद सरकार का सराहनीय कदम है. इससे आदिवासी समाज के अन्य छात्रों को आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलेगी.छात्र हरक्यूलिस का कहना है कि जयपाल सिंह मुंडा स्कॉलरशिप स्कीम ट्राइबल बुद्दिजीवियों एवं स्कॉलर्स के लिए वैश्विक मंच साझा करने का एक जरिया बनेगा. मैं खुशकिस्मत हूं कि मुझे ऐसे लोगों की श्रेणी में आने का मौका मिलेगा जो अपने– अपने क्षेत्र में दक्षता रखते हैं.

छात्रा आकांक्षा कहती हैं कि  स्कॉलरशिप के पहले बैच में चयनित होना उनके लिए बेहद ही खुशी का मौका है. वह सरकार की शुक्रगुजार हैं जिन्होंने इस तरह की पहल की सोची तथा छात्रों को जीवन में बेहतर से बेहतर करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं. हमारे लिए यह एक बेहतरीन अवसर है, जब हमें वैश्विक मंच पर अपनी संस्कृति का प्रतिनिधित्व करते हुए अनेकता में एकता के असल मायने को प्रदर्शित करने का मौका मिलेगा.

गुमला जिला की रहने वाली अंजना प्रतिमा डुंगडुंग ने  कहा कि उन्हें मारंग गोमके जयपाल सिंह मुंडा स्कॉलरशिप स्कीम के पहले बैच का हिस्सा होने पर खुशी है. सरकार द्वारा अनुसूचित जनजाति वर्ग की छात्रओं को स्कॉलरशिप के माध्यम से उच्च शिक्षा में मदद देना एक बेहद ही महत्वपूर्ण कदम है. इससे न सिर्फ आदिवासी छात्रों को अपने टैलेंट को वैश्विक मंच पर प्रदर्शित करने का मौका मिलेगा, बल्कि अपने आस-पास के अन्य लोगों के लिए भी प्रगति का मार्ग प्रशस्त करने का रास्ता खुलेगा.

विदेश में पढ़नेवाले पहले आदिवासी थे जयपाल सिंह मुंडाबताते चले  कि वर्ष 1922 से 1929 के बीच इंग्लैंड के ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करने वाले पहले आदिवासी छात्र थे जयपाल सिंह मुंडा. बाद में उन्होंने 1928 में हुए एमर्स्डम ओलंपिक में भारतीय राष्ट्रीय हॉकी टीम का भी प्रतिनिधित्व किया था और टीम ने गोल्ड मेडल जीता था. आज लगभग 100 वर्ष बाद  मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा की स्मृति एवं सम्मान में मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने आदिवासी छात्रों को विदेश में उच्च शिक्षा के लिए सहयोग हेतु स्कॉलरशिप स्कीम की शुरू की है. headtopics.com

क्या शाह का मिशन कश्मीर बदलेगा सूबे की तकदीर? देखें हल्ला बोल गाजीपुर बॉर्डर पर किसान खेल रहे कबड्डी, बुजुर्गों ने कई बार राकेश टिकैत को किया चित! 'सरकार-इंडस्ट्री की ऐसी साझेदारी पहले कभी नहीं देखी', पीएम मोदी से बोले वैक्सीन निर्माता

हमारे विद्वान, अगुआ...हमारे आदरणीय मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा जी की याद में हमारी सरकार ने इस योजना को प्रारंभ किया है. यह देश की पहली ऐसी योजना है और झारखण्ड देश का पहला राज्य है, जो आदिवासी समाज के छात्रों को विदेश में पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप दे रहा है. हमें उम्मीद है कि आनेवाले दिनों में अन्य छात्रों को भी इनसे प्रेरणा मिलेगी और आदिवासी समाज के युवा विश्व पटल पर हमारी संस्कृति, संस्कार और  हमारे समाज का प्रतिनिधित्व करेंगे और देश सहित राज्य का नाम रोशन करेंगे.

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेनListen to the latest songs, only on JioSaavn.comसरकार का प्रयास है कि आदिवासी समाज के प्रतिभाशाली बच्चे उच्च शिक्षा से आच्छादित हों. यही वजह रही कि उन्हें योजना से लाभान्वित करने का कार्य किया जा रहा है. उच्च शिक्षा के लिए विदेश जा रहे सभी बच्चों को शुभकामनाएं. उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करता हूं. Hemant SorenAdiwasi studentLatest Updatestrending news hindiटिप्पणियां पढ़ें देश-विदेश की ख़बरें अब हिन्दी में (Hindi News) | कोरोनावायरस के लाइव अपडेट के लिए हमें फॉलो करें |

लाइव खबर देखें: और पढो: NDTVIndia »

वंदे मातरम्: 250 गोरखाओं के सामने 4000 पाक सैनिकों का सरेंडर, देखें सिलहट की शौर्यगाथा

हथियार हो या न हो, संख्या हो या न हो, हौसला तो है. कभी-कभी वीरता की कहानियां ही दुश्मन के दिलों में खौफ भरने के लिए काफी होती हैं. कभी-कभी रुतबा ही परिचय होता है. आज वंदे मातरम् के इस एपिसोड में 1971 के युद्ध की एक ऐसी ही कहानी बताएंगे, जब भारतीय सैनिकों ने संख्या में खुद से कहीं ज्यादा पाकिस्तानियों को शिकस्त दी थी. ये लड़ाई थी सिलहट की. ऐसा पहली हुआ था, जब भारतीय सेना ने एक ऑपरेशन में अपने सैनिकों को हैलीकॉप्टर के जरिए दुश्मन की जमीन में उतारा था. 1971 की ये पहली ऐसी लड़ाई थी जब पाकिस्तान के सरेंडर का नमूना देखने को मिला था. देखिए ये एपिसोड.

HemantSorenJMM Congratulations HemantSorenJMM Excellent initiative 👏 very good Sorenji 👍 JharkhandCMO HemantSorenJMM Sir, With due respect kindly pay the attention to these Covid Warriors.They worked tirelessly in pandemic .Now they didn't get salary from last 4 months and the hospital authority told them to leave as soon as possible. Please help them sir. , dhanbad

HemantSorenJMM गौरवान्वित होने की बात तो तब होती जब विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा हेतु दूसरे राज्य/ विदेश में जाने की आवश्यकता महसूस न हो। JharkhandCMO HemantSorenJMM Pr sir kese berojgari sari chad ke hai HemantSorenJMM Koshish to ye honi chahiye Mr. CM of Jharkhand ki Jharkhand me hi aise universities aur higher education ke institututions establish kiye jayein ki world class ki higher education apne hi state me sabko mile aur baher se bhi log is state me aaye taki ye state aur adhik develop ho

HemantSorenJMM हेमंत है तो हिम्मत है। HemantSorenJMM Good work HemantSorenJMM Great News.. Backward communities needs support like this.. HemantSorenJMM बाकी नरक में HemantSorenJMM Or general kya karega sir

कार्तिक त्यागी के पिता हैं किसान, बेटे के करियर के लिए बेचनी पड़ी थी जमीनकार्तिक त्यागी अचानक से क्रिकेट जगत में एक जाना माना नाम बन गया है। पंजाब किंग्स के खिलाफ आखिरी ओवर में 4 रन बचाने वाले कार्तिक त्यागी का जन्म हापुड़ (उत्तर प्रदेश) में 8 नवम्बर 2001 को हुआ था।

HemantSorenJMM So basically u agree our institutes n education system is fu**ed, so now on for good education we have to send our kids abroad. HemantSorenJMM 🙏🙏🙏 HemantSorenJMM NDTV को 6 बचे बिदेश जाना दिखता है पर इस सरकार ने 60 हजार छात्र की नियुक्ति छीन लिया वो नही दिखता। रवीश उसपर प्राइम टाइम नही करता। वामपंथ मीडिया झुठ का प्रचार ।

HemantSorenJMM Welcome of this decision HemantSorenJMM When the focus is on aatmanirbhar bharat, here is a CM who thinks foreign education is best. Good initiative, but think of thousands/lakhs who study here and have to eke out a living here HemantSorenJMM . 0 ... , 。。 । ।। । . . . .. , , , HemantSorenJMM Mandir masjid .. .. ko shod kar Education ke jo banda kaam karta hai Mere liye wo great hai

HemantSorenJMM School jaane ke liye bhi road ki jarurat padati hai per aap logon Ko baten padh kr to mujhe hansna hai ki Rona hai samajh nahin aata akin nahin hota na main niche link de raha hun JharkhandCMO HemantSorenJMM महोदय क्या मुझे इंसाफ नहीं मिलेगा। मै एक गरीब महिला हूं मेरी बातो को आपके कोई भी अधिकारी नहीं सुन रहे हैं। मेरी सारी कागजातों को देखिए या फिर मुझे मिलने का समय दीजिए ताकि मैं आपको बता सकूं कि धनबाद में अफसरशाही कितना हावी है। मेरी मदद कीजिए। संजीता देवी धनबाद झारखंड।

JharkhandCMO HemantSorenJMM Hiiii

समावेशी शिक्षा के शिल्पकार थे हरी सिंह, जम्मू-कश्मीर में को-एजुकेशन को दिया था बढ़ावाआधुनिक शिक्षा और व्यापक अनुभव ने महाराजा हरी सिंह को सामाजिक समानता के लिए प्रतिबद्ध किया जिसमें महिलाएं मुख्य रूप से शामिल थीं। तत्कालीन विरोध के बावजूद महाराजा ने सह-शिक्षा (को-एजुकेशन) को भी राज्य में सफलतापूर्वक बढ़ावा दिया। donotrecognizetaliban sanctionpakistan चू + ..... थे

HemantSorenJMM और राज्य का शिक्षा मंत्री दसवी फैल है. JharkhandCMO HemantSorenJMM Aur jo yaha pe hain unka rozgar cheen lo.... Sunday curfew lga do....ristristion lga do 8 PM bss ho gya corona control ban gye Raja babu. Don't know kis .. working style se kam hote honge CMO ke. JharkhandCMO HemantSorenJMM शुभ सुरुआत

itslaxmanmandi HemantSorenJMM Thank you so much Gomke 🙏👍👍👍 HemantSorenJMM Dikhawati hai sirf ye ..Berozgaro ko noukri ak de nhi sake aur Bde chale Videsh me pthai karwane .. HemantSorenJMM सरकार का रवैया इसका नैतिक हम विरोध करते हैं भेदभाव पूर्ण रवैया सरकार की तरफ से जनता को धोखा है HemantSorenJMM झारखंड में केवल आदिवासी बच्चे ही हैं वही लोग केवल वोट देते हैं सरकार बनाने के लिए बाकी लोग चूल्हा में जाए

HemantSorenJMM Baki bacche jhaal bajayenge. 😡😡😡 HemantSorenJMM सेवा जोहार आदिवासी झारखंडCM भारत के आदिवासी लोकप्रिय नेता को HemantSorenJMM इस बात से खुश होने से अच्छा है कि अगर महोदय हमारे ही राज्य में उनके लिए उच्चस्तरीय शिक्षा और स्कॉलरशिप देने का प्रावधान कर देते। लेकिन यहां 4000 नही 4 बच्चे से उनके राजनीति को ज्यादा लाभ है, इसलिए बाकी आदिवासी बच्चे ऐसे तैसे जी लें। उनको राज्य में उच्च शिक्षा और नॉकरी नही मिलेगी।

शायरी सुनाने के बाद अब यूनिवर्सिटी में भांगड़ा करते नजर आए पंजाब CM चरणजीत सिंह चन्नीपंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी सीएम की शपथ लेने के बाद पहली बार कपूरथला स्थित पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे. इसी दौरान, वह यूनिवर्सिटी में युवकों के साथ भांगड़ा करते हुए दिखे. कार्यक्रम में लोगों ने चन्नी के साथ जमकर डांस किया. चन्नी साहब को तो 4 महीने नाचने गाने के लिए रखा है, कांग्रेस वालो ने। अच्छी बात जो काम कैप्टन ने नहीं किये वह चन्नी कर रहें हैं (भंगड़ा डालने का) क्योंकि इन (काग्रेंसियो) के पास कोई विजन तो है नहीं । बस चुनाव तक समय निकालना है किसी तरह

HemantSorenJMM Zyada zaroori hai ki Jharkhand me wo vyavastha ki jaye ki har bacha achhe school college me padhe aur uchh shiksha prapt kare ...kitne bache videsh ja payeinge bhai? HemantSorenJMM Hm OBC WALE KHA JAY CM sir HemantSorenJMM FOF state ke education system sahi kar lijiye baccho ko itna basis education to dijiye ki foreign Jane ke qabil ban sake! Sarkari school to apke daily bhat khane ke liye bana diya gaya hai

JharkhandCMO HemantSorenJMM अच्छी पहल है, शिक्षा पर ध्यान आशा जगाता है। स्कूल ,कॉलेजों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिये पर्यास समय की मांग है। शिक्षा के लिये इंफ्रास्ट्रक्चर ज़रूरी है मगर काबिल टीचर उससे एक हज़ार गुना अधिक ज़रूरी है।आशा है इसपर सरकार ध्यान देगी और केवल भवन निर्माण को ही ज़रूरी नही समझेगी।

HemantSorenJMM Ptaa kro..jo bacche foreign padhne jaa rhe h wo kahi kisi MP,MLA, Neta ke rishtedaar toh nhi h....🤣 JharkhandCMO HemantSorenJMM ye caste creed discrimination aakhir khatam kab hogi . Jharkhand me ar v Jan jaati rahte hai. HemantSorenJMM झारखंड के मुख्यमंत्री HemantSorenJMM के पिताजी भी मुख्यमंत्री,केंद्रीय मंत्री थे फिर भी अपने लाडले को उच्च शिक्षा ग्रहण ना करवा सके।

JharkhandCMO HemantSorenJMM और वो वापस आ केे Jharkhand को अपनी सेवा देंगे या नहीं !!?, सरकार भी नहीं जानती, पर Jharkhand की जनता जानती है के उनके पैसे विदेश की अर्थ व्यवस्था को और मजबूत बनाएगा ! HemantSorenJMM Aur baki student jharkhandi nhi h kya sharm ani chahiye is cm ko JharkhandCMO HemantSorenJMM Sir, Jharkhand or India me aisi kounsi vyawastha nhi hai jo aap Aadiwasi students ko foreign padhne bhejenge ? Our agar nhi hai, to kyu nhi hai ?

यूपी के गन्ना किसानों को बड़ी राहत, अब वेबसाइट पर नहीं अपलोड करना होगा पहचानपत्रउत्तर प्रदेश के गन्ना किसानों को एक और सहूलियत दी गई है। आनलाइन घोषणापत्र भरवाने की प्रक्रिया अब और सरल कर दी गई है। पंजीकृत किसानों को अब वेबसाइट पर पहचानपत्र नहीं अपलोड करना पड़ेगा। यह कदम विभाग ने टोल फ्री नंबर पर मिले सुझावों के तहत उठाया है।

HemantSorenJMM Wonderful decision to bring forward the inferior section of any society. Hold their hand not subjugate them 👍 HemantSorenJMM आदिवासी छात्रों को स्कॉलरशिप देकर ओबीसी छात्रों के साथ भेदभाव किया जा रहा है इससे ओबीसी छात्रों का मनोबल टूट रहा है यह दौरा दौरा चरित्र है सरकार का एक राज में सभी का समय में अधिकार होना चाहिए स्कॉलरशिप का ताकि युवाओं में मनोबल बना रहे पढ़ाई को लेकर

HemantSorenJMM सिर्फ आदिवासी बाकी लोगो का क्या? JharkhandCMO HemantSorenJMM HemantSorenJMM Sir pehle jharkhand m rozgar layiye... HemantSorenJMM What is the selections procedure of the above children? Pls disclose the selections procedure? JharkhandCMO HemantSorenJMM Kuch hone wala nahi hai sab bhashan hai

JharkhandCMO HemantSorenJMM Sukria aada kartye hain hemnt soren ka jisnye sahsik kadm uttatheye hue adibasi yuaon ko mauka diya aachye siccha ke liye vides bejnye ke liye HemantSorenJMM Great Job Hemant Sir HemantSorenJMM India main hee pada lo wahi bohot hai JharkhandCMO HemantSorenJMM मात्र 6 ही छात्र की भेजा गया है जबकि 60 हज़ारों छात्रो की नियुक्ति को इसी सरकार ने रद्द किया।

बिहार के पूर्व CM मांझी के बोल- 'श्रीराम महापुरुष या जीवित व्यक्ति थे, ऐसा नहीं मानता'जीतन राम मांझी ने एक ओर श्रीराम को काल्पनिक बताने वाली बातें कहीं, वहीं दूसरी तरफ उनकी ओर से इस बात की भी वकालत की गई कि रामायण को बिहार के स्कूली शिक्षा के पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए. rohit_manas एक लात कबर मैं और दूसरी उठाकर वो बोला, श्री राम ने जनम नहीं लिया, क्या इसको यह पता है के इसने जनम लिया है के नहीं। कल तो इसकी औलाद भी यह सवाल करेगी, बाप पैदा हुआ था के नहीं। जय श्री राम। rohit_manas इनकी गलती नही है ये सोचते होंगें की इनके अब्बाजान के अब्बाजान भी कल्पनिक है। rohit_manas jeetanrammanjhi ढपोरशंख नाम से विख्यात हो ही जायेंगे। नाम क्या जान गये कुछ लोग, दिमाग़ सातवें आसमान पर ?

HemantSorenJMM Vahi achey school,college khol Kar vahi parao,videsh parkey,vo na desh,na state,na ma baap key kaam ayeingey. HemantSorenJMM Aur baki log kha jayenge ye bc bhi sirf apne category ke log ke liye kar rahe hain HemantSorenJMM झारखंड के आदिवासी सीएम की आतिशबाजी देखो झारखंड वासी। विस्तार से पढ़ने पर जानकारी प्राप्त हुआ कि सिर्फ 10 अनुसूचित जाति वर्ग के बच्चे विदेश पढ़ने जाएंगे। बाक़ी सभी विद्यार्थियों को बदहाल शिक्षा व्यवस्था से जूझते हुए शिक्षा प्राप्त करनी होगी।

HemantSorenJMM और सरकारी स्कूल में पढ़ने वालों से दुश्मनी है क्या। अरे मान्यवर कौन आपको ये सब सुझाव देता है। कहने का मतलब है की राज्य की स्कुलों को ही विदेशी रूप रेखा में बदलने की कोशिश करिये तो पुरे राज्यवासी आपकी मृत्यु के बाद भी आपकी पूजा करेंगे। HemantSorenJMM कोई तो है जो सदियों से पिछड़े समुदायों के बारे में सोच रहा है

HemantSorenJMM Isi tarah har mantri ko sochna chahiye HemantSorenJMM IPL K KAREN HUMARI CRICKET KHATAM HO RAHI HAI Pakistan media crying HemantSorenJMM Very good CM Hemant sir HemantSorenJMM Bahut accha

IPL के दौरान सनराइज़र्स हैदराबाद के टी- नटराजन कोरोना पॉजिटिव पाए गएIPL 2021: यूएई में भी आईपीएल पर कोरोना की मार पड़ती दिख रही है. सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाड़ी टी-नटराजन (T Natarajan) कोरोना प़जिटिव (COVId-19) पाए गए हैं आईपीएल रद्द करो श्री मोटा भाई के खोटा भाई पर गृह दशा भारी पड़ रही है,,, कोई दंगा शंगा कराकर 1000/2000का काम लगवा दें तो कृपा बनी रहेगी।